Pagalpan Shayari : 50+ Best Deewanepan Ke Khayal Status DP

Pagalpan Shayari : दोस्तों कहते हैं कि, जिस मोहब्बत में पागलपन ना हो, वह मोहब्बत मुकम्मल हो ही नहीं सकती. क्योंकि अपने प्यार के दीवानेपन का सुरूर आशिक के सर चढ़कर ही बोलता है. कुछ इसी तरह की चाहत की दीवानगी बताने वाली, इश्क पागलपन शायरी हम आपके लिए लेकर आए हैं.

हमें यकीन है कि आप भी अपनी महबूबा के इश्क का दीवानापन इन शायरियों की मदद से जरूर बयां कर पाओगे. तो चलिए दोस्तों अब अपने दिल के Deewanepan Ke Khayal जाहिर करें.

और साथ ही हमारे शायरी सुकून के फेसबुक पेज एवं टेलीग्राम चैनल को भी जरूर फॉलो कीजिएगा.

Table Of Content

  1. Pyar Me Pagalpan Shayari Ke Sath Apne Yaar Ki Yaadon Me Pagal Hona Chahoge
  2. Mohabbat Me Pagalpan Shayari Ke Sath Apni Chahat Jatayiye
  3. Pagalpan Shayari Image Ki Madad Se Apne Ishq Ke Jazbat Bayan Kijiye
  4. Pagalpan Shayari In Hindi Ke Sath Apni Dilruba Se Pyar bhari baat Kijiye
  5. Pagalpan Shayari Ki Madad Se Apne Dilbar Ko Dil Ki Baate Bata Dijiye
  6. Conclusion

Pyar Me Pagalpan Shayari Ke Sath Apne Yaar Ki Yaadon Me Pagal Hona Chahoge

1)

इश्क में तेरे डूबा रहता हूं
घरवाले कहते इसे पागलपन..

उन्हे क्या पता होगा स्वीटहार्ट
तुझमें ही महसूस हुआ अपनापन..

-Sagar

ishq mein tere dooba rehta hoon
ghar wale kahate hain ise pagalpan..
unhen kya pata hoga sweetheart
tujhme hi mahsus hua apna pan..

2)

मेरा जुनून अब भी वही हैं
तुम्हारे लिए पागलपन वैसा ही हैं..

कुछ बदला हैं तो वो वक्त हैं
मेरा प्यार तो अब भी वही हैं..

-Vrushali

mera junoon ab bhi vahi hai
tumhare liye pagalpan waisa hi hai..
kuchh badla hai to vah waqt hai
mera pyar to ab bhi vahi hai..

3)

मालूम नहीं हद मोहब्बत की,
अपनापन हो कितना..

कहना तुझे बेवफा मंजूर नहीं,
पागलपन है इतना..!

maloom nahin had mohabbat ki,
apnapan ho kitna..
kehana tujhe bewafa manjur nahin,
pagalpan hai itna..!

4)

तुझे कैसे समझाऊं मेरी जानेमन..

तेरे प्यार में आ रहा मुझे पागलपन..

-Sagar

tujhe kaise samjhau meri janeman..
tere pyar mein aa raha mujhe pagalpan..

5)

सोच कर जोड़ा जाए वो रिश्ता कैसा
जिसमें पागलपन न हो वो प्यार कैसा..

बेकाबू ये चाहत करेगी तुझे बेकरार
हद में रह कर बने वो अफसाना कैसा..

-Vrushali

soch kar joda jaaye vah rishta kaisa
jismein pagalpan na ho vah pyar kaisa..
bekaboo ye chahat karegi tujhe bekarar
had me rahkar bane vo afsana kaisa..

प्यार में पागलपन शायरी के साथ अपने यार की यादों में पागल होना चाहोगे

Pyar Me Pagalpan Shayari Ke Sath Apne Yaar Ki Yaadon Me Pagal Hona Chahoge
Pyar Me Pagalpan Shayari Ke Sath Apne Yaar Ki Yaadon Me Pagal Hona Chahoge
6)

एक तरफा मोहब्बत में
खो दिया खुद को..

