Listen to Beautiful Tasvir Shayari: Best 30+ तस्वीर शायरी

You are looking for the best Shayari for your or your girlfriend’s photograph then here you will find the best Tasvir Shayari collection. Tasveer Shayari means the Shayari written on a particular photo or image. Scroll through the post and read/listen to the world best तस्वीर शायरी.

Tasvir Shayari: जब से आपने अपने यार को देखा है, तबसे आपके दिल में उनकी जैसे तस्वीर ही छप गई है. आपका दिल तो बस एक आपके यार की तस्वीर आंखों में लिए प्यार के नगर में यहां वहां घूमता रहता है. वह आपके दिल में कुछ इस कदर बस गई है कि जैसे कोई आप से नजरें मिलाकर आपकी आंखों में देखें भी तो, उसे बस आपकी यार की तस्वीर नजर आ जाएगी.

ये मोजज़ा* भला अब कहाँ होता हैं
बिछड़ कर तुझ से कौन सोता हैं

सुना हैं मेरी तसवीर से लिपट कर
वो भी रातों को खूब रोता हैं

[*मोजज़ा - चमत्कार]

-Moeen

ye mojaja bhala ab kaha hota hai
bichad kar tujh se kon sota hai
suna hai meri tasvir se lipat kar
wo bhi raato ko khub rota hai



इन Tasveer Shayari को Aniruddh Narkhedkar इनकी आवाज़ में सुनकर अपने यार की तस्वीर को बार-बार देखते ही रह जाओगे!




आजकल आप की रातें भी तो उसकी तस्वीर को देखते देखते ही गुजरती है. और आप के दिन भी तो उनकी यादों में खोए हुए बीतते हैं. अब तो आपको सारे जहां में एक उनकी तस्वीर के सिवा और कोई नजर भी तो नहीं आता है. शायद आपने उनके प्यार में चाहत की हद ही पार कर ली हो. और आप अब बस उनके ही नाम की माला जपते हुए उनकी मोहब्बत का पैगाम अपने दिल के कागज पर लिखकर उनकी तस्वीर को ही सुना रहे हो.

Tasvir Shayari Image: आपकी तस्वीर को देख कर ही मेरा रोता हुआ दिल चुप हो जाता है…

Tasvir Shayari
Tasvir Shayari 2 Lines
1)

तेरी तस्वीर है बड़ी स्पेशल..

काश कैमरा होता हाय पिक्सेल..!

-Sagar

teri tasvir hai badi special..
kash camera hota high pixel..!

2)

उसके प्यार की मुझे
बेइंतेहा लत लग गई..

मेरी मदहोश आंखों में
उसकी तस्वीर छप गई..

-Anamika

uske pyar ki mujhe
beinteha lat lag gai..
meri madhosh aankhon mein
uski tasveer chhap gai..

3)

कुछ तस्वीरें लोगों के दिलों को
बेशुमार खुशियों से भर देती हैं..

कुछ तस्वीरें दिलों पर प्रहार कर
जख्मों को और गहरा कर देतीं हैं..

-Ehsaas by ketki

kuchh tasviren logon ke dilon ko
beshumar khushiyon se bhar deti hai..
kuchh tasviren dilon per prahar kar
zakhmo ko aur gehra kar deti hai..

tasvir 1 love shayari hindi poetry photograph 1
Tasvir Status | Shayari on Tasveer

Listen to Tasvir Shayari | Voice-Over: Sanket Mahindrakar



4)

कहीं देख ना लेना
तुम खुद की तस्वीर..

कहीं तुम खुद को
ना प्यार कर बैठो..!

-Santosh

kahi dekh na lena
tum khud ki tasvir..
kahin tum khud ko
na pyar kar baitho..!

5)

वक्त बदलेगा किसी दिन
रुख मेरी तस्वीर का..

उस रब के हाथ में है फैसला
अब मेरी तकदीर का..

-Vanshika

waqt badlega kisi din
rukh meri tasveer ka..
uss rab ke hath me hai faisla
ab meri taqdeer ka..

Tasvir Shayari Image
Tasvir Shayari Image


Listen to Tasveer Shayari by Vanshika Navlani

6)

एक बार हो जाए तेरी तस्वीर का दीदार..

