Love

Best 15+ Kajal Shayari (काजल पर शायरी) Writtings with Images

Kajal means eyeliner in English. If you want to praise your girlfriend’s beauty, then you must share Kajal Shayari with her. Here you will find the best Shayari on Kajal that will make your girlfriend happy.

आपकी महबूबा जब भी आंखों में काजल लगा कर आती है तो आपके दिल की धड़कन अचानक बढ़ जाती है. वह आपको देखता है तब आपकी दिल पर हजारों छुरिया चल जाती है. जिस तरह से वो दिल खोलकर प्यार करना चाहती है.

तेरे आने से ये शाम
और खूबसूरत बन जाती हैं

फिजा भी रंग बदलती है
जब तू आंखों में काजल लगाती हैं

--Vrushali

tere aane se ye shaam
aur khubsurat ban jati hai
fiza bhi rang badlti hai
jab tu aankho me kajal lagati hai



Kajal Shayari | Romantic Kajal Shayari Hindi Quotes Image
Kajal Shayari | Romantic Kajal Shayari Hindi Quotes Image


इस Kajal Shayari को Aniruddh Narkhedkar इनकी आवाज़ में सुनकर उनकी आंखों का काजल आपकी नज़रों में बस जाएगा!


💕 Listen Uninterrupted Shayari 💕
🙏After Small Advertisement🙏




दिल में है अरमान छिपा लूं
तुम्हें अपनी बाहों में..

कितना जचता है यह 
काजल तुम्हारी आंखों में..

-Santosh

dil mein hai armaan chhipa lu 
tumhe apni bahon mein..
kitna jachta hai yah 
kajal tumhari aankhon mein..

और जिस कदर वह आज अपनी काजल लगा कर आई है उससे तो आपको यह अंदाजा हो रहा है. आपको लग रहा है कि ना जाने आज कई सारी घटाएं एक साथ मिल कर आप पर शायद love की बारिश ही करने वाली है. और उनकी काजल से रंगी हुई यह काजल shayari भी आज उनकी ही दास्तां बयां करने जा रही है.



दिल का तूफ़ान लेकर प्यार में 
बरसता बादल बन जाऊं..

हसरत मेरी है कि आंखों का 
तेरी काजल बन जाऊं..

-Santosh

dil ka tufan lekar pyar me
barsata baadal ban jau
hasrat meri hai ki aakho ka
teri kajal ban jau

Kajal Shayari

Best Kajal Shayari Image
Best Kajal Shayari Image
दिल की आवाज़ काफी नहीं होगी
जहां अरमान लेने के लिए..

उसका तो बस काजल ही
काफी है मेरी जान लेने के लिए..

-Santosh

dil ki aawaz kafi nhi hogi
jaha armaan lene ke liye
uska to bas kajal hi
kafi hai meri jaan lene ke liye

आंखों से ही, होता दिल का
काम तमाम है..

लेकिन ये काज़ल तो,
खामखां बदनाम है..

-Santosh

aakho se hi hota dil ka
kaam tamam hai
lekin ye kajal to
khaamkha badnaam hai



Shayari on Kajal
Shayari on Kajal

Listen to Kajal Shayari | Voice-Over: Reena Purohit



काजल पर शायरी की मदत से मोहब्बत का काजल आंखों में लगाकर वह कयामत बरसाती है…

पहले से ये कातिल निगाहें
मुझे क्या कम घायल करती है

सरेआम क़त्ल कर देती है जब
तू आखों में काजल लगाती है

--Sagar

pahle se ye katil nigaahe
mujhe kya kam ghayal karti hai
sareaam katl kar deti hai jab
tu aankho me kajal lagati hai

दिल में छुपाए जज़्बात जितने 
तुमसे कहना चाहता हूं..

काजल बन कर तेरी आंखों में 
यूं ही रहना चाहता हूं..

-Santosh

dil mein chhupaye jazbaat jitne 
tum se kahana chahta hun..
kajal ban kar teri aankhon mein 
yun hi rahana chahta hun..

तुम्हारी आंखों में बसी है
मासूमियत सारे जहा की

काजल से उन्हें क्या सजाना
वो तो खूबसूरती की पहचान है

-Vrushali

tumhari aankho me basi hai
masumiyat saare jahan ki
kajal se unhe kya sajana
wo to khubsurti ki pahchan hai



जब से मिला हूं तुमसे दिल
रह गया मेरा गज़ल बनकर..

जीना चाहता हूं जिंदगी तेरी
आंखों का काजल बनकर..

-Santosh

jab se mila hu tumse dil
rah gya mera gazal bankar
jina chahta hu jindgi teri
aakho ka kajal banakr

Shayari on Kajal in Hindi
Shayari on Kajal in Hindi

kajal shayari in hindi urdu thoughts, poetry

चांद भी शरमा जाए तुझे देखकर
तू है इतनी खूबसूरत..

काजल ही काफी है तेरा, तुझे
हुस्न की क्या जरूरत..!

-Santosh

chand bhi sharma jaye tujhe dekhkar
tu hai itni khubsurat
kajal hi kaafi hai tera, tujhe
husna ki kya jarurat

हौसला बरकरार रहता है
जब साथ तू होता है..

वरना काजल को भी
अश्कों से बिखरना होता है..

hausla barkarar rahata haj
jab saath tu hota hai..
varna kajal ko bhi 
ashkon se bikharna hota hai…

कुछ इस कदर दिल से 
दिल का रिश्ता निभाती है..

