Corona Shayari -4 : Sad Coronavirus Quotes Status

Corona Shayari : कोरोना के इस दौर में हर कोई परेशान है. हर कोई अपने हालात बयां करना चाहता है. फेसबुक, व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम, टि्वटर आदि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पोस्ट से भरे पड़े हैं. हर कोई अपना अलग नजरिया और अपने सुझाव दे रहा है. कुछ लोग अपने अनुभव बयां कर रहे हैं. ऐसे में हम भी Corona Shayari के जरिए हमारे जज्बात बयां करना चाहते हैं.

आपके और हमारे जज्बात अलग नहीं होंगे. जो आप कह रहे हैं वही हम भी कहेंगे लेकिन अल्फाज अलग होंगे. Corona Shayari लोगों के हालातों को बयां कर रही है. लेकिन आपका हौसला बढ़ाने की कोशिश भी कर रही है. हम सभी आज इस हालात से परेशान हैं. लेकिन हमें हालातों से लड़ना है. डर के हम घर में नहीं बैठ सकते.

✤ शायरी सुनने के लिए ✤
♫ Player लोड होने दें ♫


कोरोना पर लिखी गयी इन शायरिओं को Aishwarya Pewal इनकी आवाज़ में सुनकर आपको आजकी हालातों का पता चलेगा!

हमें घर में रहने के लिए कहा गया है लेकिन हाथ पर हाथ धरे बैठने के लिए नहीं कहा है. हम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के जरिए अपनी आवाज उठा सकते हैं. जो गलत हो रहा है उसे रोक सकते हैं. कई लोगों की मदद कर सकते हैं. मदद करने के लिए घर से बाहर जाना जरूरी नहीं है. यदि जरूरी है तो हमें जाने की अनुमति दी गई है.

Corona Shayari

ये कैसा शोर है ?
ये कैसी बे-बसी है ?

जो ऑक्सीजन कुदरत यूँ ही देती है
आज उसकी कमी हो गयी है

Yah kaisa shor hai?
Yah kaisi bebasi hai?
Jo oxygen Kudrat Yun hi deti hai
Aaj uski Kami ho gai hai

Corona Shayari में यह बताया गया है की, दोस्तों आज लोग बेबस हो गए हैं. उन्हें मदद करने वाला कोई नहीं है. जो ऑक्सीजन हमें कुदरत से मुफ्त में मिलती थी उसके लिए हमें पैसे देने पड़ रहे हैं. ठीक से हम सांस भी नहीं ले पा रहे हैं.

ऐसे मुफ्त में मिलने वाले ऑक्सीजन की आज कमी हो गई है.अस्पतालों में ऑक्सीजन ना होने की वजह से लोग मर रहे हैं. उन्हें तड़पता हुआ देखकर हमारा दिल दहल जाता है. लेकिन हम कुछ भी नहीं कर पा रहे हैं.

कभी सोचा न था दूर रहना पड़ेगा..
अपनों से यूँ बिछड़ना पड़ेगा..

Kabhi socha Na tha dur rahana padega
Apnon se yu bichhadna padega

दोस्तों बचपन में हम सोचते थे की इम्तिहान बंद हो गए थे…? आज वह सच हो गया है. हम सोचते थे स्कूल बंद हो गए तो…? आज वह भी हो गया है. लेकिन हमने कभी अपनों को खोना पड़े तो…! यह नहीं सोचा था.

आज हम जिस प्रकार अपनों से बिछड़ रहे हैं. हमने सपनों में भी इसकी कल्पना नहीं की थी. आज के हालात किसी ने नहीं सोचे होंगे. एक के बाद एक बड़े-बड़े लोग मर रहे हैं. उनमें आम आदमियों की संख्या ज्यादा है. लेकिन दुख तो सभी का बराबर है.

Corona Shayari in Hindi

कल जो देखा लाश को
दरवाजे पे दफ़न करते हुए

कलेजा कांप उठा मेरा
ये जुल्म सहन करते हुए

Kal Jo dekha lash ko
Darvaje pe dafan karte hue
Kaleja kamp utha Mera
Yah julm sahan karte hue

आप भी यह बात जानते हैं कि बड़ी मात्रा में लोग अपनी जान गवा रहे हैं. उनके अंतिम विधि के लिए जगह तक नहीं है. लोगों को लाइनों में खड़ा होना पड़ रहा है अपनों की लाश जलाने के लिए.

