Sad

Saddest 40+ Painful Shayari (पेनफुल लव शायरी) Collection

Painful Shayari means the Shayari written on sad emotions, especially in a love relationship. When you break up with your partner then you do not feel good for a few days. If you read the Shayari on Painful feelings from this blog post then you will understand deep sad emotions.

वह अपनी खुद की जिंदगी से भी नाराज रहने लगती है. इन्हीं गम भरे खयालों को हम आज दर्द भरी जिंदगी शायरी की मदद से आपके सामने पेश करने जा रहे हैं. हमें यकीन है कि आपको आज की हमारी प्यार का दर्द शायरी की पेशकश अपने सच्चे प्यार की याद जरूर दिलाएगी.

Table of Content

  1. Painful Love Shayari – पेनफुल लव शायरी
  2. Painful Shayari In Hindi – पेनफुल शायरी इन हिंदी
  3. Painful Shayari – पेनफुल शायरी
  4. Conclusion

Painful Love Shayari – पेनफुल लव शायरी

Painful Shayari Image
Painful Shayari Image
1)

एक वक्त था जब तुझसे बात
किए बिना मैं खाना नहीं खाती थी..

और एक आज हैं के तुमसे
बात करो, तो भूूक ही मिट जाती हैं..

-Vrushali

ek waqt tha jab tujhse baat
kiye bina main khana nahin khati thi..
aur aaj hai ki tumse
baat karo, to bhookh hi mit jaati hai..

2)

आज तुझे देने के लिए हर
गुनाह की माफ़ी हैं मेरे पास..

बस डर हैं कल तुम कुछ मांगो
और मेरे हाथ खाली हो..

-Vrushali

aaj tujhe dene ke liye har
gunah ki maafi hai mere pass..
bus dar hai kal tum kuchh mango
aur mere hath khali ho..

पेनफुल लव शायरी की मदद से माशूका अपने दिल की चुभन जाहिर करना चाहती है. उसे लगता है कि कोई हमसे बहुत प्यार करता हैं तो वो हमारे सब नखरे उठाता हैं. फिर वो खाने से पहले बात करना हो या फिर बाहर घूमने जाना हो. हर जिद्द वो इंसान पूरी करता हैं. लेकिन किसी कारणवश वो हमसे रूठ जाए या फिर हमसे बात न करें तो उसकी यहीं बातें हमें बहुत याद आती हैं. हमें सताती हैं रुलाती हैं. फिर जब भी उस से बात हो तो हमारी भूख ही मिट जाती हैं. खाना खाने का भी मन नहीं होता.

Hurting Shayari Hindi हर्टिंग शायरी हिंदी
Painful Shayari
3)

सहम सी गई हूं मैं
तुम्हारी इस बेरुखी से..

न जाने कौनसा दाग़
लगा हैं मेरी मोहब्बत पे..

-Vrushali

saham si gayi hun
main tumhari is berukhi se..
na jaane kaun sa daag
laga hai meri mohabbat pe..

4)

बेवफाई की सजा भी शायद
इससे कम ही होगी..

जितनी सजा तूने मुझे तुझसे
वफा करने की दी हैं..

-Vrushali

bewafai ki saja bhi shayad
isse kam hi hogi..
jitni saja tune mujhe tujhse
wafa karne ki di hai..

5)

मोहब्बत गर सही इंसान से हो
तो दुनियां जन्नत लगने लगती हैं..

और गलत इंसान से हो तो
वही जन्नत भी जहन्नम लगती हैं..

-Vrushali

mohabbat gar sahi insan se ho
to duniya jannat lagne lagti hai..
aur galat insan se ho to
vahi jannat bhi jahannam lagti hai..

6)

उसे छोड़कर आगे जाने की जल्दी इतनी थी,

की खुद को भी मुझ में ही छोड़ गया वो..

usi chhodkar aage jaane ki jaldi itni thi
ki khud ko bhi mujh me hi chhod gaya vo..

Painful Shayari In Hindi – पेनफुल शायरी इन हिंदी

7)

जिक्र तेरा, छोड़ जाने के बाद भी
हर लफ्ज़ में बयां करेंगे..

पर ना कर फिक्र, नाम तेरा
एक बार भी ना लेंगे..

zikar tera, chhod jaane ke bad bhi
har lafz mein baya karenge..
par na kar fikra, naam tera
ek bar bhi na lenge..

