Azad -1: Love Shayari सुनकर खुद के आजाद प्यार को याद कीजिए

Azad Shayari : जब से आपने अपने दिलबर से मोहब्बत की है तब से तो आपने जैसे खुले आसमान में azad पंछी की तरह उड़ान ही भरी है. आप खुद को बहुत ही खुशनसीब समझती हो. जैसे किसी ने इस गम से भरी दुनिया की बेड़ियों से, आपको azad किया हो.

वैसे तो बचपन से ही आप खुद को स्वतंत्र विचारों की मानती आयी हो, azad मानती आयी हो. लेकिन फिर भी जब से आप अपने महबूब के प्यार में पड़ गई हो, तो तब से आप जैसे और अधिक aazad हो गई हो. और इसी वजह से आपको जैसे पंछियों की तरह पंख लग गए हैं, कुछ ऐसा ही महसूस हो रहा है.

और आपको प्यार की हकीकत पता है कि आप खुद को जितना आजाद समझोगी, उतना ही आप अपने यार से खुल कर मोहब्बत कर सकोगी, उनसे सच्ची चाहत में अपना दिल लगा सकोगी. क्योंकि प्यार किसी से पूछकर या किसी की बातों में आकर तो किए जाने वाली चीज ही नहीं है.

उड़ता फिरूँ आज़ाद पँछी की तरह
तुझे चाहता हुँ… ज़िंदगी की तरह

खुदा सलामत रखे… सूरत यार की
जिसे देखता हुँ बंदगी की तरह

Moeen

udta firu azad panchi ki tarah
tujhe chahta hu..jindgi ki tarah
khuda salamat rakhe..surat yaar ki
jise dekhta hu bandgi ki tarah

शायरी सुनने ? के लिए
✤Player ?? लोड होने दें

इन Love शायरियों को Miss Bhavna Pohare इनकी आवाज़ में सुनकर आपको अपना आजादी भरा प्यार याद आ जाएगा!

आप जितना खुद को आजाद महसूस करेंगी, उतनी ही उनके प्यार में खुद को डूबा हुआ पाओगी. तो आइए फ्रेंड्स, आपके ऐसे ही आजाद मन को मोहब्बत की हकीकत से भरी दुनिया में ले चलते हैं और आपको शायरियों का नजराना सुनाते हैं.

दोस्तों आप जब आज़ाद होने की बात करते हो तो आपको chandra shekhar azad या फिर chandrashekhar azad इनकी याद आए बिना कैसे होगा. और इसी के साथ आपने कभी ना कभी तो maulana abul kalam azad इनके नाम से या फिर abul kalam azad इनके नाम से सर्च करते हुए अपने ज्ञान को जरूर बढ़ाया ही होगा ना दोस्तों.

हुआ जो आज़ाद तेरी बाहों से
चाहने वाला तेरा कहीं भटक जाएगा

तू दे अगर खैरात… दिदार की
हम फकीरों का मुकद्दर चमक जाएगा

Moeen

hua jo azad teri baho se
chahne wala tera kahi bhatak jayega
tu de agar khairat..didar ki
hum fakiro ka mukaddar chamak jayega

साथियों आपने सुभाष चंद्र बोस जी के  azad hind fauj के बारे में सुना नहीं होगा ऐसा हो ही नहीं सकता. और इसी के साथ ghulam nabi azad abdul kalam azad इनके बारे में कई सर्च आपको उपलब्ध हो जाएंगे. ताकि आप इनके बारे में अधिक जानकारी इकट्ठा कर सको.

आपके प्यार से आजाद होकर मुझे जीना ही नहीं है..

आप खुद को तो उनके प्यार में आजाद महसूस करती हो, खुद को स्वतंत्र पाती हो. लेकिन यह बात आपका दिलबर महसूस करना नहीं चाहता. वह तो बस यूं ही आपके प्यार में बंधा हुआ रहना चाहता है. वह आपके प्यार की बेड़ियों को ही अपने मन से, अपने दिल से लगा के रखना चाहता है.

यूं ही आपकी निगाहों की जेल में खुद को कैदी बना कर रखना चाहता है. और इस तरह के कैदी की जिंदगी वह चाहे तो उम्र भर भी जीने के लिए एक पाव पर तैयार है. और बस इसी वजह से वह आपसे हमेशा यही दरख्वास्त कर रहा है कि आप उसे किसी पंछी या फिर कबूतर की तरह आजाद मत करना.

कौन काफिर चाहता हैं आज़ाद होना
खुदा असीर* रखे सदा तेरी ज़ुल्फों का

तेरे हुस्न से आईना भी हैरान हैं
आईना भी हैं शैदा तेरी ज़ुल्फों का

[असीर – कैदी]
[शैदा – आशिक]

Moeen

kaun kafir chahta hai azad hona
khuda asir rakhe sada teri julfo ka
tere husn se aaina bhi hairan hai
aaina bhi hai shaida teri julfo ka

क्योंकि यह आजादी तो आपके प्यार की जकड़न से भी बहुत दर्दनाक होगी. वह आपसे एक पल के लिए भी बिछड़ने के लिए तैयार नहीं है. और इस वजह से वह आपको अपने ही प्यार का वास्ता देना चाहता है.

खुद के आज़ाद मन को बस उनके ही दिल में बंधा हुआ पाती हो आप..

