Dard E Dil Shayari: Best 40+ दर्द ए दिल की शायरियां

Dard E Dil Shayari: Friends when you are heartbroken by your partner. You might feel very upset and sad. This type of feeling we have collected in today’s Dard E Dil Quotes In Hindi. We hope that you will definitely like today’s Dard E Dil Shayari Status Sharechat. If you like our post, then please do share it with your all friends.

तो चलिए दोस्तों अपने टूटे हुए दिल के जख्मों को हरा करने वाली पत्थर दिल शायरी सुने! हमें यकीन है कि आज की हमारी दर्द छुपाना शायरी पेशकश आपको जरूर पसंद आएगी. अगर हां तो आप इन्हें अपने चहेते इंसानो एवं दोस्तों के साथ साझा करना बिल्कुल ना भूलें.

Table of Content

  1. Dard E Dil Shayari Photos – दर्द ए दिल शायरी फोटोज
  2. Dard E Dil Ki Shayari – दर्द ए दिल की शायरी
  3. Dard E Dil Shayari In Hindi – दर्द ए दिल शायरी इन हिंदी
  4. Dard E Dil Shayari – दर्द ए दिल शायरी
  5. Dard E Dil Shayari In Hindi 2 Lines – दर्द ए दिल शायरी इन हिंदी 2 लाइन्स
  6. Conclusion

Dard E Dil Shayari Photos – दर्द ए दिल शायरी फोटोज

Dard E Dil Shayari Photo
Dard E Dil Shayari Photo
1)

यूं तो प्यार में ठोकरें हजार मिलती है
पर मोहब्बत के साथ नहीं मिलती है..

हमें भी एक अजीब दीवाना मिला है
जिससे मोहब्बत में तनहाई मिलती है..

-Vrushali

yun to pyar me thokare hajar milti hai
par mohobbat ke sath nai milti hai..
hame bhi ek ajib diwana mila hai
jisse mohobbat me tanhai milti hai..



2)

तू ही है कश्ती और
समंदर का किनारा भी..

तू ही है साथी और
दर्द में मिला सहारा भी..

-Gauri

tu hi hai kashti aur
samandar ka kinara bhi..
tu hi hai saathi aur
dard mein mila sahara bhi..

3)

मोहब्बत की राहों में
दिल को दर्द बहुत मिले हैं..

कांटे हैं बहुत राह पर
पैरों में ज़ख्म बहुत हुए हैं..

-Vrushali

mohabbat ki rahon mein
dil ko dard bahut mile hain..
kaante hain bahut rahon per
pairon mein jakhm bahut hue hain..

4)

आज तो कयामत भी शर्मिंदा होगी
उसकी बनाई मोहब्बत जो हार गई..

ऐसा खेल रचा मेरे दीवाने आशिक ने
मौ त भी मुझे ले जाते हुए सहम गई..

-Vrushali

aaj to kayamat bhi sharminda hogi
uski banai mohabbat jo haar gayi..
aisa khel racha mere diwane aashiq ne
ma ut bhi mujhe le jate huye saham gayi..

Dard E Dil Shayari Photos को सुनकर आशिक अपने वफा का सबूत ही जैसे साथी को देना चाहता है. यह बात सच है जब इंसान बहुत ज्यादा बोलने लगता है तो हमें उसकी खुशी का पता होता है.

5)

न जाने क्यों वो मुझसे
बेवफ़ाई कर गया..

चाहत में हमें बस
दिल का दर्द दे गया..

-Santosh

na jaane kyon vo mujhse
bewafai kar gaya..
chahat mein hamen bus
dil ka dard de gaya..

6)

दर्द ए दिल को अब
किन लफ्जों में बयां करूं..

सवालों में उलझा हूं मैं
जवाब अपने मैं कहां ढूंढू..

-Vrushali

dard e dil ko ab
kin lafzon mein bayan karun..
sawalon mein uljha hun main
jawab apne main kahan dhundho..

इंसान अगर खामोश हो जाए तो हमें उसके दर्द का एहसास हो जाता है. लेकिन जब दर्द इस हद तक बढ़ जाए कि हम उसे बयां भी ना कर पाए और उसे सहन भी ना कर पाए. ऐसे वक्त हम एक जिंदा ला श की तरह बन जाते हैं. जिसकी खामोशी भी कुछ नहीं कहती.

Dard E Dil Shayari Ki Shayari – दर्द ए दिल की शायरी

Dard E Dil Shayari Ki Shayari
Dard E Dil Shayari Ki Shayari
7)

कैसे बताऊँ तन्हाई में
बिन तेरे रहा नहीं जाता..

दिल का ये दर्द अब
मुझसे सहा नहीं जाता..

-Kavya

kaise bataun tanhai mein
bin tere raha nahin jata..
dil ka ye dard ab
mujhse saha nahin jata..

8)

अब कोई शिकायत नहीं तुझ से
हात पर लगे ज ख्म तेरी याद दिलाते हैं..

पर उन्हें कहा हैं मैने याद न करना उसे
वरना हम उन्हें फिर नमक से नहलाते हैं..

-Vrushali

ab koi shikayat nahi tujhse
haath par lage ja khm teri yaad dilate hai..
par unhe kahan hai maine yaad na karna use
varna hum unhe fir namak se nahlate hai..

9)

सब कुछ लुटा चुका हूं मैं
तेरी चाहत की सादगी में..

बाकी कुछ न रहा दर्द के
सिवा अब इस जिंदगी में..

-Gauri

sab kuch luta chuka hun main
teri chahat ki saadgi mein..
baki kuch na raha dard ke
siwa ab is jindagi mein..

10)

जानबूझकर अनजान हूं मैं
तुम्हारे दिल के ख्यालों से..

दिल में बहुत दर्द है मेरे
वाकिफ हूं मैं तेरे सवालों से..

-Vrushali

jaanbujhkar anjan hun main
tumhare dil ke khayalon se..
dil mein bahut dard hai mere
waqif hun main tere sawalon se..

11)

अब अपने हाथों को काफ़ी ज़ ख्म दिए हमने
उनकी तकलीफ़ में हाथों का ज्यादा हिस्सा था..

दिल से बेपनाह प्यार बया करते रहे हमारा
और उन्होंने इसे मतलबपरस्ती समझ लिया था..

-Vrushali

ab apne haathon ko kaafi za khm diye hamne
unki taklif me haathon ka jyada hissa tha..
dil se bepanah pyar bayan karte rahe hamaara
aur unhone ise matalab parasti samajh liya tha..

Dard E Dil Ki Shayari की मदद से खुदा से मिली हुई मोहब्बत के तोहफे का मतलब आशिक बेवफा को बताना चाहता है. जो इस खूबसूरत मोहब्बत को कोई इंसान अपने मतलब के लिए इस्तेमाल करता है तो जरूर खुदा भी रोता ही होगा.

12)

अकेलापन ही जिंदगी का
हासिल हो गया है..

प्यार में दर्द सहना अब
मुश्किल हो गया है..

-Santosh

akelapan hi jindagi ka
hasil ho gaya hai..
pyar mein dard sahna ab
mushkil ho gaya hai..

13)

आशना है दिल मेरा तेरे
इश्क के पैमानों से..

मगर अनजान हूं मैं
तेरे पैगामों से..

-Vrushali

aashna hai dil mera tere
ishq ke paimanon se..
magar anjan hun main
tere paigamon se..

14)

यार ने दी बेवफाई,
दर्द ए दिल मैं सहता रहा..

जालिम ये जमाना
मुझे पत्थर मारता रहा..

-Kavya

yaar ne di bewafai,
dard e dil main sahta raha..
jalim ye jamana
mujhe patthar maarta raha..

मोहब्बत के नाम पर है बड़े गुनाह करते हैं लोग. कोई मासूम इस मोहब्बत की जंग में शहीद हो जाता है. तो फिर मौ त भी सहन जाती होगी. खुदा ने जिस प्यार से इस तोहफे को हम सबके बीच भेजा उसका हश्रगर यह होगा तो भला उसे कैसे अच्छा लगेगा.

15)

अब तो बस बेवफाई
बाकी है तेरे मेरे दरमियां..

न जाने दर्द ए दिल में
मिली है यह कैसी दूरियां..

-Kavya

ab to bas bewafai
baki hai tere mere darmiyaan..
na jaane dard e dil mein
mili hai yah kaisi duriyan..

16)

जिंदगी ये कैसे बिताई
हमसे ना पूछो तुम..