जी भर के कर सकूंगा मैं तुमसे प्यार..

-Sapna

ek bar ho jaaye teri tasvir ka didar..
ji bhar ke kar sakunga main tumse pyar..

होता जो अगर कर्ज़ तो
हम चुका भी देते..

कमबख्त, नशा तस्वीर का है,
चढ़ता ही जा रहा है..

hota jo agar karz to
ham chukaa bhi dete..
kambakht, nasha tasvir ka hai
chadhta hi ja raha hai..

आईने को फिर से रिश्वत लेते
पकड़ लिया हमने..

दर्दे दिल का चेहरा तस्वीर में हंसता
पकड़ लिया हमने..

aayine ko phir se rishwat lete
pakad liya humne..
darde dil ka chehra tasvir mein hansta
pakad liya humne..

7)

तेरी तस्वीर बनाकर
सीने से लगाना चाहता हूं..

तुम्हें हमेशा के लिए मैं
अपना बनाना चाहता हूं..

-Anamika

teri tasvir banakar
sine se lagana chahta hun..
tumhen hamesha ke liye main
apna banana chahta hun..

8)

देख कर तुम्हारी तस्वीर
तुम्हें खत लिखना चाहूं मैं..

आंखों के सामने रखकर
उसे हमेशा देखना चाहूं मैं..

-Santosh

dekh kar tumhari tasveer
tumhe khat likhna chahun main..
aankhon ke samne rakh kar
use hamesha dekhna chahun main..

9)

वो तस्वीर भी अपनी थी
वो तकदीर भी अपनी थी..

वो लकीर भी अपनी थी
वो पीर वाली मन्नतें भी अपनी थी..

-Vanshika

woh tasvir bhi apni thi
woh taqdeer bhi apni thi..
woh lakeer bhi apni thi
woh peer wali mannaten bhi apni thi..

10)

मुझे अपनी नजरों से
दूर ना किया करो..

अपनी तस्वीर पर
यूं ना इतराया करो..

-Sapna

mujhe apni najron se
dur na kiya karo..
apni tasvir per
yun na itraya karo..

Tasveer Shayari
Tasveer Shayari

आजकल आपका दिल कहीं भी नहीं लग रहा है. आपके दिल को एक आपके महबूब के नाम के और उनकी तस्वीर के सिवा और कुछ भी तो तसल्ली नहीं दे रहा है. और इसी वजह से आपकी आंखें तो जैसे उनकी यादों में और उनके बातों को भी याद करते हुए ही भर आती है. आपको जब भी उनकी याद आती है तो आपका दिन जोरो से धड़कने लगता है और आपके रोम-रोम में जैसे उनका ही नाम लेकर लहू बहने लगता है.

मोहब्बत के लिये तरस रहे दिल को
यादों में छिपाई हुई तस्वीर मिली..

आपके इकरार से मेरे दिल को
जीने की नई उम्मीद मिली..

mohabbat ke liye
taras rahe dil ko
yaadon mein chhipai
hui tasvir mili..
aapke iqrar se mere dil ko
jeene ki nai ummid mili…

उनके चेहरे की मुस्कान ही आपको अब तक जिंदा रखे हुए हैं इस बात का आप को पूरी तरह से यकीन है. और जब वह आपको ना दिखाई दे, तो आपका दिल जोरो से जैसे रो पड़ता है. और इसी वजह से आप उन्हें याद करते हुए उनकी हंसती हुई tasveer को ही देखना चाहते हो ताकि आपके दिल को और ज्यादा दर्द ना हो सकें.

Tasveer Shayari 2 Lines
Tasveer Shayari 2 Lines
तस्वीर तेरी कल मुकम्मल कर ली मैंने..

फौरन उस पर आकर तितलियां बैठ गई..

tasvir teri kal mukammal kar li maine..

fauran us per aakar titliyan baith gai..

रखी है हमने तस्वीर फोन में उनकी..

वरना दीदार आजकल होता कहां..?

rakhi hai humne tasveer phone mein unki..

varna didar aajkal hota kahan..?

