Ikhtiyar Shayari: उनके इख्तियार में ही अपनी चाहत पाओगे

Ikhtiyar Shayari: अपने दिलबर से प्यार किया लेकिन उन पर आपने कोई इख्तियार करने की कोशिश नहीं की. लेकिन आपका महबूब आप पर थोड़ासा इख्तियार पाने की कोशिश जरूर कर रहा है. क्योंकि वह चाहता है कि आप बस एक उन्हीं से मोहब्बत की आरजू रखें.

आप किसी और की अमानत ना बन जाए. और इसी वजह से वह आप पर एक तरह से ikhtiyar, काबू पाना चाहता है. और आप भी तो उनकी चाहत के ikhtiyar में ही खुद को बंधा हुआ रखना चाहते हो. आपको भी उनकी मोहब्बत का यह बंधन, इख्तियार बहुत पसंद है. ikhtiyar meaning किसी पर काबू या फिर किसी चीज़ का अधिकार कर लेना.


Listen to Ikhtiyar Shayari | Voice-Over: Sanket Mahindrakar


अगर आप किसी इंसान या फिर किसी चीज पर अपना बस चलाना चाहते हो, अपने दिल के अरमान उस इंसान ने उस चीज से पूरे करवाना चाहते हो तो आपको उस पर इख्तियार करना जरूरी होता है. लेकिन कभी-कभी अगर यही प्यार हद से ज्यादा बढ़ जाए तो वह आपके स्वभाव का गुण बन सकता है और बाकी लोगों के लिए हानिकारक हो सकता है.


💕 Listen Uninterrupted Shayari 💕
🙏After Small Advertisement🙏



Ikhtiyar Shayari
Ikhtiyar Shayari
1)

दिल में मेरे अब हर लम्हा
इख्तियार नजर आता है..

तुम्हारी आंखों में जानम
मुझे प्यार नजर आता है..!

-Dipti

dil mein mere ab har lamha
ikhtiyar najar aata hai..
tumhari aankhon mein janam
mujhe pyar najar aata hai..!

2)

दिल कहता है तुम्हें अपनी बाहों में भर लूं..

कैसे तुम पर अब अपना इख्तियार कर लूं..?

-Santosh

dil kahta hai tumhe apni bahon mein bhar lun..
kaise tum per ab apna ikhtiyar kar lun..?

तो आइए दोस्तों इसी इख्तियार से संबंधित कुछ नायाब और प्यार भरी शायरियों का नजराना हम आपके लिए पेश करने जा रहे हैं. हमें आशा है कि आप को नई शायरियां बहुत पसंद आएगी.

अब तो बस आपके इख्तियार में ही अपनी पूरी उम्र काटना चाहते हैं हम…

आप खुद को उनके प्यार में खुद को पूरी तरह से झोंक देना चाहते हो. और इसके लिए आप चाहे कुछ भी करने के लिए तैयार हो. और इसकी वजह से आप अपनी आंखों में ही उन्हें बसा लेने के लिए हमेशा तैयार हो. बल्कि आपने तो उन्हें अपने दिल में छुपा कर रख भी लिया है.

3)

कहता है मेरा दिल बस
तुमसे ही प्यार हो जाए..

दिल पर मेरे तुम्हारा ही
अब इख्तियार हो जाए..

-Supriya

kahta hai mera dil bas
tumse hi pyar ho jaaye..
dil per mere tumhara hi
ab ikhtiyar ho jaaye..

4)

जी रहा हूं तड़प तड़प कर
जानू सिर्फ एक यादों में तेरी..

तुम्हारे इख्तियार के खातिर
अब जान भी हाजिर है मेरी..

-Dipti

jee raha hoon tadap tadap kar
janu sirf ek yadon mein teri..
tumhare ikhtiyar ke khatir
ab jaan bhi hazir hai meri..

जब भी कोई आपकी आंखों में देखता है तो उसे बस आपके महबूब की तस्वीर ही हमेशा अपनी आंखों में नजर आती है. और आपकी अब यही आरजू है कि वह आपसे यूंही चाहत के बंधन से हमेशा बंधा रहें. आपको उनका यह प्यार का बंधन और आप पर उनका इख्तियार दिलचस्प लगता है.

5)

तुम्हें छोड़कर भरोसा
करूं अब मैं किस पर..

तुम्हारा इख्तियार हो जाए
अब मेरे इस दिल पर..

-Santosh

tumhen chhodkar bharosa
karun ab main kis per..
tumhara ikhtiyar ho jaaye
ab mere is dil per..

6)

करनी है कैसे सच्ची मोहब्बत,
यारा तुमसे ही सीखता हूं..

चाहत की महफिल में तुम्हारे
इख्तियार की राह देखता हूं..

-Supriya

karni hai kaise sacchi mohabbat,
yara tumse hi sikhta hun..
chahat ki mehfil mein tumhare
ikhtiyar ki rah dekhta hun..

और इसी काबू की वजह से आप उम्र भर उनकी इसी मेहरबानी में रहना चाहते हो. आप हमेशा उनकी ही आगोश में होना पसंद करते हो. और खुद की जुबान पर हमेशा बस उनका ही नाम और उनके ही खयाल रखना चाहते हो.

दिल ने न जाने कितनी छानबीन की लेकिन बस एक आपका ही तो इख्तियार मिला है उसे..

आपने जब भी अपने दिल में झांक कर देखा तो आपको हमेशा बस एक उनकी ही तस्वीर मिली है. आपने अपने दिल से बार-बार पूछा कि क्या एक आपका दिलबर ही आपका हमसफर हो सकता है? तो आपके दिल से बस आपके महबूब का ही नाम उभरकर आया.

