Latest Posts

Gussa Shayari: Effective 50+ गुस्सा शायरी Collection

Gussa Shayari: Express your anger effectively with Gussa Shayari. A list of the best anger status that you can use to make someone grin. Shayari on Gussa are poems that are below the standard of literary art and poetry, intended as a form of expression for the most common feelings and experiences of individuals.

आपको अपने गुस्सैल महबूब की याद दिलाएगी. कुछ लोग इतना ज्यादा गुस्सा करते हैं कि उनके सामने कोई टिक नहीं पाता. उनके गुस्से के कारण लोग उन्हें अकेला छोड़ देते हैं. आज की हमारी और शायरियां कुछ ऐसे ही उदाहरण आपके सामने ले आई है. जिन्हें पढ़कर आप अपने गुस्सैल यार को यह शायरियां जरूर भेजना चाहोगे.

Table of content

  1. Itna Gussa Shayari
  2. Gussa Shayari in Hindi
  3. Gussa Wala Shayari
  4. Love Gussa Shayari
  5. Shayari on Gussa
  6. Conclusion

हमारी आज की Gussa Shayari आपको बेहद पसंद आने वाली है. क्योंकि आपके आसपास ऐसे कई सारे लोग होंगे जो छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा करते हैं. कुछ लोग इस कदर गुस्सा होते हैं कि उन्हें मनाना बहुत मुश्किल हो जाता है.


Listen Gussa Shayari with Video

Source: YouTube/ShayariSukun

हम चाह कर भी उनका गुस्सा दूर नहीं कर पाते. यह कुछ शायरियां है. हो सकता है यह आपकी मदद कर दे. तो दोस्तों हमारी इन गुस्से से भरी शायारियोंको अपने दोस्तों के साथ जरूर सांझा कीजिए.

Gussa Shayari
Gussa Shayari

अपने गुस्से को कैसे कण्ट्रोल करे?

जब भी आपके मन के विपरीत कोई घटना घटती है, तो अमूमन आपको गुस्सा आता है. अगर आप अपने मन को शांत करने का तरीका ढूंढ ले, तो आप अपने गुस्से पर काबू पा सकते हो. अगर आपको ज्यादातर समय गुस्सा आता है, तो आप जितना हो सके उतना शांत रहने की कोशिश करें.

Itna Gussa jataoge kya iss Shayari ke sath?

Our collection of Gussa Shayari is perfect for those who are looking for relief from stress.

1)

कोरा कागज़ पूछ रहा
क्यों रुक गया कलम..

कहता गुस्से में मत लिखना
तेरी जान का दिल है नरम..

-Sagar

kora kagaz poochh raha
kyon ruk gaya kalam..
kahta gusse mein mat likhna
teri jaan ka dil hai naram..

2)

ख त्म हो नाराज़गी हम पर,
हो जाए प्यार की बारिश..

गुस्सा उतर जाए उनका,
करते हैं खुदा से गुजारिश..

-Anamika

kha tm ho narajagi ham per,
ho jaaye pyar ki barish..
gussa utar jaye unka
karte hain khuda se gujarish..

Gussa Shayari for Girlfriend
Gussa Shayari for Girlfriend
3)

गुस्सा जब आए तो शांत रहा करो
दिल जलने लगे तो रो लिया करो..

गुस्से में कोई फ़ैसला मत लेना तुम
अपनी ज़िंदगी तबाह ना किया करो..

-Vrushali

gussa jab aaye to shant raha karo
dil jalne lage to ro liya karo..
gusse mein koi faisla mat lena tum
apni jindagi tabah na kiya karo..

4)

बातों का सैलाब कहां पूरा होता है..

गुस्सा तो आखिर बुरा ही होता है..

-Santosh

baaton ka sailab kahan pura hota hai..
gussa to aakhir bura hi hota hai..

5)

बस यही सोचकर की
क्या कहेगा ये जमाना..

गुस्से को काबू में करके
पड़ता है मुझे मुस्कुराना..!

-Sagar

bas yahi soch kar ki
kya kahega ye jamana..
gusse ko kabu mein karke
padta hai mujhe muskurana..!

Isiliye to gusse ko kabu karna padta 🙃

Express your anger effectively with Gussa Shayari best anger management poetry. If you are angry then it becomes difficult to stay calm, but some of these Gussa Shayari will tell you the importance of controlling the anger at right time.

