Best 45 + Naseeb Shayari (नसीब पर शेर शायरी) in Hindi

Naseeb means fortune or fate. If you think that your fortune is not in your favor, then you must read or listen to this Naseeb Shayari. You will feel relaxed after reading this blog post because here we have tried to mention all your past experiences about life and bad luck.

आज की इन नसीब शायरिओं के जरिये आप अपने नसीब को समझने की कोशिश जरूर करोगे, अमूमन यह देखा एवं कहा जाता है की नसीब या किस्मत अपने हातों में नहीं होता है, वो तो ऊपर वाला ही तय करता है, लेकिन हम आपको बताना चाहेंगे की आप अपना नसीब खुद तय कर सकते है, अगर आप अच्छे कर्म करोगे तो आपके साथ अच्छा ही होगा और फिर आपको लगेगा की आप बड़े नसीबवाले इंसान हो, तो चलिए लुत्फ़ उठाते है नसीब पर शेर शायरी का.

Table of Content

  1. Learn more about fortune with Naseeb Shayari
  2. Naseeb Dua Shayari
  3. Naseeb Shayari in Hindi
  4. Conclusion
मुद्दतें हुई कभी नसीब नहीं बदला अपना
तुझे चाहते रहे सदा हबीब नहीं बदला अपना

अच्छाई की आदत ही कातील ठहरी मेरी
यहीं बुराई रही कभी रकीब नहीं बदला अपना

*रकीब: दुश्मन

-Moeen

muddate hui kabhi naseeb nahi badla apna
tujhe chahte rahe sada habib nahi badla apna
achhai ki adat hi katil thahri meri
yahi burai rahi kabhi rkib nahi badla apna


💕 Listen Uninterrupted Shayari 💕
🙏After Small Advertisement🙏




Listen to Mera Naseeb hi Kharab hai Shayari | Naseeb Apna Apna Shayari


Naseeb Shayari in Hindi
Naseeb par Shayari | Naseeb Shayari DP

Learn more about fortune with Naseeb Shayari

काश अपना ऐसा नसीब होता
वो मेरे मैं उसके करीब होता

गैरों की तरह सताता क्यों हैं
अच्छा होता तू मेरा रकीब होता

-Moeen

kash apna aisa naseeb hota
wo mere mai uske kareeb hota
gairo ki tarah satata kyo hai
accha hota tu mera raqib hota

जो था ही नहीं नसीब में
उस से मोहब्बत कमाल की थी

तेरा छोड़ जाना तो बहाना था
वो शुरुआत मेरे ज़वाल की थी

[*ज़वाल = पतन]

-Moeen

jo tha hi nhi mere naseeb me
usse mohabbat kamal ki thi
tera chor jana to bahana tha
wo shurvat mere javaal ki thi

वो लोग थे सब नसीब वाले
जितने भी थे तेरे क़रीब वाले

मेरा मोहब्बत भरा दिल तोडा और
तोहफे सब कबूल किए रकीब वाले

-Moeen

wo log the sab naseeb wale
jitne bhi the tere karib wale
tera mohabbat bhara dil toda aur
tohfe sab kabul kiye raqib wale


Listen to Naseeb Urdu Shayari | Naseeb ke Upar Shayari – Voice-Over: Avalokita Pandey


Naseeb Shayari DP
Naseeb Love Shayari in Hindi | Khush Naseeb Dosti Shayari | Naseeb Qismat Shayari
वो कुछ सुनता तो कुछ कहता
वो मुझे चुनता तो कुछ कहता

तेरा बिछड़ना तो खैर नसीब था
मेरे ख्वाब बुनता तो कुछ कहता

-Moeen

wo kuch sunta to kuch kahta
wo mujhe chunta to kuch kahta
tera bichdna to khair naseeb tha
mere khwab bunta to kuch kahta

कोई जिंदगी का सबब सिखा गया
जिंदगी को सफल बना गया

सांसें तो नसीब से ही चल रही है
कोई जीवन का सबक सिखा गया

-Moeen

koi zindagi ka sabab sikha gya
zindagi ko safal bana gya
sanse to naseeb se hi chal rhi hai
koi jivan ka sabak sikha gya

उसे नसीब में लिखा क्यों था
तुझ से ही गीला क्यों थे

वो नहीं था मेरा तो खुदा
बन कर अजनबी मिला क्यों था

-Moeen

use naseeb me likha kyo tha
tujhse hi gila kyo the
wo nhi tha mera to khuda
ban kar ajnabi mila kyo tha