दर्द ए दिल की गहराई
हमसे ना पूछो तुम..

-Gauri

jindagi ye kaise bitaai
humse na poochho tum..
dard e dil ki gehrai
humse na poochho tum..

17)

फुर्सत में मिलोगे कभी
तो जीना सिखा देंगे..

जमाने में दर्द ए दिल
सहना भी सिखा देंगे..

-Kavya

fursat mein miloge kabhi
to jina sikha denge..
jamane mein dard e dil
sahna bhi sikha denge..

Dard E Dil Shayari In Hindi – दर्द ए दिल शायरी इन हिंदी

Dard E Dil Shayari In Hindi
Dard E Dil Shayari In Hindi
18)

आपने मोहब्बत को जान लिया साईं
पर हम बिना जाने आपसे करते रहे..

हम खुदग़र्ज़ी का इल्जाम सहते रहे
और आप बेग़ैरत हमें सताते रहे..

-Vrushali

aapne mohabbat ko jaan liya saai
par ham bina jaane aapse karte rahe..
hum khudgarji ka ilzaam sahate rahe
aur aap begairat hamen satate rahe..

19)

तुम्हारे ही प्यार में अब दिन रात
आंसू बहाते रहते हैं हम..

कितना दर्द है इस दिल में
एक बार ही सही देखना तुम..

-Gauri

tumhare hi pyar mein ab din raat
aansu bahate rahte hain ham..
kitna dard hai is dil mein
ek bar hi sahi dekhna tum..

20)

बेवफाई में किसी से कोई
शिकवा गिला नहीं करते..

हम अपने दर्द ए दिल का
कभी दिखावा नहीं करते..

-Santosh

bewafai mein kisi se koi
shikwa gila nahin karte..
ham apne dard e dil ka
kabhi dikhava nahin karte..

21)

खुशियां छोड़कर आखिर
कब गम दिया था तुम्हें..

दर्द ए दिल की सजा मगर
लाजवाब मिली है हमें..

-Kavya

khushiyan chhodkar aakhir
kab gam diya tha tumhen..
dard e dil ki saja magar
lajawab mili hai hamen..

22)

उदासी भरे उस मुकाम तक
आ पहुंची है जिंदगी..

जहां कुछ चीजें पसंद तो है,
मगर चाहिए कुछ नहीं..

udasi bhare us mukaam tak
aa pahunchi hai zindagi..
jaha kuch chijen pasand to hai
magar chahiye kuch nahi..

Dard E Dil Shayari In Hindi की मदद से अपने प्यार में मिली ठोकर को याद करता है. किसी का प्यार बेवफा हो जाता है तो किसी का प्यार नफरत में बदल जाता है. लेकिन शायद कोई ऐसा दीवाना मिला है जिसकी मोहब्बत उसे तन्हाई दे रही है.

23)

भूल गया हूं अब मैं
जो जुल्म किए हैं तुमने..

मुस्कुरा कर दर्द छुपाना
सीख लिया है हमने..

-Gauri

bhul gaya hun ab main
jo julm kiye hain tumne..
muskura kar dard chupana
sikh liya hai humne..

24)

नहीं चाहता मैं तुम्हें डालना
अब किसी मुश्किल में..

दर्द ही दर्द छुपा रखा है
मैंने अपने इस दिल में..

-Santosh

nahin chahta main tumhen dalna
ab kisi mushkil mein..
dard hi dard chhupa rakha hai
maine apne is dil mein..

25)

प्यार में मेरे महबूब की हमेशा
मेरे लिए बस फरियाद आई..

जब भी दर्द ए दिल का माहौल था
तब मुझे तुम्हारी याद आई..

-Gauri

pyar mein mere mehboob ki hamesha
mere liye bas fariyad aayi..
jab bhi dard e dil ka mahaul tha
tab mujhe tumhari yad aayi..

26)

अपना दर्द ए दिल तुम्हें
बताना चाहता हूं मैं..

मेरे प्यार का आशियाना
बसाना चाहता हूं मैं..

-Santosh

apna dard e dil tumhe
batana chahta hun main..
mere pyar ka aashiyana
basana chahta hun main..

दोस्तों तन्हाई आने किसी से दूर रहना या फिर किसी कमरे में अकेले रहना नहीं होता. जब हम लोगों के बीच रहते हुए भी खुद को अकेला महसूस करने लगते हैं तो उसे तनहाई कहते हैं. जब हमारा प्यार हमारे साथ होता है लेकिन फिर भी हम तन्हाई महसूस करते हैं. तो यह बड़ी दर्दनाक बात है.

Dard E Dil Shayari – दर्द ए दिल शायरी

27)

मिलकर तुमसे जाना है हमने,
खुशियां बेवजह हो सकती है..

छाई जो उदासी मेरे दिल पर,
बेवफाई की कहानी कह सकती है..

milkar tumse jana hai hamne,
khushiyaan bewajah ho sakti hai..
chhai jo udaasi mere dil par
bewafai ki kahani kah sakti hai..

28)

नींद भी शायद उदास
होती होगी तकदीर पर..

अब मैं भी तो रातों को
जरा देर से घर जाता हूं..

nind bhi shayad udas
hoti hogi takdir par..
ab mai bhi to raaton ko
jara der se ghar jata hun..

Dard E Dil Shayari की मदद से आशिक अपनी महबूबा को उसके लिए दिल में प्यार दिखाना चाहता है. और इसी तरह से वह बस निस्वार्थ भाव से अपना सब कुछ लुटाते रहना चाहता हैं. लेकिन कुछ लोग बस उस मोहब्बत का मतलब समझने में ही जिंदगी गुजार देते हैं. अपनी हंसी खुशी भी खो देते हैं. बस वह सच्ची मोहब्बत पाने के लिए जो उनके पास होती है.

29)

उसकी हर झूठी मुस्कान में
छिपा हुआ प्यार का राज है..

इस जिंदगी में दर्द ए दिल
यही एक मेरा हमराज़ है..

-Gauri

uski har jhuthi muskan mein
chhipa hua pyar ka raaz hai..
is jindagi mein dard e dil
yahi ek mera humraaz hai..

30)

कितने दिलों के साथ
उसने खेल खेले हैं..

मेरे दिल ने ना जाने
कितने दर्द झेले हैं..

-Santosh

kitne dilon ke sath
usne khel khele hain..
mere dil ne na jane
kitne dard jhele hain..

31)

टूटे हुए दिल का हिस्सा
मुझे उसके पास मिला है..

दर्द ए दिल का तजुर्बा
मुझे बड़ा खास मिला है..

-Kavya

tute hue dil ka hissa
mujhe uske paas mila hai..
dard e dil ka tajurba
mujhe bada khas mila hai..

32)

टूटे हुए दिल को लेकर
अब तन्हा ही रहते हैं हम..

प्यार में मिले दर्द ए दिल को
हंसते हुए सहते हैं हम..

-Gauri

tute hue dil ko lekar
ab tanha hi rahte hain ham..
pyar mein mile dard e dil ko
hanste hue sahte hain ham..

33)

अपने जिंदगी की दास्तान
खुद से ही कहते हैं..

दर्द ए दिल को सहते हुए
अकेले ही रोते रहते हैं..

-Santosh

apne jindagi ki dastan
khud se hi kahte hain..
dard e dil ko sahte hue
akele hi rote rahte hain..

34)

मेरी जिंदगी में हमसफर
मैंने उसे ही कहा था..

दर्द ए दिल देने वाला मेरा
अपना ही मसीहा था..

-Kavya

meri jindagi mein humsafar
maine use hi kaha tha..
dard e dil dene wala mera
apna hi masiha tha..

35)

जिंदगी में ज़ुल्म की दास्तान
तुमसे ही कह रहा हूं..

बेवफा तेरे प्यार के दर्द को
मैं अकेला ही सह रहा हूं..

-Gauri

jindagi mein zulm ki dastan
tumse hi kah raha hun..
bewafa tere pyar ke dard ko
main akela hi sah raha hun..

Dard E Dil Shayari In Hindi 2 Lines – दर्द ए दिल शायरी इन हिंदी 2 लाइन्स

36)

मेरी जिंदगी का हुआ मकसद पूरा है..

वक्त ने दिया दिल को दर्द बड़ा बुरा है..

-Santosh

meri jindagi ka hua maqsad pura hai..
waqt ne diya dil ko dard bada bura hai..

37)

शिकवा ना शिकायत, ना ही कुछ मुझको गिला है..