Itna Gussa Shayari
Itna Gussa Shayari

You may like this: Mood off Shayari Girl

6)

गुस्सा लाज़मी था नाराज़गी ज़रूरी थी
उस ने समझा नहीं मेरी क्या मजबूरी थी

फैसला मोहब्बत का सिर्फ इतना पढ़ सके
मेरी बरबादी में शामील उस की खुशी थी

-Moeen

Gussa laazmi tha narajagi jaroori thi
Usne samjha nahin meri kya majboori thi
Faisla Mohabbat ka sirf itna padh sake
Meri barbadi mein Shamil uski Khushi thi

Gussa Shayari में यह बताया गया है की, दोस्तों जब हम अपने महबूब के साथ बुरा बर्ताव करते हैं तो वह हम से नाराज हो जाता है. ख़ास कर तब जब हम उसे अपने इस बर्ताव की वजह भी नहीं बताए है. किसी भी बात की वजह से हम अपने महबूब के साथ बुरा बर्ताव नहीं कर सकते है. अगर हम ऐसा करते है तो उसका गुस्सा हो जाना तो जायज है.

7)

अपनी जान निसार
करने वाले प्रेमी है..

हम पर गुस्सा करो
तुम, ये लाजमी है..

-Sapna

apni jaan nisar
karne wale premi hai..
ham per gussa karo
tum, ye laazmi hai..

8)

गुस्से में कहीं बातें भी
दिल को चीर के रख देती हैं..

गलत ही सही मगर हरकतें
अक्स पीछे छोड़ ही देती हैं..

-Vrushali

gusse mein kahin baaten bhi
dil ko chir ke rakh deti hai..
galat hi sahi magar harkatein
aks pichhe chhod hi deti hai..

Gussa Shayari Hindi
Gussa Shayari Hindi
9)

दिल तोड़कर खुश होंगे तुम,
ये मानना तुम्हारा वहम होगा..

चाहे कर लो कितना भी गुस्सा,
प्यार ना हमारा कम होगा..

-Anamika

dil tod kar khush honge tum,
ye manana tumhara veham hoga..
chahe kar lo kitna bhi gussa,
pyar na hamara kam hoga..

10)

अक्सर पूछते है मुझसे
तुझे आखिर हुआ क्या है..

गुस्से में बोलूं तो बोलते
अरे, इसमें नया क्या है..?

-Sagar

aksar puchhte hain mujhse
tujhe aakhir hua kya hai..
gusse main bolu to bolte
are, isme naya kya hai..?

Shayari on Gussa
Shayari on Gussa

Express your anger with these Gussa Shayari in Hindi

Express your anger effectively with these systematically written shayari in hindi.

11)

पता है हमेशा के लिए
रूठने वाले तुम नहीं..

गुस्सा होकर तुमसे
बिछड़ने वाले हम नहीं..

-Sapna

pata hai hamesha ke liye
ruthne wale tum nahin..
gussa hokar tumse
bichadne wale ham nahin..

12)

अब किसी पर वो कभी गुस्सा नहीं करता
अजीब शख्स हैं बयाँ अपना किस्सा नहीं करता

शाम ढले खुद जलता हैं रौशनी के लिए
जुगनू पकड़ कर घर में उजाला नहीं करता

-Moeen

Ab kisi per vah kabhi gussa nahin karta
Ajeeb shaks hai baya apna kissa nahin karta
Sham dhale khud jalata hain Roshani ke liye
Juganu pakad kar ghar main ujala nhi karta

Gussa Shayari में यह बताया गया है की, दोस्तों जब हम बहुत ज्यादा दुखी हो जाते हैं तो किसी पर गुस्सा नहीं कर पाते . किसी के बर्ताव पर हमें गुस्सा नहीं आता. हम इस कदर टूट चुके होते हैं कि कोई और हमें तोड़ नहीं पाता.

जब कोई और हमें नुकसान नहीं पहुंचा पाता तो हम उस पर नाराज कैसे हो सकते हैं. हमें किसी एक इंसान से इस कदर शिकायत हो जाती है कि फिर किसी और से हमें कोई शिकायत ही नहीं रहती.

Gussa Shayari Urdu
Gussa Shayari Urdu
13)

तुम्हारा गुस्सा तुम्हारी नाराज़गी
कब तक रखोगे हम दोनों में दूरी..

