Sundarta Shayari : 50+ Khubsurti Ki Tareef par Romantic Sher

Sundarta Shayari : अपने महबूब की तारीफ करते हुए कोई आशिक कहां थकता है. वह जब भी दिन में आफताब यानी सूरज और रात में चांद देखता है. तब उसे अपने महबूब का सुंदर मुखड़ा ही उसमें नजर आता है. उसे तो अपनी दिलरुबा, जैसे स्वर्ग से उतरी हुई कोई अप्सरा या फिर हुर ही लगती है.

और ऐसी प्यार की मूरत के लिए, आपके महबूबा की तारीफ आसान करने के लिए हम दोस्त की सुंदरता पर शायरी लेकर आए हैं. हमें यकीन है कि आप भी हमारी खूबसूरती पर शायरी की मदद से अपने दिलबर के लिए चंद पंक्तियां जरूर भेज पाएंगे.

When you want to praise your girlfriend from bottom of your heart. You do wish to use very lovable words as well as the correct meaning.

✤ शायरी सुनने के लिए ✤
♫ Player लोड होने दें ♫


Sundarta Shayari by:
Ehsaas by Ketki

We have collected the latest Khubsurti Ki Tareef Sher for you only. When you wish to applause your partner for her true love, our Tareef Shayari will very helpful for you.

आपको ये पोस्ट पसंद आएगी 👉 Khubsurat Shayari In Hindi

तो चलिए साथियों अपने यार की तारीफ करने में अब जरा भी कुसूर ना होने पाए. और उसे हमारी ‘किसी की प्रशंसा में शायरी’ की मदद से जरूर खुश कर दीजिए. और साथ ही अगर आपको शायरी सुकून की यह पेशकश पसंद आए. तो हमारे टि्वटर एवं फेसबुक पेज को भी जरूर फॉलो कीजिएगा.

Table Of Content

  1. Khubsurti Ki Tareef Shayari Ke Sath Apne Yaar Ki Tarif Kijiye
  2. Sundarta Ki Shayari Ki Madad Se Apni Mehbooba Ki Tarif Me Chand Alfaaz Kahiye
  3. Sundarta Shayari In Hindi Ki Madad Se Apni Dilruba Ki Prashansa Kijiye
  4. Sundarta Par Shayari Ke Sath Apni Mashuka Ko Khubsurat Kahana Na Bhule
  5. Sundarta Shayari Ki Madad Se Apne Mehbub Ko Impress Kar Paoge
  6. Conclusion

Khubsurti Ki Tareef Shayari Ke Sath Apne Yaar Ki Tarif Kijiye

1)

रूप में तेरे है असीम सुंदरता..

इसलिए तुझे देखकर मैं मुस्कुराता..

-Sagar

roop me tere hai aseem sundarta..

isiliye tujhe dekh kar main muskurata..

2)

तेरे हुस्न का कहर
और उपर से ये शबाब..

तेरी इस सुंदरता का
किसके पास होगा जवाब..

-Vrushali

tere husn ka kahar
aur upar se ye shabab..

teri is sundarta ka
kiske pass hoga jawab..

3)

चेहरे में उनके
मैंने नजाकत पायी..

सुंदरता दिल की
मेरे मन को भायी..

chehre me unke
maine nazakat payi..

sundarta dil ki
mere man ko bhayi..

4)

कोहिनूर का नूर कम पड़ जाए
कुछ नशा, कुछ सुरूर बढ़ जाये..

तेरी सुंदरता के दीवाने है हम
तुझे देखूं और बस करार आ जाये..

-Ketki

kohinoor ka nur kam pad jaaye
kuchh nasha, kuchh surur badh jaaye..

teri sundarta ke deewane hain ham
tujhe dekhu aur bus karar aa jaaye..

5)

चांद का नूर भी
फीका पड़ जाए..

मेरे महबूब की
सुंदरता जब छाए..

chand ka noor bhi
fika pad jaaye..

mere mahbub ki
sundarta jab chhaye..

