Love

Superb 40+ ‘Bepanah Shayari’ (बेपनाह शायरी) in Hindi

Bepanah means something in huge quantity. Bepanah Shayari is the romantic form of Hindi Poetry to express your love feelings for your partner. If you are not able to express your romantic emotions with your girlfriend then you must read this blog post of बेपनाह शायरी.

उस की आँखें…गहरी झील सी
उसकी ज़ुलफ़ों से घटा शरमाती हैं

बेपनाह जो चाहते हैं किसी को
उन से अकसर नींदें रूठ जाती हैं

-Moeen

uski aankhe..gahari jheel si
uski julfe se ghata sharmati hai
bepanah jo chahte hai kisi ko
un se aksar ninde ruth jati hai

सर्द हवाओं के झोंकों से अब
हमें नहीं मिल पा रही है पनाह

जब इश्क हुआ हमें आपसे तो
आपकी बाहों में गर्माहट मिली बेपनाह

-Vrushali

sard hawao ke jhonko se ab
hume nhi mil pa rhi hai panah
jab ishq hua hume aapse to
aapki baho me garmahat mili bepanah



Bepanah Romantic Love Shayari

Bepanah Shayari
Bepanah Shayari
छोड़ कर तुम्हारे सपने
कुछ और ना देखना चाहूंगा.

ताउम्र तुमसे ही मोहब्बत
मैं बेपनाह करना चाहूंगा..

-Santosh

Chhod Kar Tumhare Sapne
Kuch aur Na dekhna Chahunga..
Ta Umr Tumse Hi Mohabbat
Mai Bepanah karna Chahunga…


💕 Listen Uninterrupted Shayari 💕
🙏After Small Advertisement🙏



Bepanah Shayari Image -2
Bepanah Shayari Image

Listen to Bepanah Shayari | Voice-Over: Dipali Ghadge


Bepanah Shayari की मदद से अपने आप को ही उनके इश्क के दायरे में रखना चाहोगे…

वो अनसुलझे सवालों का जवाब हैं
हकीकत हैं वो…या कोई ख्वाब हैं

जिसे चाहता हुँ मैं बेपनाह यारों
सारी कायनात में वो लाजवाब हैं

-Moeen

wo ansuljhe sawalo ka jawab hai
haqikat hai wo..ya koi khwab hai
jise chahta hu mai bepanah yaaro
saari qaynaat me wo lajwab hai



तेरे लबों से जलते हैं गुलाब
तू हैं सुबह का हसीन ख्वाब

कुदरत ने बख्शा तुझे हुस्न बेपनाह
बदलीयों में जैसे चमकता हो माहताब*

[*माहताब - चाँद]

-Moeen

tere labo se jalte hai gulab
tu hai subah ka hasin khwab
kudrat ne baksha tujhe husn bepanah
badliyo me jaisa chamkta maahtaab

Bepanah Shayari in Hindi Urdu

bepanah-love-shayari-collection-in-urdu-english
Bepanah Ishq Mohabbat Shayari
मेरे ख़्वाबों को इजाज़त नहीं है
तेरे सिवा किसी और को देखने की..

हिदायत है मेरे दिल को भी तूझसे ही 
बेपनाह मोहब्बत करने की..

-Sagar

mere khwabon ko ijazat nahin hai
tere siva kisi aur ko dekhne ki..
hidayat hai mere dil ko bhi tujhse hi
bepanah mohabbat karne ki…

मेरा एक पल भी नहीं बीतता
अब तुझसे दूर रहकर..

बेपनाह इश्क लेकर दिल में
चल पड़ी हूं बेनाम रास्तों पर..

-Sagar

mera ek pal bhi nahin bitata 
ab tujhse dur rahakar..
bepanah ishq lekar dil mein 
chal padi hun benaam raston per…

नाआश्ना हुए हम जमाने के
चाल, चलन और ढंग से..

जब वाकिफ हुए हम इस
बेपनाह इश्क, मोहब्बत और प्यार से..

na aashna huye ham jamane ke
chaal, chalan aur dhang se..
jab waqif huye ham iss 
bepanah ishq, mohabbat aur pyar se…



Bepanah Shayari Image -3
Bepanah Shayari in Hindi
गिन रहा हूं नब्ज खुद अपनी
इसका हिसाब कौन करें..

