Motivational

Ramzan Ka Pehla Jumma Mubarak Shayari ☪ Best 65+ Wishes🤲

Ramzan Ka Pehla Jumma Mubarak Shayari: Alhamdulillah दोस्तों हमें अपने सभी चहेते इंसानों को और दोस्तों को जुम्मे पर तहे दिल से मुबारकबाद जरूर देनी चाहिए. और हमेशा उनके लिए जुम्मा मुबारक हो ऐसी दुआएं जरूर करनी चाहिए. ताकि सभी लोग भी आपके लिए अच्छे स्वास्थ्य की कामना कर सके. हमें यकीन है कि आप भी अपने दोस्तों के लिए जुम्मा मुबारक शायरी की मदद से खुदा से जरूर दुआएं कर सकोगे.

Friends when you want to pray for your friends and relatives. Jumma Mubarak Shayari message will definitely help you. And your all prayers will come true. With the help of Ramzan Ka Pehla Jumma Mubarak Shayari, you can pray for the good health of your loved ones also.

Table of Content

  1. Jumma Mubarak Shayari – जुम्मा मुबारक शायरी
  2. Jumma Mubarak Shayari In Hindi – जुम्मा मुबारक शायरी इन इंग्लिश
  3. Jumma Mubarak Shayari Image – जुम्मा मुबारक शायरी इमेज
  4. Jumma Mubarak Shayari In Urdu – जुम्मा मुबारक शायरी इन उर्दू
  5. Ramzan Ka Pehla Jumma Mubarak Shayari – रमजान का पहला जुम्मा मुबारक शायरी
  6. Conclusion

दोस्तों हम चाहते हैं कि आप भी Jumma Mubarak Shayari image की मदद से अपने सभी दोस्तों एवं रिश्तेदारों के लिए जुम्मे पर कामना कर सके. और सभी के लिए अल्लाह के दरबार में अपने हाथ उठाकर सजदा कर सके. ताकि आपके भी जिंदगी में Jumma Mubarak Shayari in Hindi की मदद से कभी कोई कमी महसूस ना हो.


Listen to Jumma Mubarak Shayari by Ravindra Menon


Jumma Mubarak Shayari
Alhamdulillah Jumma Mubarak Shayari

Read more >> Best 75+ HAPPY NEW YEAR SHAYARI: हैप्पी न्यू ईयर शायरी

Ramzan Ka Pehla Jumma Mubarak Shayari – जुम्मा मुबारक शायरी

Ramzan Ka Pehla Jumma Mubarak Shayari is the best wishes for the first day of the month of Ramadan. Ramzan Ka Pehla Jumma Mubarak Shayari. Read the best wishes for the first day of the year

Jumma Mubarak Shayari
Jumma Mubarak Shayari

Read more >> Shayari For Muharram: Imam Hussain Ki Shahadat

1)

खुशियां ही खुशियां
मिले हमेशा आपको..

जुम्मा मुबारक कहना
चाहते हैं हम सबको..!

-Kabir

khushiyan hi khushiyan
mile hamesha aapko..
jumma mubarak kahna
chahte hain ham sabko..!

2)

या खुदा, दिल में किसी के,
ना रहे किसी के लिए दूरी..

जुम्मे के दिन करता हूं जो
मैं दुआएं, हो जाए वो पूरी..

-Santosh

ya khuda, dil mein kisi ke,
na rahe kisi ke liye duri..
jumme ke din karta hun jo
main duaayen, ho jaaye vo puri..

3)

तुम्हें ही पाने का सब्र दिल में
पाल रखा है, तुम्हारे लिए..

जुम्मे की दुआ हम मांगा
करते हैं हमेशा, तुम्हारे लिए..

-Fatima

tumhen hi pane ka sabra dil mein
paal rakha hai, tumhare liye..
jumme ki dua ham manga
karte hain hamesha, tumhare liye..

4)

चिराग़ के आगे अंधेरे की
औकात नापी नहीं जाती..

