Most Helpful 30+ Umar Shayari (उम्र पर शायरी)

If you are getting older and older and want to share your experience at your age then this Umar Shayari is the best way to do it. Shayari on Umar are the best Hindi poetry form in which we can mention our age or our partner age in a love relationship. Download, share, and enjoy this Umar Shayari in Hindi.

जब आपकी उम्र बढ़ती है या फिर आपको आपकी माशूका की कम उम्र की बात को बयां करना होता है, तब आपको उमर पर लिखी शायरियों को जरूर पढ़ना चाहिए. वैसे कहते है की इश्क़ में कोई उम्र की सिमा नहीं होती है, ऐसा ही कुछ शायरी ऑन उमर, लम्बी उमर की दुआ शायरी, प्यार उमर नहीं देखता शायरी और ढलती उमर शायरी में लिखा गया है.

Table of Content

Umar Shayari on your age
Best Shayari on Umar
Pyar Umar nahi Dekhta Shayari
Conclusion


💕 Listen Uninterrupted Shayari 💕
🙏After Small Advertisement🙏



Umar Shayari on your age

Pyar Umar Nahi Dekhta Shayari
Pyar Umar Nahi Dekhta Shayari | Umar Shayari
1)

कच्ची उम्र हमारी
आपकी दिक्कत है..

मगर आपसे हमें
सच्ची मोहब्बत है..

-Vrushali

kachi umar hamari
aapki dikkat hai..
magar aapse hamen
sacchi mohabbat hai..

2)

जिंदगी बार-बार
ये अवसर नहीं देती..

इश्क होने की यारों
कोई उम्र नहीं होती..!

-Pallavi

jindagi bar-bar
ye avsar nahin deti..
ishq hone ki yaaron
koi umar nahin hoti..!

3)

उम्र बीत जाएगी
हमारी अब तनहाई में..

कैद जो हो गए है
हम तेरी बेवफ़ाई में..

-Vrushali

umar beet jayegi
hamari ab tanhai mein..
kaid jo ho gaye hain
ham teri bewafai mein..

4)

सच्ची मोहब्बत की गहराई में,
दिल मेरा तुम पर ही फ़िदा है..

मगर ये समझने के लिए अभी
दिलरुबा, तुम्हारी उम्र ही क्या है!

-Santosh

sacchi mohabbat ki gehrai mein
dil mera tum per hi fida hai..
magar ye samajhne ke liye abhi
dilruba, tumhari umar hi kya hai!

5)

उम्र से हम भले ही छोटे हैं..

मगर तजुर्बा तुमसे ज़्यादा रखते हैं..

-Vrushali

umar se ham bhale hi chote hain..
magar tajurba tumse jyada rakhte hain..

6)

चाहता हूं प्यार की जवानी चढ़ती जाए..

मोहब्बत की उम्र हमारे यूं ही बढ़ती जाए..

-Triveni

chahta hun pyar ki javani chadhti jaaye..
mohabbat ki umar hamare yun hi badhti jaaye..

7)

उम्र का मेरी ताल्लुक़
नहीं खूबसूरती से..

दिल है जवान, दूर हुं
आज भी बदसूरती से..

-Vrushali

umar ka meri taluq
nahin khubsurti se..
dil hai jawan, dur hun
aaj bhi badsurti se..

8)

रातों में अकेला अब
ना रह पाता हूं मैं सनम..

तुझ बिन कैसे उम्र
बिताऊंगा मैं जानेमन..

-Santosh

raaton mein akela ab
na rah pata hun main sanam..
tujh bin kaise umar
bitaunga main jaaneman..

9)

ये उम्र मेरी जैसे ही
बढ़ती जा रही है..

तेरी मोहब्बत वैसे ही
घटती जा रही है..

-Vrushali

ye umar meri jaise hi
badhati ja rahi hai..
teri mohabbat vaise hi
ghatati ja rahi hai..

10)

कैसे बीती तेरे बिन ये रातें,
प्यार में मुझे जरूरत है तेरी..

