Best 30+ Haq Shayari स्टेटस के जरिये अपने साथी पर हक़ जताइए

Haq means the authority of someone on you. If you want to express your feelings then you need the help of Haq Shayari. Share this Shayari on Haq with your partner and see the magic. He or she will understand your feeling of authority.

हक़ शायरियां उनके लिखी गयी है जो खासकर इश्क़ में अपना हक़ जताना चाहते है, तो चलिए पढ़ते है एक से बढ़कर एक तुझपे मेरा हक़ नहीं शायरी, हक़ की बात शायरी, हक़ जताना शायरी जैसे नायब शायरियों का नायब संग्रह.

Table of Content

  1. Show your authority with Haq Shayari
  2. Haq ki Baat karne wali Shayari
  3. Best Haq Jatane wali Shayari
  4. Conclusion

Show your authority with Haq Shayari

Tujhpe Mera Haq Nahi Shayari
Tujhpe Mera Haq Nahi Shayari
1)

किसी और का आप पर हक जताना..

पसंद नहीं हमें किसी का आपको सताना..

-Vrushali

kisi aur ka aap par haq jatana..
pasand nahin hamen kisi ka aapko satana..


💕 Listen Uninterrupted Shayari 💕
🙏After Small Advertisement🙏



2)

न जाने क्यों तू मुझे
नजरअंदाज करता रहा..

प्यार के हक से ही मैं
तुमसे बात करता रहा..

-Rajeshri

na jaane kyon tu mujhe
najarandaaz karta raha..
pyar ke haq se hi main
tumse baat karta raha..

3)

हमारा हर हक आपने
किसी और के नाम कर दिया..

अफ़सोस के ये इल्ज़ाम भी
आपने किसी और पर लगा दिया..

-Vrushali

hamara har haq aapne
kisi aur ke naam kar diya..
afsos ke ye ilzaam bhi
aapne kisi aur per laga diya..

4)

तुमने उसका भी गलत
इस्तेमाल कर लिया था..

दिल में मेरे बसने का एक
तुम्हें ही जो हक दिया था..

-Santosh

tumne uska bhi galat
istemal kar liya tha..
dil mein mere basne ka ek
tumhen hi jo haq diya tha..

5)

मेरी सारी खुशियों पर
बस एक नाम हो तुम्हारा..

मगर तुम्हारे गमों पर
सिर्फ़ हक हो हमारा..

-Vrushali

meri sari khushiyon per
bus ek naam ho tumhara..
magar tumhare gamon per
sirf haq ho hamara..

6)

हर कोई मुझ पर अपना
हक जताने लगा है..

जमीन के टुकड़े जैसी
हो गई है जिंदगी यारों..!

-Tanuja

har koi mujh per apna
haq jatane laga hai..
zameen ke tukde jaisi
ho gai hai jindagi yaaron..!

7)

जो हक था मेरा तुम पर
वो तुने मुझसे छीन लिया..

एक बात कहनी थी तुमसे
उफ्फ! मेरा वो हक भी छीन गया..

-Vrushali

jo haq tha mera tum per
vo tune mujhse chhin liya..
ek baat kahani thi tumse
uff! mera vo haq bhi chhin gaya..

8)

जान गया हूं तेरे सारे
झूठे वादें और कसम..

अब तुझ पर मेरा कोई
हक ना रहा सनम..

-Santosh

jaan gaya hun tere sare
jhuthe vade aur kasam..
ab tujh per mera koi
haq na raha sanam..

9)

मेरी मोहब्बत पर बस
इक हक हैं तुम्हारा..

एकतरफा जो हैं, इसे
नहीं है किसी का सहारा..

-Vrushali

meri mohabbat per bus
ek haq hai tumhara..
ektarfa jo hai, ise
nahin hai kisi ka sahara..

10)

बस एक प्यार का ही तो
वादा मांग लिया था तुझसे..

न जाने क्यों तुमने वो भी
तो हक छीन लिया मुझसे..

-Tanuja

bus ek pyar ka hi to
vada mang liya tha tujhse..
na jaane kyon tumne vo bhi
to haq chhin liya mujhse..

Haq ki Baat karne wali Shayari

Haq Jatana Shayari
Haq Jatana Shayari
11)

हमारी सांसों पर भी
आपका ही हक है..

अफ़सोस के आपको
कभी जताना ही नहीं आया..

-Vrushali

hamari sanson per bhi
aapka hi haq hai..
afsos ke aapko
kabhi jatana hi nahin aaya..

12)

नफरत करने का एहसास
मुझ में तुमने ही जगाया..

मगर मेरा दिल तोड़ने का
हक तुम्हें किसने दिया?

-Tanuja

nafrat karne ka ehsaas
mujh mein tumne hi jagaya..
magar mera dil todne ka
haq tumhen kisne diya?

13)

किसी को दिल की सारी
दास्तान बताना अच्छा नहीं होता..

जान गया हूं अब के इतना
हक जताना भी अच्छा नहीं होता..

-Tanuja

kisi ko dil ki sari
dastan batana achcha nahin hota..
jaan gaya hun ab ke itna
haq jatana bhi achcha nahin hota..

14)

दिल के आंसुओं से मैं अनाड़ी,
नफरत का समंदर भरता रहा..

हक जताने की तुम पर मैं यारा,
नाकामयाब कोशिश करता रहा..

-Santosh

dil ke aansuon se main anadi,
nafrat ka samander bharta raha..
haq jatane ki tum per main yara,
nakamyab koshish karta raha..

15)

अब तो मैंने भी बेवफाई के
खिलाफ आवाज उठाया..

तुमने जो मेरे प्यार के हक का
नाजायज फायदा उठाया..