जुम्मे पर दिल से मांगी हुई
दुआ कभी खाली नहीं जाती..

-Kabir

chirag ke aage andhere ki
aukat naapi nahin jaati..
jumme par dil se mangi hui
dua kabhi khali nahin jaati..

5)

जिंदगी के इस समंदर में मेरे
अल्लाह का ही सहारा होता है..

पत्थर भी बोल उठते हैं जब
मेरे नबी का इशारा होता है!

-Santosh

jindagi ke samander mein mere
allah ka hi sahara hota hai..
patthar bhi bol uthate hain jab
mere nabi ka ishara hota hai!

6)

या खुदा, आरजू पूरी करना,
और मुझे आबाद रखना..

करता हूं जुम्मे की दुआ,
बस मुझे याद रखना..

-Fatima

ya khuda, arzoo puri karna,
aur mujhe aabad rakhna..
karta hun jumme ki dua,
bus mujhe yad rakhna..

7)

या नबी, कुछ ना मैं और चाहता..

खुशहाली की तुझसे दुआएं मांगता..

-Fatima

ya nabi, kuch na main aur chahta..
khushhali ki tujhse duaayen mangta..

8)

या ख़ुदा, पूरी करना
मेरी जुम्मे की दुआएं..

वो अपनी जुल्फ़ों को
चांद जैसे चेहरे से हटाएं..

-Santosh

ya khuda, puri karna
meri jumme ki duaayen..
vo apni julfon ko
chand jaise chehre se hataye..

9)

या नबी, अब तो सुन ले
मेरे दिल की पुकार..

तेरा नाम लेकर ही खोलूं
मैं जुम्मे का इफ्तार..

-Kabir

ya nabi, ab to sun le
mere dil ki pukar..
tera naam lekar hi kholun
mai jumme ka iftaar..

Jumma Mubarak Shayari in Urdu
Jumma Mubarak Shayari in Urdu

Read more >> Muharram Shayari: Islamic New Year Status

10)

दुनिया में कोई कसर ना
रहे बाकी दिलवालों की..

मांगता हूं हमेशा दुआएं
अपने चाहने वालों की..

-Kabir

duniya mein koi kasar na
rahe baki dilwalon ki..
mangta hun hamesha duaayen
apne chahane walon ki..

11)

जो भी झुकाता सर अपना
सजदे में परवरदिगार की..

दुआएं पूरी करता है मेरा
खुदा हर गुनहगार की!

-Santosh

jo bhi jhukata sar apna
sajde mein parwardigar ki..
duaayen puri karta hai mera
khuda har gunehgaar ki!

12)

अपने यार के खुशी की दुआ करता हूं..

जुम्मे पर जब मैं नमाज अदा करता हूं..

-Fatima

apne yaar ke khushi ki dua karta hun..
jumme per jab main namaz ada karta hun..

13)

सभी को दिल से खुशियां मुबारक..

आपको मेरी तरफ से जुम्मा मुबारक..!

-Kabir

sabhi ko dil se khushiyan mubarak..
aap ko meri taraf se jumma mubarak..!

14)

अपने चाहने वालों की
हमेशा भलाई चाहता हूं..

सर झुका कर जुम्मे पर
जब दुआ मांगता हूं..

-Santosh

apne chahane walon ki
hamesha bhalai chahta hun..
sar jhuka kar jumme par
jab dua mangta hun..

15)

निभाऊंगा मैं तुमसे
दिल का रिश्ता..

दुआ है दूर हो अब
हर दर्द का वास्ता..

-Fatima

nibhaunga main tumse
dil ka rishta..
dua hai dur ho ab
har dard ka vasta..

16)

रमजान में तहे दिल से
दुआ है ये मेरी..

सभी को जिंदगी में
खुशियां मिले ढेर सारी..

-Fatima

ramzan me tahe dil se
dua hai ye meri..
sabhi ko zindagi me
khushiyan mile dher sari..

17)

जुम्मा हो मुबारक
आज का सबके लिए..

रमजान में पाक दुआएं
मांगू मैं आपके लिए..