Corona Shayari in Hindi की मदत से आप समझोगे की, ऐसे में कुछ लोग अपनों की लाश जिस प्रकार से ले जा रहे हैं वह देखकर हमारा दिल दहल जाता है. दुख होता है जब हमारे देश की ऐसी स्थिति को हम देखते हैं. लोग मर रहे हैं यह तो बुरी बात है ही लेकिन ठीक से उनका अंतिम संस्कार भी हम नहीं कर पा रहे हैं यह तो उससे भी ज्यादा बुरी बात है.

Corona Shayari Image -2

Corona Shayari in Hindi
Corona Shayari in Hindi

दवाओं की किल्लत और कल्सबाजारी
क्या इसी को कहते हैं कोरोना महामारी

Davaon ki killat Aur kalsbajari
Kya isi ko kahate Hain Corona mahamari

Corona Shayari in Urdu में कुछ इस प्रकार से बताया गया है की, दोस्तों आज हम इतने बुरे हालातों से गुजर रहे हैं. लेकिन फिर भी कुछ लोग अपनी हरकतों से बाज नहीं आते. आज भी वह दवाइयों में मिलावट कर रहे हैं. इतना पैसा लेकर वह कहां जाएंगे. जब जिंदा ही नहीं बचेंगे तो पैसा किस काम का.

Corona Shayari in Urdu

भाप लो, काढ़ा पियो खुद को रखो तंदुरुस्त
ऐसा कुछ न करो जो हो जाओ नादुरुस्त

Bhap lo kadha piyo khud ko rakho tandurust
Aisa kuch Na Karo Jo ho jao nadurust

Corona Shayari Photo को पढ़कर आपको महसूस होगा की, दोस्तों आज सभी को हिदायत है कि अपने घर में रहे. ऐसे किसी भी जगह पर बेवजह ना घूमे जहां आप महामारी का शिकार बन सकते हैं.

हमें ऐसी कोई भी चीज नहीं करनी चाहिए जिससे हम भी महामारी का शिकार हो जाएंगे. हमें जो भी हिदायतें दी गई है उसका पालन करना होगा.तभी हम इस महामारी के चंगुल से बाहर आ सकते हैं. दोस्तों अपना बहुत सारा ख्याल रखें. अपनों को भी यह सारी हिदायतें दे.

हूँ हूँ हु हु की आवाजें हमें सोने नहीं देतीं
उफ़, ये एम्बुलेंस की घंटीयाँ हमें जीने नहीं देतीं

Hun hun hun hu ki aavaje hame sone nhi deti
Uff ye ambulance ki ghantiyan hame jine nhi deti

हमारे आसपास के घरों से हमें सिसकियां सुनाई देती है. जहां किसी की मौत हो चुकी होती है. उनके सिसकियां बंद होने से पहले ही और एक एंबुलेंस हमारा चैन छीन लेती है. सायरन की आवाज है हमारे कानों को परेशान करती है. हमें सुकून की नींद सोने नहीं देती.

एक ज़माना था जब हाथ की
सफाई को बुरा मानते थे लोग

अब तो यारो बार बार हाथ साफ़
करने की हिदायत देते हैं लोग

Ek jamana tha jab Haath ki
Safai ko Bura mante the log
Ab to yaar Ho bar bar hath saaf
karne ki Hidayat dete Hain log.

यह बात ताने के तौर पर कही है. लोग पुराने जमाने के हो या आज के जमाने के लेकिन हाथ के सफाई को बुरा ही मानते हैं. हाथ की सफाई करना यानी चोरी करना. लेकिन आज हाथ की सफाई करना यानी हाथ को धोने की बात करते हैं. अपने हाथों को साफ रखी है. क्योंकि हाथों के जरिए हमें बीमारी हो सकती है.

Corona Shayari Photo

हम अकल्मन्द हैं बस एक साल पुरानी
कोरोना बीमारी से फिक्रमंद हैं.

Ham akalmand hai bas ek sal purani
Corona bimari se fikra mand hai

दोस्तों वैसे तो हम बहुत होशियार हैं. लेकिन बस 1 साल पहले आई हुई बीमारी से परेशान है. पता नहीं क्यों लेकिन लोगों की होशियारी कहीं गुम हो चुकी है.उन्हें हिदायतें मिल रही है लेकिन कोई भी उन हिदायतों का पालन नहीं कर रहा है. लोगों का दिमाग काम करना जैसे बंद हो गया है. हम सबको मास्क पहनने की हिदायत दी है. लेकिन फिर भी कुछ लोग बिना मास्क पहने इधर-उधर घूम रहे हैं. ऐसे लोगों को हम क्या कहें..?