अब तो आप उनके चित्र को निकालते हुए उसमें रंग भरने की इच्छा ही करते रहते हो. उनकी आकृति देखकर ही अब आपके दिल को एक चैन और सुकून मिलता है

उस नादान को मैं क्या समझाता कि उसकी ये तस्वीर मेरे लिए क्या मायने रखती है…

अब तो आपके पास उनके ख्यालों में खो जाने के सिवा और दूसरा कोई काम भी नहीं है. आप अपनी महबूबा की तस्वीर को ही अपने हाथों में लेकर यूं ही गुमसुम उनके ख्यालों में खोए रहते हो. आपके घर में भी हर जगह बस आपके दिल पर की तस्वीरें आपने लगा कर रखी है.

Tasveer Status
Tasveer Status Image
11)

कहते हैं तस्वीरें झूठ नहीं बोलती..

पर बहुत से राज़ भी नहीं खोलती..

-Ehsaas by ketki

kahate hain tasviren jhooth nahin bolati..
par bahut se raaj bhi nahin kholti..

12)

तेरी प्यार भरी तस्वीर में रंग भरे ऐसे..

यह दुनिया देख कर दंग रह गई जैसे..

-Anamika

teri pyar bhari tasveer mein rang bhare aise..
yah duniya dekhkar dang rah gai jaise..

13)

दिल में तेरी खूबसूरत सी तस्वीर तो थी..

बस हाथों में तेरे नाम की लकीर नहीं थी..

-Vanshika

dil me teri khubsurat si tasvir to thi..
bus hatho me tere naam ki lakeer nahi thi..

मिल जाती अगर बादशाही एक दिन भी मुझे..

रियासत में, तेरी तस्वीर के सिक्के ही चलाते..

mil jaati agar badshahi ek din bhi mujhe..

riyasat me, teri tasveer ke sikke hi chalaate..

हंसती हुई उस तस्वीर को क्या पता..

देखके उसे कितना रोया जा रहा है..

hasti hui us tasvir ko kya pata..

dekhke use kitna roya ja raha hai..

14)

तेरी तस्वीर बना कर
प्यार जताना चाहूंगा..

दिल में रख कर तुम्हें
बाहों में भरना चाहूंगा..

-Santosh

teri tasvir banakar
pyar jatana chahunga..
dil mein rakh kar tumhe
bahon mein bharna chahunga..

15)

निगाहों में हम तेरी तस्वीर छुपा बैठे हैं
इन भीगी पलकों से नमी चुरा बैठे हैं..

हाल बयां करु ये इरादा तो नहीं था
इस ज़िद्दी दिल के आगे हार जो बैठे हैं..

-Ehsaas by ketki

nigahon mein ham tere tasvir chupa baithe hain
in bhigi palko se nami chura baithe hain..
haal baya karun ye irada to nahin tha
is ziddi dil ke aage haar jo baithe hain..

Shayari on Tasvir
Shayari on Tasvir
16)

कलम मेरी बनकर तू
खूबसूरत ग़ज़ल लिख गई है..

चांद सी तेरी तस्वीर
मेरी आंखों में छप गई है..

-Sapna

kalam meri bankar tu
khubsurat gazal likh gai hai..
chand si teri tasveer
meri aankhon mein chhap gai hai..

17)

एक पल के साथ ने इस
क़दर तेरा रक़ीब बना दिया..

तस्वीर ए यार जो देखी
अपना मोहताज बना लिया..

-Ehsaas by ketki

ek pal ke sath ne is
kadar tera raqeeb bana diya..
tasvir e yaar jo dekhi
apna mohtaj banaa liya..

बारिशें जब भी आती है,
यादें तेरी साथ लाती है..

छू कर दिल को मेरे, तस्वीर
तेरी ही दिखा जाती है..

barishen jab bhi aati hai
yaden teri sath lati hai..
chhu kar dil ko mere, tasveer
teri hi dikha jaati hai..

तस्वीर ना थी मेरे ख्यालों में
और ना ही लफ्ज़ थे किताबों में..

ताकता रहा चेहरा हंसता हुआ
चाहत हो गई सवाल जवाबों में..

tasvir na thi mere khayalon mein
aur na hi lafz the kitabon mein..
takta raha chehra hansta hua
chahat ho gai sawal jawabon mein..