8)

दिल में दबी हुई कई बातें करनी है तुमसे..

वक्त मिले तो आना कभी जिंदगी लेकर..

dil me dabi hui kai baten karni hai tumse..
waqt mile to aana kabhi jindagi lekar..

पेनफुल शायरी की मदद से प्रेमिका को अपने मन में बेवफा यार की तस्वीर नजर आती है. बेवफ़ा भी माफ़ी की हकदार बन जाती हैं अगर उसका मेहबूब उसे फिर से अपनाना चाहे तो. लेकिन किसी वफादार इंसान को बेगुनाह होने की सजा मिले तो भला वो माफी किस बात की मांगे..! जब कोई गुनाह किया हो तो जायज हैं बेरुख होना या फिर सजा देना.

पेनफुल शायरी

Painful Shayari पेनफुल शायरी
Painful Shayari
9)

माफी तो गलतियों की दी जाती है,

चालाकीयों को गुस्ताखी कैसे समझे..?

mafi to galatiyon ki di jaati hai..
chalakiyon ko gustakhi kaise samjhe..?

10)

मुफ्त में पहले सबको
इसकी लत लगा ही देता है..

इश्क हो या नशा, कीमत
जिंदगी से चुका ही लेता है..

muft mein pahle sabko
iski lat laga hi deta hai..
ishq ho ya nasha, kimat
zindagi se chuka hi leta hai..

Painful Shayari की मदद से माशूका अपने यार की बेवफाई का सिला जताना चाहती है. और मन ही मन कई सारी बातों को सोचती रहती है. उसे लगता है कि मोहब्बत सही इंसान से हो तो मुक्कमल हो ही जाती हैं. खुदा भी साथ देता हैं. लेकिन गलत इंसान से हो तो जिंदगी भर ठोकरें खानी पड़ती हैं. हर पल रोना पड़ता हैं. बस हार के अलावा कुछ और नहीं मिलता. कुछ ऐसे ही बेवफा ख्यालों से अब उसका मन घायल हो चुका है.


11)

दर्द हमारे अब
लफ्जों में बयां नहीं होते..

वो तो बस अब
बरसातों में ही बहते..

-Vrushali

dard hamare ab
lafzon mein bayan nahin hote..
vo to bus ab
barsato mein hi bahte..

12)

दर्दे दिल मेरा जरा भी
ना कम हो रहा है..

उसके दूर जाने का मुझे
बड़ा गम हो रहा है..

-Kavya

darde dil mera zara bhi
na kam ho raha hai..
uske dur jane ka mujhe
bada gam ho raha hai..

13)

अब तो बरसों तक
हमारी बीमारी हटती नहीं..

तुम तबीयत पूछ लोगे
इस खयाल से छूटती नहीं..

-Vrushali

ab to barso tak
hamari bimari hatti nahi..
tum tabiyat poochh loge
is khayal se chhutti nahin..

14)

जितना जल्दी हो सके अपने
दिल को संभलना सिखा देना..

दोस्तों, बेवफ़ा यार की चाहत में
तुम अपनी जिंदगी ना बिता देना..

-Gauri

jitna jaldi ho sake apne
dil ko sambhalna sikha dena..
doston, bewafa yaar ki chahat mein
tum apni jindagi na bita dena..

Painful Shayari Hindi
Painful Shayari Hindi
15)

लगता है अब हमारा
कोई बहाना काम नहीं आएगा..

तू मिलने के लिए मुझे
उम्रभर यूं ही तरसाएगा..

-Vrushali

lagta hai ab hamara
koi bahana kam nahin aayega..
tu milne ke liye mujhe
umra bhar yun hi tarsayega..

16)

लगता है तन्हाई भी मिलती
तो इतना गम ना होता..

सच्चे प्यार के लिए मगर
दिल मेरा पागल ना होता..

-Santosh

lagta hai tanhai bhi milati
to itna gam na hota..
sacche pyar ke liye magar
dil mera pagal na hota..

17)

हर सांस गिन रहा हूं मैं
जो चलते हुए तेरा नाम लेती है..

राह देख रहा हूं तुम्हारी
हवा बार-बार रुख बदलती है..

-Vrushali

har saans gin raha hun main
jo chalte hue tera naam leti hai..
raah dekh raha hun tumhari
hawa bar bar rukh badalti hai..

18)

अपने दर्दे दिल को याद कर रही हूं..