बस सच्ची मोहब्बत का सिला धोखे से मिला है..

shikva na shikayat, na hi kuch mujhko gila hai..
bas sachhi mohabbat ka sila dhoke se mujhe mila hai..

38)

खिलौने की तरह हो गई है जिंदगी हमारी..

रूठता तो वह है, मगर टूटता अंदर से मैं हूं..

khilaune ki tarah ho gai hai zindgi hamari..
ruthta to vah hai, magar tutata andar se mai hu..

Dard E Dil Shayari In Hindi 2 Lines की मदद से आशिक अपने महबूब से बात करना चाहता है. और शायद इसीलिए वह हर दर्द में अपने हाथों को ज्यादा जिम्मेदार समझता है. कभी-कभी हमारी मोहब्बत भी किसी को हमारी खुदगर्जी लगती है. हम किसी से बेपनाह प्यार करते हैं और वह इस प्यार को हमारी कोई चाल समझने लगता हैं.

39)

दर्द इस दिल के शायद कम हो जाते..

गर आप दिल के करीब आ जाते..

-Vrushali

dard is dil ke shayad kam ho jate..
gar aap dil ke kareeb aa jate..

उसे हमारी हर बात में स्वार्थ नजर आने लगता है. हम कुछ मामूली बात भी उससे मांगे तो उसे लगता है कि हमारी मोहब्बत बस उसी स्वार्थ के लिए थी. उस इंसान से बात करना भी इस कदर मुश्किल हो जाता है कि अगर बात करने के लिए समय मांगो तो उसे भी वह स्वार्थ ही समझने लगता है.

40)

कैसे कहूं दिल में कितने दर्द छिपे है..

तेरी सूरत पर गम के बादल घिरे हैं..

-Vrushali

kaise kahun dil mein kitne dard chhipe hain..
teri surat per gam ke baadal ghire hain..

41)

एक तू ही मेरे बर्बादी की वजह है..

चांद भी मेरे दर्द ए दिल का गवाह है..

-Kavya

ek tu hi mere barbadi ki vajah hai..
chand bhi mere dard e dil ka gavah hai..

42)

नसीब आई मेरे, दर्द ए दिल की रुसवाई..

शायद तुम्हें ही वफा निभानी नहीं आई..

-Kavya

naseeb aayi mere, dard e dil ki ruswai..
shayad tumhen hi wafa nibhaani nahin aayi..

Dil ka Dard Shayari

Mere Dil Ka Dard Shayari Ke Sath Apne Halat Bayan Kar Sakoge
Mere Dil Ka Dard Shayari Ke Sath Apne Halat Bayan Kar Sakoge
महबूब को अपने
भुला पाना मुश्किल होता है..
इसीलिए हर आशिक
जमाने में बर्बाद होता है..

mahbub ko apne
bhula pana mushkil hota hai..
isiliye har aashiq
zamane me barbad hota hai..

दिल का हर दर्द
तू मुझसे कहता था..
हर शिकायत भी तू
बस मुझसे करता था..

-Vrushali

dil ka har dard
tu mujhse kahta tha..
har shikayat bhi tu
bus mujhse karta tha..

अब उम्मीद का कोई तारा हमें नज़र आता नहीं
राहे वफ़ा में बिछड़ने वाला लौट कर आता नहीं..
उन्हें दिल का दर्द सुनाने गया जो भी परिंदा
लौट तो आता हैं, मगर मेरे घर आता नहीं..

-Moin

ab ummid ka koi tara hamen najar aata nahin
rahe wafa mein bichad ne wala laut kar aata nahin..
unhen dil ka dard sunane gaya jo bhi parinda
laut to aata hai, magar mere ghar nahin aata..

दिल के इस दर्द को अब सहा नही जाता
तुम बिन अब ज़िन्दगी को गुज़ारा नही जाता..
सूरत ए हाल चाहे जैसे भी क्यों न हो
ज़िन्दगी से नाता तोड़ा नही जाता..

-Ketki

dil ke is dard ko ab saha nahin jata
tum bin ab jindagi ko gujara nahin jata..
surat e hal chahe jaise bhi kyon na ho
jindagi se nata toda nahin jata..

हर राह दिखाने वाला इंसान
हमारा हमसफ़र नहीं होता..
जो बांट लें कुछ दर्द हमारे
वो हर इंसान हमदर्द नहीं होता..

-Vrushali

har raah dikhane wala insan
hamara humsafar nahin hota..
jo baant le kuch dard hamare
vah har insan humdard nahin hota..

जानते हैं मुकद्दर में
नहीं है हम उनके..
न जाने फिर भी बेपनाह
चाहत क्यों है उनसे..?

jante hain mukaddar mein
nahin hai ham unke..
na jane fir bhi bepanah
chahat kyon hai unse..?

आंखों से गिरा आंसू कोई उठा नहीं सकता
लिखा हो नसीब में जो, कोई मिटा नहीं सकता..
ना हो सकी मुकम्मल चाहत तुमसे कभी जाना
फिर भी दिल से तुम्हारी यादें मैं हटा नहीं सकता..

aankhon se gira aansu koi utha nahin sakta
likha ho naseeb mein jo, koi mita nahin sakta..
na ho saki mukammal chahat tumse kabhi jana
fir bhi dil se tumhari yadon mein hata nahin sakta..

जानता हूं मैं ये बात के
तुम करती हो मेरा इंतजार..
मगर तुमने किया नहीं
मुझसे अपने प्यार का इज़हार..

-Vrushali

jaanta hun main yah baat ke
tum karti ho mera intezaar..
magar tumne kiya nahin
mujhse apne pyar ka izhaar..

चाहत ने मेरी सिखाया
मुझे घमंड ना करना..
मिल गया बेहतर जो,
भुला दिए जाओगे वरना..

chahat ne meri sikhaya
mujhe ghamand na karna..
mil gaya behtar jo,
bhula diye jaaoge varna..

दिल मे दर्द जगा के वो यूँ चले जायेंगे सोचा ना था
हम सरेआम यूँ बिखर जाएंगे सोचा ना था..
इतने क़रीबी नाते भी माटिमोल हो सकते हैं
ये ना मानने का अब कोई बहाना ना था..

-Ketki

dil mein dard jaga ke vah yu chale jaenge sochana tha
ham sare aam yu bikhar jaenge socha na tha..
itne kareebi naate bhi mati mol ho sakte hain
ye na manane ka ab koi bahana na tha..

Dil Tutne Ka Dard Shayari Ki Madad Se Apni Aap Beeti Bata Sakoge
Dil Tutne Ka Dard Shayari Ki Madad Se Apni Aap Beeti Bata Sakoge
चाहत भी होती है हाथों में
लगी मेहंदी की तरह..
कितना भी गहरा क्यों ना हो,
रंग फीका पड़ता ही है..

chahat bhi hoti hai hathon mein
lagi mehandi ki tarah..
kitna bhi gehra kyon na ho,
rang fika padta hi hai..

इस झूठे जमाने की
सच्चाई हमने देखी है..
रूह से मोहब्बत
करने वाले की तड़प देखी है..

is jhuthe jamane ki
sacchai humne dekhi hain..
ruh se mohabbat
karne wale ki tadap dekhi hai..

तुम्हें खुद से रखने से
मेरा दिल घबराता हैं..
प्यार के इस सफ़र में
तुम्हें खोने से डरता हैं..

-Vrushali

tumhen khud se rakhne se
mera dil ghabrata hai..
pyar ke is safar mein
tumhe khone se darta hai..

दिल के इस दर्द को बयां करूं कैसे
गिला तो है तुझसे पर शिकवा करू कैसे..
तुम साथ होते तो ज़िन्दगी कुछ और ही होती
पर अब इस बेक़रार दिल को समझाऊं कैसे..

-Ketki

dil ke is dard ko bayan karun kaise
gila to hai tujhse per shikva karun kaise..
tum sath hote to jindagi kuchh aur hi hoti
per ab is bekarar dil ko samjhaun kaise..

मर ही चुका था मैं
बेवफाई में तुम्हारी..
बस तुम्हारी सोच ने
मुझे जिंदा कर दिया…

mar hi chuka tha main
bewafai mein tumhari..
bus tumhari soch ne
mujhe zinda kar diya..

हम किसी का मुक़द्दर तो नही बदल सकते
जानबूझकर कांटे को निगल तो नही सकते..
सोचा, क्यों न इस दर्द को पी लिया जाए
देखे, के हम कैसे उनके बिना जी नही सकते..

