Love

Deedar Shayari: Best 50+ दीदार पर शायरी

Deedar Shayari: आपको अपने महबूब से दीदार शायरी की मदद से मिले हुए जैसे एक अरसा हो चुका है. लेकिन फिर भी वह आपसे मिलने के लिए नहीं आया है. और उसे आप यही बात कहते हो. आपके महबूब को हरदम याद करते ही आपको बस याद आती है.

और ऐसी शायरी को लिखते हुए आप उसकी यादों में खो जाते हो. और आपकी दीदार पर शायरी की मदद से आप अपने दिलबर के लिए दुआएं करना चाहते हो. हम भी आपके दिल के इन्हीं दुआओं को हमारे शायरी सुकून के मंच पर लाना चाहते हैं.

Table of Content



  1. Top 10 Deedar Shayari Collection
  2. Aap ka deedar Shayari
  3. Best Shayari on Deedar
  4. Deedar e yaar Shayari for love
  5. Romantic Deedar Shayari in Hindi
  6. Conclusion


इन दीदार शायरी को Santosh Salve इनकी आवाज में सुनकर अपने यार से तुरंत मिलना चाहोगे!


💕 Listen Uninterrupted Shayari 💕
🙏After Small Advertisement🙏




ताकि आपके deedar shayari की भावनाओं को आप अपने यार तक पहुंचा सको. और अगर ऐसा होता है तो आप हमारी दीदार शायरी को भी जरूर याद करेंगे. और साथ ही आपके दोस्तों के साथ इस शायरी को शेयर करना ना भूलें!

Top 10 Deedar Shayari Collection

Deedar Shayari | Shayari on Deedar
Deedar Shayari | Shayari on Deedar
1)

रात को आंखें बंद कर लेता हूं
तो दीदार तेरा हो जाता है..

लुत्फ़ उठा रहा होता हूं मैं
कमबख्त ये सूरज उग जाता है..

-Vrushali

raat ko aankhen band kar leta hun
to didar tera ho jata hai..
lutf utha raha hota hun mai
kambakht ye suraj ug jata hai..



2)

तुझसे मोहब्बत का
इजहार करने के लिए तड़पू..

दीदार के लिए सनम
तेरे, मैं दिन-रात तरसू..

-Anamika

tujhse mohabbat ka
izhaar karne ke liye tadpu..
didar ke liye sanam
tere, main din-raat tarsu..

3)

मेरे दिल का हाल तू समझती है
मेरी सभी ख्वाईशें तू जानती है..

जानता हूं मजबूर है तू और मैं भी
मगर ये आंखें तेरा दीदार चाहती है..

-Vrushali

mere dil ka haal tu samajhti hai
meri sabhi khwaishen tu janti hai..
jaanta hun majbur hai tu aur main bhi
magar ye aankhen tera didar chahti hai..

4)

तेरी मोहब्बत से ही
जाना, मेरी पहचान है..

तेरे दीदार के लिए
हाज़िर मेरी जान है..

-Santosh

teri mohabbat se hi
jana, meri pahchan hai..
tere didar ke liye
hazir meri jaan hai..

5)

हसरत-ए-दीदार की ख्वाहिश
लिए दर-बदर घूमता हूं..

जहां भी मिले तेरे अक्स,
अपने होठों से उन्हें चूमता हूं..

-Vrushali

hasrat-e-deedar ki khwahish
liye dar-badar ghumta hoon..
jahan bhi mile tere aks,
apne hothon se unhe chumta hun…



Deedar Shayari Image
Deedar Shayari Image

Listen to Deedar Shayari | Voice-Over: Aniruddh Narkhedkar


6)

दीदार जिस दिन तेरा होता है..

वो दिन मेरा बेहतरीन होता है..

-Sapna

didar jis din tera hota hai..
wo din mera behtarin hota hai..

7)

शब -ए -हिज़्र की ये घड़ियां
मुझसे बिताई नहीं जाती..

तेरे दीदार के बिना मुझसे
ये जुदाई सही नहीं जाती..