मौला मेरे बता दें, बेपनाह
इश्क का इलाज कौन करें..?

-Santosh

gin raha hoon nabj khud apni
iska hisab Kaun Karen..
Maula Mere Bata De Bepanah
Ishq ka ilaaz Kaun Karen..?

ज़माना क्यों सताता हैं आशिकों को
क्या इश्क करना…कोई गुनाह हैं

ना माँग सबूत…मेरी मोहब्बत का
मुझे इश्क तुझ से बेपनाह हैं

-Moeen

jamana kyo satata hai aashiqo ko
kya ishq karna..koi gunah hai
naa mang sabut..meri mohbbat ka
mujhe ishq tujhse bepanah hai

कभी सवालों में ढुंढा…यार को
कभी तलाश किया उसे जवाबों में

बेपनाह इश्क़ हुआ हैं तुझ से
कैसे करें भला बयाँ अलफाज़ों में

-Moeen

kabhi sawalo me dhunda..yaar ko
kabhi talash kiya use jawabo me
bepanah ishq hua hai tujh se
kaise kare bhala alfazo me

हुस्न और कातिल निगाहों के
पल में ही कायल बन गए..

बेपनाह प्यार में तुम्हारे हम
आशिक से शायर बन गए..

-Santosh

Husn aur Katil Nigahon ke
Pal Mein Hi Kayal Ban Gaye..
Bepanah pyar mein tumhare Ham
Aashiq se Shayar Ban Gaye..



जन्नत ए मासूमियत से
रूबरू होता हूं अक्सर..

बेपनाह प्यार से अपने,
हो रहा हूं दुनिया से बेखबर..

jannat e masumiyat se 
rubaru hota hu aksar..
bepanaah pyar se apne 
ho raha hun duniya se bekhabar…

तमाम गुनाहों को मैंने
माफ़ होते हुए देखा है..

जब भी मोहब्बत को मैंने
बेइंतहा और बेपनाह देखा है..

tamam gunahon ko maine 
maaf hote hue dekha hai..
jab bhi mohabbat ko maine 
beinteha aur bepanaah dekha hai…

करता रहूंगा जिंदगी भर
एक ही प्यारा सा गुनाह..

जान से भी ज्यादा चाहूंगा,
अपने दरमियान है इश्क़ बेपनाह..

karta rahunga jindagi bhar 
ek hi pyara sa gunah..
jaan se bhi jyada chahunga,
apne darmiyaan hai ishq bepanaah..

bepanah-shayari-in-hindi-urdu
Bepanah Shayari in Urdu
1)

भरोसा कर थोड़ा सा इश्क
लड़ाओ तुम भी हमसे..

कैसे बताऊं जानम बेपनाह
मोहब्बत है मुझे तुमसे..

-Dipti

bharosa kar thoda sa ishq
ladao tum bhi humse..
kaise bataun janam bepanah
mohabbat hai mujhe tumse..



2)

तुम्हारे रसीले होठों की लाली
ओ महबूबा मैं चुराना चाहता हूं..

बाहों में आओ मेरी, बेपनाह इश्क की
हद से आज गुजर जाना चाहता हूं..!

-Santosh

tumhare rasile hothon ki lali
o mehbooba main churana chahta hun..
bahon mein aao meri, bepanah ishq ki
had se aaj gujar jana chahta hun..!

3)

नादान था ये दिल चाहत
सिखा दी इसे तूने..

बेपनाह इश्क की जानम
लत लगा दी मुझे तूने..

-Supriya

nadan tha ye dil chahat
sikha dil ise tune..
bepanah ishq ki janam
lat laga di mujhe tune..

4)

तेरी ही सूरत को याद
करता हूं मैं तहे दिल से..

बेपनाह मोहब्बत करता हूं
मेरी जानम मैं तुमसे..

-Dipti

teri hi surat ko yad
karta hun main tahe dil se..
bepanah mohabbat karta hun
meri janam main tumse..