तुझसे दूरी मैं सह नहीं पा रही हूं..

-Kavya

apne darde dil ko yad kar rahi hun..
tujhse duri main sah nahin pa rahi hun..

19)

हर दर्द जो दिया था तुमने
यह सोचकर मैं सह लेता हूं..

के अपना था कोई जो चला गया
बस उसको याद करके रो लेता हूं..

-Vrushali

har dard jo diya tha tumne
yah sochkar main sah leta hun..
ke apna tha koi jo chala gaya
bus usko yad karke ro leta hun..

20)

तुम्हारी ही आहट अब हर जगह
मैं महसूस करता रहता हूं..

तेरे झूठे इकरार को ही अब
रात दिन मैं सोचता रहता हूं..

-Gauri

tumhari hi aahat ab har jagah
main mahsus karta rahata hun..
tere juthe iqrar ko hi ab
raat din main sochta rahata hun..

21)

हथेली पर मैंने अपनी
तेरा नाम चुपके से लिखा था..

बाकी थी मैं जमाने से
छिपकर मुझे प्यार करना था..

-Vrushali

hatheli par maine apni
tera naam chupke se likha tha..
baki thi main zamane se
chhipkar mujhe pyar karna tha..

22)

जालिम इस दुनिया का
रिवाज बड़ा सख्त होता है..

बेवफाई से संभलने के लिए
साहब, बड़ा वक्त लगता है..

-Santosh

zalim is duniya ka
riwaj bada sakht hota hai..
bewafai se sambhalne ke liye
sahab, bada waqt lagta hai..

23)

दर्द में हमेशा संभल जाओ
ऐसा जरूरी नहीं होता..

हर चीज से प्यार ही हो
ये मुमकिन नहीं होता..

-Gauri

dard mein hamesha sambhal jao
aisa jaruri nahin hota..
har chij se pyar hi ho
ye mumkin nahin hota..

24)

न जाने क्यों मुझे याद आते हो तुम..

क्यों बार-बार दिल मेरा दुखाते हो तुम..

-Santosh

na jaane kyon mujhe yad aate ho tum..
kyon bar bar dil mera dukhate ho tum..

25)

न जाने वक्त इन झूठे
वादों का क्या सिला देगा..

दर्दे दिल का यह सफर
न जाने कब ख त्म होगा..

-Kavya

na jaane waqt in jhuthe
wado ka kya sila dega..
darde dil ka yah safar
na jaane kab kha tm hoga..

26)

पता नहीं था ऐसा होगा
बेवफाई का कायदा..

अब तुम्हारे बिना जी कर
मेरा क्या फ़ायदा?

-Gauri

pata nahin tha aisa hoga
bewafai ka kayda..
ab tumhare bina ji kar
mera kya fayda?

27)

एक तुमको ही माना था
मैंने अपना जीवन साथी..

महबूबा तुम्हारी जुदाई में
मैंने सदियां कैसे काटी!

-Santosh

ek tumko hi mana tha
maine apna jeevan saathi..
mahbooba tumhari judai mein
maine sadiyan kaise kaati!

28)

चाहत में हमेशा के लिए
अब गुमशुदा हो गए..

दिल से मेरे तुम न जाने
कब जुदा हो गए..

-Kavya

chahat mein hamesha ke liye
ab gumshuda ho gaye..
dil se mere tum na jaane
kab juda ho gaye..

29)

दिल का दर्द सहा ना जाएगा,
हमने सोचा ना था..

प्यार में ऐसा धोखा मिलेगा,
हमने सोचा ना था..

-Gauri

dil ka dard saha na jayega,
humne socha na tha..
pyar mein aisa dhokha milega,
humne socha na tha..

30)

महबूब की बातों में फंसकर
दिल का इकरार ना करना..

ए दिलवालों, कभी किसी से
तुम सच्चा प्यार ना करना..

-Santosh

mehboob ki baaton mein fans kar
dil ka iqrar na karna..
ae dilwalon, kabhi kisi se
tum saccha pyar na karna..

31)

हमेशा मेरी फिक्र करने वाला
न जाने कैसे दिल तोड़ गया..

सच्ची मोहब्बत का वादा
करने वाला मुझे छोड़ गया..

-Kavya

hamesha meri fikra karne wala
na jaane kaise dil tod gaya..
sacchi mohabbat ka vada
karne wala mujhe chod gaya..