Tasveer Shayari
Tasveer Shayari
18)

नई जान डाल गया मैं,
टूटती हुई दीवार में..

तेरी तस्वीर जो लटका दी,
अब उस दीवार से..

-Anamika

nai jaan daal gaya mai,
tutati hui deewar mein..
teri tasvir jo latka di,
ab us deewar se..

19)

खुदा बख़्श दे मेरी इन गुस्ताखियों को
तुम्हारे प्यार में हुई इन नादानियों को..

तेरी तस्वीर से अब नही बहलता ये दिल
रोके ना रोक सकूं दिल की मनमानियों को..

-Ehsaas by ketki

khuda baksh de meri in gustakhiyon ko
tumhare pyar mein hui in nadaniyan ko..
teri tasvir se ab nahin bahlta ye dil
roke na rok sakun dil ki manmaaniyon ko..

20)

तनहाई में दिल को मेरे
छोड़कर वो अकेले चलने लगी..

दीवार पर लगाई तस्वीर भी
अब हमें अधूरी लगने लगी..

-Santosh

tanhai mein dil ko mere
chhodkar akele vo chalne lagi..
deewar per lagai tasvir bhi
ab hame adhuri lagne lagi..

Tasvir par Shayari
Tasvir par Shayari
जब भी देखता हूं तेरी तस्वीर
मैं खुद पर काबू नहीं कर पाता हूं..

तुम तो कर देती हो आंखों से इशारे
मैं दिल की बात नहीं बोल पाता हूं…

jab bhi dekhta
hoon teri tasveer
main khud per kabu
nahin kar pata hun..
kar deti ho aankhon se ishaare
main dil ki baat
nahin bol pata hun…

ताकि आप कहीं भी जाएं और कुछ भी सोचे तो बस आपके महबूबा का ही ध्यान करें. उन्हीं की यादों में आप हमेशा उनसे ही बातें करते रहे. और जब आपके दिलबर ने उसकी इतनी सारी तस्वीरें देखी थी, तो वो अचंभित हो गई थी. वह तो आपसे बस यही पूछती रहती थी कि आखिर इन tasveer में ऐसा क्या है?

नहीं होते हो पास, तो
मिलने की फरियाद करते हैं..

तस्वीर देख तुम्हारी
जानम, हम तुम्हें याद करते हैं..

nahin hote ho paas, to
milane ki fariyad karte hain..
tasvir dekh tumhari
jaanam, ham tumhen yaad karte hain..

तस्वीरें इकट्ठा कर रखी है
मैंने मोबाइल में तेरी..

सिवाय इनके कोई खास
जायदाद नहीं है मेरी..

tasviren ekattha kar rakhi hai
maine mobile mein teri..
sivay inke koi khas
jaaydad nahin hai meri..

और उसके नादान से सवाल पर आप बस हंस देते थे. आप उनसे कुछ भी तो कह नहीं पाते थे. लेकिन दिल ही दिल में आप अपने खुदा से बस यही पूछते रहते थे कि अब इस नादान को मैं किस तरह से बताऊं कि उसकी यह tasveer ही तो मेरे जीने की एक वजह है बन गई है. 

अब तो बस यही सोचू कि तस्वीर से निकलकर कब मेरा घर बसाओगी…

tasveer shayari romantic thoughts on lover photo 3
Shayari on Tasveer
21)

तस्वीरों से तेरी बातें किया करते थे
हवाओं से तेरा ज़िक्र किया करते थे..

तू क्या जाने क्या गुज़रती थी हमपे
अक्स में अपने तेरा दीदार किया करते थे..

-Ehsaas by ketki

tasviron se teri baten kiya karte the
hawaon se tera zikra kiya karte the..
tu kya jaane kya gujarti thi hampe
aks mein apne tera deedar kiya karte the..

22)

तेरे दिए हुए गुलाब
और तस्वीर के ख्वाब..

उदासियां बहुत सी
भरते हैं मुझ में आज..

-Sapna

tere diye huye gulab
aur tasvir ke khwab,,
udasiyan bahut si
bharte hain mujh mein aaj..

