Best Tiranga Shayari 🇮🇳 on the Glory Indian National Flag

Tiranga par shayari:  दोस्तों, जब भी हम तिरंगा इस शब्द का उच्चारण करते हैं, तो हमारे रोम-रोम में एक नई ऊर्जा उत्पन्न होती है. हमारे शरीर में अपनेआप एक विजयश्री का संचार हो जाता है. क्योंकि तिरंगा  इस शब्द से बच्चों से लेकर बूढ़ों तक के सभी के जज्बातों का मेल जुड़ा होता है. तिरंगा ही हमारी आन बान और शान होता है.

भारत देश की तिरंगा ही तो पहचान है. जब भी हमारे देश पर कोई विपदा कोई संकट आया है, तो हमने इसी तिरंगे के नीचे ही एकजुट होकर उस आपदा से लड़ते हुए विजय प्राप्त की है. इन सभी समस्याओं से जूझने की, उनको हराते हुए उन पर सफलता प्राप्त करने की, शक्ति भी तो हमें यही तिरंगा देता है.



Listen to Tiranga Shayari by Ruchi Bhairali [shayarisukun.com]

1)

जिंदगी से ज्यादा मौत
अच्छी लगने लगती है..

जब देखता हूं उस कफन को, 
जो तिरंंगा लेकर सजती है..

jindagi se jyada maut 
acchi lagne lagti hai..
jab dekhta hun us kafan ko 
jo tiranga lekar sajti hai…

इसके तीनों रंग हमें अलग-अलग प्रकार की प्रेरणा देते हैं. तिरंगे में जो नारंगी रंग होता है, उससे हमें किसी भी परिस्थिति में साहस और बलिदान के लिए तैयार रहने की प्रेरणा मिलती है. सफेद रंग हमें अपने जीवन में शांति और सच्चाई बनाए रखने का मजबूत इरादा देता है. वही हरा रंग हमें अपनी संपन्नता और संप्रभुता दर्शाता है.


💕 Listen Uninterrupted Shayari 💕
🙏After Small Advertisement🙏



Tiranga Shayari
Tiranga Shayari

इन देश भक्ति पर आधारित प्रेरणादायक शायरियों को Vrushali Suvarna Dnyandev जी के आवाज़ में सुनकर आपका भी सीना गर्व से चौड़ा हो जाएगा!

उसमें जो नीला अशोक चक्र होता है, वो हमारे जीवन की गति को दर्शाता है. ताकि हमारा जीवन यूं ही गतिमान रहे. ये तिरंगा ही है, जो हमें अपने जीने के उद्देश्य को बार-बार दोहराता है. हम आज समाज में जो एकता, अखंडता और भाईचारा महसूस करते हैं, इसके पीछे बस तिरंगा ही तो है.

2)

दरख़ास्त है हवा से
आज जरा जोर से बहे,

जी भरके देख लूं
तिरंगा जो लहराता रहे!

darkhaast hai hawa se
aaj jara jor se bahe..
ji bhar ke dekh loon 
tiranga jo lahrata rahe..!

जब हमें पूरी दुनिया के सामने अपने देश की राष्ट्रीयता और एकात्मता का प्रदर्शन करना होता है, तो हमारे तिरंगा झंडे से बेहतर और क्या प्रतीक याद आ सकता है! हमारे भारतीय सेना के सभी जवानों के लिए तिरंगा तो जैसे जीने की वजह ही होता है. और हमारे जैसे सामान्य लेकिन जागरूक नागरिक के लिए भी ये बड़े गर्व की बात होती है.



क्योंकि इस तिरंगे के लिए ही तो हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने जीवन का बलिदान दिया है. उनके इसी सर्वोच्च बलिदान के लिए हम तिरंगा हाथ में लेकर उनको शत-शत नमन करते हैं. आज हमें उस स्वतंत्रता को कायम रखने के लिए अपने कार्य में प्रामाणिकता, निष्ठा कायम रखते हुए अपने कामों को पूरा करना चाहिए.

