Sad Mohabbat Shayari : 50+ Pyar Ke Painful Khayal Status

Sad Mohabbat Shayari : दोस्तों आज हम आपको जो प्यार की दर्द भरी दास्तान सुनाने जा रहे हैं. इसे पढ़कर और सुनकर आपको ऐसे लगेगा जैसे यह खुद आपके ही दिल की कहानी है. क्योंकि अधूरे प्यार का दर्द अक्सर एक जैसा ही होता है. जिसमें आशिक अपने टूटे हुए दिल की यादों को, तन्हाइयों में जोड़ने की नाकाम कोशिशें करता रहता है. हमें यकीन है कि आज के Pehli Mohabbat Sad Shayari के ख्याल आपके दिल को जरूर छू जाएंगे.

Sachi Mohabbat Sad Shayari will definitely touch your heart. You will find our today’s Heart Touching Sad Mohabbat Shayari as similar to your situation. And we hope you will like our today’s Broken Heart Sad Mohabbat Shayari very much. Please share and subscribe our YouTube channel also. Hit the bell icon so that you will not miss any new video.

Read this Popular Post : Kajal Shayari

तो चलिए दोस्तों आशिक के टूटे हुए दिल का दर्द बयां करने वाले Sad Mohabbat SMS सुने. ताकि आप भी अपने प्यार की Sad Love Shayari जैसी अधूरी दास्तान याद कर पाओ. साथ ही अगर आपको हमारे आज के Pyar Ke Dard Bhare Khayal बहुत पसंद आए. तो इन्हें अपने दोस्तों के साथ इंस्टाग्राम और शेयर चैट पर भी जरूर शेयर करें.

Table Of Content

  1. Pehli Mohabbat Sad Shayari Ko Sunkar Apna Adhura Pyar Yaad Karoge
  2. Pyar Mohabbat Sad Shayari Ke Sath Dard Ki Dastan Yad Karna Chahenge
  3. Mohabbat Sad Shayari Image Ke Sath Apne Dil Ke Gam Bhulane Ki Koshish Karoge
  4. Sad Mohabbat Shayari In Hindi Ke Sath Pyar Ka Adhura Khwab Dekhoge
  5. Sad Mohabbat Shayari Ki Madad Se Chahat Ke Purane Zakhm Yaad Aa Jayenge
  6. Conclusion

Pehli Mohabbat Sad Shayari Ko Sunkar Apna Adhura Pyar Yaad Karoge – पहली मोहब्बत सैड शायरी को सुनकर अपना अधूरा प्यार याद करोगे

Pehli Mohabbat Sad Shayari Ko Sunkar Apna Adhura Pyar Yaad Karoge
पहली मोहब्बत सैड शायरी को सुनकर अपना अधूरा प्यार याद करोगे
1)

मोहब्बत की राहों में चोट सदा खाते रहे
दिल था ज़ख़्मी फिर भी हम मुस्कुराते रहे..

समझ कर एक ख्वाब उस ने भुला दिया मुझे
शबो रोज़ ज़ुल्म ढहाने वाले मुझे याद आते रहे..

-Moin

mohabbat ki rahon mein chot sada khate rahe
dil tha jakhmi fir bhi ham muskurate rahe..

samajh kar ek khwab usne bhula diya mujhe
shabo roj zulm dhahane wale mujhe yaad aate rahe..

2)

लाखों है खामियां मुझमें,
दोस्तों करना मुझे माफ..

लेकिन आईना अपना भी
करना कभी साफ..!

lakhon hai khamiyan mujhmein,
doston karna mujhe maaf..

lekin aayina apna bhi
karna kabhi saaf..!

You may like this : Insaniyat Motivational Shayari

3)

साँज ढले तन्हाई में जब याद आता हैं कोई
मुस्कुराहटों में अश्क अपने छुपाता हैं कोई..

परदेस में ढलती शामें अकसर ये कहती हैं
अब लौट चलो दीप उम्मीद के जलाता हैं कोई..

-Moin

sanjh dhale tanhai mein jab yad aata hai koi
muskurahaton mein ashq apne chupata hai koi..

pardes mein dhalti shame aksar ye kahati hai
ab laut chalo deep ummid ke jalata hai koi..

4)

तेरे प्यार में हम फना हो गए
तेरे जाने से अब तन्हा हो गए..