गर खफ़ा हो मुझसे, तो वो 
काजल भी नहीं लगाती है..

-Santosh

kuchh is kadar dil se 
dil ka rishta nibhati hai..
gar khafa ho mujhse, to vo
kajal bhi nahin lagati hai..



फ़ुरसत से ताकना मुझे
देख कैसे कमाल होती है..

काजल मत लगाना लेकिन
वो मुझे और घायल करती है..

fursat se takna mujhe 
dekh kaise kamal hoti hai..
kajal mat lagana lekin 
vo mujhe aur ghayal karti hai…

तुमसे मोहब्बत कर तुम्हें,
मैंने दिल का वास्ता दिया है..

कसूर सिर्फ मेरा नहीं, गुनाह
तेरे काजल ने भी किया है..

-Santosh

tumse mohabbat kar tumhe
maine dil ka waasta diya hai
kasoor sirf mera nhi, gunah
tere kajal ne bhi kiya hai

ठान लिया था मैंने की
ध्यान भटका नहीं दिया जाए..

मुझे क्या पता था कि तू
आंखो मे काजल लगाके आए..

thaan liya tha maine ki 
dhyan bhatka nahin diya jaaye..
mujhe kya pata tha ki tu 
aankhon mein kajal laga ke aaye…

Kajal Par Likhi Gayi Shayari Image
Kajal Par Likhi Gayi Shayari Image
शरमा कर उसका यूं नजरें मिलाना
मेरा सारा जहान लेता है..

उफ्फ़, उसका ये कमबख्त 
काजल ही मेरी जान लेता है..

-Santosh

sharma kar uska yun nazre milana 
mera sara jahan leta hai..
uff, uska ye kambakt
kajal hi meri jaan leta hai..



मेरे दिल का चैन ले जाती है, 
हसीन यादें जिसकी..

वह काजल लगाकर सजाती है 
नशीली आंखें उसकी..

-Santosh

mere dil ka chain le jaati hai, 
hasin yaden jiski..
vah kajal lagakar sajati hai 
nashili aankhen uski..

देख कर हुस्न उसका, कइयों
की जान निकल जाती है..

वो जब अपनी आंखो में
काजल लगा कर आती है..

-Santosh

dekh kar husn uska, kayyiyo
ki jaan nikal jati hai
wo jab apni aakho me
kajal laga kar aati hai

तमन्ना है यूं ही बना रहे तेरा साया
हरदम मेरी जिंदगी पर..

काजल की तरह सजा कर रखूंगा
तुम्हें अपनी आंखों पर..

-Santosh

tamanna hai yun hi banaa rahe tera saya 
har dam meri zindagi par..
kajal ki tarah saja kar rakhunga 
tumhen apni aankhon par..

तु छाए सावन में घटा सीतो 
कभी मैं बरसू बादल सा..

तेरी आँखों में समा जाते हम
काश अपना मुकद्दर होता काजल सा..

-Moeen

tu chhaye saawan mein ghata sito
kabhi main barsoo badal sa..
teri aankhon mein sama jaate hain ham 
kash apna mukaddar hota kajal sa..



गज़लों का इसे बना दिया उनवान
तेरे कदमों ने बख्शी इज्ज़त पायल को..

तेरी आँखों ने बख्शा हैं इसे शरफ
वर्ना कौन पुछता फिर काजल को..

*उनवान - शिर्षक

-Moeen

ghazalon ka rise bana do ya unwaan
tere kadmon bakshi izzat payal ko..
teri aankhon ne baksha hai ise sharaf 
varna kaun puchta fir kajal ko..

काजल को नाज़ हैं मुकद्दर पर
इस से वो अपनी आँखें सजाती हैं..

उसे ज़रूरत क्या सजने सँवरने की
जिस की सादगी कयामत ढहाती हैं..

-Moeen

kajal ko naaz hai mukaddar par 
is se vo apni aankhen sajati hai..
use jarurat kya sajane savarne ki 
jiski saadgi kayamat dahati hai..

तेरी मुस्कुराहट से जलती हैं बहारें
तेरी बातों से बिखरता सँवर गया..

सुनी जो खबर मेरे जाने की कभी
काजल उसकी आँखों में बिखर गया..

-Moeen

teri muskurahat se jalti hai baharen
teri baton se bikharta sanvar gaya..
suni jo khabar mere jaane ki kabhi 
kajal uski aankhon mein bikhar gaya..

Shayari on Kajal for your Girlfriend
Shayari on Kajal for your Girlfriend

YOU MAY LIKE THESE POSTS:

हमारी इन romantic love kajal shayari को सुनकर अगर आपको भी अपने दिलबर की आंखों का काजल याद आ जाए, तो हमें नीचे कमेंट सेक्शन में कमेंट करते हुए बताना ना भूलें.

शायरी सुकून का Whatsapp चैनल ज्वॉइन करने के लिए ‘START’ यह मैसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नंबर पर सेंड कीजिए, आपकी सेवा 24 घंटो के भीतर चालू होगी.

आपके Twitter पर हमारी हसीन शायरी अपडेट्स पाने के लिए हमारे शायरी सुकून केे अकाउन्ट को जरूर Follow करें.

9 Comments

  1. वाह अनिरूद्ध जीत जी,
    कितनी खूबसूरती से आपने इन शायरियों को अपने आवाज़ से सजाया है
    और गाना तो ओ हो हो माशाल्लाह..

Leave a Reply

Your email address will not be published.