3)

नहीं जाएगा वीरों
का बलिदान व्यर्थ में

शान से लहराएगा
तिरंगा आसमान में

nahi jayega viron
ka balidaan vyarth me..
shaan se lahrayega
tiranga aasman me…

आज हमें अपने तिरंगे के लिए, स्वतंत्रता मांगने के लिए किसी से युद्ध करने की जरूरत नहीं है. लेकिन हमें उनकी कुर्बानी को, इस स्वतंत्रता को हमेशा अपने मन में ऊंचा रखते हुए ही उसकी शान के लिए अगर अपनी जान भी कुर्बान करने पड़े, तो हमें इसके लिए हंसते-हंसते तैयार रहना चाहिए. आज हम अपनी शान, अपने देश का सम्मान, तिरंगा के लिए ऐसी ही तीन नायाब और गर्व बढ़ाने वाली शायरियां लेकर आए हैं, जिन्हें सुनकर आपको हमारे सभी वीरों का स्मरण जरूर हो जाएगा!

Tiranga Par Shayari | Shayari on Tiranga
Tiranga Par Shayari | Shayari on Tiranga

तिरंगा से बड़ा और कौन सा कफन हो सकता है..

हमें जब अपना तिरंगा दिखता है, तो हमारा सिर फक्र से ऊंचा हो जाता है. हाथ अपने आप सिर पर सलाम करने के लिए ऊपर उठता है. लहराता हुआ तिरंगा देखते ही आपके कदम अपने आप रुक जाते हैं. हमारी पूरी जिंदगी ही उस तिरंगे की ही अमानत होती है.

हमारे सशस्त्र सेना के जवानों का भी अपने तिरंगे के प्रति सम्मान, महसूस करने लायक होता है. हमारी सेना के जवान इसी बात का सपना अपने दिल में संजोए हुए, भारतीय सेना में दाखिल होते हैं, की या तो वे दुश्मनों पर फतेह पाकर अपने देश का मान बढ़ाएंगे या फिर एक दिन इसी तिरंगे में लिपट कर वापस आएंगे.

4)

यह जान तेरे कदमों में
न्योछावर करनी है..

हे भारत माता, इस तिरंगे की 
शान बरकरार रखनी है!

yah jaan tere kadmon
meinnyochanvar karni hain..
he bharat mata, is tirange ki
shan barkarar rakhani hain!

इसके अलावा उन्हें और कुछ भी नहीं चाहिए होता है. जब भी हम अपने देश की रक्षा करने की बात करते हैं, तो सबसे पहले हमें अपने देश की पुलिस और भारतीय आर्मी की याद आती है. उन्होंने देश से किया हुआ वादा वे लोग निभा रहे होते हैं. वही उनकी ड्यूटी होती है. वही उनका passion  होता है. लेकिन हम जैसे सामान्य नागरिकों की भी एक जिम्मेदारी होती है.

5)

हिमालय से आए पवन 
झूम के गाए गगन..

मेरा तन मन धन 
इस तिरंगे को अर्पण...

himalaya se aaye pavan
jhumke gaye gagan..
mera tan man dhan
is tirange ko arpan..

हमारे समाज में हमेशा राष्ट्रीयता एकता और बंधुता कायम रखने की जिम्मेदारी! ये जिम्मेदारी हम सभी को समझते हुए अपना कार्य पूरा करना चाहिए. जब भी हम इन जवानों को, शूरवीरों को तिरंगे में लपेट कर लाता देखते हैं, तो हमें खुद भी उन राष्ट्रवीरों का सम्मान और गर्व महसूस होता है.

6)

सबसे ऊंचा तिरंगा हमारा
देश हमारा सबसे प्यारा..

इसका रंग सबसे न्यारा
सदा लहराता रहे तिरंगा हमारा...

sabse uncha tiranga hamara
desh hamara sabse pyara..
iska rang sabse nyara
sada laharata rahe 
tiranga hamara…

हमारी रोजमर्रा की घिसीपिटी और बेजान सी जिंदगी जीने से अच्छा देश के लिए अपनी जान कुर्बान करते हुए मौत का स्वीकार करना हमें ज्यादा अच्छा लगता है. हम ये जानते हैं कि उस तिरंगे में लिपट कर आने की शान ही निराली होती है. तिरंगे का कफन मिलना यह तो सौभाग्य की बात होती है और यह सौभाग्य हर किसी के नसीब में नहीं होता!

शान से लहराते हुए तिरंगे को देखना, इससे ज्यादा हमें क्या चाहिए..

हमारे देश की शान तिरंगे से ही है. हमारे तिरंगे के लिए हम लहराते हुए तिरंगे को देखने के लिए हमारी आंखों को दियें बनाना चाहते हैं. हमारी स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानी को हमें यूं ही जाया जाने नहीं देना चाहते. जब भी 15 अगस्त हो या फिर 26 जनवरी हो, हम हमेशा अपने तिरंगे को लहराते हुए देखने के लिए बेताब होते हैं.