-Santosh

jumma ho mubarak
aaj ka sabke liye..
ramzan me paak duaayen
mangu mai aapke liye..

18)

पानी ना हो तो नदी किस काम की
आंसू ना हो तो आंख किस काम की..

ना मांगू जुम्मे पर खैरियत आपके लिए
सजदे में ऐसी दुआ किस काम की..

pani na ho to nadi kis kam ki
aansu na ho to aankh kis kam ki..
na mangu jumme par khairiyat aapke liye
sajde mein aisi dua kis kaam ki..

Ramzan Ka Pahla Jumma Mubarak Status
Ramzan Ka Pahla Jumma Mubarak Status
19)

या खुदा, खुशियों से भर दे ना
जिंदगी, अपनों से जो रूठे हैं..

कुबूल करना उन की दुआ,
हाथ जो तेरी बारगाह में उठे हैं..

ya khuda, khushiyon se bhar dena
jindagi apno se jo ruthe hain..
qubool karna unki dua
hath jo teri bargah mein uthe hain..

20)

मिला हूं मेरे यार से,
चैन नहीं है मुझे तब से..

जब भी मांगू मैं इनायत
दुआ में, अपने रब से..

-Kabir

mila hun mere yaar se,
chain nahin hai mujhe tab se..
jab bhi mangu main inayat
dua mein, apne rab se..

21)

इबादत करता हूँ
दुआ में दरगाह पर..

सर झुकाया है मैंने
तेरी बारगाह पर..!

बारगाह : दरबार, सदन

-Santosh

ibadat karta hun
dua mein dargah per..
sar jhukaya hai maine
teri bargah par..!

22)

करते हैं जो भी इबादत जहां में
अल्लाह की, वो मशहूर हो जाते हैं..

जब भी मिलती है दिल से दुआ
जुम्मे की, मेरे दर्द दूर हो जाते हैं..

-Fatima

karte hain jo bhi ibadat jahan mein
allah ki, vo mashhur ho jaate hain..
jab bhi milti hai dil se dua
jumme ki, mere dard dur ho jaate hain..

23)

अपने यार की हमेशा खुशियां चाहूं..

खुदा से यही गुजारिश करना चाहूं..

-Kabir

apne yaar ki hamesha khushiyan chahun..
khuda se yahi guzarish karna chahun..

24)

कभी ना तरसे कोई
किसी के प्यार को..

जुम्मे की मुबारकबाद
देता हूं मैं सभी को..!

-Santosh

kabhi na tarse koi
kisi ke pyar ko..
jumme ki mubarakbad
deta hun main sabhi ko..!

25)

करता हूं जो दुआ जुम्मे की,
ख़ुदा करें वो क़ुबूल हो जाए..

जिंदगी में आप सभी के
खुशियों की बौछार आए..

-Fatima

karta hun jo dua jumme ki
khuda kare vo qubool ho jaaye..
jindagi mein aap sabhi ke
khushiyon ki bauchhar aaye..

Jumma Mubarak Shayari In Hindi – जुम्मा मुबारक शायरी

Look for Best and new Shayari for Ramzan and enjoy Azaan, Namaz and Dua along with greetings for Jumma Mubarak.

Jumma Mubarak Shayari In English
Jumma Mubarak Shayari In Hindi
26)

या खुदा, फरिश्तों को
देना तू फरमान..

हो जाए पूरे सभी के
दिलों के अरमान..

-Kabir

ya khuda, farishton ko
dena tu farman..
ho jaaye pure sabhi ke
dilon ke armaan..

27)

मेरे चाहने वालों की जिंदगी में
खुशियों का माहौल छाएं..

या अल्लाह, पूरी करना जुम्मे पर
मांग रहा हूं मैं जो भी दुआएं..

-Santosh

mere chahane walon ki jindagi mein
khushiyon ka mahaul chhaye..
ya allah, puri karna jumme per
mang raha hun main jo bhi duaayen..

28)

रहमतों की बारिश सबकी
जिंदगी में तुम करवाना..