23)

यादों की दरख़्त जो खोली एक दिन
कुछ पुरानी तस्वीरें कुछ क़िस्से मिले..

कुछ बेनाम सी पुरानी ख्वाहिशें मिलीं
तेरे नाम की स्याही में डूबे कुछ खत मिले..

-Ehsaas by ketki

yaadon ki darakht jo kholi ek din
kuchh purani tasviren kuchh kisse mile..
kuch benaam si purani khwahishen mili
tere naam ki syahi me dube kuchh khat mile..

24)

जब जब देखी है तेरी तस्वीर..

महसूस की है साथ तेरे तकदीर..

-Anamika

jab jab dekhi hai teri tasveer..
mahsus ki hai saath tere takdeer..

25)

यादों का कारवां जब निकला सैर पर
एक नन्हा सा मोती छलका पैर पर..

तस्वीरों ने अपनी गिरफ़्त में कुछ यूँ लिया
के जैसे महकती ख़ुश्बू से सराबोर कर..

-Ehsaas by ketki

yaadon ka karva nikala sair par
ek nanha sa moti chhalka pair par..
tasvir ne apni giraft mein kuchh yun liya
ke jaise mehakti khushboo se sarabor kiya..

Tasveer pe Sher
Tasveer pe Sher
26)

देखना चाहूं मैं हरदम तस्वीर तेरी ही..

यूं ही तुम रहो प्यार में हमेशा मेरी ही..

-Santosh

dekhna chahun main har dam tasvir teri hi..
yun hi tum raho pyar mein hamesha meri hi..

27)

समुंदरों के किनारे तस्वीरें नहीं बना करती..

सिर्फ ख्वाबों से तक़दीरें नहीं बना करती..

-Ehsaas by ketki

samudaron ke kinare tasviren nahin bana karti..
sirf khwabon se takdeeren nahi bana karti..

28)

तस्वीर देखकर मैं दीवाना हो गया..

आशिक तेरा अब यह परवाना हो गया..

-Sapna

tasvir dekhkar main deewana ho gaya..
aashiq tera ab yah parwana ho gaya..

29)

एक चेहरे को तस्वीर में क़ैद करना चाहता हूं
तेरी प्यारी सी सूरत आंखों में भरना चाहता हूं..

जब कभी भी ये जी चाहे दीदार कर सकूं तेरा
बस इतनी सी तुमसे मैं इज़ाज़त चाहता हूं..

-Ehsaas by ketki

ek chehre ko tasvir mein kaid karna chahta hun
teri pyari si surat aankhon mein bharna chahta hun..
jab kabhi bhi ye ji chahe didar kar sakun tera
bus itni si tumse main ijaajat chahta hun..

30)

यादें तेरी इस कदर
मेरे दिल को छू जाती है..

तस्वीर देखूं तेरी
तो धड़कनें बढ़ जाती है..

-Anamika

yaden teri iss kadar
mere dil ko chhu jati hai..
tasvir dekhu teri
to dhadkane badh jaati hai..

Tasvir Status Hindi
Tasvir Status Hindi
31)

जैसे हर तस्वीर में कई रंग होते है
ज़िन्दगी जीने के भी कई ढंग होते है..

कोई दुखों से भरी जिंदगी में भी खुश है
तो कुछ बेवजह बुराई का संग ढूंढते हैं..

-Ehsaas by ketki

jaise har tasvir mein kai rang hote hain
jindagi jeene ke kai dhang hote hain..
koi dukho se bhari jindagi mein bhi khush hai
to kuchh bewajah burai ka sang dhundhte hain..

32)

जिंदगी भर तुम्हारी
तस्वीर से प्यार करता रहूं..

इस कदर सपनों में भी
तुम्हारा दीदार करता रहूं..

-Santosh

jindagi bhar tumhari
tasvir se pyar karta rahun..
is kadar sapnon mein bhi
tumhara didar karta rahun..

33)

कभी यूँ भी हुआ है कि तेरी
तस्वीर पे ये नज़र रुकी..

और फिर तेरे ख़याल से
जैसे सारी क़ायनात रुकी..

-Ehsaas by ketki

kabhi yun bhi hua hai ki teri
tasvir ko ye najar ruki..
aur fir tere khayal se
jaise sari kaynat ruki..