कहीं सजा की उम्र इतनी बड़ी ना हो
के मुझे पास बुलाने में हो जाए देरी..

-Vrushali

tumhara gussa tumhari narajagi
kab tak rakhoge ham donon mein duri..
kahi saja ki umra itni badi na ho
ke mujhe paas bulane mein ho jaaye deri..

14)

आता है प्यार तुम पर, मगर
तुम मुंह फैलाए बैठे हो..

क्या करें जानम, तुम गुस्से में
और भी हसीन लगते हो..

-Santosh

aata hai pyar tum per, magar
tum munh failaye baithe ho..
kya karen janam, tum gusse mein
aur bhi haseen lagte ho..

15)

गुस्से में खुदके पैरो पर मार
कुल्हाड़ी से चोट खाए है..

फिर भी हम सब इंसान
बुद्धि जीवी कहलाए है..

-Sagar

gusse mein khud ke pairon per maar
kulhadi se chot khaye hain..
fir bhi ham sab insan
buddhi jivi kahlaye hain..

Haan Sapna ji, jaroor shodh lena padega 🔍

Gussa Shayari in Hindi
Gussa Shayari in Hindi

You may like this : Naraz Shayari

16)

दिल में अगर हो नफरत
तो ना बेवजह हो..

गुस्सा करो तो उसकी भी
जरूर कोई वजह हो..

-Anamika

dil mein agar ho nafrat
to na bewajah ho..
gussa karo to uski bhi
jarur koi vajah ho..

17)

ये जो गुस्सा हैं वो
प्यार को भी मात दे देता हैं..

दोस्त ज़रा संभल के ये
अच्छे अच्छों को रुला देता हैं..

-Vrushali

ye jo gussa hai vo
pyar ko bhi maat de deta hai..
dost jara sambhal ke ye
acche acchon ko rula deta hai..

Gussa Shayari Image
Gussa Shayari Image
18)

गुस्से में बिछड़ने का फैसला लिया उस ने
बरबाद मुझे अपनी चाहत में किया उस ने

हम देते रहे तोहफे हरजाई को वफा के
दाग जुदाई का मोहब्बत में दिया उस ने

Moeen

Gusse mein bichadane ka faisla liya usne
Barbad Mujhe apni Chahat mein Kiya usne
Ham dete rahe tohfe harjai ko wafa ke
Daag judaai ka Mohabbat mein Diya usne

Gussa Shayari for Girlfriend की मदत से आप समझोगे की, दोस्तों आप तो जानते ही हैं गुस्से में लिया हुआ फैसला कभी भी सही नहीं होता. इसीलिए हमें शांति से फैसले लेने चाहिए.

हम गुस्से में अपने महबूब से अलग होने का फैसला कर लेते हैं. लेकिन बाद में अपने उसी फैसले पर पछताते हैं. हम उसे अपने गुस्से के कारण बर्बाद कर देते हैं. जिसे हम जिंदगी भर भूल नहीं पाते. मोहब्बत में हम उसे जुदाई का गम दे जाते हैं.

19)

आखिर तुम्हें क्यों आता है क्रोध..

इस बात का कभी जरूर लेना शोध..!

-Sapna

aakhir tumhen kyon aata hai krodh..
is baat ka kabhi jarur lena shodh..!

20)

गुस्से में कहीं बातें दिल पे नहीं लेते
मगर उनके निशान मिटाएं नहीं मिटते..

जो दर्द आज मिला हैं वो कल याद होगा
बात जो भी हो, बुरे दिन भुलाए नहीं भूलते..

-Vrushali

gusse mein kahi baaten dil pe nahin lete
magar unke nishan mitaye nahin mitte..
jo dard aaj mila hai vo kal yad hoga
baat jo bhi ho, bure din bhulaye nahin bhulte..

2 Line Gussa Shayari
2 Line Gussa Shayari

Gussa wala Shayari for BF & GF

21)

इस दुनिया में हर किसी का
कोई वाइज नहीं होता..

हर बात पर गुस्सा
करना जायज़ नहीं होता..

वाइज : उपदेशक, नसीहत देने वाला व्यक्ति

-Santosh

is duniya mein har kisi ka
koi vaaij nahin hota..
har baat par gussa
karna jaayaj nahin hota..