वफा की कसमें खाकर तुम
क्यों हमसे बेवफ़ा हो गए..

-Vrushali

tere pyar mein ham fanaa ho gaye
tere jaane se ab tanha ho gaye..

wafa ki kasme kha kar tum
kyon humse bewafa ho gaye..

5)

बातें कर लेते हम से तो
शायद अच्छा हो जाता..

खामोश रहकर मगर दूर
कर दिया तुमने रिश्ता..

baatein kar lete ham se to
shayad achha ho jata..

khamosh rahkar magar dur
kar diya tumne rishta..

6)

जान कर हमें अनजान बनते हो
दगा देकर वफ़ा की बात करते हो..

प्यार के मुजरिम होकर भी तुम
हमसे माफ़ी की उम्मीद करते हो..

-Vrushali

jaan kar hamen anjaan bante ho
daga dekar wafa ki baat karte ho..

pyar ke mujrim ho kar bhi tum
humse mafi ki ummid karte ho..

7)

तेरी जुदाई में साल लम्हों की तरह गुज़रने लगे
शाम ढले रौशन... इंतज़ार के दीप करने लगे..

लौट आ हरजाई देने कोई दाग मोहब्बत का
ज़ख्म चाहत के अब सारे पुराने भरने लगे..

-Moin

teri judai mein saal lamhon ki tarah gujarne lage
sham dhale roshan.. intezar ke deep karne lage..

laut aa harjai dene koi daag mohabbat ka
jakhm chahat ke ab sare purane bharane lage..

8)

मोबाइल सिम की
तरह ही हो तुम..

आदत लगा कर अब
दे रही हो गम..!

mobile sim ki
tarah hi ho tum..

aadat lagakar ab
de rahi ho gam..!

You may like this : Shayari On Eyes

9)

ज़िंदगी के सफर में ऐसे भी मंज़र आए
जहाँ फूल चढ़ाए सदा वहीं से पत्थर आए..

जब सोचा कभी शिकायत करुँ तेरी खुदा से
फिर बगावत पर उतर सारे मेरे अक्षर आए..

-Moin

jindagi ke safar mein aise bhi manzar aaye
jahan phool chadhaye sada vahin se patthar aaye..

jab socha kabhi shikayat karu teri khuda se
fir bagawat per utar sare mere akshar aaye..

10)

इंतजार तेरा बरसों से करता आया हूं
हर चेहरे में तुझे ही देखता आया हूं..

जानता हूं बीता वक्त लौटकर नहीं आता
मगर तेरी खिदमत में अपनी जान लाया हूं..

-Vrushali

intezar tera barso se karta aaya hun
har chehre mein tujhe hi dekhta aaya hun..

jaanta hun bita waqt laut kar nahin aata
magar teri khidmat mein apni jaan laya hun..

Pyar Mohabbat Sad Shayari Ke Sath Dard Ki Dastan Yad Karna Chahenge – प्यार मोहब्बत सैड शायरी के साथ दर्द की दास्तान याद करना चाहेंगे

Pyar Mohabbat Sad Shayari Ke Sath Dard Ki Dastan Yad Karna Chahenge
Pyar Mohabbat Sad Shayari Ke Sath Dard Ki Dastan Yad Karna Chahenge
11)

तुम्हारे और मेरे दर्द का
रंग था एक जैसा साथी..

तो मिलकर साथ मेरे क्यों ना
बनाई तस्वीर जिंदगी की..

tumhare aur mere dard ka
rang tha ek jaisa sathi..

to milkar sath mere kyon na
banai tasvir jindagi ki..

You may like this : Doctor Shayari

12)

तन्हाई अब मेरी शामों की हकदार हैं
हँसी में पोशीदा दर्द... खुदमुख्तार हैं..

कभी मिलते थे ज़माने में हम सरे आम
अब बीच हमारे हायल नफरतों की दिवार हैं..

-Moin

tanhai ab meri shamon ki hakdar hai
hansi mein poshida dard.. khud mukhtar hai..

kabhi milte the jamane mein ham sareaam
ab bich hamare hayal nafraton ki deewar hai..

13)

हाथ पकड़ कर मेरा कोई
मुझ पर भी गुरुर करता..

रोने पर मुझसे भी कोई
बच्चों जैसे सवाल करता..

hath pakad kar mera koi
mujh per bhi guroor karta..

rone per mujhse bhi koi
bacchon jaise sawal karta..