या अल्लाह, सभी के दिलों
को सुकून अता फरमाना..

-Fatima

rehmaton ki barish sabki
jindagi mein tum karvana..
ya allah, sabhi ke dilon
ko sukoon ata farmana..

29)

जुम्मे की रात तो हर वक्त
नबी की याद में ढलती है..

प्यार और दुआओं के ही
बलबूते दुनिया चलती है..

-Kabir

jumme ki raat to har waqt
nabi ki yad mein dhalti hai..
pyar aur duaaon ke hi
balbute duniya chalti hai..

30)

रहमत ख़ुदा की रंग लाई है
जुम्मे के इस पाक मौक़े पर..

अंधेरे में भी जो नूर चमक
रहा है उसके चेहरे पर..

-Santosh

rehmat khuda ki rang layi hai
jumme ke is pak mauke per..
andhere mein bhi jo nur chamak
raha hai uske chehre per..

31)

जुम्मे पर हर किसी के नसीब में
सितारों की बरसात लिखता है..

दिलकश नज़ारों में भी मुझे अब
हमेशा नबी का चेहरा दिखता है..

-Fatima

jumme par har kisi ke naseeb mein
sitaron ki barsat likhta hai..
dilkash nazaron mein bhi mujhe ab
hamesha nabi ka chehra dikhta hai..

32)

जुम्मे की दुआ में
मेरे लिए प्यार भेजो..

आसमान में निकला,
जो है नया चांद देखो..

-Kabir

jumme ki dua mein
mere liye pyar bhejo..
aasman mein nikla,
jo hai naya chand dekho..

33)

जुम्मे की, तुम्हारे लिए
खुदा से गुजारिश चाहूं..

नमाज अदा करते हुए
तुम्हारे लिए दुआ मांगू..

-Fatima

jumme ki, tumhare liye
khuda se gujarish chahun..
namaj ada karte hue
tumhare liye dua mangu..

34)

जुम्मे की तुम्हारे लिए दुआ मांगता रहूं..

अल्लाह की इबादत, मैं हमेशा करता रहूं..

-Santosh

jumme ki tumhare liye dua mangta rahun..
allah ki ibadat, main hamesha karta rahun..

2 Line Jumma Mubarak Shayari Hindi
2 Line Jumma Mubarak Shayari Hindi
35)

जुम्मे की मुबारक बात ये आई..

सजी है मेरे मन में दुआएं नई..

-Kabir

jumme ki mubarak baat ye aayi..
saji hai mere man me duaayen nayi..

36)

रमजान में खुशियों से झोली भर जाएं..

खुदा की रहमत सभी पर बरस जाएं..

-Fatima

ramzan me khushiyon se jholi bhar jaaye..
khuda ki rahmat sabhi per baras jaaye..

37)

सजदे में अल्लाह के मांगता हूं मैं दुआएं..

तहे दिल से आपको जुम्मे की शुभकामनाएं..

sajde mein allah ke mangta
hoon main duayein..
tahe dil se aapko jumme ki
shubhkamnayen..

Ramzan Mubarak Wishes Hindi
Ramzan Mubarak Wishes Hindi
38)

खुशबू सी रहे महकती, सदा जिंदगी आपकी..

सजदे में खुदा के, हो दुआएं पूरी आपकी..

khushbu si rahe mehakti sada jindagi aapki..
sajde mein khuda ke, ho duaayen puri aapki..

Jumma Mubarak Shayari In English की मदद से अल्लाह के दरबार में हाथ उठाते हुए अपने दोस्तों के लिए दुआएं करना चाहोगे. और साथ ही सभी को जुम्मे की तहे दिल से बधाइयां भी देना चाहोगे.

Jumma Mubarak Shayari Image – जुम्मा मुबारक शायरी इमेज

39)

दुआ करता हूं जुम्मे पर,
खुशियां करें सभी को अता..

यहां कोई ना तरसे किसी के
सच्चे प्यार को, ऐ खुदा..

