Tera Chehra Shayari -1: में बस तेरा ही चेहरा नजर आता है

tera chehra : जब से मुझे tera chehra नजर आया है. मैंने अपने दिल को न जाने कितनी बार समझाया है, लेकिन फिर भी वह मेरे दिल की एक नहीं सुन रहा है. हर घड़ी बस तुझसे ही मोहब्बत कर रहा है. दोस्तों, अब मैं क्या बताऊँ मेरे दिल के हालात! शायद आपके दिलबर को देखकर आपने भी कुछ ऐसा ही महसूस किया होगा, है ना?

कुछ इस कदर ही आपके दिल की भी दास्तान होगी. मैं तो हर घड़ी बस उसकी याद में ही खोया रहता हूँ. अब तो मैं बस एक तेरा चेहरा  देखकर ही अपना दिल बहला लेता हूं. इस दुनिया में हर तरफ मुझे तेरा चेहरा ही तो नजर आता है. इसके अलावा ना मुझे कुछ दिखाई देता है, और ना ही मेरे दिल को कोई चीज भाती है.

हर घड़ी मुझे बस तेरा ही इंतजार होता है. मेरे दिल और मेरी जान को तो अब बस एक तेरा चेहरा ही देखने की आरजू है. मैं तुझे अगर एक घड़ी भी ना देखूं, तो मेरे दिल को करार नहीं आता है. वह इधर उधर भटकने लगता है. मेरा मन अब तो मेरे पास रहता ही नहीं है.

✤ शायरी सुनने के लिए ✤
♫ player लोड होने दें ♫


इन मीठी लव शायरियों को Mr Sanket Mahindrakar इनकी आवाज़ मे सुनकर आपको बस उसका ही चेहरा दिखाई देगा!

वह चंद लम्हों में ही तेरे घर के आसपास की सारी गलियां, सारे रास्तों पर घूम कर आता है. लेकिन अगर तुम नजर ना आए, तो वह और भी बेचैन हो जाता है. अब तू ही बता इस बेचैन दिल को कब चैन मिलेगा. कब मुझे तेरा चेहरा  दिखाई देगा? कब मुझे तेरा दीदार होगा.

बारिश में भीग ना सका तेरे साथ, अब तेरा चेहरा (tera chehra) ही याद आ रहा है मुझे..

ओ मेरी जानेमन, मैं तुमसे बार-बार, लगातार बस यही कहता रहूंगा.  हरदम खुदा से भी यही दरख्वास्त करता रहूंगा कि, जब से मुझे tera chehra नजर आया है, मेरे दिल ने तो मेरा साथ ही जैसे छोड़ दिया है. और वह तो अब बस तेरी याद में ही खोया रहता है. आजकल वह मेरे सीने में कहा धड़कता है?

तुझे देख कर तो बस वो तेरा ही हो चुका है. और इसी वजह से उसने अब एक नया ठिकाना ढूंढ लिया है. और यह नया ठिकाना दूसरी कोई जगह नहीं बस एक तेरा ही तो दिल है. लेकिन मैं इसी वजह से खामोश हूं, कि मेरे दिल को तुम पर पूरा एतबार है. तुम कभी ना कभी मुझसे मिलने जरूर आओगी.

और मेरे दिल को प्यार भरा सुकून दिलाओगी. क्योंकि मैंने एक छोटी सी गलती कर दी है. तुम्हारे साथ बारिश में ना भीग कर मुझे अब पछतावा हो रहा है. यह गम मुझे अंदर ही अंदर खाए जा रहा है. और इसी गम की वजह से मेरी आंखें तो रोने लगी है. और वो आंखें उन आँसुओ में भी डूबे हुए तकिए पर बस एक तेरा ही चेहरा निहार रही है. अब तो उन आंखों को हर कहीं बस तेरा चेहरा ही नजर आता है.

यूं दूर से पूछताछ ना करो, बस तेरा चेहरा (tera chehra) ही तो मेरी पहचान है..

जब तू मेरे बाहों में होगी, तब तुझसे मेरे दिल के अरमान कह सकूंगा. अभी तो तुम सिर्फ मेरे ख्वाबों में, खयालों में ही बसी हो. मैं भी तुम्हें अपने ख्वाबों में देखकर खुश होता हूं. लेकिन मेरा दिल भी तुझसे मिलने के लिए बेताब है. इसी वजह से कम से कम एक बार तो मेरे दिल की आवाज को सुनकर मुझसे मिलने के लिए आ जाओ.