14)

तेरी आंखों में सारा जहां देखा था
खुद के लिए मैंने प्यार देखा था..

जब हम जुदा हुए तो पता चला
वो तो मेरी आंखों का धोखा था..

-Vrushali

teri aankhon mein sara jahan dekha tha
khud ke liye maine pyar dekha tha..

jab ham judaa hue to pata chala
vah to meri aankhon ka dhokha tha..

15)

मोहब्बतों में ये मरहला बड़ा दुशवार होता हैं
रिवायतों के नाम पर जब कोई लाचार होता हैं..

अब हवस पलती हैं इश्क़ के लिबास में यहाँ
यहाँ सरे आम जज़बातों का कारोबार होता हैं..

-Moin

mohabbatein mein main yah marhala bada dushwar hota hai
riwayaton ke naam per jab koi lachar hota hai..

ab hawas palti ishq ke libaas me yahan
yahan sare aam jazbaaton ka karobaar hota hai..

16)

आपके साथ गुजारी सुनहरी
यादें समेटने आ जाती है..

सुना है वही यादें जीने का
सहारा भी हो जाती है..

aapke sath gujari sunhari
yaden sametne aa jaati hai ..

suna hai vahi yaden jeene ka
sahara bhi ho jaati hai..

17)

न जाने वफा हम कैसे कर गए
तेरी बेवफाई में खुद को हार गए..

प्यार में इतने बुजदील थे हम
के तेरे गुनाह हम माफ़ कर गए..

-Vrushali

na jaane wafa ham kaise kar gaye
teri bewafai mein khud ko har gaye..

pyar mein itne bujhdil the ham
ke tere gunaah ham maaf kar gaye..

18)

मुझे डुबो कर फिर देर तलक सागर रोया
जब गुज़रा उन राहों से तो हर मंज़र रोया..

उस ने बयाँ कर दी रूदाद मोहब्बत की
लोग वाह वाह करते रहे, मगर शायर रोया..

-Moin

mujhe dubo kar fir der talak sagar roya
jab gujara un raho se to har manzar roya..

usne baya kar di rudaad mohabbat ki
log wah wah karte rahe, magar shayar roya..

19)

कोशिश करते हैं इतनी दिल से
कि नाराज ना हो कोई हमसे..

कैसे भूले मोहब्बत का दर्द
जो मिला है हमें तुमसे..

koshish karte hain itne dil se
ki naraj na ho koi humse..

kaise bhule mohabbat ka dard
jo mila hai hamen tumse..

20)

मोहब्बत का ज़ख्म लेकर
हम इतराते बहुत हैं..

ऐसी बेपनाह थी चाहत
के लोग जलते बहुत हैं..

-Vrushali

mohabbat ka jakhm lekar
ham itrate bahut hai..

aisi bepanah thi chahat
ke log jalte bahut hai..

Mohabbat Sad Shayari Image Ke Sath Apne Dil Ke Gam Bhulane Ki Koshish Karoge – मोहब्बत सैड शायरी इमेज के साथ अपने दिल के गम भुलाने की कोशिश करोगे

Mohabbat Sad Shayari Image Ke Sath Apne Dil Ke Gam Bhulane Ki Koshish Karoge
Mohabbat Sad Shayari Image Ke Sath Apne Dil Ke Gam Bhulane Ki Koshish Karoge
21)

मुझे देख कर झुकने वाली... नज़र हैं याद
जहाँ मिलते थे दोनों मुझे वो शजर हैं याद..

मोहब्बत में हम किस मोड़ पर आ ठहरे
उधर हैं ख़ुशी की महफीलें और इधर हैं याद..

-Moin

mujhe dekh kar jhukne wali.. nazar hai yad
jahan milte the donon mujhe vo shajar hai yad..

mohabbat mein ham kis mod per aa thehre
udhar hai khushi ki mahfilen aur idhar hai yaad..

22)

रोए अगर कोई लड़का
किसी लड़की के लिए..

तो समझ लीजिए अधूरा है
प्यार दिलदार के लिए..

roye agar koi ladka
kisi ladki ke liye..

to samajh lijiye adhura hai
pyar dildar ke liye..

23)

तेरी बेवफाई का गवाह मेरा हर कलाम होगा
मेरे बाद बेक़रार यहाँ हर ख़ास व आम होगा..