-Ketki

ham kisi ka muqaddar to nahin badal sakte
jaan bujh kar kaante ko nigal to nahin sakte..
socha, kyon na is dard ko pi liya jaaye
dekhen, ki ham kaise unke bina ji nahin sakte..

हाय रे, तेरी चाहत का
अजीब फसाना है..
सामने घर है लेकिन
बीच में जमाना है..

hai re, teri chahat ka
ajeeb fasana hai..
samne ghar hai lekin
bich mein jamana hai..

हम मुस्कुराते हुए हर जख्म को भुला दें
बेवजह बेसाख़्ता खुद को भला क्यों सज़ा दें..
पर दिल के इस दर्द को सहना नही है आसां
सोचते है हम के, क्यों ना तुमको बता दें..

-Ketki

ham muskurate hue har jakhm ko bula de
bewajah besakhta khud ko bhala kyon saja de..
per dil ke is dard ko sahana nahin hai aasan
sochte hain ham ke, kyon na tumko bata de..

यादों की तन्हाईयों में
हर पहर गुजर जाता है..
होते हो ख्वाबों में तो
वक्त जैसे ठहर जाता है..

yaadon ki tanhaiyon mein
har pehar gujar jata hai..
hote ho khwabon mein to
waqt jaise theher jata hai..

ए चाहत, तू मर जा
डूब कर कहीं..
एक इंसान को,
मेरा कर ना सकी..!

ae chahat, tu mar ja
doob kar kahin..
ek insan ko,
mera kar na saki.!

Dil Me Bahut Dard Hai Shayari Ke Sath Apne Ishq Ki Dastan Bata Sakoge
Dil Me Bahut Dard Hai Shayari Ke Sath Apne Ishq Ki Dastan Bata Sakoge
अब तो ये दिल का दर्द ही हमारा अपना है
तुम चाहत थी मेरी पर अब तो बस ये सपना है..
ये सूरज ही है जो निकलने को बेताब है
पर इस कमबख्त चांद को बादलों के पीछे छुपना है..

-Ketki

ab to yah dil ka dard hi hamara apna hai
tum chaht thi meri par ab to bus yah sapna hai..
ye suraj hi hai jo nikalane ko betaab hai
par is kambakt chand ko badalon ke piche chhupana hai..

हर सवेरा होता तुमसे,
तुम मेरा नसीब थे..
लाखों थी हसीनाएं, मगर
तुम दिल के करीब थे..

har savera hota tumse,
tum mera nasib the..
laakhon thi hasinaayen, magar
tum dil ke karib the..

बात ना माने किसी की
होता प्यारा अपना वजूद..
भूल जाता है इंसान सब कुछ
ठीक होने के बावजूद..

baat na maane kisi ki
hota pyara apna vajud.
bhul jata hai insan sab kuchh
thik hone ke bavjud..

एक ही पल में सारी जिंदगी जी ली हमने
इस दिल के दर्द को सी लिया हमने..
उनका साथ ज़िन्दगी भर का नही ये पता था हमे
पर कुछ पलों की उन खुशियों को चुन लिया हमने..

-Ketki

ek hi pal me sari zindgi ji li hamne
is dil ke dard ko si liya humne..
unka sath jindgi bhar ka nahi ye pata tha hame
par kuchh palon ki un khushion ko chun liya hamne..

तुमसे मोहब्बत का अंजाम
ये ना खत्म होने वाला दर्द हैं..
मुझे देखकर भी लोगों को
हो रहा इश्क़ का मर्ज़ हैं..

-Vrushali

tumse mohabbat ka anjam
ye na khatm hone wala dard hai..
mujhe dekhkar bhi logo ko
ho raha ishq ka marj hai..

मोहब्बत के दर्द सारे
दिल में छुपा कर रखना..
जिंदगी भर चाहो निभाना चाहत
तो दूरी बना कर रखना..

mohobbat ke dard saare
dil me chhupa kar rakhna..
zindgi bhar chaho nibhana chahat
to duri bana kar rakhna..

दिल का टूटना और दर्द
जैसे एक मेल है..
छोड़ दो बीच में चाहत
तो वह खेल है..

dil ka tutna aur dard
jaise ek mel hai..
chhod do bich me chahat
to vah khel hai..

कल फिर सुली पर किसी आशिक़ का सर होगा
दिल का दर्द सुनाते सुनाते तय ये सफर होगा..
आबे हयात तो बट गया हवस के परस्तारों में
हमारे हिस्से में किसी की बेरुखी का ज़हर होगा..

-Moin

kal fir suli par kis aashiq ka sar hoga
dil ka dard sunate sunate tay ye safar hoga..
aabe hayat to bat gaya hawas ke parastaron me
hamare hisse me kisi ki berukhi ka jahar hoga..

इस दिल का दर्द सुनाए तो सुनाए किसे
हालत ए दिल की कसक बताये किसे..
जिसका साथ हमने ताउम्र भर चाहा था
रुखसत हो गए वो, ये इस नादान को समझाये कैसे..

-Ketki

is dil ka dard sunaye to sunaye kise
halat e dil ki kasak bataye kise..
jiska sath hamne taaumr bhar chaha tha
rukhsat ho gaye vo, ye is nadaan ko samjhaaye kaise..

न जाने क्यों तड़पता है
दिल मेरा दिन ढल जाने के बाद..
वो अधूरे कसमे वादे,
वह भूली दास्तां, आती है हमेशा याद..

na jaane kyon tadpta hai
dil mera din dhal jaane ke baad..
vo adhure kasame vaade,
vah bhuli dastaan, aati hai hamesha yaad..

Dil Ka Dard Shayari In Hindi Ki Madad Se Mohabbat Ke Safar Ki Kahani Bata Sakoge
Dil Ka Dard Shayari In Hindi Ki Madad Se Mohabbat Ke Safar Ki Kahani Bata Sakoge
ओ बेवफा, कर लिया जो फैसला,
मुझे कुछ कहना नहीं..
चाहे तुम जी लेना मेरे बगैर
मुझे अब जीना ही नहीं..!

o bewafa, kar liya jo faisla,
mujhe kuchh kahna nahi..
chahe tum ji lena mere bagair
mujhe ab jina hi nahi..!

अपना किया हर वादा तोड़ दिया उस ने
रुख ग़मों का मेरी जानीब मोड़ दिया उस ने..
अब महफ़िल महफ़िल सुनाते हैं दर्द दिल का
मंज़ील के करीब हाथ मेरा छोड़ दिया उस ने..

-Moin

apna kiya har waada tod diya usne
rukh gamon ka meri jaanib mod diya usne..
ab mahfil mahfil sunate hai dard dil ka
manjil ke karib hath mera chhod diya usne..

सोचा था बता देंगे अपने
जख्मी दिल का दर्द तुम्हें..
मगर एक बार भी पूछी नहीं
तुमने खामोशी की वजह हमें..

socha tha bata denge apne
jakhmi dil ka dard tumhe..
magar ek baar bhi puchhi nahi
tumne khaamoshi ki vajah hame..

कुछ रिश्ते दिल को दर्द
हमारे दे जाते हैं..
क्योंकि दर्द देने वाले ही
दिल में होते हैं..

kuch rishte dil ko dard
hamare de jate hai..
kyonki dard dene wale hi
dil me hote hai..

दिलनशी चाहत ये मेरी
कैसे तुम रुसवा कर गई..
मेरी हर खुशी के बदले तुम
अपने दर्द मुझे सौंप गई..

-Vrushali

dilnashi chahat ye meri
kaise tum rusva kar gai..
meri har khushi ke badle tum
apne dard mujhe saunp gayi..

कुछ दर्द ना कागज पर आते हैं
ना अश्कों से बहते हैं..
न जाने वो कैसे जज्बात अपने
लफ्जों से कहते हैं..

kuchh dard na kagaj par aate hai
na ashqon se bahte hai..
na jaane vo kaise jazbaat apne
lafjon se kahte hai..

दर्द दिल का ना किसी से
कह पाते हैं, ना दिखा पाते हैं..
बस अंदर ही अंदर जख्मों को
सहते हुए हम रोए जाते हैं..

dard dil ka na kisi se
kah pate hai, na dikha paate hai..
bas andar hi andar jakhmon ko
sahte huye ham roye jaate hai..