छोड़ो ना सनम यह बातें,
अभी कच्ची उम्र है मेरी..

-Pallavi

kaise biti tere bin ye raatein,
pyar mein mujhe jarurat hai teri..
chhodo na sanam yah baten,
abhi kacchi umar hai meri..

Best Shayari on Umar

Umar Shayari Status
Umar Shayari Status
11)

मेरी कच्ची उम्र से
तुझे बड़ी शिकायत है..

नादान हूं आज भी
ये भी तेरी ही इनायत है..

-Vrushali

meri kacchi umar se
tujhe badi shikayat hai..
nadan hun aaj bhi
ye bhi teri hi inayat hai..

12)

इश्क में हर हिसाब
अलग ही रखूंगा अब मैं..

उम्र भर महबूब को
ना भूल सकूंगा अब मैं..

-Triveni

ishq mein har hisab
alag hi rakhunga ab main..
umar bhar mehboob ko
na bhul sakunga ab main..

13)

अब तो हर वक्त तनहाई में ही
समाई मेरी ये जिंदगानी है..

शायद अब सारी उम्र मुझे बस
तुम्हारी जुदाई में ही बितानी है..

-Pallavi

ab to har waqt tanhai mein hi
samayi meri ye zindagani hai..
shayad ab sari umar mujhe bus
tumhari judai mein hi bitani hai..

14)

जो दोगे साथ ओ मेरे सनम,
सपने सभी पूरे कर दूंगा तेरे..

आओ जानम, उम्र भर के लिए
बैठ जाओ ना सामने मेरे..

-Santosh

jo doge sath o mere sanam,
sapne sabhi pure kar dunga tere..
aao janam, umar bhar ke liye
baith jao na samne mere..

15)

यारों याद रखना, यूं ही नहीं
मिलती मंजिल प्यार में..

एक उम्र बितानी पड़ती है
महबूब के इंतजार में..

-Triveni

yaaron yad rakhna, yun hi nahi
milti manzil pyar mein..
ek umar bitani padati hai,
mehboob ke intezar mein..

16)

मांगता हूं खुदा से इबादत में
सुबह शाम अब यही दुआएं..

महबूब की उम्र भले बढ़ जाए,
मगर दिल जवान ही रह जाएं..

-Pallavi

mangta hun khuda se ibadat mein
subah sham ab yahi duaaen..
mahbub ki umar bhale badh jaaye,
magar dil jawan hi rah jaaye..

17)

पता जो चला है बेवफाई का,
तो प्यार कौन करना चाहेगा..

एक बार होती है गलती उम्र में,
फिर से कौन दोहराना चाहेगा..

-Santosh

pata jo chala hai bewafai ka,
to pyar kaun karna chahega..
ek bar hoti hai galti umar mein,
fir se kaun dohrana chahega..

18)

शायद चाहत का बीता जमाना
याद करना होगा मुझे..

उम्र भर अब इसी गलती पर
पछताना होगा मुझे..

-Triveni

shayad chahat ka bita jamana
yad karna hoga mujhe..
umar bhar ab isi galti per
pachtana hoga mujhe..

19)

तुमने क्यों जरा भी
ना सोचा दर्द देते हुए..

एक उम्र बीती है मेरी
ये तजुर्बा लेते हुए..

-Pallavi

tumne kyon jara bhi
na socha dard dete hue..
ek umar biti hai meri
ye tajurba lete hue..

20)

तेरे बिन जुदाई का ये दर्द
घुट घुट कर सहना है..

उम्र भर दर्द की कहानी ही
सब को बयां करते रहना है..

-Santosh

tere bin judai ka ye dard
ghut ghut kar sahna hai..
umar bhar dard ki kahani hi
sabko bayan karte rahna hai..

Pyar Umar nahi Dekhta Shayari

21)

टूट गया है भरोसा तेरी
चाहत के इकरार में..

उम्र कट चली है हमारी
बस तेरे इंतजार में..

-Triveni

tut gaya hai bharosa teri
chahat ka iqrar mein..
umar kat chali hai hamari
bus tere intezar mein..