आपको ये पोस्ट पसंद आएगी 👉 Shayari On Khubsurat

खूबसूरती की तारीफ शायरी के साथ अपने यार की तारीफ कीजिए

Khubsurti Ki Tareef Shayari Ke Sath Apne Yaar Ki Tarif Kijiye
Khubsurti Ki Tareef Shayari Ke Sath Apne Yaar Ki Tarif Kijiye
6)

जब चेहरे पर लाली और
होटों पे तू मुस्कान लाती है..

खुदा कसम दुनिया में तू
सबसे हसीन नजर आती है..

-Sagar

jab chehre par lali aur
hothon pe tu muskan lati hai..

khuda kasam duniya mein tu
sabse haseen nazar aati hai..

7)

जिस राह पर तू मिली मुझे
वो राह सुंदर जगह बन गई..

जो दू तेरी सुंदरता की मिसाल
तो मिसाल भी सुंदर बन गई..

-Vrushali

jis raah par tu mili mujhe
vo raah sundar jagah ban gai..

jo dun teri sundarta ki misal
to misal bhi sundar ban gai..

8)

निगाहों में अपने
सदा चांद रखना तुम..

सुंदर चेहरे से दिल को
मेरे बांध रखना तुम..

nigahon mein apne
sada chand rakhna tum..

sundar chehre se dil ko
mere bandh rakhna tum..

9)

बेजुबां से हो गए लफ्ज़ कुछ कम से हो गए
क़ातिल निगाहों से हम कुछ घायल से हो गए..

तेरे हुस्न की तारीफ में अब और हम क्या कहे
देखा जो पहली दफा तेरे क़ायल से हो गए..

-Ketki

bezubaan se ho gaye lafz kuchh kam se ho gaye
katil nigahon se ham kuchh ghayal se ho gaye..

tere husn ki tarif mein ab aur ham kya kahe
dekha jo pehli dafa tere kayal se ho gaye..

10)

देखें जो कोई आंखों की गहराई..

नजरें उसकी वहीं पर समाई..

dekhe jo koi aankhon ki gehrai..

nazre uski vahi per samayi..

आपको ये पोस्ट पसंद आएगी 👉 Shayari on Girl

Sundarta Ki Shayari Ki Madad Se Apni Mehbooba Ki Tarif Me Chand Alfaaz Kahiye

11)

ना कोई फेयर & लवली लगाई
और ना कोई पॉन्ड्स पाउडर..

फिर भी जन्नत की हूरें शर्माए
मेरी जान, तेरी सुंदरता देखकर..

-Sagar

na koi fair and lovely lagai
aur na koi ponds powder..

fir bhi jannat ki hoore sharmaye
meri jaan, teri sundarta dekhkar..

12)

बिना शृंगार के ही वो
हमें अपना कायल कर बैठे..

इतने सुंदर हैं वो के
हम उनके दीवाने बन बैठे..

-Vrushali

bina shringar ke hi vo
hamen apna kayal kar baithe..

itne sundar hai vah ke
ham unke deewane ban baithe..

13)

सुंदरता तो दिल की होती है साहब
दिमाग़ से तो बस दिल तोड़े जाते हैं..

एक आप ही है इस जहान में मेरे लिए
जिसके लिए दिल अपना हारे जाते हैं..

-Ketki

sundarta to dil ki hoti hai sahab
dimag se to bus dil tode jaate hain..

ek aap hi hai is jahan mein mere liye
jiske liye dil apna hare jaate hain..

14)

उफ्फ़, ये तेरे
बालों का रंग सुनहरा..

रखे हैं हरदम
मेरे दिल पर पहरा..

uff, ye tere
balon ka rang sunhara..

rakhe hai har dam
mere dil per pehra..

15)

हसीन है तेरा चेहरा और
मन भी है कितना सुंदर..

दूर रखने पड़ेंगे अब मुझे
तुझे ताकने वाले छछूंदर..!