मेरी ग़ज़लों से झाँकता मेरा दर्द-ए-दिल हैं
मेरी लाश पर रोने वाला ही मेरा कातील हैं..
बिच मँझधार में ला कर तन्हा छोड़ गया मुझे
रात तारीक और बड़ी दूर मुझ से साहील हैं..

-तारीक : काली

-Moeen

meri gazlon se jhaankta mera dard-e-dil hai
meri lash par rone wala hi mera qaatil hai..
bich manjhdhaar me lakar tanha chhod gaya mujhe
raat taarik aur badi dur mujh se saahil hai..

चाहे कितने भी नाजुकता से तोड़ो फूल,
कांटा चुभ ही जाता है..
हद से ज्यादा प्यार भी कर लो तो
एक दिन दर्द दे ही जाता है..

chaahe kitne bhi najukta se todo ful,
kaanta chubh hi jata hai..
had se jyada pyar bhi kar lo to
ek din dard de hi jata hai..

आज तक कहां किसी के जिंदगी में
हवा वफा की चली है..
इश्क किया था तुमसे शायद
उसी की सजा मिली है..

aaj tak kahan kisi ke zindgi me
hawa wafa ki chali hai..
ishq kiya tha tumse shayad
usi ki saja mili hai..

Dil Ka Dard Shayari Ki Madad Se Apne Darde Dil Ke Jazbat Bayan Kar Sakoge
Dil Ka Dard Shayari Ki Madad Se Apne Darde Dil Ke Jazbat Bayan Kar Sakoge
दवा देता है तो कोई दुआ देता है
कोई अपने दिल के दर्द को बता देता है..
तुम इस क़दर मुह मोड़ गए अपनी ज़िन्दगी से
भला इस तरह भी कोई अपनी जान को सज़ा देता है..

-Ketki

dawa deta hai to koi dua deta hai
koi apne dil ke dard ko bata hai..
tum is kadar munh mod gaye apni jindagi se
bhala is tarah bhi koi apni jaan ko saja deta hai..

चाहा था मैंने तुम्हें
अपनी जान से भी ज्यादा..
कहा पता था मुझे के
कहना पड़ेगा तुझे अलविदा..

-Vrushali

chaha tha maine tumhe
apni jaan se bhi jyada..
kaha pata tha mujhe ke
kahna padega tujhe alvida..

बहुत कुछ खोया मैंने
न जाने क्या हुआ मुझे हासिल है..
दूर जाकर पाया मैंने
मोहब्बत में लौटना मुश्किल है..

bahut kuchh khoya maine
na jaane kya hua mujhe haasil hai..
dur jaakar paya maine
mohabbat me lautna mushkil hai..

न जी सका, न मर सका
किया ऐसा सलूक उस बेरहम ने था..
दिल का दर्द देकर भी बाज ना आए,
न जाने क्या, बेवफा के मन में था..

na ji saka, na mar saka
kiya aisa saluk us beraham ne tha..
dil ka dard dekar bhi baaj na aaye,
na jane kya, bewfa ke man me tha..

ज़माने भर की थी हर ख़ुशी मेरे खिलाफ
इश्क़ की राह में निकली ज़िंदगी मेरे खिलाफ..
दिल का दर्द सुना कर मैं खामोश खड़ा रहा
मगर सब की ऊँगलीया उठी थी मेरे खिलाफ..

-Moeen

zamane bhar ki thi har khushi mere khilaf
ishk ki raah me nikli jindagi mere khilaf..
dil ka dard suna kar mai khamosh khada raha
magar sab ki ungliyaa uth rahi thi mere khilaf..

दिल के हर दर्द से अनजान था मैं
प्यार की रस्मों से बे परवाह था मैं..
तुम आई जिंदगी में तो पता चला
इश्क़ में हुए धोखे का शिकार था मैं..

-Vrushali

dil ke har dard se anjaan tha mai
pyar ki rasmon se be parwaah tha mai.
tum aayi zindgi me to pata chala
ishq me huye dhokhe ka shikar tha mai..

दिल का दर्द सहा
नहीं जाता, मेहर चाहिए..
पढ़ सके कोई उसे
बस ऐसी नजर चाहिए..

dil ka dard saha
nahi jata, mehar chahiye..
padh sake koi use
bas aisi nazar chahiye..

तेरा जो ये अहसास हैं
मेरे दिल का सुकून हैं..
जो तू नहीं पास मेरे
तो दिल मेरा बैचेन हैं..

-Vrushali

tera jo ye ehsaas hai
mere dil ka sukun hai..
jo tu nahi paas mere
to dil mera bechain hai..

हम जिसे चाहे वो भी हमें चाहे, ये जरूरी तो नहीं
दिल का हर दर्द बयां हो जाए, ये जरूरी तो नहीं..
आते हैं कई मोड़ कुछ इस तरह से जिंदगी में
मगर हर मोड़ पे निराश हो जाए ये जरूरी तो नहीं..

-Ketki

ham jise chahe vo bhi hamen chahe, yah jaruri to nahin
dil ka har dard baya ho jaaye, ye zaroori to nahin..
aate hain kai mod kuchh is tarah se jindagi mein
magar har mod pe niraash ho jaaye yeh zaroori to nahin..

जिंदगी से कोई
उम्मीद ना रही दोस्तों..
जो चल रहा है
जैसा है, चलने दो..

jindagi se koi
ummid na rahi doston..
jo chal raha hai,
jaisa hai, chalne do..

तुम नहीं भुला पाओगी मुझे
तुम्हारी हर इक याद में मैं हूं..
कभी प्यार था तुम्हें मुझसे बहुत
इसलिए आज तुम्हारा हर दर्द मैं हूं..

-Vrushali

tum nahin bhula paogi mujhe
tumhari har ek yaad mein main hun..
kabhi pyar tha tumhe mujhse bahut
isliye aaj tumhara har dard main hun..

Dil ka Dard Shayari Status
Dil ka Dard Shayari Status

Hindi Shayari on Dard

हम थे और रात के शायद तीन बजे थे
सुने घर में यादों के मेले लगे थे..
खुदा जाने कब नींद ने मुझे गले लगाया
ज़माने के दर्द सुबह तक सिरहाने खड़े थे..

-Moeen

hum the aur raat ke shayad teen baje the
sune ghar mein yaadon ke mele lage the..
khuda jaane kab nind ne mujhe gale lagaya
jamane ke dard subah tak sirhane khade the..

हँसते हँसते अक्सर रुला देती हैं तेरी यादें
पता बहारों से मेरा पुछ लेती हैं तेरी यादें..
साये की तरह दर्द मेरे साथ चलता हैं
मेरी खुशीयों की आगोश में रहती हैं तेरी यादें..

-Moeen

haste haste aksar rula deti hai teri yaden
pata baharon se mera puch leti hai teri yaadon..
saaye ki tarah dard mere sath chalta hai
meri khushiyon ki aagosh mein rahti hai teri yaden..

तेरे बाद रहता हैं अब मेरा घर खामोश
हवाएँ शोर मचाती हैं मगर हैं सफर खामोश..
आती हैं बहारें ओढ़ कर दर्द की चादर
तू क्या गई हो गया सारा शहर खामोश..

-Moeen

tere baad rahata hai ab mera ghar khamosh
hawayen shor machati hai magar hai safar khamosh..
aati hai bahare odh kar dard ki chadar
tu kya gai ho gaya sara shahar khamosh..

छाँव को छोड़ धुप को अपना सायबाँ रखा
तेरे बाद हमने बहारों का नाम खिज़ा रखा..
दर्द तेरे ठुकराने का अब भी रुलाता हैं
तेरे लौट आने की उम्मीद में खुद को तन्हा रखा..

-Moeen

chhav ko chod dhup ko apna sayaba rakha
tere baad humne baharon ka naam khija rakha..
dard tere thukrane ka ab bhi rulata hai
tere laut aane ki ummid mein khud ko tanha rakha..

Hindi Shayari on Dard
Hindi Shayari on Dard
गीत खुशीयों के महफिलों में सुनाते रहे
उन की चाहत में हम खुद को मिटाते रहे..
खुदा सलामत रखे ज़माने में नींदें उन की
जिन के दर्द मुझे शब भर जगाते रहे..

-Moeen

geet khushiyon ke mehfilon mein sunate rahe
unki chahat mein ham khud ko mitate rahe..
khuda salamat rakhe jamane mein ninde unki
jinke dard mujhe shab bhar jagate rahe..