निसाबों में पढ़ी जाएगी मेरे इश्क़ की दास्ताँ
तेरे दिल में मेरी यादों का कोहराम होगा..

*निसाब : syllabus

-Moin

teri bewafai ka gavah mera har kalam hoga
mere bad bekarar yahan har khaas v aam hoga..

nisabome padhi jayegi mere ishq ki dastan
tere dil mein meri yadon ka kohraam hoga..

24)

समझो मेरी बात को
तुम मनाना ना मुझे..

खफा नहीं किसी से
मगर परेशान हूं खुद से..

samjho meri baat ko
tum manana na mujhe..

khafa nahin kisi se
magar pareshan hu khud se..

25)

कितने ख्वाब सजाए थे मैं ने नज़र में
टुट गए मेरे सारे ख्वाब.. पल भर में..

मोहब्बत के बदले मिली सदा बेरुखी
ये कैसा मोड़ आया हैं... इस सफर में..

-Moin

kitne khwab sajaye the maine nazar mein
tut gaye mere sare khwab.. pal bhar mein..

mohabbat ke badle mili sada berukhi
yah kaisa mod aaya hai.. is safar mein…

26)

आसमान के तारों से
शिकायत क्या करें साहब..

अपने ही चिराग़ों से
जब हमें रोशनी न मिली..!

aasman ke taaron se
shikayat kya karen sahab..

apne hi chiragon se
jab hamen roshani na mili..!

27)

तेरे रूठने के बाद, कौन देगा राहत मुझे
लग गई हैं अब शायद, तेरी लत मुझे..

लौट आओ के दिल हैं मेरा बेक़रार बहोत
तुझ बिन अब घूरती हैं, ये छत मुझे..

-Moin

tere ruthne ke bad, kaun dega rahat mujhe
lag gai hai ab shayad, teri lat mujhe..

laut aao ke dil hai mera bekarar bahut
tujh bin ab ghurati hai yah chhath mujhe..

28)

तेरे प्यार के आशियाने में
हम अपनी पहचान खो बैठे..

जब टूटा ये भरम तो समझे
हम तो अपनी जान गवां बैठे..

-Vrushali

tere pyar ke aashiyane mein
ham apni pahchan kho baithe..

jab tuta ye bharam to samjhe
ham to apni jaan gawa baithe..

29)

सूखे पत्ते की चादर ओढ़ाकर
खुले आसमाँ में सुलाकर..

पराए से की मोहब्बत उन्होंने
हमे बेवफा बयां कर..

sukhe patte ki chadar odhakar
khule aasman mein sula kar..

paraaye se ki mohabbat unhone
hamen bewafa bayan kar..

30)

नींद में थे हम तो तुम नजर आए
भरम में थे हम तो तुम नजर आए..

और जब धोखा मिला एक दिन तो
होश में थे हम और तुम नज़र आए..

-Vrushali

nind mein the ham to tum najar aaye
bharam mein the ham to tum najar aaye..

aur jab dhokha mila ek din to
hosh mein the ham aur tum najar aaye..

Sad Mohabbat Shayari In Hindi Ke Sath Pyar Ka Adhura Khwab Dekhoge – सैड मोहब्बत शायरी इन हिंदी के साथ प्यार का अधूरा ख्वाब देखोगे

Sad Mohabbat Shayari In Hindi Ke Sath Pyar Ka Adhura Khwab Dekhoge
Sad Mohabbat Shayari In Hindi Ke Sath Pyar Ka Adhura Khwab Dekhoge
31)

मोहब्बत से बचना दोस्तों,

कुछ और नहीं, दिल का दर्द है ये..!

mohabbat se bachana doston,

kuchh aur nahin, dil ka dard hai ye..!

32)

सुकून हैं तेरी मोहब्बत में
फिर भी कहीं दर्द सा लगता हैं..

बारिश के मौसम में भी हमें
तपिश का अहसास होता हैं..

-Vrushali

sukoon hai teri mohabbat mein
fir bhi kaha dard sa lagta hai..

barish ke mausam mein bhi hamen
tapish ka ehsas hota hai..

33)

करता हुँ पीछा बीते दिनों की परछाई का
शायद तुझे नहीं अहसास मेरी तन्हाई का..

खुदा के लिए ख़त्म कर दो ये नाराज़गी
अंदाज़ा तुझे भी हैं मेरे इश्क़ की गहराई का..