34)

कुछ इस कदर तेरे
सादगी की महक छा गई..

आईने को भी तेरी तस्वीर
देखकर शर्म आ गई..

-Sapna

kuch is kadar tere
sadgi ki mehek chha gayi..
aaine ko bhi teri tasvir
dekhkar sharm aa gai..

35)

यूँ ही जो रूबरू होते रहे आपसे
तो सब्र भी हो तो कैसे हो भला..

बेहतर है तुम्हे तस्वीरों में संभालूं
और नज़रों में समा लूं हर एक अदा..

-Ehsaas by ketki

yu hi jo rubaru hote rahe aapse
to sabra bhi ho to kaise ho bhala..
behtar hai tumhe tasviron me sambhalu
aur najron mein sama lu har ek ada..

Tasveer Shayari Urdu
Tasveer Shayari Urdu
36)

दिल के आईने में हमेशा रखना चाहूंगा..

तेरी तस्वीर यूं ही मुकम्मल करना चाहूंगा..

-Anamika

dil ke aaine mein hamesha rakhna chahunga..
teri tasvir yun hi mukammal karna chahunga..

37)

हर मुस्कुराती हुई
तस्वीर कहानी नई कहती है..

जाने कितनी बातें हैं
जो तू अकेले ही सहती है..

-Ehsaas by ketki

har muskurati hui
tasvir kahani nai kahti hai..
jane kitni baten hain
jo tu akele hi sahti hai..

38)

दीदार मेरे आंखों को हमेशा करती रही..

तेरी तस्वीर ही मुझे घायल करती रही..

-Santosh

didar mere ankhon ko hamesha karti rahi..
teri tasvir hi mujhe ghayal karti rahi..

39)

दिल को क़रार आता है
तेरी तस्वीर देख कर..

वर्ना चला जाता कही दूर
तेरी यादें समेट कर..

-Ehsaas by ketki

dil ko karar aata hai
teri tasvir dekhkar..
varna chala jata kahin dur
teri yaade sametkar..

40)

कुछ इस कदर तेरी यादें
मेरे दिल में समा जाती है..

भूलना भी चाहूं तो तस्वीर
तेरी मुझे याद आ जाती है..

-Sapna

kuch is kadar teri yaade
mere dil mein sama jati hai..
bhulna bhi chahun to tasvir
teri mujhe yad aa jaati hai..

उसके दीदार के लिए तो जैसा आप तो कब से तरस रहे हो. अब तो आपके दिन और रात बस उसकी तस्वीर को देखते देखते ही कट रहे हैं. और इसी वजह से आप बस यही दुआ कर रहे हो कि वह जल्द से जल्द आपके घर आपकी दुल्हन बन कर आ जाए. और आपके दिल को और आपके घर को सजा कर आपको जिंदगी में सुकून दें.

Tasvir Shayari DP
Tasvir Shayari DP
41)

दिल के मंदिर में तेरी तसवीर बसा रखी है
तेरी यादों से, शाम की मांग सजा रखी है..

तेरा हाथ थाम कर ख़्वाबों में दूर तलक जाना
हम ने अपनी ये आदत सब से जुदा रखी है..

-Moeen

dil ke mandir mein teri tasveer basa rakhi hai
teri yaadon se shaam ki mang saja rakhi hai..
tera hath tham kar khwabon me dur talak jana
humne apni ye aadat sabse juda rakhi hai..

42)

कुछ इस कदर मन ही
मन में बहल जाता हूं..

तस्वीर देखते ही
तेरी मैं संभल जाता हूं..

-Anamika

kuch is kadar man hi
man mein bahal jata hun..
tasvir dekhte hi
teri main sambhal jata hun..

43)

उस अल्हड़ लड़की की आँखों में शरारत थी
ज़माने से छुप कर उसे देखने की हमें आदत थी..

उस की तसवीर तक को ना छुआ हम ने कभी
हम जानते थे वो किसी और की अमानत थी..

-Moeen

us alhad ladki ki aankhon mein sharart thi
jamane se chupkar use dekhne ki hamen aadat thi..
uski tasvir tak ko na chhua humne kabhi
ham jante the vo kisi aur ki amanat thi..