बड़ी शिद्दत से चाहत थी उनसे
दोनों के बीच जो प्यार का ख़ुमार था..
कभी प्यार से मिल ना पाए
इश्क़ लेकिन एक दूजे से बेशुमार था..

badi shiddat se chahat thi unse
donon ke bich jo pyar ka khumaar tha..
kabhi pyar se mil na paye
ishq lekin ek duje se beshumaar tha..

Dard Bhari Shayari in Hindi
Dard Bhari Shayari in Hindi
पूछना किसी आशिक से
वजह उदासी की..
दर्द को भी अपने अंदाज में
बताएगा खुशी की..

puchna kisi aashiq se
vajah udasi ki
dard ko bhi apne andaaz mein
bataega khushi ki..

चाहत को कभी उसने मुकम्मल न होने दिया
इबादत पर हमारी उसने भरोसा ना किया..
कभी अपना न समझा जालिम ने हमें
वरना मर जाने के लिए भी हमने मना ना किया..

chahat ko kabhi usne mukammal na hone diya
ibadat par hamari usne bharosa na kiya..
kabhi apna na samjha jalim ne hamen
varna mar jaane ke liye bhi humne mana na kiya..

टूट गया उन लोगों से भी रिश्ता मेरा..
जो कहते थे देंगे हमेशा साथ तेरा..

tut gaya un logo se bhi rishta mera
jo kahate the denge hamesha sath tera..

इश्क में देख ली हमने बर्बादी
प्यार हमारा उन्होंने जरूर आजमाया..
टूट गया दिल हमारा तो कोई बात नहीं
अपने दिल को उन्होंने जरूर बहलाया..

ishq mein dekh li humne barbadi
pyar hamara unhone jarur aazmaya..
tut gaya dil hamara to koi baat nahin
apne dil ko unhone jarur bahlaya..

Dard Bhari Shayari Image
Dard Bhari Shayari Image

WhatsApp Dard Bhari Shayari

हमारी हयात पर अब ज़िन्दगी मातम करती हैं
हमारे घर शाम ढले रौशनी मातम करती हैं..
आँखें रौशन हैं तेरी चाहत के दर्द से
मेरे चेहरे पर अब खुशी मातम करती हैं..

-Moeen

hamari hayat per ab jindagi matam karti hai
hamare ghar hi sham dhale roshani matam karti hai..
aankhen roshan hai teri chahat ke dard se
mere chehre per ab khushi matam karti hai..

कहा था कभी उस ने हम रोज़ मिला करेंगे
तेरे लबों से हम मोहब्बत के गीत सुना करेंगे..
घिरा दर्द की घटाओं में तो पुकारा उन्हें
जो कहते थे हम तेरे दर्द की दवा करेंगे..

-Moeen

kaha tha kabhi usne ham har roz mila karenge
tere labon se ham mohabbat ke geet suna karenge..
ghira dard ki ghataon mein to pukara unhen
jo kahate the ham tere dard ki dava karenge..

Dard Bhari Shayari Photo
Dard Bhari Shayari Photo
उसे बना कर दिल में हम खुदा रखते थे
उस के खयालों के दीप हम जला रखते थे..
खुदा जाने अब वो लोग कहाँ गए जो
चाहत में दर्द का नाम दवा रखते थे..

-Moeen

use banakar dil mein hum khuda rakhte the
uske khayalon mein deep ham jila rakhte the
khuda jaane ab vah log kahan gaye
jo chahat mein dard ka naam dava rakhte the..

रात अकसर तेरी यादों में ही ढलती रही
तेरे खयालों की सर्द हवा भी चलती रही..
ज़माने को सिखाते रहे खुश रहने का हुनर
तेरे दर्द की शमा दिल में जलती रही..

-Moeen

raat aksar teri yadon mein hi dhalti rahi
tere khyalon ki sard hava bhi chalti rahi
jamane ko sikhate rahe khush rahane ka hunar
tere dard ki shama dil mein jalti rahi..

खुशीयाँ रही हम से अजनबी उम्र भर
तेरे लौट आने की आस रही उम्र भर..
मुद्दतें हुई तेरे दर्द ने सोने ना दिया
नींद को रही तलाश हमारी उम्र भर..

-Moeen

khushiyan rahi humse ajnabi umra bhar
tere laut aane ki aas rahi umra bhar..
muddate hui tere dard ne sone na diya
nind ko rahi talash hamari umra bhar..

दास्तान जिंदगी की तुमसे है
बिन तुम्हारे एक पल ना जी सकूंगा..
ना मिलो तुम तो मर जाऊंगा
पा लिया तुम्हें तो मरकर भी जी जाऊंगा..

dastan zindagi ki tumse hai
bin tumhare ek pal na ji sakunga..
na milo tum to mar jaunga
pa liya tumhen to markar bhi ji jaunga..

तेरे दिल को रिझाने आया था मैं
साथ देने का वादा लेकर आया था मैं..
बिना समझे ही दूर किया तूने मुझे
तेरे दर्द को अपनाने ही आया था मैं..

tere dil ko rijhane aaya tha main
saath dene ka vada lekar aaya tha main..
bina samjhe hi dur kiya tune mujhe
tere dard ko apnane hi aaya tha main..

अब तो तू हमें अजनबी समझ रहा है
सिलसिले बातों के तूने कम कर दिए..
प्यार में जो दिया तूने धोखा बेवफा
था मेरा वक्त बुरा या हम हो गए..

ab to tu hamen ajnabi samajh raha hai
silsile baton ke tune kam kar diye..
pyar mein jo diya tune dhokha bewafa
tha mera waqt bura yah ham ho gaye..

Dard Bhari Shayari Status
Dard Bhari Shayari Status
वक्त ने तो दे दी है सजा हमें
कहीं नसीब भी हमें भुला जाएगा..
दिल नहीं लगाते हम किसी से
शायद हमें कोई और रुला जाएगा..

waqt ne to de di hai saja hamen
kahin nasib bhi hamen bhula jaega..
dil nahin lagate ham kisi se
shayad hamen koi aur rula jaega..

आजकल उदास से रहते हैं हम
कभी मुस्कुरा कर रो देते हैं हम..
टुकड़े कर तस्वीर के तेरी
वापस दिल से लगा लेते हैं हम..

aajkal udaas se rahte hain ham
kabhi muskura kar ro dete hain ham..
tukde kar tasvir ke teri
wapas dil se laga lete hain ham..

Download Dard Bhari Shayari Image
Download Dard Bhari Shayari Image

Dard Shayari

बड़ी शिद्दत से सजाई थी
महफिल किसी ने आज..
जज्बातों की हो रही बौछार
अल्फाजों के हैं वो सरताज..

Vrushali

badi shiddat se sajai thi
mahfil kisi ne aaj..
jajbaton ki ho rahi bauchhar
alfazon ke hai wo sartaz

Hindi Shayari on Dard
Hindi Shayari on Dard
अपने ही अश्कों में
खुदकों डूबते हुए देखा..
उस बेपरवाह के नजरों से
हमने सागर खाली होते देखा..

Sagar

apne hi askon main
khudko doobte hue dekha..
us beparvah ke nazaron se
hamne sagar khali hote dekha..

कहने को तो बहुत कुछ है
अगर हम कहने पर आते..
आपकी इनायत है की
हम कुछ कह नहीं पाते..

Sagar

kahne ko to bahut kuchh hai
agar hum kahne par aate..
apki inayat hai ki
hum kuchh kah nahi paate..

बयां होने दो अपने
खामोश लफ्ज़ों को..
तसल्ली मिलेगी आपके
किसी अजीज के दिल को..

Sagar

baya hone do apne
khamosh lafzon ko..
taslli milegi aapke
kisi ajeej ke dil ko..

Dard Nafrat Shayari
Dard Nafrat Shayari
कोई काम और बात
जरुरी नही आपके सिवा..
रूह में बसी हो आप
नहीं करना मुझसे कोई गिला..

Sagar

koi kam aur baat
jaruri nahi aapke siva
ruh main basi ho aap
nahi karna mujhse koi gila..

2 Line Dard Bhari Shayari

जरूरी हो गया है अब मुस्कुराते रहना
दर्द में देखकर लोग सवाल बहुत करते हैं..!

jaruri ho gaya hai ab muskurate rahana
dard mein dekhkar log sawal bahut karte hain..!

बहुत देर करदी तुमने मेरी धडकनें महसूस करने में..
वह दिल नीलाम हो गया जिस पर कभी हुकूमत तुम्हारी थी..

bahut der kar di tumne meri dhadkane mahsus karne mein..
vah dil nilam ho gaya jis per kabhi hukumat tumhari thi..