पागलों की तरह ढूंढ
रहा हूं अब तुझको..

ek tarfa mohabbat mein
kho diya khud ko..
pagalon ki tarah dhundh
raha hun ab tujhko..

7)

गुलाब जामुन में चाशनी जैसे
मुकम्मल तौर पे भीगना चाहिए..

वैसे चाहे इश्क हो या जुनून
पागलपन तो होना ही चाहिए..

-Sagar

gulab jamun mein chashni jaise
mukammal taur per bhigna chahiye..
vaise chahe ishq ho ya junoon
pagalpan to hona hi chahiye..

8)

तेरे प्यार में ये पागलपन
बन बैठा हैं मेरी आज़माइश..

संभालो अब मुझे तुम ही
करता हूं यही गुज़ारिश..

-Vrushali

tere pyar mein yah pagalpan
ban baitha hai meri aajmaish..
sambhalo ab mujhe tum hi
karta hun yahi gujarish..

9)

कभी होश में होता मैं
तो कभी बेहोशी में खोता..

मतलबी प्यार का इंतजार करना
जैसे पागलपन ही होता..

kabhi hosh mein hota main
to kabhi behoshi mein khota..
matlabi pyar ka intezar karna
jaise pagalpan hi hota..

10)

दिल में मेरे ये कौन सा
मिला दिया है तूने रसायन..

तेरे बिना धड़कता नहीं अब
यही है मोहब्बत का पागलपन..

-Sagar

dil mein mere ye kaun sa
mila diya hai tune rasayan..
tere bina dhadakta nahin ab
yahi hai mohabbat ka pagalpan..

Mohabbat Me Pagalpan Shayari Ke Sath Apni Chahat Jatayiye

11)

दुश्मनों से खौफ़ नहीं हैं हमें
हम तो तुम्हारे खफा होने से डरते हैं..

पागलपन ऐसा सवार हैं हम पर
के तेरी हर मुस्कुराहट पे मरते हैं..

-Vrushali

dushmanon se khauff nahin hai hamen
ham to tumhare khafa hone se darte hain..
pagalpan aisa sawar hai ham per
ke teri har muskurahat pe marte hain..

12)

मोहब्बत बया आंखों से हो
मगर नजर झुकी है..

तुम्हारे प्यार में पागलपन की
हद गुजर चुकी है..

mohabbat bayan aankhon se ho
magar najar jhuki hai..
tumhare pyar mein pagalpan ki
had gujar chuki hai..

13)

एक दौर था जो सबने गुजारा
जिसे कहते है हम बचपन..

खिलौने के लिए रोना पड़े
ऐसा था वो मासूम पागलपन..

-Sagar

ek daur tha jo sabne gujara
jise kahate hain ham bachpan..
khilaune ke liye rona pade
aisa tha vo masoom pagalpan..

14)

आदत तेरे साथ रहने की ऐसी लगी हैं
के दिवानगी की हद मैंने पार कर दी हैं..

इसे मेरा पागलपन समझो या इश्क़
तुझसे दिल्लगी मैंने कुबूल कर ली हैं..

-Vrushali

aadat tere sath rahane ki aisi lagi hai
ke deewangi ki had maine paar kar di hai..
ise mera pagalpan samjho ya ishq
tujhse dillagi maine qubool kar li hai..

15)

किसी पर पागलपन जब है छाता..

कोई आशिक खुद का नहीं रहता..

kisi per pagalpan jab hai chhata..
koi aashiq khud ka nahin rahata..

मोहब्बत में पागलपन शायरी के साथ अपनी चाहत जताइए

Mohabbat Me Pagalpan Shayari Ke Sath Apni Chahat Jatayiye
Mohabbat Me Pagalpan Shayari Ke Sath Apni Chahat Jatayiye
16)

कोई कहे इसे पागलपन
तो कोई कहे आवारापन..

तुझ से बात किए बगैर
महसूस होता बंजारापन..