गर्दिश में नसीब के सितारे हो गये
सब जख्म फिर से हरे हो गये

जी रहे हैं कि सांसों के मोहताज है
दर्द में भी दिवाने क्यों हो गये है

-Moeen

gardish me naseeb ke sitare ho gye
sab jakhm fir se hare ho gye
ji rhe hai ki sanse mohtaj hai
dard me bhi deewane kyo ho gye hai

रह जाती कुछ जो और समय
मेरा नसीब बदल जाता

घर जन्नत सा लगता अपना
कलियों सी मै भी खिल जाता

-Moeen

reh jati kuch jo aur samay
mera naseeb badal jata
ghar sa lagta apna
kaliyo si maa bhi khil jata

जिंदगी ये बता दें 
कितने गम बचे हैं मेरे नसीब में;

थक सा गया हूं मैं इन्हें,
संभालते, संभालते..!

jindagi ye bata de 
kitne gum bache hain
mere naseeb mein..
thak sa gaya hun main inhen
sambhalte, sambhalte..!

#Naseeb Kharab Shayari

नसीब का लालच दिखाकर ही तो 
जिंदगी हमें मौके देती रही..

लेकिन हम इतने नसीब वाले थे ही नहीं,
जो उन मौकों का फायदा उठा सकें…

nasib ka laalach dikha kar hi to
jindagi hamen mauke deti rahi..
lekin ham itne naseeb wale the hi nahin,
jo un mauko ka fayda utha sake…

Mera Naseeb Shayari

अब मेरी जिंदगी गर तूफानों से भी भरी हो, 
तो कोई बात नहीं..

क्योंकि नसीब पर तो भरोसा नहीं रहा,
जब तू ही मेरे साथ नहीं..

ab meri jindagi ghar tufano se bhi bhari ho,
to koi baat nahin..
kyunki nasib par to bharosa nahin raha,
jab tu hi mere sath nahin…

Naseeb Dua Shayari

हरजाई तेरी मासूम सूरत भुलाई नहीं जाती
आँखों से बयाँ दास्तान छुपाई नहीं जाती

कुछ गम होते हैं उम्र भर रुलाने वाले
नसीब की लिखावट मिटाई नहीं जाती

-Moeen

harjaai teri masum surat bhulai nahi jaati
aankhon se baya dastan chhupai nahi jaati
kuch gam hote hai umr bhar rulane vaale
naseeb ki likhavat mitai nahi jaati

शाम ढले तन्हाई में जब मेरी याद आएगी
मुझ से मिलने की लबों पर फ़रियाद आएगी

इश्क में तड़पना नसीब में लिखा हैं शायद
जो बहारें भी आएगी आँगन में बरबाद आएगी

-Moeen

shaam dhale tanhai main jab meri yaad aayegi
mujh se milne ki labon par fariyaad aayegi
ishq main tadpna naseeb main likha hai shayad
jo bahare bhi aayegi aagan main barbaad aayegi

मेरी बरबादीयों में मेरा यार भी शामील हैं
मेरी लाश पर रोने वाला मेरा कातील हैं

नसीब में नहीं थी शायद तेरी मोहब्बत
रातों को सिसकना मेरे इश्क का हासील हैं

-Moeen

meri barbadiyon main mera yaar bhi shamil hai
meri lash par rone vala mera katil hai
naseeb main nahi thi shayad teri mohabbat
raaton ko siskna mere ishq ka hasil Haida

Naseeb Shayari in Hindi

आँखें नम हैं तेरे बिछड़ जाने के बाद
बहोत याद आए वो भुलाने के बाद

अपने नसीब पर रोते हैं तन्हाई में
आँखों में उभरूँगा दिल से मिटाने के बाद

-Moeen

aankhe nam hai tere bichd jaane ke baad
bahot yaad aaye vo bhulane ke baad
apne naseeb par rote hai tanhai main
aankhon main ubhrunga dil se mitane ke baad

मेरे खयालों पर तेरी यादों के साए हैं
भूले बिसरे लोग मेरी गज़लों में आए हैं

सब के नसीब में कहाँ होती हैं मोहब्बत
क्या शिकवा करे जो अपने हुए पराए हैं

-Moeen

mere khayalon par teri yaadon ke saaye hai
bhule bisre log meri gajalon main aaye hai
sab ke naseeb main kaha hoti hai mohabbat
kya shikwa kare jo apne hue paraye hai