-Moin

karta hun picha beete dinon ki parchhai ka
shayad tujhe nahin ehsas meri tanhai ka..

khuda ke liye khatm kar do yah narajagi
andaza tujhe bhi hai mere ishq ki gehrai ka..

34)

फुर्सत कहां है
उन्हें इस दुनिया से..

जिन्हें हम अपनी
दुनिया समझ बैठे हैं..!

fursat kahan hai
unhe is duniya se..

jinhen ham apni
duniya samajh baithe hai..!

35)

तेरे चेहरे पर ये नाराज़गी अच्छी नहीं लगती
तुझ बिन हमें ये ज़िंदगी अच्छी नहीं लगती..

आओ फिर से करे एक नई शुरुआत हम
चाहने वालों के बीच ये दुरी अच्छी नहीं लगती..

-Moin

tere chehre per yah narajagi acchi nahin lagti
tujh bin hamen yah jindagi acchi nahin lagti..

aao fir se kare ek nai shuruaat ham
chahane walon ke bich ye duri acchi nahin lagti..

36)

तुम को दुनिया के
दर्दों गम से फुर्सत ना सही..

मुझ से नफ़रत और
दुनिया से मौहब्बत ही सही..

tumko duniya ke
dardo gam se fursat na sahi..

mujhse nafrat aur
duniya se mohabbat hi sahi..

37)

आते हैं ऐसे भी कई मोड़ ज़ीस्त में
कमी ना आए मगर कभी चाहत में..

तेरी ख्वाहिश को सदा हम ने हुक्म जाना
खुद को मिटा सकता हुँ तेरी उलफत में..

*ज़ीस्त : जीवन

-Moin

aate hain aise bhi kahin mod jist me
kami na aaye magar kabhi chahat mein..

teri khwahish ko sada humne hukm jana
khud ko mita sakta hoon teri ulfat mein..

38)

मेरे तो दिल के गम भी
लोगों के काम आते हैं..

रो देता हूं जब मैं,
लोग मुस्कुराने लगते हैं..

mere to dil ke gam bhi
logon ke kam aate hain..

ro deta hun jab mai,
log muskurane lagte hain..

39)

तुझ बिन सुना पड़ा चाहत का गुलशन हैं
बेक़रारी से तेरी राह तकता ये आँगन हैं..

चलों उस मोड़ से करे फिर शुरू ये सफर
तुम्हारे इंतज़ार में बड़ा उदास सावन हैं..

-Moin

tujh bin suna pada chahat ka gulshan hai
bekarari se teri rah taktaa yah angan hai..

chalo us mod se karen fir shuru yah safar
tumhare intezar mein bada udaas savan hai..

40)

बेवफा से हमें मोहब्बत हुई
अधूरी सी हमारी कहानी हुई..

सुकून देता हैं ये खयाल दिल को
कमबख्त हम को मोहब्बत तो हुई..

-Vrushali

bewafa se hamen mohabbat hui
adhuri si hamari kahani hui..

sukun deta hai yah khyal dil ko
kambakht hum ko mohabbat to hui..

Sad Mohabbat Shayari Ki Madad Se Chahat Ke Purane Zakhm Yaad Aa Jayenge – सैड मोहब्बत शायरी की मदद से चाहत के पुराने जख्म याद आ जाएंगे

Sad Mohabbat Shayari Ki Madad Se Chahat Ke Purane Zakhm Yaad Aa Jayenge
Sad Mohabbat Shayari Ki Madad Se Chahat Ke Purane Zakhm Yaad Aa Jayenge
41)

अब तो बस तमन्ना यही है
की तमन्ना में तुम ही रहो..

सपने देखा करूं तुम्हारे
और हरदम यादों में तुम ही रहो..

ab to bus tamanna yahi hai
ki tamanna mein tum hi raho..

sapne dekha karo tumhare
aur har dam yadon mein tum hi raho..

42)

तमन्नाओं के पुल
बना रखे थे दिल में..

बह गया सब मगर
बेरुखी के तूफान में..

tamannao ke pul
banaa rakhe the dil mein..

bah gaya sab magar
berukhi ke tufan mein..

43)

ना सताओ हमें यूं
अपना इंतजार करवा कर..

आजमाकर हमें तुम
यूं ना जाओ छोड़ कर..

-Vrushali

na sataao hamen yun
apna intezar karva kar..

aajmakar hamen tum
yu na jao chhod kar..

