Gumsum Shayari -1 Sad दिल को मनाने की कोशिश करना चाहोगे!

Gumsum Shayari : जब भी आपका dil आपकी दिलबर की यादों में gumsum बैठा होता है तब आपको gumsum shayari की जरूर याद आती है है ना दोस्तों? और जब आपका dil ही gumsum हो तो आपकी सारे jazbaat भी तो naraz होकर बहुत sad लगने लगती है.

और जब कोई sad इंसान किसी अपने जैसे ही jazbaat वाले इंसान से मिलता है तब उसका दिल और भी ज्यादा naraz होने का एहसास करता है. क्योंकि आपको पता होगा कि कोई भी इंसान किसी भी sad इंसान से मिलना नहीं चाहता है. वह तो हरदम अपने जैसे किसी भी dil से हंसते खेलते और gumsum ना बैठे हुए इंसान को ही अपना मानने के लिए तैयार होता है.

चमन में खिला फूल भी तो
मुरझा जाता है मासूम..

दिल तोड़कर जब तुम
होती हो नाराज और गुमसुम..

Santosh

chaman me khila ful bhi to
murjha jatahai masoom
dil todkar jab tum
hoti ho naraz aur gumsum

शायरी सुनने ? के लिए
✤Player ?? लोड होने दें

इन Gumsum Shayari को Aditi Kshirsagar इनकी आवाज़ में सुनकर अपने गुमसुम यार को दिल के हालात सुनाना चाहोगे!

लेकिन अगर आप खुद को और अपने dil को पहले से ही अपने दिलबर की यादों में gumsum और हुए अकेले naraz बैठ गए तो फिर आपके dil का और भी ज्यादा सैड होना तो लाजमी ही होता है. अगर आपका दिल एक बार और ज्यादा naraz हो गया तो आपके jazbaat का भी naraz होना जायज होता है.

हम भी आपके इसी naraz और sad dil को मनाने के लिए jazbaat से भरी चंद sad shayari लेकर आए हैं. हमें यकीन है कि आप हमारे इस shayari sukun के sukun से भरे शायरियों के मंच को और हमारे jazbaat को तहे dil से स्वीकार करेंगे. और हम भी इन gumsum shayari को आपके सामने रखते हुए बहुत जज्बाती महसूस कर रहे हैं. तो आइए दोस्तों अब बिना वक्त गवाएं हमारी इन sad shayari को सुनते हैं..

gumsum shayari आपके दिलबर ने यू नाराजगी से कोई बात छुपानी नहीं चाहिए…

आजकल जब भी आप अपनी दिलबर को देखते हो तो वह यूं ही naraz और gumsum सा बैठा हुआ नजर आता है. और अगर एक बार आपका महबूब naraz और gumsum हो जाता है ना तो आपका भी dil कहीं नहीं लगता है. आपके jazbaat की जैसे उसी की तरह sad महसूस करते हैं.


Naraz -1: Sad Shayari से आपके दिल की नाराजगी जरूर दूर होगी!!
Click ? link to listen more


और तब आप उसे आप की पहली मुलाकात के बारे में कुछ बातें करते हुए मनाने की कोशिश करते हैं. लेकिन वह आजकल आपके जिस बात को भी समझने की है बिल्कुल कोशिश नहीं कर रहा है. और इसी वजह से हम आपके दिल में उसके लिए कुछ शक सा पैदा हो रहा है.

न जाने ये धड़कनें क्यों सिर्फ
तुम्हारी चाहत करती है..

ये गुमसुम निगाहें अब भी
तुम्हारा इंतजार करती है..

Santosh

njaane ye dhadkane kyo sirf
tumhari chahat karti hai
ye gumsum nigaahe ab bhi
tumhara intezaar karti hai

Shayari Sukun Voice Over Artist Ad

और तब आप उससे यही बात पूछने लगते हो कि आखिर आपके dil की naraz और sad होने का राज क्या है. अगर उसका कहीं dil लग नहीं रहा है तो कोई बात नहीं है. लेकिन अगर वह खुद और से अपना dil लगा रखा है तुम यह बात आप हरगिज बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं. क्योंकि जिसकी naraz होने पर आप खुद नाराज और gumsum होते हैं. वह अगर किसी दूसरे से अपनी naraz हो jazbaat अगर बयान करना चाहता है तो आपका dil यह बात नहीं मान सकता.

gumsum shayari उनके jazbaat के लिए आप उन्हें नाराज ना होने की सलाह देते हैं..

चाहे जिस तरह से हो आप अपने महबूब के naraz jazbaat को मनाने की हर एक मुमकिन कोशिश करना चाहते हो. फिर चाहे उन कोशिशों के लिए आपको अपने हंसते खेलते दिल को भी और naraz क्यों ना करना पड़े. लेकिन अगर उनके ही jazbaat उन्हें खुद naraz कर रहे हो तो यह बात आपके बस में नहीं होती है.


Jazbat -1: Love Shayari आपको जज्बातों की कद्र करना सिखायेगी!
Click ? link to listen more


और उनकी इस तरह से gumsum होने की वजह आप जान नहीं पाते हो. और इसी वजह से अब आपका dil भी बहुत ज्यादा sad महसूस कर रहा है और एक तरह से उल्फत में पड़ चुका है. लेकिन फिर भी आप यह बात अपने महबूब को पता नहीं चलने देना चाहते हो. Gumsum Shayari

कैद थे बेवफा के प्यार में
आजाद हम, आज हो गए..

टूटा है जबसे ये नादाँ दिल,
गुमसुम सारे अल्फ़ाज़ हो गए..

