Latest Posts

Ijazat Shayari -2 उनकी इजाजत से ही उन पर Love बरसाना चाहोगे!

ijazat shayari : आप तो अपने महबूब से इतना प्यार करते हैं कि आप उनकी ijazat के बिना और उनके दिल के विरुद्ध कोई भी काम नहीं करना चाहते हो. और इसी बात में आपके दिलबर को आपकी sharafat दिखती है. और वह भी आपकी इन्हीं बातों से दिल लगाना चाहती है और लुटाना भी चाहती है.

उनकी aankhen भी तो आपकी ijazat shayari की मदद से मोहब्बत का हमेशा इजहार करती रहती है. और इसी वजह से उन्होंने आपके साथ आपकी ही लिखी हुई ijazat shayari में कहीं गई चाहत की सारी कसमे खाई है. चाहे कितने भी mausam क्यों ना बदलें, चाहे दुनिया उनके खिलाफ ही क्यों ना हो जाए. लेकिन फिर भी वह आपका और आप उनका साथ कभी छोड़ना नहीं चाहेंगे.

और प्यार की इन्हीं करने के कारण आप उनके दिल की बहुत करीब हो गए हो. आप उन्हें सारे जहां से और समूचे mausam से बचा कर sharafat से भरे अपने दिल के कमरे में ही छुपा लेना चाहते हो. ताकि दुनिया को उनके रहने का और उनके अस्तित्व का ही कहीं पता ना चले.

✤ शायरी सुनने के लिए ✤
♫ player लोड होने दें ♫


इन ijazat shayari को Ayuushii Shukkla इनकी आवाज़ में सुनकर उनसे फिर एक बार मिलने की इजाजत मांगना चाहोगे!

और अगर फिर भी दुनिया आप से उनके बारे में कभी पूछे भी तो आप दुनिया को पूरे sharafat के साथ बस यही जवाब दो कि उनका घर तो बस आपकी aankhen ही होता है.

और अगर किसी को उनसे मिलना होगा तुम उन्हें आपकी ijazat जरूर लेनी होगी. हम भी आपके दिल के सच्चे जज्बातों को और मोहब्बत को समझते हुए शायरी सुकून के मंच पर चंद ijazat shayari लेकर आए हैं. और हम उन्हें आपके सामने पेश करने की ijajat चाहते हैं.

ijazat shayari आपकी यार को छूने की इजाजत किसी और को कहां..?

आपने तो इन बैठी हुई ठंडी हवाओं को भी कब से नसीहत दे रखी है. अगर वह बहारों में और इन फिजाओं में बहना चाहती है, तो वे पूरी sharafat के साथ बहे. ताकि वो खुद बहते हुए किसी और को और खासकर आपके दिलबर को कोई तकलीफ ना पहुंचाए. और अगर वह कहीं बहते हुए आपकी महबूबा को छू कर चली जाएगी तो आप भी उसी बात कर रखना चाहोगे.

क्योंकि आपने अपने दिलबर कुछ होने की ijajat किसी और को बिल्कुल भी नहीं दी है. और आप ने तकल्लुफ किसी और को देना भी नहीं चाहते हो. कुछ इस कदर आपका अपने यार पर इश्क का रंग चढ़ चुका है कि आप किसी की भी नसीहत और हिदायत सुनना नहीं चाहते हो.

और आपको अब इस बात का भी यकीन हो गया है कि जिस कदर आप अपने यार के साथ मोहब्बत करते हो कुछ उसी प्रकार से आपका साथी भी आपसे तहे दिल से इश्क करता है.

Ijaazat shayari आपकी महबूबा sharafat से विदा लेने की आपसे इजाजत मांग रही है..

आपका साथी आपसे अगर कोई काम भी हो तो बिना ijajat की कभी नहीं करता है. वह उनकी वजह से आपको किसी बात की कोई तकलीफ नहीं देना चाहता है. और शायद यह बातें सच्चे प्यार में ही हो सकती है. जब भी वह अपनी aankhen झुकाती है तो जैसे वह शर्म से आप से बिछड़ने की इजाजत ही मांगती है.

