Sad

Shak Shayari के जरिये अपने मन में पल रहे शक को बयां कीजिये

दोस्तों आपको जब किसी के बर्ताव पर कोई संदेह होता है तब Shak Shayari आपको जरूर याद आ सकती है. shak meaning किसी भी इंसान पर किसी चीज या फिर किसी बात के लिए उपस्थित किया गया संदेह या फिर कोई शंका भी कह सकते हैं.

अगर आप किसी इंसान पर किसी बात के लिए कोई संदेह करते हैं तो उस इंसान को इस बात के लिए बहुत बुरा लग सकता है. क्योंकि वह आपसे उस तरह के संदेह की बिल्कुल भी कोई उम्मीद नहीं करता है. आज हमने कुछ इसी तरह की शक शायरी को आपके सामने पेश करने की कोशिश की है.


Listen to Shak Shayari | Voice-Over: Anjali Gavali




तेरे चेहरे पर अजीब चमक हैं
फिज़ाओं में तेरी ही महक हैं

जब से सुना हैं नींद रूठ गई
तुझे मेरी मोहब्बत पर शक हैं

-Moeen

tere chehre par ajib chamak hai
fijao me teri hi mahak hai
jab se suna hai nind ruth gyi
tujhe meri mohbbat par shak hai


💕 Listen Uninterrupted Shayari 💕
🙏After Small Advertisement🙏



Shak Shayari Image
Shak Shayari Image

हमें यकीन है की शायरी सुकून के इस बेहतरीन पेशकश कि आप जरूर सराहना करेंगे. और साथ ही आपको ये shak shayari बहुत पसंद आएगी. और अगर इन तीनों shak shayari मदद से हम आपके दिल में दबे हुए दर्द को ही छू सकें, तो हमें लगेगा कि हमारा यह प्रयास सफल हो गया है.

Shak Shayari

दोस्तों हम आपको हमारी इन बेहतरीन शायरियों को सुनाते हुए shak meaning in english बताना चाहते हैं. shak in english doubt, suspicion or distrust. आपकी तहे दिल से की हुई चाहत में किसी भी तरह से संदेह को कोई जगह नहीं दी थी. इस Shak Shayari से अपने दिल के जज्बात बयां करना चाहोगे…



खुद को ज़माने से बचाए रखा
तेरी यादों का दीप जलाए रखा

ज़माना शक करेगा मोहब्बत पर
ज़ख्मों को दिल के छुपाए रखा

-Moeen

khud ko jamane se bachaye rakha
teri yaado ka dil jalaye rakha
jamana shak karega mohbbat par
jakhmo ko dil ke chupaya rakha

और आप अपने महबूब से भी इसी बात की उम्मीद कर रहे थे. आपको भी यही लग रहा था कि आपका दिलबर भी आप पर पूरी तरह से विश्वास करता है. और इसी वजह से आपसे तहे दिल से बिना संदेह का प्यार करता है. लेकिन शायद अब आपके इस समझ को उन्होंने झूठा साबित कर दिया है.

कभी गुज़रती थी रातें बातों में
अब जागते हैं हम तनहा रातों में

मेरे आफताब* होने पर उसे शक हैं
अब देता हैं चिराग मुझे खैरातों में

 *आफताब : सुरज

-Moeen

kabhi gujarti thi raatein baato me
ab jaagte hai hum tanha raato me
mere aaftab hone par use shak hai
ab deta hai chirag mujhe khairato me

अब आपको यह पूरी तरह से यकीन हो गया है कि वह आपसे कभी सच्चा प्यार ही नहीं करते थे. वह बस आपको और आपकी चाहत को नजरअंदाज ही करते रहे थे.



हम ने सादगी की सज़ा पाई हैं
दोस्तों ने भी दुशमनी निभाई हैं

शक के काले बादल घिरे रहते हैं
कैसी ज़िंदगी में ये घडी आई हैं

-Moeen

Shak Shayari Image

जब से आपकी दिलबर मैं आप पर संदेह लेना शुरू कर दिया है तब से आपका दिल जैसे बेचैन हो रहा है. आपको कुछ भी अच्छा नहीं लग रहा है. इस दुनिया की किसी भी बात से अब आपको कोई मतलब नहीं रहा है. आप तो जैसे खुद की ही सोच में और नजरों में गिर चुके हैं. Shak Shayari Image की तरह वो आपको शक के दायरे में रखना चाहती है…