Santosh

kaid the bewafa ke pyar me
aawaz hum aaj ho gye
tuta hai jabse ye nadan dil
gumsum saare alfaz ho gye

Shayari Sukun Writer Ad

आप उनसे बस इसी बात का भरोसा मांग रहे हो कि वह अपने dil को किसी तरह से sukun भरा रखें. ताकि आपके भी dil को वह इसी तरह से और ज्यादा sukun दिला सके. और आप तो हमेशा अपने महबूब से या फिर अपने दिल से बस sukun और खुशी की ही तलाश करते रहते हो. ताकि आप अपने महबूब को भी उतना ही sukun दे सके.

gumsum shayari उनके नाराज होने की वजह से आपका भी दिल कहीं लगता नहीं है..

आपको अपना महबूब ना जाने कब से यूं ही gumsum नजर आ रहा है. और उसे इस तरह से खामोश देखकर अब आपका भी sad दिल खामोश और चुप्पी साधे बैठा हुआ है. आपके जीवन में आप किसी प्रकार की कोई ख्याल आना जैसे बंद ही हो गया है. चाहे जिस तरीके से भी हो लेकिन आपको अपने महबूब को खुश देखने की एक आदत सी बन चुकी है.

मोहब्बत की इन राहों में प्यार के
बहाने की कोई साज़िश तो करते..

इस गुमसुम दिल को मनाने की
झूठी ही सही लेकिन कोशिश तो करते..

Santosh

mohabbat ki inn raho me pyar ke
bahane ki koi saajish to karte
iss gumsum dil ko manane ki jhuti
jhuthi hi sahi lekin koshish to karte

अगर वह कुछ देर के लिए भी आप से या दुनिया के किसी भी चीज से naraz हो जाए तो आपका sad दिल कहीं भी नहीं लगता है. और इसी वजह से आप आप को ऐसा लग रहा है कि जैसे कम से कम उनके jazbaat यह तो आपकी बात हो जाए तो कम से कम आपके दिल को इतना sukun मिलेगा.

Gumsum Shayari Image -1

gumsum-sad-shayari-in-hindi-image
Gumsum Shayari-in-hindi-image

लेकिन आप तो उनकी खुश होने की आपको कोई भी अवसर नहीं दिख रही है. लेकिन जिस प्रकार से आप अपने दिल को तहे दिल से प्यार करते हो. इसे देखकर तो यह बात बिल्कुल भी नहीं लगती कि वह ज्यादा देर खामोश रहेगा, या फिर नाराज ही रहेगा. क्योंकि इस बात से आपके मन पर भी बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ता है.

नाराज होता है हर एक सवेरा
जो हर दम होता है तेरी चाह में..

गुमसुम से इस दिल को मना
बैठा है तेरी ही राह में..

Santosh

naraz hota hai har ek savera
jo har dam hota hai teri chah me
gumsum se iss dil ko mana lo na
baitha hai teri raah me..

और यही बात अब हर वक्त आप दुनिया से ही सीखते जा रहे हो. अगर आपको किसी भी बात से कोई दिक्कत हो तो आप तुरंत अपने महबूब से जाकर कहते हो. और इसी वजह से वह भी आप पर पूरी तरह से भरोसा कर सकता है इसका आपको यकीन है. यही बात आप हमेशा अपने जिसे भी बयां करते रहते हो.

Gumsum Shayari in hindi, english poetry, thoughts, quotes

इतने गुमसुम से क्यों 
रहने लगे हो आजकल?

दिल लग नहीं रहा या
कहीं और लगा बैठे हो..?

itne gumsum se kyon 
rahane lage ho aajkal?
dil lag nahin raha ya 
kahin aur laga baithe ho..?

top sad shayari quotes poetry in urdu hindi | gumsum shayari

उल्फ़त में डाल के हमें
आप यू गुमसुम हो गए..

नाराज़ तो नहीं है हम बस
सैयाद के डर से बेफिक्र हुए…

ulfat main daal ke hamen 
aap yun gumsum ho gaye..
naraz to nahin hai ham bus
saiyyad ke dar se befikr huye…

Gumsum Shayari with images whatsapp status thoughts

आप गुमसुम हो लेकिन
आपके जज़्बात नहीं..

नाराज़ रहोगे आप तो
दिल कहीं लगता नहीं..

aap gumsum ho lekin aapke
aapke jazbaat nahi..
naraz rahoge ap to
dil kahi lagta nahi…

Gumsum Shayari Image -2

Gumsum-Shayari-Quotes-Hindi-WhatsApp-Status
Gumsum Shayari Image-Quotes-Hindi-WhatsApp-Status

दोस्तों आज की हमारी इन Sad Gumsum Shayari को सुनकर अगर आपके naraz dil को भी जरा सा sukun मिला हो, तो हमें नीचे कमेंट सेक्शन में कमेंट करते हुए जरूर बताइएगा.

अगर आप चाहते है कि आपको सारी अपडेट्स अपने Whatsapp पर मिले तो, जल्दी से ‘START’ इस मेसेज को +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नंबर पर सेंड कीजिए, आपकी सेवा 24 घंटो के भीतर शुरू हो जाएगी.

अगर आप चाहते है की आपको फेसबुक पर शायरी सुकून अपडेट्स मिले, तो इस शायरी सुकून पेज को लाइक और शेयर जरूर करें.

अगर अभी आपका मूड कुछ और दर्द भरी शायरियां पढ़ने का है, तो आप यहाँ Sad Shayari पर क्लिक कर सकते है.

Leave a Comment