22)

जीवन एक खास अवसर है
उसे गुस्से में जाया न कीजिए..

इसके हर एक रंग का
आनंद भरपूर लीजिए..

-Sagar

jivan ek khaas avsar hai
use gusse me jaya na kijiye..
iske har ek rang ka
anand bharpur lijiye..

23)

न जाने हम पर वो गुस्सा क्यों रहते है..

और गुस्से में बेवफाई की बातें कहते हैं..

-Anamika

na jaane ham per vo gussa kyon rahte hain..
aur gusse mein bewafai ki baten kahate hain..

Gussa Shayari Image -2

Gussa Shayari for Girlfriend
Gussa Shayari for Girlfriend

You may like this : Badal Jana Shayari

24)

गुस्से में तुम जो मुझसे कहते हो
सच बताओ क्या दिल से कहते हो..?

नाराज़ हो मुझसे तो दूर तो न रहो
क्या सचमें मुझसे नफ़रत करते हो..?

-Vrushali

gusse mein tum jo mujhse kahate ho
sach batao kya dil se kahate ho..?
naraj ho mujhse to dur to na raho
kya sach mein mujhse nafrat karte ho..?

25)

कर लो जितनी नफरत, दिल पर
इश्क का सुरूर छाएगा..

जितना करोगी गुस्सा, प्यार
उतना ही तुम पर आएगा..

-Sapna

kar lo jitni nafrat, dil per
ishq ka surur chhayega..
jitna karogi gussa, pyar
utna hi tum per aayega..

Shayari on Anger
Shayari on Anger
26)

जब भी तुम्हें गुस्सा आता हैं
मुझे ख़ुद से दूर कर देते हो..

ये कैसा प्यार हैं तुम्हारा यार
बात बात पर गुस्सा हो जाते हो..

-Vrushali

jab bhi tumhen gussa aata hai
mujhe khud se dur kar dete ho..
yah kaisa pyar hai tumhara yaar
baat baat par gussa ho jate ho..

27)

पहले ही प्यार तुम्हारा कहर लगता है..

उस पर गुस्सा तुम्हारा जहर लगता है..!

-Santosh

pahle hi pyar tumhara kahar lagta hai..
us per gussa tumhara zehar lagta hai..!

28)

गुस्से में वो मुझसे बात नहीं करता
नाराज़ हो जाए तो फिक्र नहीं करता..

बीमार भी पड़ जाऊं उसकी बातों से
तो भी उसे कोई फ़र्क नहीं पड़ता..

-Vrushali

gusse me vo mujhse baat nahin karta
naraj ho jaaye to fikr nahin karta..
bimar bhi pad jaaun uski baton se
to bhi use koi fark nahin padta..

2 Line Gussa Shayari in Hindi
2 Line Gussa Shayari in Hindi
29)

बेवफाई का देकर सिला हमें छोड़ दिया..

गुस्से में उन्होंने दिल हमारा तोड़ दिया..

-Anamika

bewafai ka dekar sila hamen chhod diya..
gusse mein unhone dil hamara tod diya..

30)

उसकी कड़वी बातें ही
मुझे रुला देती हैं..

गुस्से में सही पर हर
गलती की सजा देती हैं..

-Vrushali

uski kadvi baaten hi
mujhe rula deti hai..
gusse mein sahi per har
galti ki saja deti hai..

Sad Gussa Shayari Photo
Sad Gussa Shayari Photo

Pyar me likhi gyi Love Gussa Shayari

31)

गुस्से का, तुम देती
रहती हो हमेशा कोई सबब..

नाराजगी मिटाने का अब
करना पड़ेगा कोई करतब..

-Sapna

gusse ka, tum deti
rahti ho hamesha koi sabab..
narajgi mitane ka ab
karna padega koi kartab..

32)

होते रहोगे तुम गुस्सा जब जब..

याद करोगे चाहत मेरी तब तब..

-Santosh

hote rahoge tum gussa jab jab..
yaad karoge chahat meri tab tab..

33)

हर किसी पर खफा होते रहोगे
तो कैसे चलेगा साहब..

अगर रहोगे हमेशा गुस्सा तो
कैसे माफ़ करेगा मज़हब..

-Anamika

har kisi par khafa hote rahoge
to kaise chalega sahab..
agar rahoge hamesha gussa to
kaise maaf karega majhab..