आप हमेशा ही खुद को किसी आजाद परिंदे से कम नहीं महसूस करती. और यही बात आप अपने महबूब से बिना समझे कहना चाहती हो. लेकिन यह बात आप उनसे यूं ही कह नहीं सकती है. क्योंकि आपकी दिल में ही तो रहते हैं. और दिल में रहने वालों से आप किसी तरह की बात कहने की जरूरत ही नहीं होती.

उन बातों को समझने के लिए आप खुद ही तो आजाद होती है. और इसी वजह से आप अपने दिल में दबे हुए जज्बात रूपी पंछी को स्वतंत्र कराती हो. और उसी के संग आप विचारों की, और उनके ही यादों की दुनिया में यहां वहां उड़ती रहती हो.

हयात पाती हैं बहारें तुझ से
जुदा नहीं मेरी राहें तुझ से

आज़ादी तेरे इश्क से…मौत हैं
बोलती हैं बेतहाशा निगाहें तुझ से

Moeen

hayat pati hai bahare tujhse
juda nhi meri raahe tujhse
azadi tere ishq se..maut hai
bolti hai betahasha nigahe tujhse

लेकिन आपको भी पता है कि हर एक पंछी का कहीं ना कहीं बसेरा होता है, कहीं ना कहीं ठिकाना जरूर होता है. और इसी तरह से आप भी खुद का ठिकाना अपने दिलबर के दिल में बना कर ही तो आई हो.

और अब तो अपने इसी महबूब के दिल में रहना ही आप की ख्वाहिश है. उसी के प्यार भरे दिल में आप खुद को धड़कन के जैसे कैद किया गया पाती हो.

आपके आजाद मन को हम मोहब्बत की हकीकत से रूबरू करवाना चाहते हैं..

उन्होंने जब से आपके सामने अपने दिल के अरमान रखे है, तब से आपको उनकी एक एक आदतों के बारे में पता चल रहा है. उनकी इन्हीं आज़ाद सोच की आपको बेसब्री से फिक्र हो रही है.

आप उन्हें यही बात बताना चाहती हो कि जिस आजाद परिंदे जैसे मन की वो हर दफा बात करते हैं, उस मन को तो आपकी मोहब्बत कब का अपने गिरफ्त में ले चुकी है. क्योंकि आपको इस बात का अंदाजा है कि चाहत अर्थात खुद को अपने प्रेमी के बंधन में बांध लेना. उसी के जज्बातों के प्यारे बंधन को अपना मान लेना.

सदा सलामत रखे खुदा शबाब तेरा
कायनात में नहीं कोई… जवाब तेरा

तेरा ख्वाब आया… तू ना आया
बंदिशों में तू… आज़ाद ख्वाब तेरा

Moeen

sada salamat rakhe khuda shabab tera
qayanat me nhi koi..jawab tera
tera khwab aaya..tu na aaya
bandishe me tu..azad kwab tera

और ये बंधन आपके प्यार कि कोई जेल भी हो सकता है. या फिर किसी तरह का प्यार का पिंजरा भी हो सकता है. और आप भी अपने दिलबर को आपकी चाहत की इसी पिंजरे का जिक्र करते हुए उन्हें वह कैद जैसा पिंजरा दिखाना भी चाहती हो. ताकि आपका दिलबर किसी भी तरह की गलतफहमी में कतई ना रहे.


aazad shayari in hindi urdu

यु आजाद ना कर 
मुझे परिंदो की तरह..

मैने चाहा है तुझे
मेरी रुह की तरह..

yu azad na kar,
mujhe parindon ki tarah..
maine chaha hai tujhe 
meri rooh ki tarah..

azad-1-love-shayari-freedom-hindi-poetry-1


latest best romantic shayari collection in urdu english


हूं मैं आज़ाद वादियों में,
उड़ान भरते परिंदों की तरह..

फिर भी एक तेरा दिल है
जहां खुद को बंधी पाऊं धड़कनों की तरह…


hu mai azad wadiyon mein,
udaan bharte parindon ki tarah..
fir bhi ek tera dil hai, 
jahan khud ko bandhi
paaun dhadkanon ki tarah..



azad love shayari in hindi urdu | whatsapp status, poetry, quotes


आज़ाद रहने की उनकी
ख्वाहिश का पता चला है..

अब कैसे बताए उन्हें की
यहां बेइंतहा मोहब्बत का पिंजरा है..


azad rahane ki unki 
khwahish ka pata chala hai..
ab kaise bataen unhen ki 
yahan beinteha mohabbat
ka pinjra hai..

azad-1-love-shayari-freedom-hindi-poetry-2


दोस्तों हमारी रोमांटिक और प्यार से भरी शायरियों को सुनकर आप अगर अपने प्यार की आजादी को महसूस कर सको, तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करते हुए हमें जरूर बताएं.

 अब आप इन सारी शायरी अपडेट्स को सीधे अपने WhatsApp पर प्राप्त कर सकते हैं. इसके लिए ‘START‘ ये वॉट्सएप मेसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नं. पर भेज दीजिए. 24 घंटो के अंदर आपकी सेवा चालू हो जाएगी.

शायरी सुकून की बेहतरीन शायरियों को अपने फेसबुक पर प्राप्त करने के लिए इस शायरी सुकून पेज को Like और Share जरूर करें.

अपने दिल में छुपे हुए प्यार को याद करने के लिए इस Love Shayari कैटेगरी को एक बार जरूर क्लिक करें.

2 thoughts on “Azad -1: Love Shayari सुनकर खुद के आजाद प्यार को याद कीजिए”

Leave a Comment