-Vrushali

shab-e-hizr ki ye ghadiyan
mujhse bitaai nahin jaati..
tere didar ke bina mujhse
ye judaai sahi nahin jaati…

8)

दुआ करता हूं तुम्हें भी
मुझसे प्यार हो जाए..

अब तो हसरत यही है कि
तेरा दीदार हो जाए..

-Anamika

dua karta hun tumhen bhi
mujhse pyar ho jaaye..
ab to hasrat yahi hai ki
tera didar ho jaaye..



9)

नकाब के पीछे वह अपना
हुस्न छुपा कर रखती है..

दीदार की हसरत लिए ये
नजरें उसपे ही टिकी रहती है..!

-Vrushali

nakab ke piche vah apna
husn chhupa kar rakhti hai..
didar ki hasrat liye ye
nazre uspe hi tiki rehti hai…!

10)

दीदार ना हो जब तक तेरा
खुद पर नहीं रहता काबू..

चले आओ बाहों में जानम
कहीं, ना हो जाऊं बेकाबू..

-Santosh

deedar na ho jab tak tera
khud per nahin rahata kaabu..
chale aao bahon mein jaanam
kahin, na ho jaaun bekabu..

Aap ka deedar Shayari

11)

मैं एक मरीज़-ए-इश्क़ हूं
तेरा दीदार ही मेरी दवा हैं..

एक दफा उतार अपना नकाब
देखे तो हुस्न कितना जवां हैं..

-Vrushali

main ek mareez-e-ishq hoon
tera didar hi meri dava hai..
ek dafa utar apna naqaab
dekhe to husn kitna java hai..

12)

चाहत का मरीज हूँ तुम्हारे
जानम, क्यों तेवर दिखाती हो..

दीदार करा दो अब तो सनम
क्यों पर्दे में मुखड़ा छुपाती हो..

-Sapna

chahat ka mareez hun tumhare
jaanam, kyon tevar dikhati ho..
deedar kara do ab to sanam
kyon parde mein mukhda chupati ho..



13)

मेरे सपनों में रोज
उसका दीदार होता हैं..

बस यहीं वजह हैं ये
आशिक जल्दी सोता हैं..

-Vrushali

mere sapnon mein roj
uska deedar hota hai..
bus yahi vajah hai ye
aashiq jaldi sota hai..

14)

जब भी तुम्हें सोचता हूं
तुम्हारा दीदार कर लेता हूं..

सपनों में देख कर भी
प्यार का इजहार कर लेता हूं..

-Anamika

jab bhi tumhen sochta hun
tumhara didar kar leta hun..
sapnon mein dekhkar bhi
pyar ka izhaar kar leta hun…

15)

तेरे हसीं दीदार के लिए मैं
रोज़ यहां खड़ा हो जाता हूं..

सखियों संग तुझे गुजरता देख
दिल में अपने सुकून पाता हूं..

-Vrushali

tere hasin didar ke liye main
roj yahan khada ho jata hun..
sakhiyon sang tujhe gujarta dekh
dil mein apne sukun pata hun..

Shayari on Deedar
Shayari on Deedar
16)

दिल को मेरे तहे
दिल से प्यार करना..

चाहूं मैं एक बार
तुम्हारा दीदार करना..

-Santosh

dil ko mere tahe
dil se pyar karna..
chahun main ek bar
tumhara deedar karna..



17)

सांसे भले ही रुक जाए हमारी
तेरे लौटने का इंतजार करते हुए..

इसी रास्ते पर हम मिलेंगे तुझे
तेरे दीदार की उम्मीद करते हुए..

-Vrushali

sanse bhale hi ruk jaaye hamari
tere lautne ka intezar karte hue..
isi raste per ham milenge tujhe
tere didar ki ummid karte hue..

18)

दिल से अपने दिल को मिला दो..

चांद से मुखड़े का दीदार करा दो..

-Sapna

dil se apne dil ko mila do..
chand se mukhde ka deedar kara do..