इत्तेफाक से जो राहों में आन मिला था
इश्क के गुलशन में एक फुल खिला था

बिछड़ गया वो भी मुझे तनहा छोड़ कर
तुझ से नहीं शिकवा नसीब से गिला था

-Moeen

ittefak se jo rahon main aan mila tha
ishq ke gulshan main ek phool khila tha
bichd gaya vo bhi mujhe tanha chhod kar
tujh se nahi shikwa naseeb se gila tha

सोचता रहता हुँ अकसर यहीं तन्हाई में
आखिर क्या बात थी उस हरजाई में

नसीब भी शायद हमारा मिलन चाहता था
वरना उसे ना लगते ज़माने बेवफाई में

-Moeen

sochta rahta hu aksar yahi tnhai main
aakhir kya baat thi us harjaai main
naseeb bhi shayad hamara milan chahta tha
varna use na lagte jamaane bewafai main

हमारे बाद यहाँ सिर्फ हमारी यादें रहे जाएगी
तुम्हारे लबों पर मिलन की फरियाद रहे जाएगी

नसीब को कोसोगे बेवफाई पर मातम करोगे
बुझे से सवेरे… और शामें बरबाद रहे जाएगी

-Moeen

hamare baad yaha sirf hamari yaadein rahe jayegi
tumhari labon par milan ki fariyaad rahe jayegi
naseeb ko kosoge bewafai par matam karoge
bujhe se sawere…aur shaame barbaad rahe jayegi

Naseeb Shayari Status

जब कोई मुश्किल आन पड़े मुझे याद करना
जब दिल उदास हो मिलन की फरियाद करना

मेरे नसीब में बरबादी थी इश्क के हाथों
तुम्हें मेरी कसम तुम ना ज़िंदगी बरबाद करना

-Moeen

jab koi mushkil aan pade mujhe yaad karna
jab dil udas ho milan ki fariyaad karna
mere naseeb main barbaadi thi ishq ke haathon
tumhe meri kasam tum na jindagi barbaad karna

Naseeb Shayari Images | Naseeb ki Shayari
Naseeb Shayari Images | Naseeb ki Shayari | Naseeb Shayari Photo
1)

ज़िंदगी मत छोड़ो, नसीब के भरोसे..

किसी दिन बहुत पछताओगे कसम से..

-Vrushali

jindagi mat chhodo, naseeb ke bharose..
kisi din bahut pachtaoge kasam se..

2)

आईने पर भी शक है अब
जो दिल टूट गया है मेरा..

नसीब की लकीरों से अब
भरोसा उठ गया है मेरा..!

-Krutika

aaine per bhi shaq hai ab
jo dil tut gaya hai mera..
naseeb ki lakiron se ab
bharosa uth gaya hai mera..!

3)

नसीब से जो मिले
वो काफ़ी नहीं है..

कर मेहनत इतनी,
जितनी तू काबिल है..

-Vrushali

naseeb se jo mile
vo kafi nahin hai..
kar mehnat itni,
jitni tu kabil hai..

4)

सोच रहा था संग तुम्हारे
जीत ही लूंगा सारा जहां..

मगर ओ बेवफा पता चला के
मेरी इतनी खुशनसीबी कहां!

-Rasika

soch raha tha sang tumhare
jeet hi lunga sara jahan..
magar o bewafa pata chala ke
meri itni khushnasibi kahan!

5)

मेरे नसीब में भले ही
तेरा साथ न लिखा हो..

मैं दुआ करूंगी के
तेरा हमदर्द तेरे साथ हो..

-Vrushali

mere naseeb mein bhale hi
tera saath na likha ho..
main dua karungi ke
tera humdard tere sath ho..

6)

यकीन था तुझ पर तू एक
दिन जरूर मिल जाएगा..

मगर मुझे क्या पता था
नसीब धोखा दे जाएगा..

-Santosh

yakin tha tujh per tu ek
din jarur mil jayega..
magar mujhe kya pata tha
naseeb dhokha de jayega..

7)

नसीब पर तुझे यकीन है
मुझे अपने जुनून पर यकीन है..

नहीं छोडूंगी तुम्हारा साथ कभी
अपने वादे पर मुझे यकीन है..

-Vrushali

naseeb per tujhe yakin hai
mujhe apne junoon per yakin hai..
nahin chhodungi tumhara sath kabhi
apne vade per mujhe yakin hai..

8)

समझता था मैं तुमसे
मेरी बात जुदा नहीं है..

नसीब में शायद तुम्हारा
साथ लिखा नहीं है..

-Rasika

samajhta tha main tumse
meri baat juda nahin hai..
naseeb mein shayad tumhara
sath likha nahin hai..