-Sagar

hasin hai tera chehra aur
man bhi hai kitna sundar..

dur rakhne padenge ab mujhe
tujhe taakne wale chhachhoonder..!

आपको ये पोस्ट पसंद आएगी 👉 Khubsurat Shayari -2

सुंदरता की शायरी की मदद से अपनी महबूबा की तारीफ में चंद अल्फाज कहिए

Sundarta Ki Shayari Ki Madad Se Apni Mehbooba Ki Tarif Me Chand Alfaaz Kahiye
Sundarta Ki Shayari Ki Madad Se Apni Mehbooba Ki Tarif Me Chand Alfaaz Kahiye
16)

जिसका दिल इतना सुंदर हैं
वो खुद कितनी सुंदर होगी..

जब मिला उससे तो सोचा
इसके बिना सुंदरता क्या होगी..

-Vrushali

jiska dil itna sundar hai
vah khud kitni sundar hogi..

jab mila usse to socha
iske bina sundarta kya hogi..

17)

लिखना चाहता हूं
जब भी तेरे बारे में..

स्याही भी शर्माए
सुंदरता के प्यार में..

likhna chahta hun
jab bhi tere bare mein..

syahi bhi sharmaye
sundarta ke pyar mein..

18)

मुस्कान ऐसी जो दुनियां भुला दे
निगाहें वो कि दिल हार सीखा दे..

ऐसा सुंदर चेहरा कही देखा है आपने
ज़ुबाँ से लफ्ज़ भी न कहे पर हाल सुना दें..

-Ketki

muskan aisi jo duniya bhula de
nigahe vo ki dil haar sikha de..

aisa sundar chehra kahin dekha hai aapne
juban se lafz bhi na kahe per hal suna de..

19)

हुस्न की तेरे मैं
क्या तारीफ करूं..

तुझ पर अपनी
सारी जिंदगी वारूँ..

husn ki tere main
kya tarif karu..

tujh per apni
sari jindagi vaaru..

20)

उनकी तारीफ़ से तो
तारीफ़ भी सुंदर बन जाती होगी..

कैसे बताएं उन्हें के देखकर
उनको बहारें भी शर्माती होगी..

-Vrushali

unki tarif se to
tarif bhi sundar ban jaati hogi..

kaise bataen unhen ke dekh kar
unko bahare bhi sharmati hogi..

Sundarta Shayari In Hindi Ki Madad Se Apni Dilruba Ki Prashansa Kijiye

21)

हुस्न के लाखों दीवाने
बिखरे पड़े है ज़माने में..

नज़रे जो मिला लो
बहार आ जाये वीराने में..

-Ketki

husn ke lakho deewane
bikhre pade hain zamane mein..

nazre jo mila lo
bahar aa jaaye veerane mein..

22)

पूनम के चांद का
आलम भी सादा लगा..

ये तो हसीन
महबूब का मेरे वादा लगा..

punam ke chand ka
aalam bhi sada laga..

ye to hasin
mahbub ka mere vada laga..

23)

नाजुक परी जैसी है तू
बहुत सुंदर है तेरी काया..

मुझे देखकर पलके झुकाना
ये याद करके मैं सो नहीं पाया..

-Sagar

nazuk pari jaisi hai tu
bahut sundar hai teri kaya..

mujhe dekh kar palke jhukana
ye yaad karke main so nahin paya..

24)

सुंदरता तो आपके दिल में बसी हैं
नूर तो बस चेहरे को खूबसूरत बनाता हैं..

कोई आपके दिल को देखे तो मानूं
मगर वो दिल तो बस हमें नज़र आता हैं..

-Vrushali

sundarta to aapke dil mein basi hai
noor tu bas chehre ko khubsurat banata hai..

koi aapke dil ko dekhe to manu
magar vo dil to bus hamen najar aata hai..

25)

सिर्फ चेहरे की सुंदरता नहीं है..

मेहबूब मेरा दिल से भी हसीन है..

sirf chehre ki sundarta nahin hai..

mahbub mera dil se bhi haseen hai..