44)

तुम चाहे कितनी भी बदलो तस्वीरें..

रहना चाहूं मैं सिर्फ तुम्हारे ही दिल में..

-Santosh

tum chahe kitni bhi badlo tasviren..
rahana chahun main sirf tumhare hi dil mein..

45)

भिजवाया पैगाम बाद मुद्दतों चाँद नगर की रानी ने
तेरे बाद मुद्दतों किया मातम इस ज़िंदगानी ने..

तेरी तसवीर के टुकड़े किये जब हवाओं के हवाले
अरसे तक हैरत से देखा किया मुझे हैरानी ने..

-Moeen

bhijwaya paigaam baad muddaton chand nagar ki rani ne
tere baad muddaton kiya matam is zindgani ne..
teri tasveer ke tukde kiye jab hawaon ke hawalein
arse tak hairat se dekha kiya mujhe hairani ne..

Tasvir Shayri
Tasvir Shayri
46)

दिल के दरिया में तेरे
साथ यूं ही बहता रहूंगा..

तारीफ तेरे तस्वीर की
मैं हमेशा करता रहूंगा..

-Sapna

dil ke dariya mein tere
sath yu hi behta rahunga..
tarif tere tasvir ki
main hamesha karta rahunga..

47)

शहर की गलीयों में मुद्दतों से ख़ामोशी तारी है
जब से इश्क़ की हम ने ये बाज़ी हारी है..

रोज़ करता हुँ इरादा, दिल से भुला दू तुझे
फ़िलहाल तेरी तसवीर और इरादे में जंग जारी है..

-Moeen

shehar ki galiyon mein muddaton se khamoshi tari hai
jab se ishq ki humne ye baazi hari hai..
roj karta hun irada, dil se bhula dun tujhe
filhal teri tasvir aur irade mein jung jari hai..

48)

तन्हाई का दर्द मैं मुस्कुराकर पी रहा हूं..

तेरी तस्वीर के सहारे ही अब जी रहा हूं..

-Anamika

tanhai ka dard main muskura kar pi raha hun..
teri tasvir ke sahare hi ab jee raha hoon..

49)

कहा था उस ने तसवीर सीने से लगाए रखूँगी
चाहत का दीप सदा दिल में अपने जलाए रखूँगी..

वो वादा तो खैर, हालात की नज़र चढ़ गया
उस ने कहा था मिलन तक हाथ उठाए रखूँगी..

-Moeen

kahan tha usne tasvir sine se lagaye rakhungi..
chahat ka deep sada dil mein apne jalaye rakhungi..
vo vada to khair, halat ki najar chadh gaya
usne kaha tha milan tak hath uthaye rakhungi..

50)

छुप छुप कर तेरी
तस्वीर को मैं देखना चाहूं..

मैं यूं ही शायरियों में
अपनी तुम्हें लिखना चाहूं..

-Sapna

chup chup kar teri
tasvir ko main dekhna chahun..
main yun hi shayariyon me
apni tumhen likhna chahun..

Tasveer Shayari
Tasveer Shayari

Tasvir Hindi Shayari Thoughts, Quotes

हो जाती हैं आंख नम जब,
बेवजह याद तुम्हारी आती है..

जब तेरी मुस्कान भरी तस्वीर देखता हूं,
तो वो वजह कुछ ख़ास लगती हैं..

ho jaati hai aankh nam jab,
bewajah yad tumhari aati hai..
jab teri muskan bhari tasveer dekhta hun..
to vo vajah kuchh khas lagti hai…

वो कहते हैं के, तस्वीर मे क्या हैं..
अब उन्हे ये कौन बताये के..

यही तो एक निशानी हमारी
जो अब तन्हाई का सहारा हैं..!

vo kahate hain ke, tasvir mein kya hai.. 
ab unhen ye kaun bataya ke..
yahi to ek nishani hamari 
jo ab tanhai ka sahara hai..!

तेरी तस्वीर ही बस
देखता रहूं मैं सुबह शाम..