19)

किसी चीज की हमें कोई कमी नहीं थी
कुछ पाने की हमें कोई ख्वाहिश नहीं थी..

जब तक देखा नहीं था हमने आपको
तब तक किसी के दीदार की तड़प नहीं थी..

-Vrushali

kisi chij ki hamen koi kami nahin thi
kuchh pane ki hamen koi khwahish nahin thi..
jab tak dekha nahin tha humne aapko
tab tak kisi ke deedar ki tadap nahin thi..

20)

मेरे दिल की कशिश
जरा भी मिटती नहीं..

दीदार करूं तो मुखड़े से
नजर हटती नहीं..

-Santosh

mere dil ki kashish
jara bhi mitati nahin..
didar karu to mukhde se
najar hatati nahin..



Best Shayari on Deedar

21)

जब जब दीदार-ए-यार होता हैं..

ये दिल पंछी बनकर उड़ने लगता हैं..

-Vrushali

jab jab didar e yaar hota hai..
yeh dil panchhi bankar udne lagta hai..

22)

दर-दर भटकता हुआ
अब मैं कहां जाऊं..

दीदार करूं मैं तेरा तभी
दिल को चैन पाऊं..

-Sapna

dar dar bhatakta hua
ab main kahan jaaun..
didar karun main tera tabhi
dil ko chain paaun..

23)

दीदार से तेरे मेरी आंख खुले
तो दिन की हसीं शुरुवात होगी..

यूंही बीतेगा दिन आएगी रात
तू साथ होगी तो क्या बात होगी..

-Vrushali

didar se tere meri aankh khule
to din ki hasin shuruaat hogi..
yun hi bitega din aayegi raat
tu sath hogi to kya baat hogi..

24)

चांद से सुंदर मुखड़े का
उनके दीदार करना चाहूं..

फिर एक बार उनसे
मैं प्यार करना चाहूं..

-Anamika

chand se sundar mukhde ka
unke didar karna chahun..
fir ek bar unse
mai pyar karna chahun..

25)

तेरा दीदार जब होता हैं तो
आंखों में जैसे चमक आती हैं..

दिल में छिपी बातें अचानक
लफ्ज़ों पर आने लगती हैं..

-Vrushali

tera deedar jab hota hai to
aankhon mein jaise chamak aati hai..
dil mein chhipi baten achanak
lafzon par aane lagti hai..

Deedar Shayari Status
Deedar Shayari Status
26)

नाजुक सी पायल तुम्हारी
दिल का चैन छीन जाए..

तुम्हारे दीदार बिना कहां
मेरा दिल सुकून पाए..

-Santosh

nazuk si payal tumhari
dil ka chain chheen jaaye..
tumhare deedar bina kahan
mera dil sukoon paaye..

27)

तेरे दीदार के बिना दिन की शुरूवात न हो
जब तू नजर न आए तो मेरी रात ही न हो..

किसी दिन गर हो जाए तुझे आने में देरी
तो उस सूरज को भी ढलने की जल्दी न हो..

-Vrushali

tere didar ke bina din ki shuruaat na ho
jab tu nazar na aaye to meri raat hi na ho..
kisi din gar ho jaaye tujhe aane mein deri
to us suraj ko bhi dhalne ki jaldi na ho..

28)

इस दिल को सच्चे
प्यार का इजहार चाहिए..

नजरों को मेरी बस
तुम्हारा दीदार चाहिए..

-Sapna

is dil ko sacche
pyar ka izhaar chahiye..
najron ko meri bas
tumhara didar chahiye..

29)

हर शाम तेरे दीदार से रंगीन हैं
तेरे बिना रह पाना नामुमकिन है..

साथ ना हो किसी पल तुम
तो तेरे बिना ये समा गमगीन है..

-Vrushali

har shaam tere didar se rangeen hai
tere bina rah pana naamumkin hai..
sath na ho kisi pal tum
to tere bina ye sama gamgin hai..