जो tiranga शान से हमारे हाथों में हम फ़हराते हैं, असल में हमारे दिल का सच्चा इमान होता है. एक तरह से हमारी जान ही होता है. और इसलिए हम हवा से भी यही दरख्वास्त करना चाहते हैं, यही गुजारिश करते हैं कि वह तिरंगे को और भी शान से लहराए. उसकी खुशबू पूरे आसमान में फैल जाए. उसे देखते हुए हमारा सीना और भी चौड़ा हो जाए. और हम उसे देखते देखते हमारा राष्ट्रगीत अभिमान से गा सके.

सलाम है तुझे ऐ तिरंगे, वीरों का बलिदान हम कैसे व्यर्थ जाने देंगे..

हमारे तिरंगे के लिए जिन जिन राष्ट्र वीरों ने, धरती के सपूतों ने, भारत माता के लालों ने अपनी जान की बलि दे दी, अपने प्राण न्योछावर कर दिए, उनका अभिमान उनका गर्व करना, यही हमारे राष्ट्र के प्रति हमारी पहली और आखिरी भावना होनी चाहिए. स्वतंत्रता संग्राम के लिए उन्होंने अपने प्राण त्याग दिए, तब जाके हमें इस स्वतंत्रता में सांस लेना नसीब हुआ.

आज हम जो कुछ भी है, उन्हीं के कारण हैं. उन्होंने ही अपने खून से भारत के स्वतंत्रता की एक नई शुरुआत की, पहल की. और इसी वजह से आज हम यहां जिंदा है, स्वतंत्र है. अपने विचारों को सबके साथ साझा कर सकते हैं. इसलिए हमें उनकी कुर्बानी को, उनके महत्व को और हमारे तिरंगे को अपने शरीर में प्राण होने तक हमें कभी नहीं भूलना चाहिए.

Motivational Tiranga Shayari
Motivational Tiranga Shayari

और यही उनके प्रति हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी. चाहे कुछ भी हो जाए, हमें उन वीरों के सम्मान के लिए, हमारे देश की शान के लिए इस तिरंगे को हमेशा उनका ही रखना है. उसका कद आसमान से भी ऊंचा करना है. चाहे उसके लिए हमें भी अपने प्राण क्यों ना देने पड़े.

हम आज यही प्रतिज्ञा लेते हैं कि राष्ट्रवीरोंके, भारत माता के सपूतों का खून व्यर्थ नहीं जाएगा. उन्होंने हम पर जो स्वतंत्रता के संस्कार किए हैं, उन्हें हम अपने तिरंगे के रूप में सदा ही लहराते रहेंगे, ऊंचा रखेंगे. हमें पूरा यकीन है की अभिमान से लहराते हुए इस तिरंगे पर लिखी शायरियों को सुनकर आपके भी रोम रोम में राष्ट्रभक्ति जरूर जाग जाएगी. आपके भी दिल में वीरों के लिए सम्मान की और आदर की भावना आएगी. उसी भावना को हम सभीको हमेशा जगायें रखना है. जय हिंद!

YOU MAY LIKE THESE POSTS:

दोस्तों, हमारी इन गर्व से भरपूर और राष्ट्रभक्ति से ओतप्रोत लिखी हुई Tiranga Shayari को सुनकर अगर आपके भी दिल में हमारे भारत देश के लिए कुछ कर गुजरने का जज्बा जाग उठा हो, तो नीचे comment box में comment करते हुए हमें बताना ना भूले! अब आप इन सारी शायरी अपडेट्स को सीधे अपने Whatsapp पर प्राप्त कर सकते हैं. इसके लिए ‘START’ ये वॉट्सएप मेसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नं. पर भेज दीजिए. 24 घंटो के अंदर आपकी सेवा चालू हो जाएगी.

शायरी सुकून की बेहतरीन शायरियों को अपने फेसबुक पर प्राप्त करने के लिए इस शायरी सुकून पेज को Like और Share जरूर करें.

7 Comments

  1. सुनिल August 13, 2020
  2. Shraddha August 13, 2020
  3. संतोष August 13, 2020
  4. Nilesh Saraf August 13, 2020
  5. Nilesh Saraf August 13, 2020
  6. Nilesh Saraf August 13, 2020
  7. Ravindra Munde August 14, 2020

Add Comment