हैरान हूं मैं अब दिल पहले सा मासूम ना रहा..
पत्थर तो ना बना लेकिन अब मोम भी ना रहा..

hairan hu main ab dil pahle sa masoom na raha..
pathhar to na banaa lekin ab moma bhi na raha..

शुक्र करो कि हम दर्द को है हमेशा सहते
लिखते गर उसे तो कागज पर लफ्जों के जनाजे उठते..

shukr karo ki ham dard ko hi hamesha sahte
likhate gar use to kagaj per lafzon ke janaje uthate..

वहां से पानी की एक बूंद भी ना निकली
तमाम उम्र जिन आंखों को हम झील लिखते रहे..

vahan se pani ki ek boond bhi na nikali
tamam umra jin aankhon ko ham jheel likhate rahe..

2 Line Dard Bhari Shayari
2 Line Dard Bhari Shayari
अपनी दास्तान में चाहे मुझे जहा रख
अपने तक हमारे इश्क की दास्ताँ रख..
चला जाऊँगा अनकरीब तेरे शहर से
खैरियत पूछ सके इतने ताल्लुक दरमियाँ रख..

Moeen

apni dastan main chahe mujhe jaha rakh
apne tak humare ishqki dasta rakh
chala jaunga ankareeb tere shahar se
khairiyat pucch sake itne talluk darmiya rakh

Dard nak Shayari
Dard nak Shayari
मेरे खयालों में तेरे सिवा कोई चेहरा ना रहे
तेरी यादें कहती हैं हम से यूँ तनहा ना रहे..
ज़हर की एक बूंद से मर जाते हैं लोग
हमें रोज़ ना मिले ज़हर तो हम ज़िंदा ना रहे..

Moeen

mere khayalon main tere siva koi chehra na rahe
teri yaadein kahti hai hum se yu tanhana rahe
jahar ki ek boond se mar jaate hai log
humein roj na mile jahar to hum jinda na rahe

वो अब भूल गई होगी मेरा चेहरा शायद
वक्त की शाखों से टुटा कोई लम्हा शायद..
क्यों मातम मना रही हैं शाखें शाम ढले
मुद्दतों से वापस नहीं आया कोई परिंदा शायद..

Moeen

wo ab bhool gai hogi mera chehra shayad
vakt ki shakon se tuta koi lamha shayad..
kyon matam mana rahi hai shakhe shaam dhale
muddaton se vapas nhi aaya koi parinda shayad

मुद्दतों से हैं हम फकीरों की सदा एक
लाख रोग हो तेरा दीदार हैं दवा एक..
खुदा खुश रखे तुझे मुझ को तड़पाने वाले
अरसा गुज़रा हैं लबों पर यही दुआ एक..

Moeen

muddaton se hai hum fakiron ki sada ek
lakh rog ho tera didar hai dawa ek
khuda khush rakhe tujhe mujh ko tadpane wale
arsa gujra hai labon par yahi dua ek

रूप अपना उस के मुताबीक बदलते रहे
उस के बनाए साँचों में रोज़ ढलते रहे..
चाहता तो रौशनी मांग लेता किसी से
मेरे करीब से कई चाँद गुज़रते रहे..

Moeen

roop apna us ke mutabik badalte rahe
us ke banaye saancho main roj dhalte rahe..
chahta to raushani mang leta kisi se
mere kareeb se kai chand gujarte rahe

Dard Shayari DP Image
Dard Shayari DP Image
यूं मुझसे खामोश ना रहा कर ए मोहब्बत मेरी
लोग अक्सर कहते हैं, नहीं होगा कोई इस बदनसीब का..

Yun Mujhse Khamosh Na Raha kar aye Mohabbat Meri
log Aksar Kahate Hain, Nahin Hoga Koi is badnaseeb ka

मुसाफिर कल भी था
मुसाफिर आज भी हूं..
कल अपनों की तलाश में था
आज अपनी तलाश में हूं..

Musafir Kal Bhi Tha
Musafir Aaj Bhi hun
Kal apnon Ki Talash Mein Tha
Aaj Apni Talash Mein Hun

खामोशियां बेवजह नहीं होती
कुछ दर्द आवाज छीन लिया करते हैं

Khamoshiyan bewajah Nahin Hoti
kuch Dard Awaaz chhin liya Karte Hain

वो मुझसे दूर रहकर खुश है और
मैं उसे खुश देखने के लिए दूर हूं..

Vo Mujhse Dur rahakar khush hai aur
main use Khush dekhne ke liye Dur hun..

नाराजगी चाहे कितनी भी क्यों ना हो तुमसे
तुम्हें छोड़ देने का ख्याल हम आज भी नहीं रखते..

narazgi Chahe Kitni bhi Kyon Na Ho Tumse
Tumhen Chhod Dene Ka Khyal ham Aaj Bhi Nahin rakhte..

Dard Wali Shayari
Dard Wali Shayari
हर ख़ुशी में कोई कमी सी है
हँसती आँखों में भी नमी सी है
दिन भी चुप चाप सर झुकाये था
रात की नब्ज़ भी थमी सी है

har khushi mein koi kami si hai
hansti aankhon mein bhi nami si hai..
din bhi chupchap sar jhukaye tha
raat ki nabj bhi thami si hai..

जाते जाते वो मुझे अच्छी निशानी दे गया
उम्र भर दोहराऊँगा ऐसी कहानी दे गया
ख़ैर मैं प्यासा रहा पर उस ने इतना तो किया
मेरी पलकों की कतारों को वो पानी दे गया

jate jate wo mujhe achi nishani de gaya
umra bhar dorahunga aisi kahani de gaya
khair main pyasa raha per usne itna to kiya
meri palkon ki kataaron ko vah pani de gaya

Dard Shayari on Love
Dard Shayari on Love
दिल लगाना और,दिल तोड़ जाना
टूटकर चाहना ये नसीब ही था
दर्द ही रह गया है जिंदगी में
जाने नफरत का क्या फसाना था

dil lagana aur dil tod jaana
tutkar chahna ye naseeb hi tha
dard hi rah gya hai zindagi me
jaane nafrat ka kya fasaana tha

तुम को देखा तो ये ख़याल आया
ज़िन्दगी धूप तुम घना साया
हम जिसे गुनगुना नहीं सकते
वक़्त ने ऐसा गीत क्यूँ गाया

tumko dekha to yeh khayal aaya
zindagi dhoop tum ghana saya
ham jise gunguna nahin sakte
waqt ne aisa geet kyon gaya

प्यार मुझ से जो किया तुम ने तो क्या पाओगी
मेरे हालात की आंधी में बिखर जाओगी
ख़्वाब क्यूँ देखूँ वो कल जिस पे मैं शर्मिन्दा हूँ
मैं जो शर्मिन्दा हुआ तुम भी तो शरमाओगी

pyar mujhse jo kiya tumne to kya paogi
mere raat ki aandhi mein bikhar jaaogi
khwab kyon dekho vah kal jis per main sharminda hun
main jo sharminda vah to tum bhi sharmaogi

कत्थई आँखों वाली इक लड़की
एक ही बात पर बिगड़ती है
तुम मुझे क्यों नहीं मिले पहले
रोज़ ये कह के मुझ से लड़ती है

katthai aankhon wali ek ladki
ek hi baat par bigadti hai
tum mujhse mujhe kyon nahin mile pahle
roj ja kehke mujhse ladti hai

इक पल गमों का दरिया, इक पल खुशी का दरिया
रूकता नहीं कभी भी, ये ज़िन्दगी का दरिया
आँखें थीं वो किसी की, या ख़्वाब की ज़ंजीरे
आवाज़ थी किसी की, या रागिनी का दरिया

ek pal gham ka dariya ek pal khushi ka dariya
rukta nahin kabhi bhi ye jindagi ka dariya
aankhein thi vah kisi ki yah khwab ki janjeeren
awaaz thi kisi ki ya ragani ka dariya

क्यों डरें ज़िन्दगी में क्या होगा
कुछ ना होगा तो तज़रूबा होगा
हँसती आँखों में झाँक कर देखो
कोई आँसू कहीं छुपा होगा

kyon daren jindagi mein kya hoga
kuch na hoga to tajurba hoga
hansti aankhon mein jhank kar dekho
koi aansu kahi chhupa hoga