30)

जो वह चाहेगा उसे लाकर दूं
मैं पसंदीदा सारी चीजें..

बस खुदा दीदार करने, उस
चांद को मेरे घर भेजें..

-Anamika

jo vah chahega use lakar dun
main pasandida sari chijen..
bas khuda didar karne, us
chand ko mere ghar bhejen..

Deedar e yaar Shayari for love

31)

उन्हें अपना बनाने की
ख्वाहिश मन में अब भी है..

उनके दीदार की आरजू
मेरे दिल में अब भी है..

-Santosh

unhe apna banane ki
khwahish man mein ab bhi hai..
unke didar ki arzoo
mere dil mein ab bhi hai..

32)

चांद का दीदार करने कल
जब तुम छत पर आई..

देखकर चांद सा सुंदर
मुखड़ा, लोगों ने ईद मनाई..

-Sapna

chand ka didar karne kal
jab tum chhat par aayi..
dekh kar chand sa sundar
mukhda, logon ne eid manayi..

33)

झलक देखने के लिए
तुम्हारी मैं तरसता रहूं..

दीदार की हसरत
मन में लिए घूमता रहूं..

-Anamika

jhalak dekhne ke liye
tumhari main tarasta rahun..
deedar ki hasrat
man me liye ghumta raha..

34)

सपनों में भी दीदार बस
तुम्हारा ही करता रहा..

चांद का मुखड़ा देखने के
लिए तुम पर मरता रहा..

-Santosh

sapnon mein bhi didar bus
tumhara hi karta raha..
chand ka mukhda dekhne ke
liye tum per marta raha..

35)

तमन्ना मेरे दिल में हर बार हो..

तेरे हुस्न का दीदार बार-बार हो..

-Anamika

tamanna mere dil mein har bar ho..
tere husn ka deedar baar baar ho..

Deedar Shayari Quotes in Hindi
Deedar Shayari Quotes in Hindi
36)

दीदार का जादू
हम पर भी आजमाना..

नज़रे करम जरा
हम पर भी फरमाना..

-Sapna

didar ka jadu
ham per bhi aazmana..
nazre karam jara
hum par bhi farmana..

37)

या मेरे मौला, मेरी
अर्जी स्वीकार कर ले..

एक बार मेरे
दिलबर का दीदार करा दे..

-Anamika

ya mere maula, meri
arji swikar kar le..
ek bar mere
dilbar ka didar kara de..

38)

आरजू यही है अब सुबह हो
तो आपके दीदार से ही हो..

हो मोहब्बत अगर हमें
तो आप जैसे यार से ही हो..

-Anamika

aarzoo yahi hai ab subah ho
to aapke deedar se hi ho..
ho mohabbat agar hamen
to aap jaise yaar se hi ho..

39)

दीदार हो जाएगा
एक बार तुम्हारा..

इस बात पर है
पूरा भरोसा हमारा..

-Santosh

didar ho jayega
ek bar tumhara..
is baat per hai
pura bharosa hamara..

40)

आंखों को होता हर
दिन तेरे दीदार का इंतजार..

अब तो सपनों में भी
करता हूं सिर्फ तुमसे प्यार..

-Santosh

aankhon ko hota har
din tere didar ka intezar..
ab to sapnon mein bhi
karta hun sirf tumse pyar..

41)

प्यार की चाहत में
दिल खोना चाहिए..

दीदार महबूब का
हमेशा होना चाहिए..

-Sapna

pyar ki chahat mein
dil khona chahiye..
deedar mahbub ka
hamesha hona chahiye..

Romantic Deedar Shayari in Hindi

रूह से आपको जाना है,
दीदार ना हो तो भी अच्छा..

दो जिस्म एक जान है हम,
एक ना हुए तो भी अच्छा..

-Rohan

rooh se aapko jana hai 
deedar na ho to bhi accha..
do jism ek jaan hai ham 
ek na huye tu bhi achcha..

जब कभी मेरा दिल,
अंजान शहर आता है..

दीदार हुआ किसी का भी तो,
तेरा चेहरा नज़र आता है..