-Sagar

koi kahe ise pagalpan
to koi kahe awarapan..
tujh se baat kiye bagair
mahsus hota banjarapan..

17)

तेरा इंतजार मेरा पागलपन बन गया
एहतमाम पर ये रिश्ता बन गया..

मोहब्बत के बदले मोहब्बत नहीं मांगी
इसलिए मैं तेरा सच्चा आशिक बन गया..

-Vrushali

tera intezar mera pagalpan ban gaya
ehtamam per yah rishta ban gaya..
mohabbat ke badle mohabbat nahin mangi
isliye main tera saccha aashiq ban gaya..

18)

खुद को मैं बड़ा
होशियार समझता था..

शायद यही बड़ा
पागलपन कर बैठा था..

khud ko main bada
hoshiyar samajhta tha..
shayad yahi bada
pagalpan kar baitha tha..

19)

वैज्ञानिकों को हासिल होता
कोई उम्दा कारगर संशोधन..

क्योंकि अक्सर उनमें होता है
उसे खोजने का पागलपन..

-Sagar

vaigyanikon ko hasil hota
koi umda kargar sanshodhan..
kyunki aksar unme hota hai
use khojne ka pagalpan..

20)

लोग कहते हैं प्यार का जोग लिया हैं मैंने
पागलपन को अपने गले लगाया हैं मैंने..

वो क्या जाने मेरी इंतहा ए मोहब्बत
तेरी जुदाई को मुस्कुराकर सहा हैं मैंने..

-Vrushali

log kahate hain pyar ka jog liya hai maine
pagalpan ko apne gale lagaya hai maine..
vo kya jaane meri inteha e mohabbat
teri judaai ko muskura muskura kar saha hai maine..

Pagalpan Shayari Image Ki Madad Se Apne Ishq Ke Jazbat Baya Kijiye

21)

होंगे न जाने कितने,
पागलपन अपना दिखाने वाले..

हम हैं तेरे आशिक
जिंदगीभर साथ निभाने वाले..

honge na jane kitne,
pagalpan apna dikhane wale..
ham hain tere aashiq
jindagi bhar sath nibhane wale..

22)

तुझे हासिल करने का
मुझमें सवार है पागलपन..

लेकिन मोहब्बत से पा लूं तुझे
यही कहता है मेरा दीवानापन..

-Sagar

tujhe hasil karne ka
mujhmein sawar hai pagalpan..
lekin mohabbat se paa lun tujhe
yahi kahta hai mera deewanapan..

23)

बावजूद तेरे इनकार के
मैंने तुझसे इश्क़ किया..

अपने इस पागलपन में मैंने
सिर्फ़ तेरा ही नाम लिया..

-Vrushali

bavjud tere inqaar ke
maine tujhse ishq kiya..
apne is pagalpan me maine
sirf tera hi naam liya..

24)

शायद कोई कहता
मेरे दिल को भी अपना..

प्यार में पागल
होने का आता मुझे सपना..

shayad koi kahta
mere dil ko bhi apna..
pyar me pagal
hone ka aata mujhe sapna..

25)

भरे चौराहे पर गाड़ी रोककर
सबके सामने प्रपोज करूंगा..

ऐसा पागलपन मैं हमेशा ही
तेरे मुस्कान के खातिर करता रहूंगा..

-Sagar

bhare chaurahe per gadi rok kar
sabke samne propose karunga..
aisa pagalpan main hamesha hi
tere muskan ke khatir karta rahunga..

पागलपन शायरी इमेज की मदद से अपने इश्क के जज्बात बयां कीजिए

Pagalpan Shayari In Hindi Ke Sath Apni Dilruba Se Pyar bhari baat Kijiye
Pagalpan Shayari In Hindi Ke Sath Apni Dilruba Se Pyar bhari baat Kijiye
26)

आवारगी कहो या कहो दिवानगी
हर जन्म में मोहब्बत तुमसे ही होगी..

पागलपन ही कहो मेरा, पर यकीं हैं
हर हालत में तुम बस मेरी ही रहोगी..