-Rajeshri

ab to maine bhi bewafai ke
khilaf awaaz uthaya..
tumne jo mere pyar ke haq ka
najayaj fayda uthaya..

16)

इकरार करने के लिए उसे
मैंने बहुत वक्त दिया..

गलती हुई जो उसे मोहब्बत
करने का हक दिया..

-Tanuja

iqrar karne ke liye use
maine bahut waqt diya..
galti hui jo use mohabbat
karne ka haq diya..

17)

अपने दिल की आरजू
तुम्हे बता नहीं सकता..

चाहत का हक हर कोई
जता नहीं सकता..

-Santosh

apne dil ki aarzoo
tumhen bata nahin sakta..
chahat ka haq har koi
jata nahin sakta..

18)

प्यार के रास्ते हमेशा ही मुड़े होते हैं..

दिल के अरमान हक से जुड़े होते हैं..

-Rajeshri

pyar ke raste hamesha hi mude hote hain..
dil ke armaan haq se jude hote hain..

19)

तुम्हारी नफरत को गलती से
इज़हार समझ लिया था..

तुम्हारे हक को ही मैंने अपना
प्यार समझ लिया था..

-Tanuja

tumhari nafrat ko galti se
izhaar samajh liya tha..
tumhare haq ko hi maine apna
pyar samajh liya tha..

20)

मोहब्बत में कहीं ना कहीं
जिक्र होना चाहिए..

मुझ पर तेरा पूरा हक और
फिक्र होना चाहिए..

-Santosh

mohabbat mein kahin na kahin
jikr hona chahiye..
mujh per tera pura haq aur
fikra hona chahiye..

Best Haq Jatane wali Shayari

21)

धोखा दोगे तुम मुझे
जरा भी शक नहीं है..

क्या खुश रहने का
मुझे कोई हक नहीं है?

-Rajeshri

dhokha doge tum mujhe
jara bhi shaq nahin hai..
kya khush rahane ka
mujhe koi haq nahin hai?

22)

अब तो बस तन्हाई से
ये जिंदगी जोड़नी है मुझे..

प्यार में हक की लड़ाई अब
अकेले ही लड़नी है मुझे..

-Tanuja

ab to bus tanhai se
ye jindagi jodni hai mujhe..
pyar mein haq ki ladai ab
akele hi ladni hai mujhe..

23)

गुनाह तुम्हारे दिल में
शामिल कर लेंगे हम..

हक से तुम्हारी नफरत
कुबूल कर लेंगे हम..

-Santosh

gunah hai tumhare dil mein
shamil kar lenge ham..
haq se tumhari nafrat
qubool kar lenge ham..

24)

उसे ही माना था अपना,
सांस में भी वो ही था बस रहा..

अब उसकी मोहब्बत पर
मेरा जरा भी हक ना रहा..

-Rajeshri

use hi mana tha apna,
saans mein bhi vo hi tha bus raha..
ab uski mohabbat per
mera jara bhi haq na raha..

25)

अब अपनी मौ त पर
जरा भी शक नहीं है हमें..

क्योंकि खैरियत पूछने का भी
उनकी अब हक नहीं है हमें..

-Tanuja

ab apni ma ut par
jara bhi shaq nahin hai hamen..
kyonki khairiyat puchne ka bhi
unki ab haq nahin hai hamen..

26)

अपने दिल की दास्तान तुम मुझे बताते..

काश तुम भी मुझ पर अपना हक जताते!

-Santosh

apne dil ki dastan tum mujhe batate..
kash tum bhi mujh per apna haq jatate!

27)

मोहब्बत पर तेरे अपनी जिंदगी वारता हूं..

तुम पर सिर्फ अपना ही हक चाहता हूं..

-Rajeshri

mohabbat per tere apni jindagi varta hun..
tum per sirf apna hi haq chahta hun..

28)

तुझसे ही तो है यारा
जिंदगी का वजूद मेरा..

मेरे मोहब्बत के हर एक
एहसास पर है हक तेरा..

-Tanuja

tujhse hi to hai yara
jindagi ka vajud mera..
mere mohabbat ke har ek
ehsaas per hai haq tera..

29)

चाहता हूं सिर्फ तुमसे हो प्यार, और से नहीं..

कोई तुम्हें देखा करें, ये हक किसी को नहीं..

-Santosh

chahta hun sirf tumse ho pyar, aur se nahin..
koi tumhen dekha karen, ye haq kisi ko nahin..

30)

मेरी चाहत को खिलौना
बना कर रख दिया..

तुमने तो हक से मेरा दिल
तोड़ कर रख दिया..

-Rajeshri

meri chahat ko khilauna
banaa kar rakh diya..
tumne to haq se mera dil
tod kar rakh diya..

31)

मोहब्बत है अगर कसूर तो
कसूरवार बनना चाहता हूं मैं..

तुम्हारी जिंदगी का सच्चा
हकदार बनना चाहता हूं मैं..

-Tanuja

mohabbat hai agar kasur to
kasurwar banna chahta hun main..
tumhari jindagi ka saccha
haqdar banna chahta hun main..

32)

जिंदगी की राहों में बस
कभी ना बिछड़ना सनम..

मुझ पर खफा होने का
तुम्हें पूरा हक है जानम..

-Rajeshri

jindagi ki rahon mein bus
kabhi na bichadna sanam..
mujh per khafa hone ka
tumhen pura haq hai janam..

YOU MAY LIKE THESE POSTS:

Conclusion

So friends, if you are in love and want to show your love authority on your partner, then you must have loved this Haq Shayari in Hindi. Tell us about your experience by commenting below.

Want more? Follow us on LinkedIn: Shayari Sukun

Add Comment