-Rohan

jab kabhi mera dil
anjan shehar aata hai..
deedar hua kisi ka bhi to 
tera chehra najar aata hai..

Deedar Shayari Image -2
Deedar Shayari Image
तुम से बात कर के पुरी,
हर हसरत हो जाती है..

मगर तुम्हारा दीदार हो जाए तो,
जिंदगी खूबसूरत हो जाती है..

-Rohan

tumse baat karke puri 
har hasrat ho jaati hai..
magar tumhara didar ho jaaye to 
zindagi khubsurat ho jaati hai..

आजकल सांसे तुम्हारे बिना,
फेफड़ों के अंदर नहीं जाती..

हफ्ता गुजरा, दीदार नहीं तुम्हारा
तुम मुझसे मिलने क्यों नहीं आती..

-Rohan

aajkal sanse tumhare bina 
fefadon ke andar nahin jaati..
hafta gujara, deedar nahin tumhara
tum mujhse milane kyon nahin aati..

आंखो की चमक बढ़ रही है,
चेहरे पर खुशी उमड़ रही है..

जब से दिदार हुआ है तुम्हारा,
जिंदगी की खुशी बढ़ रही है..

-Rohan

aankhon ki chamak badh rahi hai 
chehre per khushiyan umad rahi hai..
jab se deedar hua hai tumhara 
zindagi ki khushi badh rahi hai..

जो गुज़रूँ कभी तेरी गली से
तेरे दिदार से मिलता सुकुन हैं..

तेरी चाह में फना हो जाऊँ
ये तेरे इश्क का जुनून हैं..

-Mooen

jo gujroo kabhi teri gali se 
tere deedar se milta sukun hai..
teri chah mein fanaa ho jaaun
yeh tere ishq ka junoon hai..

तेरी गलीयों में बसर हो जाए
तेरे चाहने वाले की ये ज़िंदगी..

ज़माना काफिर कहता हैं अब मुझे
जो मानता हुँ तेरा दिदार बंदगी..

-Moeen

teri galiyon mein basar ho jaaye 
tere chahane wale ki zindagi..
jamana kafir kahta hai ab mujhe 
jo manta hoon tera deedar bandagi..

यहीं माँगता हुँ अब दुआओं में
हर सुबह हो तेरे दिदार से..

सारा ज़माना तुझे मेरे नाम से जाने
और मेरी शोहरत हो तेरे प्यार से..

-Moeen

yahi mangta hun ab duaon mein 
har subah ho tere deedar se..
sara zamana tujhe mere naam se jaane
aur meri shohrat ho tere pyar se..

तुझे माँगा रब से सजदों में
फकीरों की ईद हैं तेरा दिदार..

दुआओं के लिए फिर क्यों हाथ उठाए
जिसे मिल जाए, जानाँ तेरा प्यार..

-Mooen

tujhe manga rabse sajdon mein 
faqiron ki eid hai tera didar..
duaon ke liye fir kyon hath uthayen 
jise mil jaaye, janaa tera pyar..

तेरी हसरतों में दिन गुज़रते हैं
तेरा दिदार हो जाए दिन ढले..

खुदा वो दिन भी दिखाए हमें
तू मेरा हाथ थाम कर चले..

-Moeen

teri hasrato mein din guzarte hain
tera deedar ho jaaye din dhale..
khuda vo din bhi dikhayen hamen 
tu mera hath tham kar chale..

Deedar Shayari Image -3
Deedar Shayari Image
अरसा हुआ बेवफ़ाई के बाद से,
तुम्हारा दीदार नहीं हुआ..

तुम गई तब खूब रोया पर,
तबसे दिल ज़ार-ज़ार नहीं हुआ..

*ज़ार-ज़ार होना - बहोत रोना

-Rohan

arsa hua bewafai ke bad se
tumhara didar nahin hua..
tum gayi tab khoob roya per 
tab se dil jar jar nahin hua…

दुखड़ा गाते गाते, अफसाने सुनाते सुनाते
दीदार होता तुम्हारा, आतीं तुम्हारी यादें..