-Kabir

dua karta hun jumme per,
khushiyan kare sabhi ko ata..
yahan koi na tarse kisi ke
sacche pyar ko, ae khuda..

40)

पूरी हुई है, जब भी मैंने तहे
दिल से कोई दुआ की..

मैं नाचीज़, क्या तारीफ करूं
मेरे मौला, मेरे ख़ुदा की..

-Fatima

puri hui hai, jab bhi maine tahe
dil se koi dua ki..
main nachiz, kya tarif karun
mere maula, mere khuda ki..

41)

चाहने वालों के साथ अपनी
जब भी कोई बात होती है..

जुम्मे पर दुआएं मिलना,
जैसे कोई किस्मत होती है..

-Santosh

chahane walon ke sath apni
jab bhi koi baat hoti hai..
jumme par duaayen milna,
jaise koi kismat hoti hai..

42)

किसी के लिए अगर तहे
दिल से दुआ निकलेगी..

हर गुजारिश दरबार में
उसके जरूर कुबूल होगी..

-Fatima

kisi ke liye agar tahe
dil se dua nikalegi..
har gujarish darbar mein
uske jarur qubool hogi..

43)

कभी ना खुशियों के
लिए मुझे तू तरसाना..

या खुदा, हमेशा मुझ पर
तेरी रहमत बरसाना..

-Kabir

kabhi na khushiyon ke
liye mujhe tu tarsana..
ya khuda, hamesha mujh par
teri rahamat barsana..

44)

दिल से निकलती है,
जुम्मे पर दुआएं मेरे..

सजदे में जब भी मैं
सर झुकाता हूं तेरे..

-Fatima

dil se nikalti hai
jumme per duaayen mere..
sajde mein jab bhi main
sar jhukata hun tere..

45)

ढेरों खुशियों की मुराद मुबारक..

आप सभी को रमजान मुबारक..!

-Santosh

dheron khushiyon ki murad mubarak..
aap sabhi ko ramzan mubarak..!

46)

मैंने रब से जब भी मांगा..

हमेशा तेरी खुशी को मांगा..

-Kabir

maine rab se jab bhi manga..
hamesha teri khushi ko manga..

Ramdan Mubarak Shayari
Ramdan Mubarak Shayari
47)

सर झुका के जो मांगी दुआ..

तब जाकर तू मेरा हुआ..

-Fatima

sar jhuka ke jo mangi dua..
tab jakar tu mera hua..

48)

अपनों के लिए तुम दुआ मांगना..

दुआओं में उनकी खुशी ही मांगना..

-Santosh

apnon ke liye tum dua mangna..
duaaon me unki khushi hi mangna..

49)

जुम्मे की जब तुम दुआ मांगोगे..

किस्मत के अंधेरे दूर भागेंगे..

-Kabir

jumme ki jab tum dua mangoge..
kismat ke andhere dur bhagenge..

Ramzan ka pahla Jumma Mubarak Shayari 2 Line
Ramzan ka pahla Jumma Mubarak Shayari 2 Line
50)

करना तहे दिल से सदका तुम जुम्मे को..

याद करना हमेशा दुआ में अल्लाह को..

karna tahe dil se sadka tum jumme ko..
yad karna hamesha dua mein allah ko..

51)

मुबारक हो तुम्हें फिर सय्यद-उल-अय्याम आया
सजदे में सर झुकाओं, रहमतों का पयाम आया..

नवाज़ता हैं वो ज़माने भर के गुनाहगारों को
सर झुकाए तेरी बारगाह में हर गुलाम आया..

-Moeen

mubarak ho tumhen fir sayyed-ul-ayyam aaya
sajde mein sar jhukao, rahamaton ka payam aaya..
nawaz deta hai vo jamane bhar ke gunehgaron ko
sar jhukaye teri bargah me har gulam aaya..

Jumma Mubarak Shayari Image की मदद से अपने दोस्तों के साथ बारगाह में अल्लाह से दुआएं करना चाहोगे. और सजदे में अपना सर झुकाते हुए खुशियों की कामना करना चाहोगे.

