Pita Family Shayari -2: आपको अपने पिता की याद ही दिला देगी

pita shayari : आप अपने pita से कुछ बातें छुपाते हो, कुछ बातें तुम्हें बिना बताए ही कर देते हो. लेकिन आपकी आंखों में आपके pita आपने छुपाया हुआ झूठ एक न एक दिन पकड़ ही लेते हैं. क्योंकि चाहे कुछ भी हो जाए pita तो आखिर पिता ही होते हैं ना.

और कोई भी पिता अपने नासमझ बच्चों को समझाते हुए यही कहेगा कि जब तुम पिता बन जाओगे, तभी तुम्हें सब कुछ समझ आएगा. कोई भी बाप आपने बच्चों को किसी भी हालत में बुरे रास्ते पर या फिर बुरे लोगों के साथ रहना पसंद नहीं करेगा.

✤ शायरी सुनने के लिए ✤
♫ player लोड होने दें ♫


इन फैमिली शायरियों को RJ Om इनकी आवाज़ में सुनकर आपके पिता की याद का एहसास होगा!

कोई भी पिता अपने बच्चों को हमेशा सही लोगों के साथ सही रास्ते पर चलने की सलाह देगा. आखिरी ये उनका हक ही नहीं बल्कि इनका यह कर्तव्य भी होता है कि अपने बच्चों को सही रास्ता दिखाते हुए उनके मार्गदर्शक बने. और पूरी दुनिया में भी इस बात की मान्यता है कि अपने बच्चों के सबसे पहले मार्गदर्शक, सबसे पहले शिक्षक उनके माता एवं पिता ही तो होते हैं.

अपने बच्चों के सपने पूरे करता पिता, खुद के ख्वाब भूल जाता है..

कोई भी बाप जब अपने बच्चों के पालन पोषण में लगा हुआ होता है, तो वह अपनी खुद की खुशियां भी जैसे भूल ही जाता है. उसे खुद की भूख प्यास से भी ज्यादा बढ़कर अपने बच्चों की भूख और प्यास की चिंता होती है. वह एक बाप ही होता है जिसकी आंखें घर आते ही बस अपने बच्चों को ढूंढने लगती है.


💕 Listen Uninterrupted Shayari 💕
🙏After Small Advertisement🙏



वो एक बाप ही होता है, जो अपने बच्चों की किसी भी जरूरतों के खातिर अपने खुद के खून पसीने को बहाने से भी पीछे नहीं हटता. उनकी मांगी हुई और बिना मांगी सभी मुरादो को पूरी करने के लिए जैसे अपनी जी-जान से कोशिश करता रहता है. इस तरह से वो अपने बच्चों को जो चाहे वह देने के लिए अपनी सारी उम्र खपा देता है.

लेकिन हर बार यह बात मुमकिन नहीं होती कि हर बच्चा भी अपने डैडी की हर ख्वाहिश, मां हर सपने को हर बार पूरा करें. कभी-कभी उसी मेहनती पापा के सपने उसके बच्चे पूरे नहीं कर पाते. और वो उन्हें बुढ़ापे में ही अक्सर छोड़ देते हैं.

बच्चों की किसी भी परेशानियों से लड़ने वाला पिता उनका फरिश्ता ही तो होता है..

हर कोई बाप अपने बच्चों की हर एक मुश्किल घड़ी में उसका साथ देता ही है. चाहे फिर वह अपने शारीरिक श्रम करते हुए उसके साथ हो या फिर मानसिक रूप से उसे वह अपना आधार देता हो. जब भी वह अपने बच्चों को किसी भी मुश्किल हालात से जूझता हुआ देखता है, या फिर वह अपने किसी बच्चे को किसी दुविधा में फंसा हुआ पाता है तो उससे यह बात देखी नहीं जाती.

वह अपनी पूरी जी जान लगा देता है और किसी भी हालत में अपने बच्चे को उस मुश्किल से मुश्किल हालात से छुड़ाने की पूरी कोशिश करता है. कोई भी पापा अपने बच्चों को किसी भी हाल में सुरक्षितता एवं अपनापन महसूस कराने के लिए अपने जीवन में कमाई हुई कोई भी चीज गंवाने के लिए हमेशा तैयार रहता है.

इस तरह से हर कोई बाप अपने बेटों के लिए जिंदगी की राह को आसान बनाते हुए उनके जिंदगी में एक तरह से कोई फरिश्ता ही बनकर आता है.

हर कोई पिता अपने मन की ख्वाहिशें किसी से जाहिर नहीं करता..

कोई भी बाप अपने बच्चों की किसी भी बात को बिना कहे ही समझ लेता है. यह बात उसे किसी ने बताने की भी जरूरत नहीं होती. क्योंकि हर एक बाप का बच्चा ही तो उसका दिल होता है. और अपने दिल की धड़कनों को कौन नहीं पहचान लेगा?

कोई भी पापा अपने बच्चों से इतना प्यार करते हैं कि उनकी ख्वाबों में अपने बच्चों की ही सपने आते हैं. वह अपने सपनों में भी अपने बच्चे को वह सारी चीजें देने के लिए आप कर तैयार रहता है जो उसे चाहिए होती है. लेकिन अक्सर कोई डैडी अपने बच्चों के लिए अपना प्यार हरदम जाहिर नहीं कर सकता.

ये शायद उसके डैडी होने की ही विडंबना होती है. लेकिन जो समझदार बच्चे होते हैं वह इस बात को भलीभांति जान लेते हैं, समझ लेते हैं. क्योंकि उन बच्चों में अपने पापा के ही समझदारी के गुण आए हुए होते हैं.

pita family shayari in hindi urdu

एक उम्र बित गई अपने 
बच्चों कि ख्वाहिशें पूरी करने में..

उसी पिता के सपने
लावारिस होते गए बुढ़ापे में..


ek umra beet gai apne, 
bacchon ki khwahishen
puri karne mein..
usi pita ke sapne 
laawaris hote gaye
budhape mein…

pita-2-family-shayari-father-hindi-poetry-1

pita per shayari latest shayari collection

मुश्किलों से लड़कर
मेरी जिंदगी को,

आसान बनाते गए..
मेरे पिता, मेरे फरिश्ते बन गए…

mushkilon se ladkar 
meri jindagi ko,
aasan banate gaye..
mere pita, mere
farishtey ban gaye…

latest and best family shayari collection in hindi urdu

जाहिर नहीं करते
अपने हर जज़्बात..

समझ लेते है पिता
बच्चों की हर एक बात..


jahir nahin karte 
apne har jazbaat..
samajh lete hain pita 
bacchon ki har ek baat…

pita-2-family-shayari-father-hindi-poetry-2

दोस्तों, अगर हमारी प्यार से भरी फैमिली शायरीयोंने आपके पिता को दिल से याद दिलाने में मदद की हो, तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करते हुए हमें जरूर बताइएगा.

Read more : Pita Family Shayari आपके पिता के प्रति सम्मान बढ़ायेगी!

अगर आप चाहते है कि आपको सारी अपडेट्स अपने Whatsapp पर मिले तो, जल्दी से ‘START’ इस मेसेज को +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नंबर पर सेंड कीजिए, आपकी सेवा 24 घंटो के भीतर शुरू हो जाएगी.

अगर आपको चाहिये कि अपने Twitter हैन्डल पर शायरी सुकून अपडेट्स मिले, तो हमें शायरी सुकून अकाउन्ट पर Follow जरूर करें.

One Response

  1. Santosh November 7, 2020

Add Comment