हमने हमेशा ही दूसरों की मदत की है
खुद के बारे में सोचने की हमें फुर्सत ही कहाँ है ?

Humne hamesha hi dusron ki madad ki hai
Khud ke bare mein sochne ki hamen fursat hi kaha hai

हम लोग दूसरों के बारे में इतना ज्यादा सोच रहे हैं की हमें अपने बारे में सोचने की फुर्सत ही नहीं है. हम हमेशा दूसरों की मदद करना चाहते हैं. लेकिन अब हमें खुद की मदद करनी होगी. सब लोग महामारी के वजह से बीमार है. हमें बस खुद को बीमार पड़ने से बचाना है. यही हमारी सबसे बड़ी दूसरों की मदद है.

क्योंकि डॉक्टर्स सभी लोगों की मदद नहीं कर पा रहे हैं. यदि हम बीमार नहीं पड़ेंगे तो हमारी जगह जो बीमार पड़े हैं उन्हें अच्छे से अच्छे इलाज मिलेंगे. इसीलिए फिलहाल खुद का ख्याल रखना ही दूसरों की मदद करना है. Corona Shayari Status यही बात आपको इस शायरी की मदत से समझने में आसानी होगी,

न पैसा काम आया
न पहुँच काम आयी

लगाते रहो चक्कर अस्पतालों के
देते रहो इंसानियत की दुहाई

Na paisa kam aaya
Na pahunch kam aai
Lagate raho chakkar aspataalon ke
Dekhte raho insaaniyat ki duhai

Corona Shayari in Urdu
Corona Shayari in Urdu

दोस्तों आज हमें दवाइयां नहीं मिल रही है.लाखों रुपए होने के बावजूद भी हम अपनों की जान नहीं बचा पा रहे हैं. हमें आज इंसानियत है जो काम आ रही है. हमारी पहुंच का कोई फायदा नहीं है. हमारी जाने बचाने के लिए हमारे अपने ही काम आए हैं. पैसे हमें अच्छे इलाज तो दे सकते थे लेकिन वह लोग नहीं दे सकते जो हमारी मदद कर सकते हैं.

अगर आप चाहते है कि आपको सारी अपडेट्स अपने Whatsapp पर मिले तो, जल्दी से ‘START’ इस मेसेज को +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नंबर पर सेंड कीजिए, आपकी सेवा 24 घंटो के भीतर शुरू हो जाएगी.


Corona -1 कोरोना से एहतियात बरतनेकी याद देनेवाली Sad Shayari
Click above link to listen more


अगर आपको चाहिये कि अपने Twitter हैन्डल पर शायरी सुकून अपडेट्स मिले, तो हमें Shayari Sukun अकाउन्ट पर Follow जरूर करें.

9 thoughts on “Corona Shayari -4 : Sad Coronavirus Quotes Status”

  1. Soothing voice ❤️and beautiful lines 👏shayarisukun rocks 🤘

  2. ऐश्वर्या जी,
    बहुत खूब !!
    नायाब शयारी !!
    बेहतरीन स्क्रिप्ट !!
    के साथ आपकी आवाज याने सोने पे सुहागा !!
    बेहद खूबसुरत !!
    अनेक शुभकामनाएं !!
    – कल्याणी

  3. ऐशवर्या जी,
    बहुत खूब !!
    नायाब शयारी !!
    बेहतरीन स्क्रिप्ट !!
    उसी के साथ आपकी आवाज याने सोने पे सुहागा !!
    बेहद खूबसुरत !!
    अनेक शुभकामनाएं !!
    – कल्याणी

  4. वाह वा ऐश्वर्या मॅम
    बेहद बढ़िया आवाज़ और सौम्या मॅम की बेहतरीन स्क्रिप्ट…
    यकीनन, कोरोना की इन हिदायत देने वाली शायरियों को सुनकर हर कोई अपना अच्छी तरह से ख़याल जरुर रखेगा!😊👌👌👍

  5. क्या बात है ऐश्वर्याजी!!!!!
    बढिया पेशकष👌👌

    लिखने वालेने भी क्या खूब लिखा है, “हाथ की सफाई”
    👌👌👌💐💐💐💐

  6. Very beautiful and u recorded also very beautifully in your lovely voice Aishwarya ji👌👌👌

    Rergards,
    Sameera urf Manpreet

Leave a Comment