कब आओगी मेरे घर
बनके मेरी दिल और जान..

teri tasvir hi bas 
dekhta rahu main subah sham..
kab aaogi mere ghar 
banke meri dil aur jaan…

Tasvir Shayari Image
Tasvir Shayari Image
कौन सुनाएगा गीत दर्दमंदों की तरह
दिवाने होते हैं परिंदों की तरह..

तसवीरों को देखो गौर से वर्ना
हम उड़ जाएंगे अनकरीब रंगों की तरह..

-Moeen

kaun sunayega geet dard mando ki tarah
deewane hote hain parindo ki tarah..
tasviron ko dekho gaur se varna
ham ud jaenge ankareeb rangon ki tarah..

उसे क्या खबर रिवायत-ए-इश्क की
किसी को भूलने में ज़माना लगता हैं..

कल शब देखी पुरानी तसवीरें जो
अपना ही चेहरा अब अंजाना लगता हैं..

- Moeen

use kya khabar riwayat e ishq ki
kisi ko bhulne mein zamana lagta hai..
kal shab dekhi purani tasviren jo
apna hi chehra ab anjana lagta hai..

Tasveer Shayari | Image Quptes in Hindi
Tasveer Shayari | Image Quptes in Hindi
तेरी गलीयों से जब गुज़रता था
वो दिन कितने सच्चे लगते थे..

देखी जो तसवीरें पुरानी तो सोचा
हँसते हुए हम कितने अच्छे लगते थे..

-Moeen

teri galiyon se jab gujarta tha
vah din kitne sacche lagte the..
dekhi jo tasviren purani to socha
hanste hue ham kitne acche lagte the..

वो क्यों बिछड़ा जो अज़ीज़ था
हमेशा करता हुँ सवाल तकदीर से..

बिछड़ने का मलाल होगा उसे भी
बातें करती होगी अब मेरी तसवीर से..

-Moeen

woh kyon bichhada jo aziz tha
hamesha karta hun sawal takdeer se..
bichadane ka malaal hoga use bhi
baatein karti hogi ab meri tasvir se..

जब शहर में घटाए छाती होगी
वो बिजलीयों से फिर घबराती होगी..

देखकर पुरानी तसवीरों को वो
तन्हाई में खूब आँसू बहाती होगी..

-Moeen

jab shahar mein ghataayen chhati hogi
woh bijaliyon se fir ghabrati hogi..
dekh kar purani tasviron ko vah
tanhai mein khoob aansu bahati hogi..

Tasveer Shayari | Image Quptes in Hindi
Tasveer Shayari | Image Quptes in Hindi
दिन भर की बातें किसे सुनाती होगी
मेरे बाद अब किसे वो सताती होगी..

पड़ती होगी नज़र जब तसवीरों पर
हसरत भरी निगाहों से मुझे पुकारती होगी..

-Moeen

din bhar ki baatein kise sunati hogi
mere bad ab kise wah satati hogi..
padati hogi nazar jab tasveeron per
hasrat bhari nigahon se mujhe pukarti hogi..

तसवीरों को जब मेरी जलाया होगा
कैसे फिर खुद को समझाया होगा..

जो खामोश रहता हैं महफिलों में
ज़माने भर का वो सताया होगा..

-Moeen

tasviron ko jab meri jalaya hoga
kaise fir khud ko samjhaya hoga..
jo khamosh rahata hai mehfilon mein
zamane bhar ka woh sataya hoga..

Tasveer Shayari Image
Tasveer Shayari Image

YOU MAY LIKE THESE POST: Deedar Shayari

Summary

हमारी इन हसीन Tasvir Shaayri को सुनकर अगर आपको भी अपने दिलबर की तस्वीर यूं ही देखते रहने का मन हो रहा हो, तो हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करते हुए जरूर बताएं.

आपके Twitter पर हमारी हसीन शायरी अपडेट्स पाने के लिए हमारे शायरी सुकून केे अकाउन्ट को जरूर Follow करें.

Watch Tasvir Shayari Shayari on Tasveer

6 Comments

  1. Vrushali November 21, 2020
  2. Bhavana November 21, 2020
  3. Shraddha November 21, 2020
  4. Santosh November 21, 2020
  5. Aditi Kshirsagar November 21, 2020
  6. priyasridhar October 14, 2022

Add Comment