Gussa Anger Status Quotes
Gussa Anger Status Quotes
34)

अब सितारों की रौशनी अच्छी नहीं लगती
तेरे बाद ये ज़िंदगी अच्छी नहीं लगती

गुस्से में वो मुझे छोड़ गई तन्हा
मुस्कुराना चाहुँ तो हँसी अच्छी नहीं लगती

-Moeen

Ab sitaron ki Roshani acchi nahin lagti
Tere bad yah jindagi acchi nahin lagti
Gusse mein wo Mujhe chod gayi tanha
Muskurana chahu to hasi acchi nahin lagti

Gussa Shayari for Boyfriend में कुछ इस प्रकार से बताया गया है की, दोस्तों जब गुस्से में हमारा महबूब हमें छोड़ कर चला जाता है तो हमें जिंदगी अच्छी नहीं लगती. हम मुस्कुराना चाहे तो भी मुस्कुरा नहीं पाते.

कोई भी खुशी हमें खुशी नहीं लगती. हम इस कदर नाराज हो जाते हैं की कोई हालात हमें बदल नहीं पाते. उसका हमें छोड़ कर चले जाना हमारी जिंदगी में बहुत बुरा हादसा बन जाता है. जो जिंदगी भर हमें दर्द देता रहता है.

Sapna ji aapka gussa lajmi hai..😉

Gussa Shayari for Boyfriend
Gussa Shayari for Boyfriend

You may like this : Wo Kisi Aur Se Pyar Karte Hai Shayari

35)

ये आंखे सिर्फ तुम्हारी,
जुस्तजू कर रही हैं..

गुस्सा भूल जाओ तुम,
आरजू कह रही है..

जुस्तजू : खोज, तलाश

-Sapna

ye aankhen sirf tumhari
justuju kar rahi hai..

gussa bhul jao tum
arzoo kah rahi hai..

36)

गुस्से में वो बड़ी खुबसुरत दिखती हैं..

बस बात करने लगे तो बुरी लगती हैं..!

-Vrushali

gusse mein vo badi khubsurat dikhti hai..
bus baat karne lage to buri lagti hai..!

37)

महबूब मेरे, करते हैं
प्यार तुम्हें बेहिसाब..

गुस्सा छोड़, हम पर अब
तरस खाओ जनाब..

-Anamika

mahbub mere, karte hain
pyar tumhen behisab..
gussa chhod, ham par ab
taras khao janab..

38)

गुस्सा करना सिखाता नहीं कभी कोई मकतब..

नाराजगी भरा बर्ताव तुम्हारा लगता बेमतलब..

मकतब : पाठशाला, मदरसा

-Santosh

gussa karna sikhata nahin kabhi koi maktab..
narazgi bhara bartav tumhara lagta bematlab..

Informative Gussa Shayari
Informative Gussa Shayari
39)

रहम करना इस पर
दिल है मेरा गरीब..

छोड़कर गुस्सा तुम
अब करना मुझे करीब..

-Sapna

raham karna is per
dil hai mera garib..
chhodkar gussa tum
ab karna mujhe kareeb..

Ishq me Gussa karna to lajmi hai..

40)

कभी ना समझे तुम्हारे
ऐसे बर्ताव का मतलब..

गुस्सा कर हम पर, करते
रहते हो जवाब तलब..

जवाब तलब : अधिकारपूर्वक किसी से उसके व्यवहार का कारण पूछना

-Anamika

kabhi na samjhe tumhare
aise bartaav ka matlab..
gussa kar ham per, karte
rahte ho jawab talab..

41)

बेमिसाल है हुस्न तेरा,
गुस्सा भी तेरा बहुत खूब..

गर दो तुम इजाजत जानम,
तो प्यार में जाऊं डूब..

-Santosh

bemisal hai husn tera,
gussa bhi tera bahut khoob..
gar do tum ijazat janam,
to pyar mein jaau doob..

Gussa Shayari Hindi Urdu
Gussa Shayari Hindi Urdu
42)

दिल है नादान, तरस
खाओ इस पर साहिब..

गुस्से में आकर हमसे
ना करना तुम फ़रेब..

फ़रेब : छल, धोखा

-Sapna

dil hai nadan, taras
khao is per sahib..
gusse mein aakar humse
na karna tum fareb..

43)

हम पर चाहे तो गुस्सा होना जानम..