22)

प्यार का इतना तजुर्बा है के
रग रग में यार वो रवा है मेरा..

मुझसे उम्र क्या पूछते हो दोस्तों,
अभी तो इश्क जवां है मेरा..

-Pallavi

pyar ka itna tajurba hai ke
rag rag mein yaar vo rava hai mera..
mujhse umar kya puchte ho doston,
abhi to ishq jawan hai mera..

23)

सोच ना पाया कुछ भी अंजाम की तरह..

ढल रही है मेरी उम्र भी शाम की तरह..

-Santosh

soch na paya kuchh bhi anjam ki tarah..
dhal rahi hai meri umar bhi sham ki tarah..

24)

चाहता था मैं सुनना
हमेशा इकरार तेरा..

उम्र भर तन्हा ही रहेगा
अब दिल में प्यार मेरा..

-Triveni

chahta tha main sunna
hamesha iqrar tera..
umar bhar tanha hi rahega
ab dil mein pyar mera..

25)

तेरा हो जाने के लिए शायद
चाहत अभी काफी नहीं..

मोहब्बत करने के लिए अभी
मेरे दिल की उम्र काफी नहीं..

-Pallavi

tera ho jaane ke liye shayad
chahat abhi kafi nahin..
mohabbat karne ke liye abhi
mere dil ki umar kafi nahin..

26)

यादों के पुराने आईने में
आज सूरत दिख रही है तेरी..

नादानियां करते हुए ही
एक उम्र बीत गई है मेरी..

-Santosh

yadon ke purane aayine main
aaj surat dikh rahi hai teri..
nadaniya karte hue hi
ek umar beet gai hai meri..

27)

याद आती है आज भी प्यार भरी,
हम दोनों की सारी शैतानियां..

उम्र हो चली है मगर ये दिल
अब भी करना चाहे वो नादानियां..

-Triveni

yad aati hai aaj bhi pyar bhari,
ham donon ki sari shaitaniyan..
umar ho chali hai magar ye dil
ab bhi karna chahe vo nadaniyan..

28)

भूल जाऊंगा तुम्हें चाहे
अकेले गम सहना पड़े..

चाहे उम्र भर मुझे अब
तन्हा क्यों ना रहना पड़े..

-Pallavi

bhul jaunga tumhe chahe
akele gam sehna pade..
chahe umar bhar mujhe ab
tanha kyon na rahna pade..

29)

अब सिर्फ तेरे चाहत की ही
इबादत करना चाहता है..

नादान ये दिल उम्र भर बस
तुझसे मोहब्बत करना चाहता है..

-Santosh

ab sirf tere chahat ki hi
ibadat karna chahta hai..
nadan ye dil umar bhar bas
tujhse mohabbat karna chahta hai..

30)

यादों की रंजिशें दिल को तरसा जाती है..

कुछ मजबूरियां उम्र भर साथ निभाती है..

-Triveni

yadon ki ranjishe dil ko tarsa jaati hai..
kuchh majburiyan umar bhar sath nibhati hai..

31)

मांगा हुआ जो ना मिले तो अक्सर
जिंदगी के गुनहगार हो जाते हैं..

बचपन में जो जिद करते थे,
उम्र बढ़ते ही समझदार हो जाते हैं..

-Pallavi

manga hua jo na mile to aksar
jindagi ke gunahgar ho jaate hain..
bachpan mein jo jidd karte the,
umar badhate hi samajhdar ho jaate hain..

32)

चाहा था मोहब्बत में दिलदार,
मगर हरजाई मिली है..

तमाम उम्र अब मेरे मुकद्दर में
बस जुदाई लिखी है..

-Triveni

chaha tha mohabbat mein dildar,
magar harjai mili hai..
tamam umar ab mere muqaddar mein
bus judai likhi hai..

YOU MAY LIKE THESE POSTS:

Conclusion

If you loved this Umar Shayari, then please let us know by sending us an email at [email protected] or you can drop a comment message in the comment box below. If you want more amazing content from us then you can follow us on Facebook.

Add Comment