Jumma Mubarak Shayari In Urdu – जुम्मा मुबारक शायरी इन उर्दू

52)

जब तुम मांगोगे दुआएं दूसरों के लिए..

पाओगे खुशियां अपनी जिंदगी के लिए..

-Fatima

jab tum mangoge duaayen dusron ke liye..
paoge khushiyan apni jindagi ke liye..

Jumma Mubarak Shayari in Urdu
Jumma Mubarak Shayari in Urdu
53)

जुम्मे की दुआओं का असर होता है..

अपनों की जब कोई फ़िकर करता है..

-Santosh

jumme ki duaaon ka asar hota hai..
apnon ki jab koi fikar karta hai..

54)

दुआएं ही लाती है जिंदगी में खुशियां..

तूफानों से निकलती है तब कश्तियां..

-Kabir

duaayen hi lati hai jindagi me khushiyan..
tufanon se nikalti hai tab kashtiyan..

55)

अपनों के लिए जुम्मे पर दुआ करना..

हर इंसान के खुशियों की फिकर करना..

-Fatima

apnon ke liye jumme per dua karna..
har insan ke khushiyon ki fikar karna..

Best Jumma Mubarak Shayari
Best Jumma Mubarak Shayari
56)

अब दर्द बर्दाश्त करना छोड़ दो..

रब की इबादत से वास्ता जोड़ दो..

-Santosh

ab dard bardasht karna chhod do..
rab ki ibadat se wasta jod do..

57)

तेरी इबादतों का तुझे वो बेहतरीन सिला देगा
तेरे सब गुनाहों को वो पल में भुला देगा..

सुनता हैं वो सब की सदा जुमे को
तेरे मुक़द्दर से वो हर एक गम मिटा देगा..

-Moeen

teri ibadaton ka tujhe vo behtarin sila dega
tere sab gunaho ko vo pal mein bhula dega..
sunta hai vo sab ki sada jumme ko
tere muqaddar se vo har ek gam mita dega..

58)

ऐ हवा, नबी से जा कर मेरा सलाम कहना
हिंद में तड़पता हैं... तुम्हारा गुलाम कहना..

खुद सुनते हैं वो दरूद जुमे को हमारे
अदब से जा कर उन से मेरा सलाम कहना..

-Moeen

aye hawa, nabi se jakar mera salam kehna
hind mein tadapta hai… tumhara gulam kahna..
khud sunte hain vo darud jumme ko hamare
had se jakar unse mera salam kahana..

Jumma Mubarak Shayari In Urdu को सुनकर खुदा के दरबार में अपने सारे गुनाहों को कुबूल करना चाहोगे. और अल्लाह के सामने झुकते हुए तहे दिल से माफी मांगना चाहोगे.

Ramzan Ka Pehla Jumma Mubarak Shayari – रमजान का पहला जुम्मा मुबारक शायरी

Jumma Mubarak Status
Jumma Mubarak Status
59)

जितना दूसरों के लिए दुआएं करोगे..

अपनी किस्मत को खुद चमकाओगे..

-Kabir

jitna dusron ke liye duaayen karoge..
apni kismat ko khud chamkaaoge..

60)

दुनिया में असर होता है दुआओं का..

रखना भरोसा रब की इबादत का..

-Fatima

duniya me asar hota hai duaaon ka..
rakhna bharosa rab ki ibadat ka..

61)

जुम्मे पर हाथ उठा कर दुआ मांगू..

चाहने वालों के लिए खुशियां मांगू..

-Santosh

jumme par hath utha kar dua mangu..
chahane walon ke liye khushiyan mangu..

62)

खुदा के सजदे में सर झुकाना..

मुकद्दर का कद तुम ऊंचा उठाना..

-Kabir

khuda ke sajde mein sar jhukana..
mukaddar ka kad tum uncha uthana..

63)

नमाज अदा करते हुए
जब मैं दुआ करूं..

रब को याद करते हुए
समस्याएं हल करूं..