9)

हर बात नसीब पर छोड़ी जाए
हमेशा ये सोचना ज़रूरी तो नहीं..

मेहनत से मिला सब कुछ
नसीब हो ये ज़रूरी तो नहीं..

-Vrushali

har baat naseeb per chhodi jaaye
hamesha ye sochna jaruri to nahin..
mehnat se mila sab kuchh
naseeb ho ye jaruri to nahin..

10)

नसीब से अपने हम
नफरत करने लगे हैं..

आईने भी आजकल
फरेब करने लगे हैं..

-Krutika

naseeb se apne ham
nafrat karne lage hain..
aaine bhi aajkal
fareb karne lage hain..

11)

मोहब्बत में साथ निभाने के लिए
नसीब की ज़रूरत नहीं होती..

अगर नेक हो इरादे, सच्चे हो वादे
तो कोई राह मुश्किल नहीं होती..

-Vrushali

mohabbat mein saath nibhane ke liye
naseeb ki jarurat nahin hoti..
agar nek ho irade, sacche ho vade
to koi rah mushkil nahin hoti..

12)

दिलरुबा सोचूं हमेशा तुझे जो
जिंदगी का साथ दो हमारे..

बड़ी खुशनसीब होगी वो रात
जो गुजरेगी संग तुम्हारे..

-Santosh

dilruba sochun hamesha tujhe jo
jindagi ka sath do hamare..
badi khushnasib hogi vo raat
jo gujregi sang tumhare..

13)

शायद नसीब पर कुछ ज्यादा ही
भरोसा था कर लिया हमने..

न जाने क्यों लोगों की बातों में
आकर दिल तोड़ दिया तुमने..

-Rasika

shayad naseeb per kuchh jyada hi
bharosa tha kar liya humne..
na jaane kyon logon ki baton mein
aakar dil tod diya tumne..

14)

मेरा ही हमसफ़र बन सके
शायद इतने करीब तू ना था..

तुम्हारे साथ जिंदगी मुकम्मल
होना मेरे नसीब में ना था..

-Santosh

mera hi humsafar ban sake
shayad itne kareeb tu na tha..
tumhare sath jindagi mukammal
hona mere naseeb mein na tha..

15)

खुद पर करे यकीन, मोहब्बत
उसी के नसीब होती है..

क्या बताएं ऐ जिंदगी तेरी
दास्तान बड़ी अजीब होती है..

-Krutika

khud par kare yakin, mohabbat
usi ke naseeb hoti hai..
kya batayen ae jindagi teri
dastan badi ajeeb hoti hai..

16)

नसीब में हर किसी के ही
प्रीत होती होगी ना..

दूर जाने पर मगर
तकलीफ होती होगी ना?

-Rasika

naseeb mein har kisi ke hi
prit hoti hogi na..
dur jaane per magar
taklif hoti hogi na?

17)

नसीब में सभी के कहां
हमेशा बहार खिलती है..

दिल तोड़कर किसी को
खुशी कहां मिलती है..!

-Santosh

naseeb mein sabhi ke kahan
hamesha bahar khilti hai..
dil tod kar kisi ko
khushi kahan milati hai..!

18)

दिल पर छा जाएगा कोई
तो इतने करीब होगा..

किसी से निकाह हो ऐसा,
मेरा भी नसीब होगा..

-Krutika

dil per chha jayega koi
to itne kareeb hoga..
kisi se nikah ho aisa,
mera bhi naseeb hoga..

19)

किसी दिलदार से जरूर
कर लेना तुम इजहार..

हर किसी के कहां नसीब
होता है सच्चा प्यार..

-Rasika

kisi dildar se jarur
kar lena tum izhaar..
har kisi ke kahan naseeb
hota hai saccha pyar..

20)

यारों हर किसी के दिल में सच्ची
चाहत का जुनून नहीं होता..

जिंदगी में जन्नत हासिल होना
हर किसी के नसीब नहीं होता..

-Santosh

yaaron har kisi ke dil mein sachi
chahat ka junoon nahin hota..
jindagi mein jannat hasil hona
har kisi ke naseeb nahin hota..

21)

इंतजार कर रहा हूं जिंदगी में
चाहत के फूल कब खिलेंगे..

जानता हूं ख्वाहिशों के मोती
मगर मेरे नसीब में नहीं होंगे!

-Krutika

intezar kar raha hun jindagi mein
chahat ke phool kab khilenge..
jaanta hun khwahishon ke moti
magar mere naseeb mein nahin honge!

22)

कैसे बताऊं यारों जिंदगी,
हमारी अब हर दर्द सहती है..