Shayari Sukun Voice Over Artist Ad

यू दूरी बनाए रखकर, दूर-दूर से पूछ कर तुम्हें क्या हासिल होगा? मेरे दिल की हालात तुम यूं दूर रहकर कैसे समझ पाओगी? और इन्हीं सभी बातों को मैं तुम से रूबरू होकर करना चाहता हूं. तुम्हें अपनी आगोश में भर कर तुम्हें जी भर के देखना चाहता हूं. क्योंकि मेरे दिल को तो बस एक tera chehra ही नजर आता है.

उसे और कोई तमन्ना नहीं होगी, अगर तू मेरे सामने होगी. और यही मेरा बेखबर दिल तुझसे कहना चाहता है. तुझसे मुलाकात करते हुए अपने सारे मंसूबों को पूरा करना चाहता है. क्या तुम मुझे एक मौका दोगी? क्या मेरे दिल के अरमानों को सजदे करने का अवसर नहीं देना चाहोगी?

अब तो तेरे चेहरे में ही हमें रब दिखता है..

जबसे तेरा चेहरा मैंने देखा है, मैं तो दुनिया की हर चीज भूल गया हूं. अब तो मेरे खुदा में भी बस एक तेरा चेहरा ही तो नजर आ रहा है. मैं जब दुआ भी करता हूं, तो उस दुआ में भी बस तुम्हारा ही तो जिक्र होता है. जब भी मैं कलमा पढ़ता हूं, तो उस कलमें मैं भी तो बस तेरी ही याद छिपी बैठी रहती है.

इन सभी चीजों की वजह से अब तो जैसे मेरे जिंदगी में तेरे चेहरे के सिवा अब कोई नहीं है. एक tera chehra ही अब मेरी ख्वाहिश है. तेरा वजूद ही अब मेरा रास्ता भी है, और मेरी मंजिल भी है. तुझे पाना बस अब यही मेरे जीने की वजह बन गई है. और तेरे चेहरे का दीदार किए बिना अब तो मैं एक पल भी नहीं रहना चाहता.

Shayari Sukun Writer Ad

इसीलिए अब बस मैं यही एक बात कहना चाहता हूं कि मुझ पर अब तो इतने जुल्म मत कर. क्योंकि बस एक तेरे चेहरे में ही तो मुझे मेरा रब दिखता है. और इसी वजह से अब तेरी सजाओ से मुझे रिहा कर दें.

tera chehra love shayari in hindi urdu

तेरे साथ बारिश में ना भीगने की 
सजा आज तक भुगत रहा हूं..

अब तो बस भीगते हुए तकिए में 
तेरा चेहरा देख रहा हूं…

tere sath barish mein
na bheegne ki saja aaj
tak bhugat raha hun..
ab to bus bhigte huye
takiye metera chehra 
dekh raha hun…

tera-chehra-1-love-shayari-face-poetry-hindi-1

2 line love shayari collection | tera chehra shayari in urdu english

मत पूछ के मेरे
दिल का हाल क्या है..

और कुछ नही, एक तेरा चेहरा ही
तो नजर आ रहा है..

mat poochh ke mere
dil ka hal kya hai..
aur kuch nahin, ek tera chehra 
hi to najar aa raha hai..

tera chehra shayari, status, poetry, thoughts | whatsapp status poetry

तेरे चेहरे में ही तो
बसा हैं मेरा खुदा..

दुआ कुबूल हो तो
खत्म कर दीजिए ये सजा..

tere chehre mein hi to
basa hai mera khuda..
dua qabool ho to khatm
kar dijiye ye sajaa..

tera-chehra-1-love-shayari-face-poetry-hindi-2

हमारी इन हसीन लव शायरियों की मदद से आपको अगर अपने दिलबर के चेहरे में रब दिखाई दिया हो, तो हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करते हुए जरूर बताइएगा दोस्तों.

शायरी सुकून  इस नायाब शायरियों के Telegram channel को अभी join करने के लिए शायरी सुकून  या  @shayarisukun सर्च करें और इस चैनल को अभी subscribe करें. आपको 24 घंटो के भीतर सेवा प्रदान की जायेगी.

शायरी सुकून की बेहतरीन शायरियों को अपने Twitter handle पर प्राप्त करने के लिए शायरी सुकून अकाउन्ट को Follow जरूर करें.

अपने दिल में छुपे हुए प्यार को याद करने के लिए इस Love Shayari कैटेगरी को एक बार जरूर क्लिक करें.

1 thought on “Tera Chehra Shayari -1: में बस तेरा ही चेहरा नजर आता है”

  1. वाह संकेत जी
    आपकी सुकून भरी आवाज ने इन शायरियों में तो जैसे प्यार भर दिया है

    तेरे साथ बारिश में ना भीगने की
    सजा आज तक भुगत रहा हूं..
    अब तो बस भीगते हुए तकिए में
    तेरा चेहरा देख रहा हूं…

Leave a Comment