-Fatima

namaj ada karte hue
jab main dua karun..
rab ko yad karte hue
samasyaen hal karun..

64)

या मेरे मौला, मेरी
अर्जी तू सुन लेना..

मेरे चाहने वालों को
लंबी उम्र अता करना..

-Kabir

ya mere maula, meri
arji tu sun lena..
mere chahane walon ko
lambi umra ata karna..

65)

मौला अपने दरबार में गुनाहगार को पड़ा रहने दे
मत कर अभी दुआ क़बूल चंद अश्क ज़रा बहने दे..

बख्श दे खुदाया मेरी ख़ताएँ जुमे के सदक़े में
इश्क़-ए-हक़ीक़ी के गम या रब मुझे सहने दे..

-इश्क़-ए-हक़ीक़ी : खुदा से मोहब्बत करना

-Moeen

maula apne darbar mein gunehgaaro ko pada rahane de
mat kar abhi dua kabul chand ashq zara bahane de..
bakhsh de khudaya meri khataayen jumme ke sadke mein
ishq-a-haqiqi ki ke gam ya rab mujhe sahne de..

66)

बिन माँगे ही तेरी बारगाह से सिला पाते हैं
यहाँ नियाज़ी और खय्याम सर झुकाए आते हैं..

लुटाता हैं खुदा सदक़ा नबी का जुमे के दिन
हाथ खाली आने वाले झोलीया भर कर जाते हैं..

-Moeen

bin mange hi teri bargah se sila paate hain
yahan niyazi aur khayyam sar jhukaate hain..
lutata hai khuda sadka nabi ka jumme ke din
hath khali aane wale jholiyan bhar kar jaate hain..

Ramzan Ka Pehla Jumma Mubarak Shayari की मदद से खुदा के दरबार में अपनी झोली फैला कर दुआए मांगना चाहोगे. ताकि खुदा भी आपके जिंदगी में खुशियों की सौगात हमेशा यूं ही बरकरार रख सके.

Jumme Ka Namaz Shayari
Jumme Ka Namaz Shayari

Read more >> Khuda Shayari: Best 52+ खुदा पर शायरी Collection

Conclusion

Jumma Mubarak Shayari In Hindi की मदद से अल्लाह के दरबार में सजदा करते हुए अपने दिल की बात खुदा को बताना चाहोगे. और अपनी जिंदगी में हमेशा रहमत बरसाने की गुजारिश करना चाहोगे. शायद आपके मन में भी कुछ ऐसे ही ख्याल आ रहे होंगे है ना दोस्तों? Ramzan Ka Pehla Jumma Mubarak Shayari को सुनकर अगर आप भी अपनी दुआओं के कुबूल होने की तमन्ना रखो. तो हमें comments करते हुए जरूर बताइएगा. इन दुआओं को अपने दोस्तों के साथ साझा करने के लिए आपका तहे दिल से शुक्रिया!

जुम्मा मुबारक शायरी पर लिखी गयी हमारी ये पोस्ट भी आपको अच्छी लगेगी

  1. Jumma Mubarak Shayari: Best 10+ जुम्मा मुबारक शायरी

अब आप इन सारी शायरी अपडेट्स को सीधे अपने Whatsapp पर प्राप्त कर सकते हैं. इसके लिए ‘START’ ये वॉट्सएप मेसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नं. पर भेज दीजिए. 24 घंटो के अंदर आपकी सेवा चालू हो जाएगी.

शायरी सुकून की बेहतरीन शायरियों को अपने फेसबुक पर प्राप्त करने के लिए इस शायरी सुकून पेज को Like और Share जरूर करें.

4 Comments

  1. वाह! रविंद्र सर,
    उमदा शायरीयां और बेहतरीन पेशकश…
    आप को भी जुम्मा मुबारक!
    शुभेच्छा,
    कल्याणी

  2. लाज़वाब शायरियां,
    सभी को जुम्मा मुबारक 🤲🤲

Leave a Reply

Your email address will not be published.