-Vrushali

aawargi kaho ya kaho deewangi
har janm mein mohabbat tumse hi hogi..
pagalpan hi kaho mera, per yakin hai
har halat mein tum bas meri hi rahogi..

27)

प्यार की तन्हाई में
चैन की सांस तो लेता..

अगर इस पागल के
दिल को भी कोई अपना लेता..

pyar ki tanhai me
chain ki saans to leta..
agar is pagal ke
dil ko bhi koi apna leta..

28)

हाथ की नस काटकर मैं
प्यार जाहिर नहीं करूंगा..

ऐसे पागलपन से अच्छा मैं
तेरे जन्मदिन रक्त दान करूंगा..

-Sagar

hath ki nas kat kar main
pyar jahir nahin karunga..
aise pagalpan se achcha mai
tere janmdin rakt daan karunga..

29)

दुनिया लाख कोशिशें करें
हमें एकदूसरे से जुदा करने की..

मगर पागलपन ऐसा हैं मेरा
के होगी जीत हमारे इश्क़ की..

-Vrushali

duniya lakh koshish karen
hamen ek dusre se judaa karne ki..
magar pagalpan aisa hai mera
ke hogi jeet hamare ishq ki..

30)

मेरा पागलपन ही था, जो
मैं अपनों से दूर हुआ..

सोचता रहा आखिर तक
मुझसे क्या कुसूर हुआ..

mera pagalpan hi tha, jo
main apno se dur hua..
sochta raha aakhir tak
mujhse kya qusoor hua..

Pagalpan Shayari In Hindi Ke Sath Apni Dilruba Se Pyar bhari baat Kijiye

31)

तेरे आने से ही तो
सवार हुआ हैं ये पागलपन..

ना जानो तुम इस प्यार को
कहते हैं इसे दीवानापन..

-Vrushali

tere aane se hi to
sawar hua hai ye pagalpan..
na jano tum is pyar ko
kahate hain ise deewanapan..

32)

पागलपन की वजह से
शायद हो गया उनका गैर..

गलती थी मेरी जो
लिया मैंने मोहब्बत से बैर..

pagalpan ki vajah se
shayad ho gaya unka gair..
galti thi meri jo
liya maine mohabbat se bair..

33)

पागलपन ही तो था जो
तेरे दीदार से मैं मेरा ना रहा..

तेरी खुशी के लिए मेरी
जान भी कुर्बान, ये वादा रहा..

-Vrushali

pagalpan hi to tha jo
tere deedar se mai mera na raha..
teri khushi ke liye meri
jaan bhi kurbaan, yah vada raha..

34)

हाले दिल ज़माने को यूँ सुनाया नहीं करते
यादों के आखरी निशाँ यूँ मिटाया नहीं करते..

पागलपन हैं किसी को ठुकरा कर पछताना
गुज़र गए जो लम्हे फिर वो आया नहीं करते..

-Moeen

haal e dil jamane ko yun sunaya nahin karte
yadon ke aakhri nishan yu mitaya nahin karte..
pagalpan hai kisi ko thukra kar pachtana
gujar gaye jo lamhe fir vo aaya nahi karte..

35)

कहते हैं इश्क़ का रोग
लग जाए तो छूटता नहीं..

रोग से पागल हुआ हूं मैं अब
इस पागलपन को छुड़ाना नहीं..

-Vrushali

kahate hain ishq ka rog
lag jaaye to chhutta nahin..
rog se pagal hua hun main ab
is pagalpan ko chhudana nahin..

पागलपन शायरी इन हिंदी के साथ अपनी दिलरुबा से प्यार भरी बात कीजिए

Pagalpan Shayari In Hindi Ke Sath Apni Dilruba Se Pyar bhari baat Kijiye
Pagalpan Shayari In Hindi Ke Sath Apni Dilruba Se Pyar bhari baat Kijiye
36)

पागल था मैं जो मांगता
रहा हर किसी का हाथ..

औकात बताई सभी ने
और ठुकराया मेरा साथ..

pagal tha main jo mangta
raha har kisi ka hath..
aukat batayi sabhi ne
aur thukraya mera sath…

37)

ज़ालिम हैं दुनिया जो
मुझे पागल समझती हैं..