सुंदरता शायरी इन हिंदी की मदद से अपनी दिलरुबा की प्रशंसा कीजिए

Sundarta Shayari In Hindi Ki Madad Se Apni Dilruba Ki Prashansa Kijiye
Sundarta Shayari In Hindi Ki Madad Se Apni Dilruba Ki Prashansa Kijiye
26)

फ़िज़ाएं महकती हैं बहारों में, रंगे हिना से
लहराती ज़ुल्फ़ें उस की बतियाती हैं हवा से..

कायनात का सारा हुस्न समेटे हैं हुस्न तेरा
उस की ज़ुल्फ़ें ज़्यादा दिलकश हैं, घटा से..

-Moeen

fizaye mehakti hai baharon mein, range heena se
lehrati julfe uski batiyati hai, hawa se..

kayenaat ka saare husn samete hain husn tera
uski julfen jyada dilkash hai, ghata se..

27)

आपकी सोच ही हैं जो
हमें हमारी सुंदरता दिखाती हैं..

आंखें आपकी इतनी सुंदर हैं
जो हमारी तारीफ़ बयां करती हैं..

-Vrushali

aapki soch hi hai jo
hamen hamari sundarta dikhati hai..

aankhen aapki itni sundar hai
jo hamari tarif baya karti hai..

28)

तारीफ क्या करूं मैं
इस सुंदर चेहरे की..

करें जो मुझ पर
मजबूत पकड़ पहरे की..

tarif kya karun main
is sundar chehre ki..

kare jo mujh per
majbut pakad pahare ki..

29)

देख कर उन को ये अहसास हुआ हैं
वो लड़की हैं या सरापा हुस्ने खुदा हैं..

उन के हुस्न पर कुरबान हैं मेरा वजूद
इस दिल ने करोड़ों में उसे चुना हैं..

-Moeen

dekh kar unko ye ehsas hua hai
vah ladki hai ya sarapa husne khuda hai..

unke husn per kurban hai mera wajood
is dil ne karodon main use chuna hai..

30)

सुंदरता चेहरे की हर
दिल को खींच लेती है..

प्यार की गहराई उसे
और भी सींच देती है..

sundarta chehre ki har
dil ko khinch leti hai..

pyar ki gehrai use
aur bhi sinch deti hai..

Sundarta Par Shayari Ke Sath Apni Mashuka Ko Khubsurat Kahana Na Bhule

31)

ये हुस्न, ये शबाब पल का नजारा है
दिल का मिजाज बड़ा करारा हैं..

हो तुम सुंदरता की ऐसी मिसाल
के तेरा हर आशिक बना आवारा हैं..

-Vrushali

ye husn, ye shabab pal ka najara hai
dil ka mizaaj bada karara hai..

ho tum sundarta ki aisi misaal
ke tera har aashiq banaa aawara hai..

32)

हसीन तेरे चेहरे की कसम,
जानम प्यार करते हम तुमसे..

यह प्यार धोखा नहीं है कोई
मरते हैं तुम पर तहे दिल से..

hasin tere chehre ki kasam,
jaanam pyar karte ham tumse..

yah pyar dhokha nahin hai koi
marte hain tum per tahe dil se..

33)

जो गिरा दामन में आँसूँ उस नयन से
दिल समझा टुटा हो कोई तारा गगन से..

उन के हुस्न से हैं खुशनुमा मंज़र सारे
हूरें लेती हैं हुस्न उधार उन के बदन से..

-Moeen

jo gira daman mein aansu us nayan se
dil samjha tuta ho koi tara gagan se..

unke husn se hai khushnuma manjar sare
hure leti hai husn udhar unke badan se..

34)

दिल में आता है जब भी
हसीन ख्याल तेरा..

नादान यह दिल मुझसे
पूछता है सवाल मेरा..

dil mein aata hai jab bhi
hasin khayal tera..

nadan ye dil mujhse
puchta hai sawal mera..

35)

सुंदरता की हो ऐसी मूरत के
जहां में तुम से सुंदर कोई नहीं..