भूलू तो कैसे भूलू मै वो,
नज़रे चुराकर देखने वाली आंखें..

-Rohan

dukhda gate gate, afsane sunate sunate
didar hota tumhara, aati tumhari yaaden..
bhulu to kaise bhulu main vah
nazre chura kar dekhne wali aankhen..

तुम्हारे दीदार ने तब,
दिलमे ज़ख्म दिया..

याद आया किस्सा,
कैसे तुमने रिश्ता ख़त्म किया..

-Rohan

tumhare didar ne tab
dil mein jakhm diya..
yaad aaya kissa
kaise tumne rishta khatm kiya..

Deedar Shayari | Sad Love Quotes Hindi Image
Deedar Shayari | Sad Love Quotes Hindi Image
तुम्हारे दीदार ने, 
जज़्बात ऐसे उछाले है..

मोहब्बत करके तुमसे,
पड़े दिल पर छाले है..

-Rohan

tumhare didar ne 
jazbaat aise unchale hain..
mohabbat karke tumse 
pade dil par chhale hain..

तेरी गलीयों में मिलता हैं सुकून
इश्क में दर्द के मारों को..

तेरे दिदार से मिलती हैं शिफा
तेरे चाहने वाले बेसहारों को..

-Moeen

teri galiyon mein milta hai sukoon
ishq mein dard ke maro ko..
tere deedar se milti hai shifa 
tere chahane wale besaharon ko..

शब ढले कभी तेरा दिदार किया
सदीयों तलक कभी तेरा इंतज़ार किया..

मुझे हरजाई कहने वाले बता ज़रा
किस ने मुद्दतों तुझे प्यार किया..

-Moeen

shab dhale kabhi tera didar kiya
sadiyo tak talaq kabhi tera intezar kiya..
mujhe harjai kahane wale bata jara
kisne muddaton tujhe pyar kiya…

उम्र बीत चली तेरा इंतज़ार करते करते
सदीया बीत जाए तुझे प्यार करते करते..

मौत भी आए मुझे तो यूँ आए
मैं अलविदा कहुँ तेरा दिदार करते करते..

-Moeen

umra beet chali tera intezar karte karte
sadiyan beet jaen tujhe pyar karte karte..
maut bhi aaye mujhe to yun aaye
mai alvida kahoon tera deedar karte karte..

मुझे युँ तन्हा छोड़ जाने वाले
मुझे अब तेरी याद आती हैं..

होता रहे तेरा दिदार शब-ओ-रोज़
यहीं लबों पर फरियाद आती हैं..

-Moeen

mujhe yun tanha chhod jane wale
mujhe ab teri yaad aati hai..
hota rahe tera didar shab-o-roj
yahi labon per fariyad aati hai..

मेरे नयन पूँछते हैं तेरा पता
ओ भुलने वाले कभी लौट आ..

तेरे दिदार को तरसती हैं आँखे
दिन ढले ख्वाब में चली आ..

-Moeen

mere nayan puchte hain tera pata
o bhulne wale kabhi laut aa..
tere didar ko tarasti hai aankhen
din dhale khwab mein chali aa..

Deedar Shayari | Sad Love Quotes Hindi Image -3
Deedar Shayari

YOU MAY LIKE THESE POSTS:

Conclusion

हमारी इन प्यार से भरी Deedar Shayari को सुनकर आपके मन में भी उनके दीदार की तमन्ना जाग उठी हो, तो हमें नीचे comment box में feedback देते हुए जरूर बताएं. शायरी सुकून का Whatsapp चैनल ज्वॉइन करने के लिए ‘START’ यह मैसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नंबर पर सेंड कीजिए, आपकी सेवा 24 घंटो के भीतर चालू होगी.

फेसबुक पर शायरी के अपडेट्स पाने के लिए इस शायरी सुकून पेज को Like जरूर करें.



Leave a Reply

Your email address will not be published.