तेरे प्यार में खोया रहूं
तो दुनिया दीवाना कहती हैं..

-Vrushali

zalim hai duniya jo
mujhe pagal samajhti hai..
tere pyar me khoya rahun
to duniya deewana kehti hai..

38)

जिंदगी जरूर चाहता हूं
लेकिन तेरा साथ भी है जरूरी..

पागलपन तो मिला है
प्यार में तेरी याद भी है जरूरी..

jindagi jarur chahta hun
lekin tera saath bhi hai jaruri..
pagalpan to mila hai
pyar mein teri yaad bhi hai jaruri..

39)

क्या इलाज हैं इस
पागलपन का तेरे पास..

जो दिलाता हैं मुझे
सिर्फ़ तेरा ही अहसास..

-Vrushali

kya ilaaj hai is
pagalpan ka tere paas..
jo dilata hai mujhe
sirf tera hi ehsas..

40)

इस कदर मोहब्बत में
तेरी पागल हो जाऊंगा..

बार-बार याद आ कर
जहन में बस जाऊंगा..

is kadar mohabbat mein
teri pagal ho jaunga..
bar bar yad aakar
jehan me bas jaunga..

Pagalpan Shayari Ki Madad Se Apne Dilbar Ko Dil Ki Baate Bata Dijiye

41)

तेरे इश्क़ में हम
ये ज़माना भुला देंगे..

तुम हां कहो तो
ये पागलपन भी कर लेंगे..

-Vrushali

tere ishq mein ham
ye jamana bhula denge..
tum han kaho to
ye pagalpan bhi kar lenge..

42)

दीवानगी है इश्क
समझ गया हूं मैं..

जिंदा होकर भी
जैसे मर गया हूं मैं..

diwangi hai ishq
samajh gaya hun main..
jinda hokar bhi
jaise mar gaya hun main..

43)

तेरे इश्क़ का लग गया हैं
रोग अब इलाज़ कैसे करें..

पागलपन को मेरे दूर करें
ऐसी दवा इजात कौन करें..!

-Vrushali

tere ishq ka lag gaya hai
rog ab ilaaj kaise karen..
pagalpan ko mere dur karen
aisi dava ijaat kaun karen..!

44)

थोड़ा वक्त गुजर जाने दो
शोर हमारा भी होगा..

बस पागलपन चाहिए मन में,
दौर हमारा भी होगा..

thoda waqt gujar jaane do
shor hamara bhi hoga..
bus pagalpan chahiye man me,
daur hamara bhi hoga..

45)

वो भी ना हँस सका, मुझे रुलाने के बाद
मैं बहोत याद आया उसे भुलाने के बाद..

मेरे इश्क़ को पागलपन कहने वाली लड़की
मुझे माँगती हैं मन्नतों में, समझ आने के बाद..

-Moeen

vo bhi na hans saka, mujhe rulane ke baad
mai bahot yaad aaya use bhulane ke baad..
mere ishq ko pagalpan kahane wali ladki
mujhe mangti hai mannaton me, samajh aane ke baad..

पागलपन शायरी की मदद से अपने दिलबर को दिल की बातें बता दीजिए

Pagalpan Shayari Ki Madad Se Apne Dilbar Ko Dil Ki Baate Bata Dijiye
Pagalpan Shayari Ki Madad Se Apne Dilbar Ko Dil Ki Baate Bata Dijiye
46)

तेरा आशिक हूं जो फक़त तेरे
एक दीदार के लिए दौड़ा चला आता हूं..

पागलपन के इस अंधेरे में तेरे
चेहरे का नूर देखकर राहत पाता हूं..

-Vrushali

tera aashiq hu jo faqat tere
ek didar ke liye dauda chala aata hoon..
pagalpan ke andhere mein tere
chehre ka noor dekhkar rahat pata hoon..

47)

बात मान कर भी महबूबा
कोई, कहे जो पागल..