चलो तो कलियां भी खिल जाएं
ऐसी बेमिसाल शक्सियत कोई नहीं..

-Vrushali

sundarta ki ho aisi murat ke
jahan mein tum se sundar koi nahin..

chalo to kaliyan bhi khil jaaye
aisi bemisal shakhsiyat koi nahin..

सुंदरता पर शायरी के साथ अपनी माशूका को खूबसूरत कहना ना भूलें

Sundarta Par Shayari Ke Sath Apni Mashuka Ko Khubsurat Kahana Na Bhule
Sundarta Par Shayari Ke Sath Apni Mashuka Ko Khubsurat Kahana Na Bhule
36)

देखता हूं जब भी
दिलबर का हसीन चेहरा..

नजर आता दिल की
दुआओं का असर गहरा..

dekhta hun jab bhi
dilbar ka hasin chehra..

najar aata dil ki
duaon ka asar gehra..

37)

घनी ज़ुल्फ़ें उन की हो शाम सुहानी जैसे
बदन उन का हो हुस्न की कहानी जैसे..

उन के रुखसार से शरमाते हैं ये चाँद तारे
उनके लबों से माँगती हो घटाएँ पानी जैसे..

-Moeen

ghani julfen unki ho sham suhani jaise
badan unka ho husn ki kahani jaise..

unke rukhsar se sharmate hai ye chand tare
unke labon se mangti ho ghataye pani jaise..

38)

जानकर तुम्हें अनजान बन गए
तेरी सुंदरता को देख खुद को भूल गए..

शर्मा गए खुद की ही सोच पर
जब सोच में तुम्हें अपना समझ गए..

-Vrushali

jankar tumhen anjan ban gaye
teri sundarta ko dekh khud ko bhul gaye..

sharma gaye khud ki hi soch per
jab soch mein tumhen apna samajh gaye..

39)

खुशबू कोई हो,
तो गुलाब की हो..

सुंदरता जो हो,
तो बस आपकी हो..

khushbu koi ho
to gulab ki ho..

sundarta jo ho,
to bus aapki ho..

40)

अनदेखे धागों से बँधी ये दिल की डोर हैं
काजल उन का शब हँसी सुहानी भोर हैं..

बिखरा पड़ा हैं राहे इश्क़ में हुस्न बेपर्दा
वो वक्त अलग था ये ज़माना कुछ और हैं..

-Moeen

andekhe dhaagon se bandhi ye dil ki dor hai
kajal unka shab hasin suhani bhor hai..

bikhra pada hai rahe ishq mein husn beparda
vo waqt alag tha yah jamana kuchh aur hai..

Sundarta Shayari Ki Madad Se Apne Mehbub Ko Impress Kar Paoge

41)

यह सुंदर मुखड़ा ही जिंदगी का
बेहतरीन हिस्सा है..

तुझसे मेरा होना ही तो दिल के
अरमानों का किस्सा है..

yah sundar mukhda hi jindagi ka
behtarin hissa hai..

tujhse mera hona hi to dil ke
armaanon ka kissa hai..

42)

वैसे कह देना चाहता हूं,
कहना तो नहीं बनता..

आपके सुंदर दिल के बिना
मेरा और रहना नहीं बनता..

vaise kah dena chahta hun
kehana to nahin banta..

aapke sundar dil ke bina
mera aur rahna nahin banta..

43)

देखकर सुंदरता उसकी, प्यार
हमारा कुछ यूं जवां हो गया..

आग लगी थी दिल में इधर,
मगर शहर में धुआं हो गया..

dekhkar sundarta uski, pyar
hamara kuchh yu jawan ho gaya..

aag lagi thi dil mein idhar
magar shahar me dhuaa ho gaya..

44)

प्यार मेरा मोहब्बत में
उसके काबिल होना चाहिए..

सुंदर मुखड़े पर उसके जरूर
एक तिल होना चाहिए..

pyar mera mohabbat me
uske kabil hona chahiye..

sundar mukhde per uske jarur
ek teel hona chahiye..

45)

चाहत में उसके मेरा
दिल दीवाना हो गया..

सुंदर मुखड़ा देख
मैं उसी में खो गया..

chahat me uski mera
dil deewana ho gaya..

sundar mukhda dekh
main usi me kho gaya..

सुंदरता शायरी की मदद से अपने महबूब को इंप्रेस कर पाओगे

Sundarta Shayari Ki Madad Se Apne Mehbub Ko Impress Kar Paoge
Sundarta Shayari Ki Madad Se Apne Mehbub Ko Impress Kar Paoge
46)

मेरे यार के मोहब्बत की
बंदगी पसंद आई है..

सुंदरता से ज्यादा उसकी
सादगी पसंद आई है..

mere yaar ke mohabbat ki
bandgi pasand aayi hai..

sundarta se jyada uski
sadgi pasand aayi hai..

47)

खूबसूरत है तस्वीर तुम्हारी
देखकर मैं इतराता हूं..

मोहब्बत में तुम्हारी जानम
सारी दुनिया भुलाता हूं..

khubsurat hai tasveer tumhari
dekhkar main itraata hun..

mohabbat mein tumhari janam
sari duniya bhulata hun..

48)

दुनिया कहे सुंदरता की मूरत है वो..

मुझसे पूछो तो चांद का टुकड़ा है वो..

duniya kahe sundarta ki murat hai vo..

mujhse poochho to chand ka tukda hai vo..

49)

इतनी अदाएं हैं की जरूरत नहीं
कोई अदा सीखने की..

वो खुद कयामत है, उन्हें जरूरत
नहीं सुंदर दिखने की..

itni adayein hain ki jarurat nahin
koi ada sikhane ki..

vo khud kayamat hai, unhen jarurat
nahin sundar dikhne ki..

50)

हुस्न की तारीफ में तुम्हारी
मैं शायरी का किस्सा लिखूं..

तुमको चांद कहूं और
चांद को तुम्हारा हिस्सा लिखूं..

husn ki tarif mein tumhari
main shayari ka kissa likhun..

tumko chand kahu aur
chand ko tumhara hissa likhun…

51)

लफ्जों में नहीं बयां
कर सकता सुंदरता तुम्हारी..

स्वर्ग से आई अप्सरा,
हुस्न की हो तुम परी..

lafzon mein nahin baya
kar sakta sundarta tumhari..

swarg se aayi apsara,
husn ki ho tum pari..

Conclusion

Khubsurti Ki Tareef Sher की मदद से आप अपने हसीन दिलबर के लिए शायरी जरूर लिखना चाहोगे. ताकि आपके महबूब के हुस्न की तारीफ आप दिल खोलकर कर सको. और आपका यार इन ‘महिलाओं की सुंदरता पर शायरी’ को सुनकर जरूर खुश हो जाएगा.

You may like these posts:
1. Khubsurat Shayari -1: Ladki ke liye Top 10 Poetry in Hindi
2. Husn Shayari -1 सुनकर आप भी उनके हुस्न की तारीफ करोगे

Sundarta Shayari को सुनकर अगर आप भी अपने यार की तारीफ कर पाओ. तो आप हमें नीचे Comments करते हुए जरूर बताये. इस पोस्ट को अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर करने के लिए शुक्रिया!

अगर आपको चाहिये कि अपने Reddit Account पर शायरी सुकून अपडेट्स मिले, तो आप शायरी सुकून इसे जरूर Follow करें.

अगर अपनी मोहब्बत की कहानी दोबारा जीना चाहते है, तो आप Love Shayari पर क्लिक कर सकते है.

5/5 - (4 votes)

1 thought on “Sundarta Shayari : 50+ Khubsurti Ki Tareef par Romantic Sher”


  1. Subscribe to Channel
  2. वाह वा केतकी मॅम

    बहोत बढ़िया पेशकश,
    लाज़वाब शायरियां 👌👌

Leave a Comment