हंसते हुए जख्म सहने वालों को
मगर दुनिया खुशनसीब कहती है!

-Rasika

kaise bataun yaaron jindagi,
hamari ab har dard sahti hai..
hanste hue jakhm sahne walon ko
magar duniya khushnaseeb kahti hai!

23)

चाहत की कहानी दुनिया के
सामने अब कैसे जताऊं..

अपने टूटे हुए नसीब की
दास्तान किसको बताऊं..

-Santosh

chahat ki kahani duniya ke
samne ab kaise jataun..
apne toote hue naseeb ki
dastan kisko bataun..

24)

जिंदगी में कोई लम्हा
खुशियों के करीब नहीं है..

शायद तुम्हारा प्यार पाना
अब मेरे नसीब में नहीं है..

-Krutika

jindagi mein koi lamha
khushiyon ke kareeb nahin hai..
shayad tumhara pyar pana
ab mere naseeb mein nahin hai..

25)

कई बार वो भी तो सच्चे
यार से मिलने को तरसती है..

बादल बरसते ही जमीन खुद को
बड़ा खुशनसीब समझती है..!

-Rasika

kai bar vo bhi to sacche
yaar se milne ko tarasti hai..
badal baraste hi jameen khud ko
bada khushnaseeb samajhti hai..!

26)

यारों, कोई ना हमारे दिल के करीब है..

दुनिया में शायद हम ही बदनसीब है..!

-Santosh

yaaron, koi na hamare dil ke kareeb hai..
duniya mein shayad ham hi badnaseeb hai..!

27)

सच्चे प्यार का तोहफा
जिंदगी में सभी को देना..

या खुदा, मेरे जैसा बुरा
नसीब किसी को ना देना..

-Krutika

sacche pyar ka tohfa
jindagi mein sabhi ko dena..
ya khuda, mere jaisa bura
naseeb kisi ko na dena..

28)

कुछ भी कर लो, होता है
मगर जो तकदीर में हो..

कैसे मिलेगा जो नसीब में
यारों, लिखा ही नहीं हो..

-Rasika

kuchh bhi kar lo, hota hai
magar jo takdeer mein ho..
kaise milega jo naseeb mein
yaaron, likha hi nahin ho..

29)

कोई ना बता पाए जिंदगी में
किसी के कब क्या होता है..

मेरा फूटा नसीब भी यारों
अब उसे देखकर रोता है..

-Santosh

koi na bata paye jindagi mein
kisi ke kab kya hota hai..
mera foota naseeb bhi yaaron
ab use dekh kar rota hai..

30)

दिलबर के दिल में तुम
एक बार झांक कर देखो..

यारों नसीब को बदलने के
इरादे जरूर मन में रखो..!

-Krutika

dilbar ke dil mein tum
ek bar jhank kar dekho..
yaaron naseeb ko badalne ke
iraade jarur man mein rakho..!

31)

खुद पर यकीन करो यारों,
दिल जरूर संभलेगा तुम्हारा..

नियत जो साफ रखोगे तो
जरूर नसीब बदलेगा तुम्हारा..

-Rasika

khud par yakeen karo yaaron,
dil jarur sambhalega tumhara..
niyat jo saaf rakhoge to
jarur naseeb badlega tumhara..

32)

अपनी किस्मत पर रो कर
ना कभी तुम परेशान होना..

नसीब से ज्यादा यारों तुम
मेहनत पर भरोसा करना..

-Krutika

apni kismat per ro kar
na kabhi tum pareshan hona..
naseeb se jyada yaaron tum
mehnat per bharosa karna..

YOU MAY LIKE THESE POSTS:

Conclusion

At last, we can just tell you that fortune favors the brave, you need to work hard and efficiently so that you can create your good fortune. All these things are clarified in above Naseeb Shayari. If you share this with your friend then he will also get the importance of keeping faith in ourselves. Thank you for visiting our Shayari on Naseeb blog post.

Follow us on Facebook: Shayari Sukun

10 Comments

  1. Vrushali January 27, 2021
  2. Santosh January 27, 2021
  3. Anjali Gavali January 27, 2021
  4. Sanket January 27, 2021
  5. Sanjay January 27, 2021
  6. Aniruddh Narkhedkar January 28, 2021
  7. Aniruddh Narkhedkar January 28, 2021
  8. Aniruddh Narkhedkar January 28, 2021
  9. Aniruddh Narkhedkar January 28, 2021
  10. Aniruddh Narkhedkar January 28, 2021

Add Comment