32)

छुप-छुपकर रातों में अपने
आंसू बहाया करते हैं..

यारों, अब तो इश्क के
नाम से भी हम डरते हैं..

-Gauri

chup-chup kar raaton mein apne
aansu bahaya karte hain..
yaaron, ab to ishq ke
naam se bhi ham darte hain..

33)

बेवफ़ाई में आज भी वो
न जाने कैसा बदला लेते हैं..

अब तो वह हमें दूर से ही
देखकर अपना मुंह फेर लेते हैं..

-Santosh

bewafai mein aaj bhi vo
na jaane kaisa badla lete hain..
ab to vah hamen dur se hi
dekhkar apna munh fer lete hain..

34)

चाहत के बीच सफर में आज
न जाने क्यों मुझे छोड़ गए.

कांच का शीशा समझकर वो
कमबख्त, दिल मेरा तोड़ गए..

-Kavya

chahat ke bich safar mein aaj
na jaane kyon mujhe chhod gaye..
kanch ka sheesha samajhkar vo
kambakht, dil mera tod gaye..

35)

दिल में हमेशा सोचता था
वो बेवफाई के बारे में..

उस पत्थर दिल ने जरा भी
क्यों ना सोचा मेरे बारे में..?

-Gauri

dil mein hamesha sochta tha
vo bewafai ke bare mein..
use pathar dil ne jara bhi
kyon na socha mere bare mein..?

36)

मिला जो दिल का दर्द तो
खुदा को शुक्रियादा है कहते..

अगर वो हमें धोखा ना देते,
तो हम शायरी ना बनाते..

-Santosh

mila jo dil ka dard to
khuda ko shukriyada hai kahate..
agar vo hamen dhokha na dete,
to ham shayari na banate..

37)

देख ली मैंने बेदर्द यार की बेवफाई..

मगर मार गई मुझे उसकी ये जुदाई..

-Kavya

dekh li maine bedard yaar ki bewafai..
magar maar gai mujhe uski ye judaai..

38)

चाहत की रह गई जो बाकी हसरत है..

अब मेरे ही दिल से मुझे शिकायत है..

-Gauri

chahat ki rah gayi jo baki hasrat hai..
ab mere hi dil se mujhe shikayat hai..

39)

मोहब्बत में मिला हर जख्म
ये बताता अधूरी कहानी है..

सनम, दिल में मैंने छुपाई
तेरे प्यार की निशानी है..

-Santosh

mohabbat mein mila har jakhm
ye batata adhuri kahani hai..
sanam, dil mein maine chupayi
tere pyar ki nishani hai..

40)

हो सके तो मेरी रातों की
नींद मुझे लौटा देना..

मुझ पर इतनी मेहरबानी
तुम जरूर कर देना..

-Kavya

ho sake to meri raaton ki
nind mujhe lauta dena..
mujh per itni meherbani
tum jarur kar dena..

41)

खुद ही रूठते रहे और
खुद को ही हम मनाते रहे..

अपने ही दिल को दर्द भरी
दास्तां बार बार सुनाते रहे..

-Gauri

khud hi ruthte rahe aur
khud ko hi ham manate rahe..
apne hi dil ko dard bhari
dastan bar bar sunate rahe..

42)

सच्चे प्यार में अब कोई
हमसफ़र मिलता नहीं..

कमबख्त, दिल से खेलने का
हुनर हमें आता नहीं..

-Kavya

sacche pyar mein ab koi
humsafar milta nahin..
kambakht, dil se khelne ka
hunar hamen aata nahin..


YOU MAY LIKE THESE POSTS:

Conclusion

पेनफुल लव शायरी की मदद से आप जरूर जान पाओगे कि सच्ची मोहब्बत ता उम्र रहती हैं. फिर इंतजार कितना ही लंबा क्यों ना हो. मगर उसी सच्ची मोहब्बत में अगर बेवफाई की झलक दिख जाए. तब वह प्रेमी अपने दिल ही दिल में नाराज हो जाता है. और उसे अपने यार का एक पल का इंतजार भी लंबा लगने लगता है. क्या आपने भी कभी Painful Shayari जैसा एहसास किया है दोस्तों?

अगर आप चाहते है की आपको फेसबुक पर शायरी सुकून अपडेट्स मिले, तो इस शायरी सुकून पेज को लाइक और शेयर जरूर करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.