रूठ कर हमसे मगर ना जाना सनम..

-Anamika

ham par chahe to gussa hona janam..
rooth kar humse magar na jana sanam..

44)

खुदा की है रहमत, 
जो किया तुमने मेरा इंतखाब..

छोड़ो भी ये नाराजगी अब,
कर दो गुस्से को बेनकाब..

इंतखाब : चुनना, चयन

-Santosh

khuda ki hai rehmat, jo
kiya tumne mera intekhab..
chhodo bhi ye narajagi ab
kar do gusse ko benaqab..

45)

ज़हे-नसीब हो मेरा तुम,
इश्क निभाना चाहूं बेहद..

प्यार आने में तुम पर,
गुस्सा भी करता मदद..

ज़हे-नसीब : सौभाग्य

-Sapna

zahe-naseeb ho mera tum,
ishq nibhana chahun behad..
pyar aane mein tum per,
gussa bhi karta madad..

GF Gussa Shayari
GF Gussa Shayari

You may like this : Manane wali Shayari

46)

हाल जो पुछा मुद्दतों बाद तो खैरियत बताई
तबीब* ने इलाज में हमें तेरी ज़ियारत* बताई

गुस्से में तोड़ दिए सब आईने कल शब
इन शीशों ने मुझे हैं तेरी ज़रूरत बताई

-Moeen

*तबीब : doctor
*ज़ियारत : दिदार

Hal Jo poochha muddaton baad to khairiyat batai
Tabib ne ilaaj mein hamen Teri jiyarat batai
Gusse mein Tod diye sab aaine kal shab
In shisho ne Mujhe hain Teri jarurat batai

Gussa Shayari for Girl को पढ़कर आपको महसूस होगा की, दोस्तों कई सालों की तकलीफ सहने के बाद कोई हमें हमारा हाल पूछे तो हम उसे अपनी खैरियत ही बताते हैं. हम कभी उससे अपने असली हालातों के बारे में नहीं बताते. जब हमें बहुत गुस्सा आता है तो हम चीजें तोड़ देते हैं. लेकिन टूटी हुई चीजें भी हमें हमारी गुस्से की वजह बताती है.

47)

हर दम मुझे उन की नज़र देखे
वही आए नज़र हम जिधर देखे

गुस्से से मुँह फुलाए बैठी हैं वो
कहाँ जाए अब हम और किधर देखे

-Moeen

Har dam Mujhe unki Nazar dekhe
Vahi aaye najar ham jidhar dekhe
Gusse mein munh fulaye baithi hai vah
Kaha jaaye ab ham aur kidhar dekhen

दोस्तों हमारी महबूबा जब हमसे नाराज हो जाती है तो मुंह फुला कर बैठ जाती है. हम उसे मनाने की हर मुमकिन कोशिश करते हैं. लेकिन वह हमारी कोई भी बात मानने के लिए राजी नहीं होती. बस हमसे गुस्सा होकर दूर बैठ जाती है. ऐसे में हम जिधर भी देखते हैं उधर हमें बस वही नजर आती है.

48)

ज़िंदगी अब तन्हाई में आँसू बहाती हैं
दिन ढले जब तेरी याद आती हैं

मैं गुस्से में फिर चीख पड़ता हुँ
सुनसान सड़कों पर जब तेरी कमी सताती हैं

-Moeen

Jindagi ab tanhai mein Aansu bahati hai
Din dhale jab Teri yad aati hai
Main gusse mein fir chinkh padta Hu
Sunsaan sadkon par jab teri Kami satati hai

दोस्तों जब हम अकेले होते हैं तो हमें बहुत बुरा लगता है. खासकर हमें अपने महबूब के साथ रहने की आदत हो तो हम उसके बिना अकेले नहीं रह पाते. हम बात बात पर गुस्सा करने लगते हैं. गुस्से में किसी पर चिल्लाते हैं.