44)

अधूरे खयालों से होकर
आने की आरजू में..

तुम्हारी राहों में आना
जाना लगा हुआ है..

adhure khayalon se hokar
aane ki aarzoo mein..

tumhari rahon mein aana
jana laga hua hai..

45)

तेरे यादों की बरसात
मेरे आंगन में लगी हैं..

भीग तुम गए हो और
ठंड मुझे लगी हैं..

-Vrushali

tere yadon ki barsat
mere aangan mein lagi hai..

bhig tum gaye ho aur
thand mujhe lagi hai..

46)

चाहे कितना भी रहूं, लगता है
साथ तुम्हारा कम ही..

यह अलग बात है कि साथ
मेरा तुम्हें पसंद नहीं..

chahe kitna bhi rahun, lagta hai
sath tumhara kam hi..

yeh alag baat hai ki sath
mera tumhen pasand nahin..

47)

मोहब्बत के खेल यूं
सरेआम ना खेला करो..

बिखर जाए हम तो
यूं हमें संभाला ना करो..

-Vrushali

mohabbat ke khel yu
sare aam na khela karo..

bikhar jaaye ham to
yu hamen sambhala na karo..

48)

प्यार में गिर पड़े
टूट कर तो कहना जरूर..

हम तो जर्रों जर्रों से
भी उठा लेंगे तुम्हें..

pyar mein gir pade
tut kar to kahana jarur..

ham to zarron zarron se
bhi utha lenge tumhe..

49)

छोड़कर आए हैं हम अब तेरी गली,
जहां से कभी हम गुजरा करते थे..

बीत गया हैं वो वक्त सनम,
जब आप हमारी जान हुआ करते थे..

-Vrushali

chhodkar aaye hain ham ab teri gali,
jahan se kabhi ham gujara karte the..

beet gaya hai vah waqt sanam,
jab aap hamari jaan hua karte the..

50)

तख्तो ताज से भी करें
अगर ताज-पोशी कोई..

तो भी तुम्हारी यादों का
सौदा ना करूं हरजाई..

takhto taj se bhi karen
agar tajposhi koi..

to bhi tumhari yadon ka
sauda na karun harjai..

51)

प्यार का सुंदर ख्वाब थे तुम
दिल में सुकून का अहसास थे तुम..

गुजरा वक्त तो मालूम हुआ
टूटे ख्वाब की आखिरी आस थे तुम..

-Vrushali

pyar ka sundar khwab the tum
dil me sukoon ka ka ehsaas hai tum..

gujara waqt to maloom hua
tute khwab ki aakhiri aas the tum..

52)

भरता ना कैसे
दिल उसका आखिरकार..

सदियों का इश्क जो
पल भर में लुटाया मैंने..!

bharta na kaise
dil uska aakhirkar..

sadiyon ka ishq jo
pal bhar mein lutaya maine..!

Conclusion

Pyar Ke Dard Bhare Khayal को सुनकर आपको भी अपने टूटे हुए दिल के हालातों पर जरूर रोना आ रहा होगा. क्योंकि टूटे हुये दिल का दर्द किसी इंसान को ना बताया जा सकता है. और ना ही उसे किसी हक़ीम को दिखाया जा सकता है. उसे तो बस प्रेमी को जीवन भर भूगतना पड़ता है.

Sad Mohabbat Shayari को सुनकर अगर आप भी अपने मोहब्बत के जख्मों पर इलाज ढूंढ पाओ. तो हमें कमेंट सेक्शन में कमेंटस करते हुए जरूर बताइए. अपने सभी दोस्तों के साथ इस आर्टिकल को शेयर करने के लिए आपका शुक्रिया!

अपने Telegram channel पर सारे अपडेट्स प्राप्त करने के लिए जल्दी से Telegram में शायरी सुकून ऐसे या @shayarisukun सर्च करे और चैनल को subscribe करें. आपकी सेवा 24 घंटो के भीतर शुरू हो जाएगी.

अगर आप चाहते है की आपको फेसबुक पर शायरी सुकून अपडेट्स मिले, तो इस शायरी सुकून पेज को लाइक और शेयर जरूर करें.

अगर अभी आपका मूड कुछ और दर्द भरी शायरियां पढ़ने का है, तो आप यहाँ Sad Shayari पर क्लिक कर सकते है.

Rate this post

Leave a Comment