Ijazat Shayari Image -1

ijazat-shayari-in-hindi-urdu
ijazat-shayari-in-hindi-urdu

जो आपके sharafat की और इस बदलते हुए mausam की कायल हो चुकी है. लेकिन फिर भी जब उसे आपकी बाहों में आने की तमन्ना होती है तब तो वह बिना ijajat के ही आपके पास दौड़ती हुई चली आती है. लेकिन जब उसे आपसे विदा लेना होता है तो वह अपनी aankhen और पलकें झुकाते हुए ही इस mausam के बदलने से पहले घर जाने की ijajat चाहती है.

लेकिन आपका दिल है कि उन्हें भला इतनी जल्दी कैसे जाने देगा! आपकी aankhen उनके मुखड़े को बस यूं ही ताकते रहना चाहता है.

ijaazat shayari अपने दिलबर के पास रहने का इंतजाम करना चाहोगे..

आपको तो उनके साथ इश्क फरमाते हुए हर बात की इंतजाम करने का दिल होता है. और शायद इसी वजह से आप उनके संग किये हुए सारे वादे निभाने की तहे दिल से कोशिश करते हो. और उन वादों के साथ-साथ आपके दिल की कई तमन्नाए भी आज भी अधूरी है. उन तमन्नाओं को भी आप अपने यार के साथ साझा करते हुए उन्हें पूरा करने की कोशिश करना चाहते हो.

उन्हीं चाहतों में से एक चाहत आपके दिलबर के aankhen और होठों की नमी चुराने की होती है. और इसी वजह से आप उन्हें यही बात कहना चाहते हो कि आज तक न जाने कितने mausam बदलें, लेकिन आपकी aankhen उन्हें देखने के लिए आज तक बस तरसती ही रही है.

और इसी वजह से आपकी aankhen अब बस एक उनका ही दरस देखना चाहती है. फिर उनकी एक दीदार के लिए आपको चाहे mausam बदलने तक ही इंतजार क्यों ना करना पड़े. लेकिन आप उनकी इजाजत लेकर ही अब इस जहां से रुखसत होना चाहते हो.

ijazat shayari in hindi urdu

गर्म हवाएं तुझको
क्यों ऐसे सता रही है..

मेरे अलावा ये इजाजत
मैंने किसीको नहीं दी है..

garm hawayein tujhko 
kyon aise sata rahi hai..
mere alava ye ijazat 
maine kisi ko nahin di hai..

top romantic shayari in urdu english thoughts  poetry | ijazat shayari

अपने कोमल हातों से
मेरी आंखे बंद करती रही..

बेइंतहा शराफत से वो मुझसे
रूखसत की इजाजत ले गई..

apne komal hathon se 
meri aankhen band karti rahi..
beinteha sharafat se vo mujhse
rukhsat ki ijaazat le gai…

romantic love shayari hindi urdu with images | whatsapp status | ijazat shayari

इस गर्मी के मौसम में भी,
कुछ खास इंतजाम कर लूं..

है मुझे अगर इजाज़त तो
लबों की नमी बरकरार रख लूं..

iss garmi ke mausam mein bhi,
kuch khas intezaam kar loon..
hai mujhe agar ijaazat hai to 
labon ki nami barkarar rakh lun…

Ijazat Shayari Image -2

ijazat-shayari-whatsapp-status
ijazat-shayari-whatsapp-status

हमारी इन ijazat shayari को सुनकर अगर आपका दिल और आपकी aankhen भी उन्हें अपने पास बुलाने की ijajat मांग रहा हो, तो हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करते हुए जरूर बताइएगा.

शायरी सुकून का Whatsapp चैनल ज्वॉइन करने के लिए ‘START’ यह मैसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नंबर पर सेंड कीजिए, आपकी सेवा 24 घंटो के भीतर चालू होगी.

फेसबुक पर शायरी के अपडेट्स पाने के लिए इस शायरी सुकून पेज को Like जरूर करें.

बेहतरीन लव शायरियां देखने और सुनने की तमन्ना हैं? तो यहाँ Love Shayari पर क्लिक करें.

Rate this post

5 thoughts on “Ijazat Shayari -2 उनकी इजाजत से ही उन पर Love बरसाना चाहोगे!”


  1. Subscribe to Channel
  2. व्वाह आयुषीजी?????? बढीया ??????
    “कंगल इरंडल…” इस तमिल गीत की याद आ गयी पहली शायरी से….

Leave a Comment