अकेले रास्तों पर भटकते रहते हैं. हमें उसके साथ घूमना पसंद होता था. लेकिन अब वह हमारे साथ नहीं है तो हमें खाली खाली महसूस होता है. Gussa Shayari for bf यही बात आपको इस शायरी की मदत से समझने में आसानी होगी,

49)

आसमान पर चाँद तन्हा ज़मीं पर मैं
खोया रहता हुँ हर दम कहीं पर मैं

गुस्से से उस का मुझ पर चिल्लाना
तेरी यादें हैं और अब वही पर मैं

-Moeen

Aasman per Chand tanha jameen per mein
Khoya rehta hoon har dam kahin per main
Gusse se uska mujh per chillana
Teri yaden hain aur ab vahi per mein

दोस्तों जब हम चांद को देखते हैं तो वह हमें आसमान में अकेला नजर आता है. ठीक वैसे ही कभी-कभी हम जमीन पर अकेले हो जाते हैं. जब हम अकेले हो जाते हैं तो हमें अपने महबूब की यादें सताने लगती है. कैसे हो हम पर गुस्सा करती थी. हम पर चिल्लाती थी. हमसे रूठ जाती थी. हमें सब कुछ याद आ जाता है.

50)

तेरे बाद फिर कभी मुस्कुराया ना गया
लौट कर उस से वापस आया ना गया

गुस्से से उस का वो बिछड़ना मुझ से
चाह कर भी हम से भुलाया ना गया

-Moeen

Tere bad fir kabhi muskuraya Na Gaya
Laut kar us se wapas aaya Na Gaya
Gusse se uska vah bichad Na Mujh se
Chah kar bhi humse Bhulaya Na Gaya

Apne Gusse ko jahir kariye in Gussa Shayariyo ke sath

हमारा महबूब जब हमें छोड़कर चला जाता है तो हम गम में डूब जाते हैं. हमारी मुस्कुराहट गायब हो जाती है. हम मुस्कुराना भूल जाते हैं. गुस्से से उसका बिछड़ना हमें याद आता रहता है. कभी हम उसके गुस्से को भूल नहीं पाते. उस गुस्से के वजह से ही वह दोनों बिछड़ जाते हैं. इसलिए उसे और उसके गुस्से को हम कभी नहीं भूल पाते हैं.

51)

बिछड़ कर तुझ से उदास रहते हैं
ज़माने के सितम चुपचाप सहते हैं

रूठ जाता हुँ गुस्से में खुद से
बहते अश्क सदीयों की दास्ताँ कहते हैं

-Moeen

Bichhad kar tujhse udas rehte Hain
Jamane ke Sitam chupchap sahate Hain
Ruth jata hu gusse mein khud se
Baithe Aashiq sathiyon ki Dastan kahate Hain

Gussa Shayari Image -3

Gussa Shayari for Boyfriend
Gussa Shayari for Boyfriend

YOU MAY LIKE THESE POSTS:

Conclusion

दोस्तों अपने महबूब से बिछड़ कर हम उदास रहते हैं. उसके बाद दुनिया के लोग जो ताने हमें देते हैं वह हम चुप चाप सहते हैं. दुनिया के किसी भी जख्म का दर्द हमें नहीं होता. क्योंकि हमारा महबूब जो कि हमें छोड़कर चला गया है उसने दिया हुआ दर्द सबसे बड़ा दर्द होता है. गुस्से में हम खुद से ही रूठ जाते हैं. जब आंखों से आंसू बहने लगते हैं तो वह भी बीते कल की कहानी बयां करते हैं. यही सारी बातें हमने गुस्सा शायरी के जरिये समझी है.

अगर आपको चाहिये कि अपने Twitter हैन्डल पर शायरी सुकून अपडेट्स मिले, तो हमें शायरी सुकून अकाउन्ट पर Follow जरूर करें.

5/5 - (6 votes)

8 thoughts on “Gussa Shayari: Effective 50+ गुस्सा शायरी Collection”


  1. Subscribe to Channel
  2. वाह अशोक जी
    सच कहाँ आपने
    हमें बिनावजह किसी पर गुस्सा नहीं होना चाहिए
    ताकि हमारा कोई अपना हमसे कभी अलग ना हो जाये👌👌

  3. बेहद खूबसुरत पेशकश अशोक जी!!
    आप तो किसी भी शायरी में जान भर देते हो..
    चलो माना, आप की आवाज तो कुदरती देन है, लेकीन शायरी पढने का आप का अंदाज, शायरी को हर बार और भी खूबसुरत बनाता है!
    अनेक शुभकामनाएं!
    – कल्याणी

  4. Very nice Ashok ji and you recorded also very nicely👌👌👌

    Regards,
    Sameera urf Manpreet

  5. Pingback: Mood Off Shayari:

Leave a Comment