5)

तुम्हें देखते ही जानम मेरे
दिल को इबादत हो गई है..

तेरी खूबसूरत तस्वीर से
बेपनाह चाहत हो गई है..

-Santosh

tumhen dekhte hi janam mere
dil ko ibadat ho gai hai..
teri khubsurat tasvir se
bepanah chahat ho gai hai..



6)

तेरे चेहरे पर मेरे
इश्क की रंगत छाई है..

मेरे दिल में तेरी बेपनाह
मोहब्बत छुपाई है..

-Supriya

tere chehre per mere
ishq ki rangat chai hai..
mere dil mein teri bepanah
mohabbat chhupai hai..

7)

जानू तुम चाहोगी उतने
आज खर्चे करने है..

तेरे साथ मोहब्बत के
बेपनाह चर्चे करने है..

-Dipti

janu tum chahogi utne
aaj kharche karne hain..
tere sath mohabbat ke
bepanah charche karne hain..

8)

इस कदर बेवफाई का
कांटा दिल में चुभ गया है..

बेपनाह तन्हाईयों में मेरा
दिल अब पूरा डूब गया है..!

-Santosh

is kadar bewafai ka
kanta dil mein chubh gaya hai..
bepanah tanhaiyon mein mera
dil ab pura doob gaya hai..!

9)

जब से देखा है दिलबरा मैंने तुम्हें
बिना पूछे दिल तुम पर मरने लगा..

समझाओ ना जानम इसे, तुमसे
ये बेपनाह मोहब्बत करने लगा!

-Supriya

jab se dekha hai dilbara maine tumhen
bina puchhe dil tum per marne laga..
samjhao na janam ise, tumse
ye bepanah mohabbat karne laga!



10)

मेरा नाम लेते ही तेरे गालों पर
जानम इश्क़ की लाली छाई है..

मेरे तसव्वुर में भी बस तेरी
बेपनाह मोहब्बत समाई है..

-Dipti

mera naam lete hi tere galon per
janam ishq ki lali chhai hai..
mere tasavvur mein bhi bus teri
bepanah mohabbat samayi hai..

11)

छुप जाएंगे तेरे दिल में,
किसी को ना नजर आएंगे..

तेरी बेपनाह चाहत में सनम
हम इस कदर डूब जाएंगे..

-Santosh

chhup jayenge tere dil mein,
kisi ko na najar aayenge..
teri bepanah chahat mein sanam
hum is kadar doob jayenge..

12)

मेरी सांसे चले तब तक तुम्हें ही
दिलरूबा टूट कर चाहूंगा मैं..

तुम्हारी बेपनाह चाहत में दिल
बनकर सीने में धड़कूंगा मैं..!

-Supriya

meri sanse chale tab tak tumhen hi
dilruba tut kar chahunga main..
tumhari bepanah chahat mein dil
bankar seene mein dhadkunga main..!

13)

तुम से ही दिलरुबा सारी जिंदगी
मैं सच्चा इश्क लड़ाना चाहता हूं..

इस बेपनाह मोहब्बत में आज
हद से गुजर जाना चाहता हूं..

-Dipti

tum se hi dilruba sari zindagi
main saccha ishq ladana chahta hun..
is bepanah mohabbat mein aaj
had se gujar jana chahta hun..

14)

वादा है तुमसे जानम जिंदगी भर
बस तुम्हें ही करता रहूंगा प्यार..

बेपनाह मोहब्बत में गुलाब देकर
तुम्हें आज करता हूं इजहार..

-Santosh

vaada hai tumse janam jindagi bhar
bus tumhen hi karta rahunga pyar..
bepanah mohabbat mein gulab dekar
tumhen aaj karta hun izhar..

15)

यूं ही छाई रहे खुशियों की
सौगात तुम्हारे दिल पर..

गुलाब सी बेपनाह कोमलता
छाई है तुम्हारे चेहरे पर..

-Supriya

yun hi chhai rahe khushiyon ki
saugat tumhare dil per..
gulab si bepanah komalta
chhai hai tumhare chehre per..

16)

दूर रहे किस्मत तुम्हारी
सभी मुश्किलों से..