Dard Shayari Quotes
Dard Shayari Quotes
आज मैंने अपना फिर सौदा किया
और फिर मैं दूर से देखा किया
ज़िन्दगी भर मेरे काम आए असूल
एक एक कर के मैं उन्हें बेचा किया

aaj maine apna fir sauda kiya
aur fir main dur se dekha kiya
jindagi bhar mere kaam aaye asul
ek ek karke main unhen becha kiya

दुख के जंगल में फिरते हैं कब से मारे मारे लोग
जो होता है सह लेते हैं कैसे हैं बेचारे लोग
इस नगरी में क्यों मिलती है रोटी सपनों के बदले
जिन की नगरी है वो जानें हम ठहरे बँजारे लोग

dukh ke jungle mein rehte hain kab se mare mare log
jo hota hai sah lete hain kaise hain bechare log
is nagari mein kyon milati hai roti sapnon ke badle
jinki nagari hai vah jaane ham thehre banjare log

मुझ को यक़ीं है सच कहती थीं जो भी अम्मी कहती थीं
जब मेरे बचपन के दिन थे चाँद में परियाँ रहती थीं
एक ये दिन जब अपनों ने भी हम से नाता तोड़ लिया
एक वो दिन जब पेड़ की शाख़ें बोझ हमारा सहती थीं

mujhko yakin hai sach kahati thi jo bhi ammi kehti thi
jab mere bachpan ke din the chand mein pariyaan rahti thi
ek yah din jab apnon ne bhi humse nata tod liya
ek vah din jab ped ki shakhe bojh hamara sehti thi

Dard Shayari for Love
Dard Shayari for Love

प्यार के दर्द पर शायरी

दर्द ने भी शिकायत छोड़ दी
जो मुद्दतों बाद तेरा वतन आया
किस्मत ने बख्शा तुझे लाल जोड़ा
और मेरे हिस्से में कफन आया

-Moeen

dard ne bhi shikayat chor di
jo muddato baad tera watan aaya
kismat ne baksha tujhe laal joda
aur mere hisse me kafan aaya

तेरा दर्द ही मेरी ज़िंदगी हैं
तुझे चाहना ही मेरी बंदगी हैं
उसे हँसते हुए अच्छे लगते थे
तेरे बाद मुस्कुराना मेरी बेबसी हैं
-Moeen

tera dard hi meri jindgi hai
tujhe chahna hi meri bandgi hai
use hanste huye acche lagte the
tere baad muskurana meri bebasi hai

फना हो दर्द यही आरज़ू हैं
मुझे सिर्फ तेरी ही जूस्तजू* हैं

पहुँच गया हुँ उस मकाम पर
जहाँ सिर्फ तु ही तु हैं

[*जूस्तजू – curiosity]
-Moeen

fana ho dard yahi aarju hai
mujhe sirf teri hi justju hai
pahuch gya hu us makam par
jaha sirf tu hi tu hai

Image on Dard Shayari
Image on Dard Shayari
सारे जमानेने छोडा मगर
ए दर्द साथ तेरा न छुटा
छोड़ दिया खुशीयोने मगर
रीश्ता तुझसे कभी न टुटा

-Pooja

saare jamane ne chora magar
e dard saath tera n chuta
chor diya khushiyone magar
rishta tujhse kabhi n tuta

लफ़्ज़ों के आपके कुछ 
ऐसा होता है मुझपे असर..
कहने तो कुछ जाते है
लेकिन लगते है बेअसर..

lafzon ke aapke kuchh 
aisa hota hai mujhpe asar..
kahane to kuchh jaate hain 
lekin lagte hain be asar…

महंगा है वक्त आपका
हम उसके काबिल नहीं..
पल पल भारी होता है
घंटे बिताए बीतते नहीं..

mahanga hai waqt aapka 
ham uske kabil nahin..
pal pal bhari hota hai 
ghante batayein bikte nahin…

Dard Bebasi Shayari
Dard Bebasi Shayari
संभालकर रख रहा हूं
आजकल हिसाब-किताब..
बन जाए कोई पराया तो
बदला लूंगा बेहिसाब..

sambhal kar rakh raha hun
aajkal hisab kitab..
ban jaaye koi paraaya to 
badla lunga behisaab…

Dard Ummeed Shayari
Dard Ummeed Shayari
दर्द दिल में उठता है
पर आंखें नम हो जाती है
कई बातें मन में उठती है
पर जुबां खामोश रह जाती है

-Vrushali

dard dilme uthta hai
par aakhe nam ho jati hai
kai baate man me uthti hai
par juban khamosh rah jati hai

हमारे इस बेइंतेहा दर्द का
क्या कोई इलाज है…?
हैं कोई रहम दिल हकीम
जिसके पास इसकी दवा है..?

-Vrushali

humare iss beinteha dard ka
kya koi ilaaj hai..?
hai koi raham dil hakim
jiske paas iski dawa hai..?

अब आपसे शिकायत कैसी
जब आपने सजा ही ऐसी दी
दर्द तो बहुत हैं पर आह नहीं
क्योंकि आपसे दिल्लगी जो कि

-Vrushali

ab aapse shikayat kaisi
jab aapne saja hi aise di
dard to bahut hai par aah nhi
kyuki aapse dillagi jo ki

तेरे इश्क़ ने कभी बहकने ना दिया
तेरे दर्द ने मुद्दतों चैन से सोने ना दिया
वो ठुकरा चुका … मुद्दतें हुई अब तो
तेरी चाह ने फिर किसी का होने ना दिया

-Moeen

tere ishq ne kabhi bahkne na diya
tere dard ne muddato chain se sone na diya
wo tuhkra chuka..muddate huyi ab to
teri chah ne fir kisi ka hone na diya

दर्द से छलनी हैं अब के सीना
तेरे बिन बड़ा दुशवार हैं जीना
यूँ बेसबब ख़ामोश ना रहा कर
तेरे बिन वीरान लगता है मदीना

-Moeen

dard se chalni hai ab ke sinaa
tere bin bada dushwar hai jeena
yu besabab khamosh na rha kar
tere bin viraan lagta hai madeena

दिल में दर्द उठा … तो तुम याद आएँ
तोड़ा किसी ने शीशा … तो तुम याद आएँ
आसान होता तो जी भी लेते बिन तेरे
उठी किसी की डोली … तो तुम याद आएँ

-Moeen

dil me dard utha..to tum yaad aaye
toda kisi ne shisha to tum yaad aaye
aasan hota to ji bhi lete bin tere
uthi kisi ki doli to tum yaad aaye

Dard Shayari for Girlfriend in Hindi
Dard Shayari for Girlfriend in Hindi
जब हालात दिल के खराब हो,
दर्द सुनने वाले की गुजारिश होती है..
जब दर्द जिस्म में उठा हो, तो बस
फ़िक्र में किसी की दुआ ही काफी हो जाती है…

jab halat dil ke kharab ho, 
dard sunane wale ke gujarish hoti hai..
jab dard jism mein utha ho, to bus 
fikr mein kisi ki dua hi kafi ho jaati hai..

दर्द ए दिल सहना, ना है आसान,
कई शक्स बेवफाई में, हो जाते है गुमनाम..

dard-e-dil sahana,
na hai aasan,
kai shaks bewafai mein,
ho jaate hain gumnam..

तेरा हर दुख, दर्द
खुशी से सहेंगे..
जब सांस छूटने का वक्त
आए, तुमसे हंस कर विदा लेंगे…

tera har dukh, dard
khushi se sahenge..
jab saans chhutane ka waqt 
aaye, tum se hanskar vida lenge…

Dard Mohabbat Shayari
Dard Mohabbat Shayari | Dard E Dil Shayari

YOU MAY LIKE THESE POSTS:

Conclusion

दर्द इ दिल का हाल बयां करने वाली शायरियों को सुनकर आपके भी दिल के जख्म जरूर हरे हो जाएंगे. साथ ही आप अपनी दिल की बात ही इन दर्द बयां करने वाली शायरी में देख पाएंगे इस बात का हमें यकीन है. आपके सुझाव हमें जरूर बताइएगा! Dard E Dil Shayari को सुनकर अगर आपका दिल भी रोने लगा हो. तो हमें comment करते हुए जरूर बताइए. इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ साझा करने के लिए आपका तहे दिल से शुक्रिया!

शायरी सुकून की बेहतरीन शायरियों को अपने Twitter handle पर प्राप्त करने के लिए शायरी सुकून अकाउन्ट को Follow जरूर करें.

Add Comment