जो निगाहें झुका कर गुज़र गई
ज़िंदगी पल में अपनी बिखर गई

उसे शक हैं मेरी चाहत पर
जिसे चाहते हुए एक उम्र गुज़र गई

-Moeen

jo nigaahe jhuka kar gujar gyi
jindgi pal me apni bikhar gyi
use shak hai meri chaht par
jise chahte huye ek umra gujar gyi

shak-shayari-latest-hindi-urdu-shayari
Shak Shayari Image

और इसी वजह से शायद अब आपको यह shak shayari याद आ रही है. और आप उनकी दिल में फिर से जगह बनाने की जैसे उम्मीद कर रहे हो. लेकिन अब आपको इस बात की भी कोई गुंजाइश नहीं लग रही है. क्योंकि आपके दिलबर ने आपको पूरी तरह से शक के दायरे में रखा है.

Shak Shayari in Urdu

जिस तरह से उन्होंने आप पर शंकाएं उपस्थित की है, आपको अब किसी पर भी कोई भरोसा नहीं आ रहा है. जब से वह आपको अपने खिलाफ समझ रहे हैं. आपको ऐसे लग रहा है कि यह पूरी दुनिया ही अब आपके खिलाफ हो चुकी है.



बुझे हुए फिर कभी जलते नहीं
मुरझाए फुल फिर कभी महकते नहीं

शक मार देता हैं रिश्तों को अकसर 
राहे मोहब्बत में खोटे सिक्के चलते नहीं

-Moeen

bujhe huye fir kabhi jalte nhi
murjhaye ful fir kabhi mahkte nhi
shak maar deta hai risto ko aksar
raahe mohbbat me khote sikke chalte nhi

क्योंकि आपको पता है कि एक बार इंसान अगर वो कर खा ले तो वहां दूसरी बार एक कदम भी फूंक फूंक कर रखता है. कुछ इसी तरह से अब आपके दिल की अवस्था हो चुकी है. लेकिन फिर भी आपके मन में एक छोटी सी आशा की किरण अब भी जग रही है. इन Shak Shayari in Urdu को पढ़कर आपको लगेगा की शायद किसी बात के Shaq ने उनके दिल में जगह बना ली है..

सवेरा रात का साथी लगता हैं
आईने में चेहरा अजनबी लगता हैं

शक कातील ठहरा हमारी मोहब्बत का
एक लम्हा भी अब ज़िंदगी लगता हैं

-Moeen

savera raat ka saathi lagtaa hai
aayine me chehra ajnabi lagta hai
shak kaatil thahra humari mohbbat ka
ek lamha bhi ab jindgi lagta hai

और इसी वजह से आप उनसे एक दरख्वास्त करना चाहते हो कि वह आपको एक बार अपनी नजरों का दीदार करा दें. अगर आप की एक ख्वाहिश पूरी हो जाएगी तो आपके जीवन का उद्देश्य ही जैसे सफल हो पाएगा. और आप खुशी-खुशी इस दुनिया से चले जाने के लिए राजी हो जाओगे.



shaq-quotes-thoughts-lyrics
shaq-quotes-thoughts-lyrics

Shak Shayari DP

हमें आप पर कोई शक नहीं था..

लेकिन आपकी मोहब्बत हमें
नजरअंदाज ही करती रही..

hamen aap per koi shak nahin tha..
lekin aapki mohabbat hamen
najarandaaz hi karti rahi…

Shak Shayari in Hindi

इस तरह हमें शक के 
दायरे में ना रखियेगा..

पहले ही खुद की नज़र में 
बहोत गिर चुके है हम..

is tarah hame shaq ke 
dayre me na rakhiyega..
pahle hi khud ki nazar mein 
bahut gir chuke hain ham…

आप की यादें भी आजकल 
शक करती है मुझ पर..

बस एक बार दीदार हो आपका 
तो आसानी से मर जाऊं..

aapki yaadein bhi aajkal,
shak karti hai mujh par..
bus ek bar didar ho aapka 
to aasani se mar jaaun…

हमारी इन Shak Shayari शायरियों की मदद से आप अपने दिलबर की मन के शक को दूर करना चाहोगे.



1)

मोहब्बत में अपनी यादों से
मुझे अलग करने लगा है..

न जाने क्यों मेरा महबूब ही
मुझ पर शक करने लगा है..

-Dipti

mohabbat mein apni yaadon se
mujhe alag karne laga hai..
na jaane kyon mera mehboob hi
mujh per shak karne laga hai..

2)

अब तो शायद मेरी सांसे ही
इस जिस्म से टूट जाएगी..

न जाने कब मेरे दिलरुबा की शक
करने की आदत छूट जाएगी..

-Santosh

ab to shayad meri sanse hi
is jism se tut jayegi..
na jane kab mere dilruba ki shak
karne ki aadat chhut jayegi..

3)

अपनी प्रेमिका से किया हुआ
कोई इजहार ना पूरा होता है..

शक करने से यारों दिल में अपने
दिलबर का प्यार अधूरा रहता है..

-Supriya

apni premika se kiya hua
koi izhar na pura hota hai..
shak karne se yaaron dil mein apne
dilbar ka pyar adhura rehta hai..

4)

न जाने क्यों मुझे हर
लम्हा अब वह सताता..

शक करने की वजह तो
कभी वह मुझे बताता..

-Dipti

na jaane kyon mujhe har
lamha ab vah satata..
shak karne ki vajah to
kabhi vah mujhe batata..



5)

न जाने कैसे उसके यादों की
तन्हाई में मैं जिंदा रहता हूं..

उसके शक करने से मैं
आजकल शर्मिंदा रहता हूं..

-Santosh

na jaane kaise uske yadon ki
tanhai mein main jinda rahata hun..
uske shak karne se main
aajkal sharminda rahata hun..

6)

न जाने क्यों वो मुझ पर
भरोसा ना करता है..

उसके दिल को हमेशा
मुझ पर शक रहता है..

-Supriya

na jaane kyon vo mujh per
bharosa na karta hai..
uske dil ko hamesha
mujh per shak rahata hai..

7)

चाहे तो तुम मोहब्बत ना करना
लेकिन मेरा दिल ना तोड़ना..

शक की नजर से देखना मतलब
चाहत पर भरोसा ना करना..

-Dipti

chahe to tum mohabbat na karna
lekin mera dil na todna..
shak ki nazar se dekhna matlab
chahat per bharosa na karna..

8)

बता दो जानम क्या मेरे
दिल पर भरोसा करोगी..

मगर जो तुम शक करोगी,
तो मुझसे प्यार कैसे करोगी..

-Santosh

bata do janam kya mere
dil par bharosa karogi..
magar jo tum shak karogi,
to mujhse pyar kaise karogi..

9)

दिल में उसके प्यार का
ना फूल खिलता है..

शक करने से तो बस
धोखा ही मिलता है..

-Supriya

dil mein uske pyar ka
na phool khilta hai..
shak karne se to bus
dhokha hi milta hai..

10)

जो ना मिलेगा मुझसे तो
दिल को अपना कैसे मानेगा..

एक दूसरे पर शक करने से
दिलरुबा प्यार कैसे बढ़ेगा?

-Dipti

jo na milega mujhse to
dil ko apna kaise manega..
ek dusre per shak karne se
dilruba pyar kaise badhega?

11)

जान गया हूं अब दिल का हाल,
शायद वह मुझ पर नहीं मरती..

शक करती है वह मुझ पर हमेशा,
न जाने क्यों परवाह नहीं करती..

-Santosh

jaan gaya hun ab dil ka haal,
shayad vah mujh per nahin marti..
shak karti hai vah mujh per hamesha,
na jaane kyon parvah nahin karti..

12)

अपने दिलबर की बातों को भुला नहीं करते..

प्यार के रिश्ते में महबूब पर शक नहीं करते..

-Supriya

apne dilbar ki baton ko bhula nahin karte..
pyar ke rishte mein mahbub per shak nahin karte..

13)

अपने ही किस्मत से अब
न जाने क्यों खेल रही है..

मुझ पर शक कर वो तो
बड़ा ही गुनाह कर रही है..

-Dipti

apne hi kismat se ab
na jaane kyon khel rahi hai..
mujh per shak kar vo to
bada hi gunah kar rahi hai..

14)

चाहत में कैसे करूं भरोसा
बेवफा अब मैं तुझ पर..

शक किया है जिंदगी भर
यारों उसने ही मुझ पर..

-Santosh

chahat mein kaise karun bharosa
bewafa ab main tujh per..
shak kiya hai jindagi bhar
yaaron usne hi mujh per..

15)

एक उसी की तनहाई को
यारों महसूस हूं करता..

गम में अब हमेशा बस
उसी पर मैं शक करता..

-Supriya

ek usi ki tanhai ko
yaaron mehsoos hun karta..
gam mein ab hamesha bus
usi per main shak karta..

16)

जिंदगी में कभी ना खुश हो पाओगे..

शक को अपने दिमाग में जो रखोगे..

-Dipti

jindagi mein kabhi na khush ho paoge..
shak ko apne dimag mein jo rakhoge..

17)

खुद के दिल को छोड़के किसी
और पर यकीन ना करता..

शक की निगाहों से जब भी
कोई किसी को है देखता..

-Santosh

khud ke dil ko chhod ke kisi
aur per yakin na karta..
shak ki nigahon se jab bhi
koi kisi ko hai dekhta..

18)

दिल मेरा अकेलापन महसूस है करता..

जब भी कोई मेरे दिल पर शक है करता..

-Supriya

dil mera akelapan mahsus hai karta..
jab bhi koi mere dil per shak hai karta..

19)

सच्चे दिल पर हर किसी के
अब तुम भरोसा रखना..

यारों जिंदगी में कभी तुम
किसी पर शक ना करना..

-Dipti

sacche dil per har kisi ke
ab tum bharosa rakhna..
yaaron jindagi mein kabhi tum
kisi per shak na karna..

20)

एक दूसरे को कभी
नजरअंदाज नहीं करते..

इश्क में यारों कभी भी
शक नहीं किया करते..

-Santosh

ek dusre ko kabhi
najarandaaz nahin karte..
ishq main yaaron kabhi bhi
shak nahin kiya karte..

21)

भरोसा जो ना करो तुम तो
चाहत में हाथ छूट जाते हैं..

सच्चे इश्क़ में अगर शक
करो तो दिल टूट जाते हैं..

-Supriya

bharosa jo na karo tum to
chahat mein hath chhut jaate hain..
sacche ishq mein agar shak
karo to dil tut jaate hain..

22)

अकेलेपन से जूझते रहते हैं वो,
दुनिया में कोई पास नहीं होता..

जो शक करते हैं हर किसी पर,
उनका कभी इलाज नहीं होता..

-Dipti

akelepan se jujhate rahte hain vo,
duniya mein koi pass nahin hota..
jo shak karte hain har kisi par,
unka kabhi ilaaj nahin hota..

23)

अपनी ही मनमानी करने वाले
जिंदगी में अकेले है जी लेते..

दूसरे पर शक करने वाले
कभी खुश नहीं रहा करते..

-Santosh

apni hi manmani karne wale
jindagi mein akele hai ji lete..
dusre per shak karne wale
kabhi khush nahin raha karte..

24)

यकीन ना करता किसी पर कभी
उसका प्यार सच्चा नहीं होता..

हर किसी को शक की निगाहों से
देखना हमेशा अच्छा नहीं होता..

-Supriya

yakin na karta kisi per kabhi
uska pyar saccha nahin hota..
har kisi ko shak ki nigahon se
dekhna hamesha achcha nahin hota..

25)

देखता हूं जब भी नजरों में
उसकी चाहत ही नहीं है..

शक है मुझे उसके दिल में
शायद मोहब्बत ही नहीं है!

-Dipti

dekhta hun jab bhi najron mein
uski chahat hi nahin hai..
shak hai mujhe uske dil mein
shayad mohabbat hi nahin hai!

26)

एक दूसरे की मोहब्बत
उन्हें कभी मिलती नहीं..

शक करने वालों की यारों
जिंदगी कभी बदलती नहीं..!

-Santosh

ek dusre ki mohabbat
unhen kabhi milati nahin..
shak karne walon ki yaaron
jindagi kabhi badalti nahin..!

YOU MAY LIKE THESE POSTS:

  1. Wo Kisi Aur Se Pyar Karte Hai Shayari: Best 50+ Sad Quotes
  2. Best 50+ Kisi Ke Liye Kitna Bhi Karo Quotes in Hindi

शायरी सुकून का Whatsapp चैनल ज्वॉइन करने के लिए ‘START’ यह मैसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नंबर पर सेंड कीजिए, आपकी सेवा 24 घंटो के भीतर चालू होगी.

आपके Twitter पर हमारी हसीन शायरी अपडेट्स पाने के लिए हमारे शायरी सुकून केे अकाउन्ट को जरूर Follow करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.