खिलता रहे चेहरा तुम्हारा
बेपनाह खुशियों से..

-Dipti

dur rahe kismat tumhari
sabhi mushkilon se..
khilta rahe chehra tumhara
bepanah khushiyon se..

17)

तुमसे है प्यार, तुम ही हो
जरूरी इस जिंदगी के लिए..

बेपनाह दुआएं करता हूं
जाना बस तुम्हारे लिए..

-Santosh

tumse hai pyar, tum hi ho
jaruri is zindagi ke liye..
bepanah duaaen karta hun
jana bus tumhare liye..

18)

मेरी जान हो तुम करता रहूंगा
उम्र भर बस तुम्ही से प्यार..

दिल में बसाकर करता रहूंगा
मैं तुम्हारा बेपनाह इंतजार..

-Supriya

meri jaan ho tum karta rahunga
umra bhar bus tumhi se pyar..
dil mein basakar karta rahunga
main tumhara bepanah intezar..

19)

नाम रखता हूं याद तुम्हारा,
भूल जाता हूं मैं खुद का..

बेपनाह मोहब्बत में करता हूं,
मैं बस तुम्हारा ही सदका..

-Dipti

naam rakhta hun yad tumhara,
bhul jata hun main khud ka..
bepanah mohabbat mein karta hun,
main bus tumhara hi sadka..

20)

तू ही जानम मेरी चाहत की
पहली और आखरी पसंद है..

तेरी गलियों में बेपनाह चक्कर
लगाना मुझे बड़ा पसंद है..

-Santosh

tu hi janam meri chahat ki
pahli aur aakhri pasand hai..
teri galiyon mein bepanah chakkar
lagana mujhe bada pasand hai..

21)

बेपनाह मोहब्बत में मुझे
तड़पना तूने सिखा दिया..

मेरे दिल को धड़कना भी
जानम तूने सिखा दिया..

-Supriya

bepanah mohabbat mein mujhe
tadapna tune sikha diya..
mere dil ko dhadakna bhi
janam tune sikha diya..

22)

गुजारिश करता हूं आज तुमसे
सनम तुम भी मुझसे प्यार कर लो..

अपने दिल में बेपनाह मोहब्बत
क्यों छुपाई, जानम इजहार कर लो..

-Dipti

guzarish karta hun aaj tumse
sanam tum bhi mujhse pyar kar lo..
apne dil mein bepanah mohabbat
kyon chhupai, janam izhaar kar lo..

23)

याद करता रहता है दिल
तुम्हें बेपनाह सवालों में..

तुम ही आती हो जानम
मेरे ख्वाबों खयालों में..

-Santosh

yad karta rahata hai dil
tumhen bepanah sawalon mein..
tum hi aati ho janam
mere khwabon khayalon mein..

24)

दिन में भी आजकल
जैसे सोया रहता हूं..

बेपनाह तेरे इश्क में,
मैं खोया रहता हूं..

-Supriya

din mein bhi aajkal
jaise soya rahata hun..
bepanah tere ishq mein,
main khoya rahata hun..

25)

तुम ही निकालना बाहर
मुझे इस मुश्किल से..

बेपनाह मोहब्बत करता हूं
जानू मैं तेरे दिल से..

-Dipti

tum hi nikalna bahar
mujhe is mushkil se..
bepanah mohabbat karta hun
janu main tere dil se..

26)

देखा है तुझे जबसे,
ये दिल तेरा हो चुका है..

तेरी ही बेपनाह यादों में
जानम खो चुका है..!

-Santosh

dekha hai tujhe jabse,
ye dil tera ho chuka hai..
teri hi bepanah yaadon mein
janam kho chuka hai..!

YOU MAY LIKE THESE POSTS:

हमारी इन Bepanah Shayari की मदद से अगर आप भी अपने महबूब के बेपनाह मोहब्बत में फना होना चाहते हैं तो हमें कमेंट सेक्शन में फीडबैक देते हुए जरूर बताइएगा.

शायरी सुकून की बेहतरीन शायरियों को अपने फेसबुक पर प्राप्त करने के लिए इस शायरी सुकून पेज को Like और Share जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.