7)

क्या तुम्हें भी है मुझसे प्यार
जानम बस एक बार बता दो..

मेरी मोहब्बत पर तुम आज
अपना इख्तियार जता दो..

-Dipti

kya tumhen bhi hai mujhse pyar
janam bus ek bar bata do..
meri mohabbat per tum aaj
apna ikhtiyar jata do..

और इस वजह से आप अपने दिल को उनके प्यार में ही खुद को चूर चूर कर रहे हो. लेकिन आपका दिमाग इस बात की और तफ्तीश करना चाह रहा है. वह हर वक्त खुद पर उनका काबू पाते हुए देख रहा है. लेकिन अब आपके दिल में यह बात मान ली है कि आपकी सारी हसरत, आपके प्यार की शान बस आपके महबूब के होने से ही है.

मेरे इख्तियार में नहीं के
में तेरे मामलों में बोलूं

मसला तुम्हारा है
तो हल मैं कैसे ढूंढू

-Vrushali

और आपको अभी इस बात का पूरी तरह से यकीन हो गया है कि वही आपका सच्चा प्यार है और वही आपका हमनवा है.

आपके ही इख्तियार में हमने सीखा है दुनिया में जीना और प्यार करना..

आप हमेशा उनकी आरजू को ही अपने सर आंखों पर रखते आ रहे हो. और इसी वजह से आप उनके होठों पर और उनकी आंखों तो जमा हुई नमी को अपने होठों से चूम कर पीना चाहते हो. आपने की शबनमी पलकों को चुरा कर अपने जेहन और अपने दिल में छुपाना चाहते हो.

मोहब्बत में इख्तियार से ज्यादा
जरूरी हैं जिम्मेदारी निभाना

कुछ पाने से ज्यादा खोना
और बेवजह किसी का साथ देना

-Vrushali

कुछ इस कदर उनके दिल में आपने घर कर लिया है कि अब तो वह बस आपकी ही इबादत करते रहते हैं. जिस तरह से उन्होंने आपको अपना सबकुछ मान लिया है कुछ उसी तरह से वह भी आप पर इख्तियार करना चाहती हैं. आप पूरी उम्र भर बस उनके ही एहसानमंद रहना चाहते हो.

इख्तियार से पहले
ज़िम्मेदारी निभाओ

कोई पूछे उससे पहले
अपना प्यार जताओ

-Vrushali

क्योंकि उन्हीं के काबू में आपने प्यार की अनगिनत चीजें सीखी है. उन्होंने आपको कई तरह के इशारों में चाहत की बात करना सिखाया है. और यही बात आप हमेशा अपने दिल में छिपाएं बैठे हो.

ikhtiyar love shayari in hindi urdu

ताउम्र मेरी आंखों में सिर्फ 
आपकी तस्वीर रवाँ होगी,
आपका इख़्तियार इतना है हम पर,

मेरी जुबानी बस आपकी ही
कहानी बयां होगी...

taa umra meri aankhon mein
sirf aapki tasvir rawaa hogi..
aapka ikhtiyar itna hai ham par,
meri jubani bas aapki hi kahani baya hogi…

रिश्ता निभाने के लिए
इख्तियार की जरूरत नहीं

प्यार के साथ थोड़ा सब्र हो
तो अधिकार की जरूरत नहीं

-Vrushali
इख्तियार देने या बांटने की चीज़ नहीं होती
निभाने से मिलती है मांगने से नहीं मिलती
मेरी तफ़्तीश में मिले हो 
हर जगह बस आप,
ये तो आपका प्यार है..

मेरी शानोशौकत सिर्फ आपसे,
इस दिल पर तो हमेशा
आपका ही इख्तियार है...

meri taftish mein mile ho
har jagah bas aap 
ye to aapka pyar hai..
meri shano shaukat sirf aapse,
is dil per to hamesha
aapka hi ikhtiyar hai…

बादशाह को भी नहीं मिलता
इख्तियार से किसी का प्यार

मोहताज नहीं है ये किसी का
इसपर कर दो तुम जान निसार

-Vrushali

ikhtiyar shayari | whatsapp status thoughts, poetry, lyrics

आपके नाजुक पलकों की 
शबनमी बूंदों को,
हम घुट-घुट पी रहे हैं..

इसीलिए तो आपके इख्तियार में 
आज हम जी रहे हैं..

aapki nazuk palkon ki
shabnami boonden ko,
ham ghut-ghut pee rahe hain..
isiliye to aapke ikhtiyar mein 
aaj ham ji rahe hain…

ikhtiyar-1-love-shayari-authorization-hindi-quotes-2
Ikhtiyar Shayari
सनम तेरी मोहब्बत पर
बस मुझे इख्तियार देना

नहीं बांट सकता मैं तेरा प्यार
तू बस ये तोहफा मुझे देना

-Vrushali

YOU MAY LIKE THESE POSTS:

दोस्तों हमारी Ikhtiyar Shayari की मदद से अगर आपको भी अपने दिलबर के इख्तियार में रहने की तमन्ना हो गई हो, तो हमें नीचे कमेंट सेक्शन में बताते हुए जरूर इत्तिला करें.

आपके Twitter पर हमारी हसीन शायरी अपडेट्स पाने के लिए हमारे शायरी सुकून केे अकाउन्ट को जरूर Follow करें.

5 Comments

  1. Rishabh Punekar January 12, 2021
  2. Dr. Rupeshkumar January 12, 2021
  3. Santosh January 12, 2021
  4. Sanjay January 12, 2021
  5. Minakshi Moon January 13, 2021

Add Comment