कैसे ना हो किसी
आशिक का दिल घायल..

baat man kar bhi mehbooba
koi, kahe jo pagal..
kaise na ho kisi
aashiq ka dil ghayal..

48)

किसी की खातीर खुद को कभी बेक़रार करो
रातों को उठ उठ कर किसी का इंतज़ार करो..

जो समझना हो तुम्हें, फलसफा जूनून का
पागलपन की हद तक किसी से प्यार करो..

-Moeen

kisi ki khatir khud ko kabhi bekarar karo
raton ko uth uth kar kisi ka intezar karo..
jo samajhna ho tumhe, falsafa junun ka
pagalpan ki had tak kisi se pyar karo..

49)

पता था एक दिन
चाहत में हम धोखा खाएंगे..

मगर मुझ जैसा
पागल आशिक वो कहां पाएंगे..!

pata tha ek din
chahat mein ham dhokha khayenge..
magar mujh jaisa
pagal aashiq vo kahan payenge..!

50)

हसीन ख्वाब चाहत के दिखा कर छोड़ गया
राहे वफ़ा में कोई अपना बना कर छोड़ गया..

पागल कर दिया किसी के जोग ने उसे
वो जोगी, सब को रुला कर छोड़ गया..

-Moeen

hasin khwab chahat ke dikha kar chhod diya
raahe wafa me koi apna banakar chhod gaya..
pagal kar diya kisi ke jog ne use
vo jogi, sab ko rula kar chhod gaya..

51)

देख ले जो अदाएं उनकी
घायल ही होता है..

प्यार करने वाला आशिक
पागल ही होता है..

dekh le jo aadaaye unki
ghayal hi hota hai..
pyar karne wala aashiq
pagal hi hota hai..

52)

मोहब्बत की गहराई
चाहे कितनी भी नाप लो..

पागलपन जरूरी है
चाहे तकदीर तुम भाप लो..

mohabbat ki gehrai
chahe kitni bhi naap lo..
pagalpan jaroori hai
chahe takdeer tum bhaap lo..

53)

तुझ बिन बेहद बेक़रार ये पागल दिल हैं
दिन तो कट गया, रात का कटना मुश्किल हैं..

"किनारा मंज़ील हैं" पागलों सी बात करते हो
इश्क़ में मँझधार उरूज और ज़वाल साहील हैं..

*उरूज : उदय
*ज़वाल : पतन

-Moeen

tujh bin behad bekarar ye pagal dil hai
din to kat gaya, raat ka katna mushkil hai..
“kinara manzil hai” paglon si baat karte ho
ishq me manzdhar uruz aur jawal sahil hai..

54)

पागलपन की हद ना
पूछो तुम मेरी..

जीने में हो गई है
अब आदत तेरी..!

pagalpan ki had na
poochho tum meri..
jeene me ho gai hai
ab aadat teri..!

Conclusion

Deewanepan Ke Khayal की मदद से आप अपने दिल की दीवानगी जरूर जाहिर कर पाओगे. इस बारे में आप क्या सोचते है दोस्तों?

Pagalpan Shayari को सुनकर अगर आप भी अपने पागलपन की हद भूल जाओ. तो हमें नीचे Comments करते हुए जरूर बताये. इस पोस्ट को अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर करने के लिए शुक्रिया!

You may like these related posts

1. Pagal Shayari -1: Best Mad Status For Whatsapp
2. Pagal Shayari In Hindi -2: Crazy Status Messages

इसी तरह से आप हमारे Youtube channel को भी join कर सकते हैं, ताकि आपको रोज नायाब शायरियां मिल सकें. इसके लिए अपने Youtube में सर्च करें Shayari Sukun और हमारे चैनल को, बेल आइकन दबाते हुए तुरंत join करें.

अब आप Reddit पर हमारे बेहतरीन शायरी अपडेट्स पाने के लिए शायरी सुकून केे अकाउन्ट को Follow भी कर सकते हैं.

बेहतरीन लव शायरियां देखने और सुनने की तमन्ना हैं? तो Love Shayari पर जरूर क्लिक करें.

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment