Matlabi Duniya Shayari: Best 50+ मतलबी दुनिया शायरी [NEW]

Matlabi Duniya Shayari: आज तक आपने किसी से किसी भी बात की कोई ummid नहीं की थी. क्योंकि आपको यह बात तो पक्की पता है कि यह matlabi duniya आपके किसी भी ummid पर खरा नहीं उतर सकती. और इसी वजह से आपने जो भी khwahish की है वह अपने मन से ही की है. आपने आज तक कई लोगों से रिश्ते जोड़े हैं.

Table of Content

  1. Matlabi Duniya Shayari ki peshkash
  2. Matlabi Duniya Shayari in Hindi Collection
  3. Top 10 Duniya Matlabi hai Shayari Status
  4. Selfish Shayari in Hindi
  5. Duniya Matlabi hoti hai Quotes Hindi
  6. Conclusion

कई लोगों के खातिर आपने अपनी khwahish को भी दूर रखा है. और यही बात आपको अपने दिलबर के पास लेकर आई थी. क्योंकि एक आपकी महबूबा ही है, जिसकी khwahish को आप हमेशा पूरा करना चाहते हो. उसी के लिए आप इस matlabi duniya को हमेशा हमेशा के लिए भी छोड़ सकते हो, अपने दिल से दूर कर सकते हो.

✤ शायरी सुनने के लिए ✤
♫ player लोड होने दें ♫

इन Matlabi Duniya Shayari को Soumya Navghare इनकी आवाज़ में सुनकर दुनिया के जुल्मों सितम को भूलाना चाहोगे!

Log matlabi kyu hote hai?

जब बात स्वार्थ की हो, तो हमें लगता है वो सबमे थोड़ा बहुत होता ही है, और होना भी चाहिए. आपके मन में ये सवाल इसलिए आया है क्योकिं आपने अभीतक दुनिया का दस्तूर देखा ही नहीं. बड़े बड़े लोग कहकर गए है की कोई किसीका नहीं होता, इस बात से आपको थोड़ा बहुत समझ ही आया होगा.

You may like this: Kisi ke liye kitna bhi karo Quotes



Matlabi Duniya Shayari ki peshkash

1)

अपने मतलब के लिए लोग
भूखे इंसान को रोटी खिला देते हैं..

फोटो निकालकर अपनी महानता की
फिर मतलबी दुनिया को दिखा देते हैं..

-Vrushali

apne matlab ke liye log
bhukhe insan ko roti khila dete hain..
photo nikalkar apni mahanta ki
fir matlabi duniya ko dikha dete hain…

2)

मानता था मैं, दुनिया के
लिए कीमती होगा प्यार..

वहम था मेरा, मतलबी
निकला यह सारा संसार..

-Anamika

manta tha main, duniya ke
liye kimti hoga pyar..
veham tha mera, matlabi
nikla ye sara sansar..

3)

मतलबी निकली दुनिया
जिसे मैं देर से जान पाया..

कमजोरी थी मेरी, सभी को
अपना कहता चला आया..

-Santosh

matlabi nikali duniya
jise main der se jaan paya..
kamjori thi meri, sabhi ko
apna kahta chala aaya..

4)

हर गुनाह यहां माफ़ हो रहा हैं
इस दुनिया का चेहरा बदल रहा हैं..

मतलबी हैं यहां का हर शख्स
पैसों से यहां का काम चल रहा है..

-Vrushali

har gunah yahan maaf ho raha hai
is duniya ka chehra badal raha hai..
matlabi hai yahan ka har shakhs
paison se yahan ka kaam chal raha hai..

5)

अब न कोई उम्मीद है
न किसीसे शिकवा है..

जब अपने लोगों को भी
मतलबी बनते देखा है..

-Sagar

ab na koi ummid hai
na kisi se shikwa hai..
jab apne logon ko bhi
matlabi bante dekha hai..

Best Selfish Quotes in Hindi 🙂

Matlabi Duniya Shayari ki peshkash
Matlabi Duniya Shayari ki peshkash

You may like this: Rishta Shayari

6)

जान ना पाया मतलबी
इस दुनिया का हेतु..

मन में नहीं रखता था
मैं कोई किंतु परंतु..

-Sapna

jaan na paya matlabi
is duniya ka hetu..
man mein nahin rakhta tha
main koi kintu parantu..

7)

किसी की अच्छाई पर
उसे कोई कुछ नहीं बोलता..

मगर हो थोड़ा भी बुरा
तो उसे हर कोई टटोलता..

-Anamika

kisi ki achchai per
use koi kuchh nahin bolata..
magar ho thoda bhi bura
to use har koi tatolta..

8)

मतलबी इस दुनियां में तुम रहोगे कैसे
अपनी सादगी के साथ तुम जिओगे कैसे..

सब हैं मतलबी यहां, रहमदिल नहीं कोई
इन बेरहमों के जुल्म तुम सहोगे कैसे..

-Vrushali

matlabi is duniya mein tum rahoge kaise
apni saadgi ke sath tum jiyoge kaise..
sab hai matlabi yahan, rahamdil nahin koi
in berahmon ke julm tum sahoge kaise..

9)

बहुत रुलाती है ये जिंदगी
करती है हौसले की परख..

मगर तू अपना ये मासूम दिल
मतलबी दुनिया से बचाकर रख..

-Sagar

bahut rulati hai ye jindagi
karti hai housle ki parakh..
magar tu apna ye masoom dil
matlabi duniya se bacha kar rakh..

10)

मतलबी लोग नहीं
रखते दिल पर काबू..

दुनिया भी उनके साथ
बर्ताव करती बेकाबू..

-Santosh

matlabi log nahin
rakhte dil per kaabu..
duniya bhi unke sath
bartaav karti bekaabu..

आप इस matlabi duniya के साथ इक umra से ताल्लुक रखे हुए हो. और इन सभी लोगों के लिए ही अब तक जैसे आप जी रहे हो. लेकिन अब आपको पूरी तरह से इस बात का पता चल चुका है कि ये सभी matlabi duniya लोग हैं. इन लोगों के लिए काम करते करते आपकी एक umra बीत जाएगी लेकिन जो आपके मन की ummid और आपकी khwahish को कभी पूरा नहीं होने देंगे.

11)

जिस इंसान से अपना मतलब पूरा होता है..

उसे धोखा देना दुनिया का दस्तूर होता है..

-Sapna

jis insan se apna matlab pura hota hai..
use dhokha dena duniya ka dastur hota hai..

12)

जब तक होता है किसी से काम..

मतलबी दुनिया करती उसे सलाम..

-Anamika

jab tak hota hai kisi se kaam..
matlabi duniya karti use salaam..

13)

हर कोई मिलने आता हैं
यहां मुझे अपने मतलब से..

और एक मैं हूं जो बनाता हूं
इस दुनिया को बिना मतलब के..

-Vrushali

har koi milne aata hai
yahan mujhe apne matlab se..
aur ek main hun jo banata hun
is duniya ko bina matlab ke..

14)

मतलब ही देखेगी दुनिया चाहे
तुम बहाओ अपना लहू..

वरना दुनिया दूर से ही
टाल देती बात हुबहू..

-Anamika

matlab hi dekhegi duniya chahe
tum bahaon apna lahoo..
varna duniya dur se hi
taal deti baat hubahoo..

15)

बच न सका इंसान यहां
थोड़ा पाने की चाहत में..

गलतियां करता है अक्सर
भटकता है मतलबी दुनिया में..

-Sagar

bach na saka insan yahan
thoda pane ki chahat mein..
galtiyan karta hai aksar
bhatakta hai matlabi duniya mein..

Matlabi Duniya Shayari for Lovers 🙂

Matlabi Duniya Shayari in Hindi Collection
Matlabi Duniya Shayari in Hindi Collection

You may like this: Baat Nahi Karne Ki Shayari

16)

छोड़कर इस मतलबी दुनिया में तुझे..

कैसे महफूज़ रख सकता हूं मैं मुझे..

-Vrushali

chhodkar is matlabi duniya mein tujhe..
kaise mehfooz rakh sakta hun main mujhe..

17)

मतलबी दुनिया को देख कर,
बड़ा अफसोस होता है..

जो भी चंगुल में फंसे इसके,
अपने होश खोता है..

-Sapna

matlabi duniya ko dekhkar
bada afsos hota hai..
jo bhi changul mein fanse iske,
apne hosh khota hai..

18)

जो भी आ जाए चपेट में
इसकी, ऊब जाता है..

मतलबी दुनिया के चक्कर में
हर कोई डूब जाता है..

-Santosh

jo bhi aa jaaye chapet mein
iski, ubb jata hai..
matlabi duniya ke chakkar mein
har koi doob jata hai..

19)

तुम भला करोगे किसी का
तो तुम्हारा भी भला होगा..

मतलबी इस दुनिया में अब
भलाई का रंग ढूंढना होगा..

-Vrushali

tum bhala karoge kisi ka
to tumhara bhi bhala hoga..
matlabi is duniya mein ab
bhalai ka rang dhundhna hoga..

20)

मतलबी इस दुनिया के
पास नहीं है कोई दिल..

कमबख्त, मेरे अपने ही
निकले मेरे कातिल..

-Anamika

matlabi is duniya ke
paas nahi hai koi dil..
kambakht, mere apne hi
nikle mere qaatil..

और इसी वजह से आपको खुद ही खुद के लिए अब कुछ ना कुछ जरूर करना ही पड़ेगा. और कुछ इसी तरह का विश्वास से भरा हुआ विचार और shayari हम shayari sukun पर आपके लिए लाए हैं. हमें आशा है कि आप भी इन विचारों से सहमत जरूर होंगे.

Matlabi Duniya आपके किसी भी ख्वाहिश को ये लोग कभी पूरा नहीं होने देंगे..

आपने हमेशा ही सभी लोगों को अपना समझते हुए ही सभी तरह की मदद की है. किसी भी इंसान की umra का लिहाज करते हुए आपने उनकी ummid पर खरा उतरने की पूरी तरह से कोशिश की है. लेकिन यह matlabi duniya आपको अपने मन की khwahish पूरी करते हुए अच्छी तरह से जीने देने वाली नहीं है.

आप तो अपने दिल में कई सारी ummid लेकर इन कांटों से भरे sad रास्तों पर निकल पड़े हैं. आपको एक umra से अपनी ही sad जिंदगी से इन ummid को shayari से पूरा करने की चाहत है. लेकिन यह दुनिया आपके सामने जैसे कफ़स बना कर खड़ी हुई है. यहां पर हम आपको कफ़स का मतलब बताना चाहते हैं.

21)

जिसको आ गया है
कठिनाइयों में मुस्कुराना..

भला उसका क्या ही
बिगाड़ेगा मतलबी जमाना..

-Sagar

jisko aa gaya hai
kathinaiyon me muskurana..
bhala uska kya hi
bigadega matlabi zamana..

22)

बेवक्त दिखूंगा तेरे घर पर मैं
तो ये दुनिया हमें जीने नहीं देगी..

अपने मतलब के लिए वो हमपर
बे-ग़ैरत होने का इल्ज़ाम लगा देगी..

-Vrushali

bewaqt dikhunga tere ghar per main
to ye duniya hame jeene nahin degi..
apne matlab ke liye vo ham per
begairat hone ka ilzaam laga degi..

23)

मतलब परस्ती में डूबे हैं लोग यहां..

अपना समझ बैठा था मैं सारा जहां..!

-Santosh

matlab parasti mein dube hai log yahan..
apna samajh baitha tha main sara jahan..!

24)

मतलबी दुनिया से अपने
दिल को बचाना चाहता हूं..

झूठी खूबसूरती में उसकी
मन को रिझाना चाहता हूं..

-Sapna

matlabi duniya se apne
dil ko bachana chahta hun..
jhuthi khubsurti mein uski
man ko rijhana chahta hun..

25)

तुम मिले तो मुझे यकीन आया
बेवजह था तेरा प्यार नज़र आया..

मतलब के इस दुनियां में मैंने
तेरे जैसा बेमतलब यार पाया..

-Vrushali

tum mile to mujhe yakin aaya
bewajah tha tera pyar najar aaya..
matlab ke is duniya me maine
tere jaisa bematlab yaar paya..

Galatfahmi hai ye…! behad umda Shayari for Matlabi Duniya

Duniya Matlabi hai Shayari Status
Duniya Matlabi hai Shayari Status

You may like this: Nafrat Shayari

26)

दुनिया का मतलबी दस्तूर होता है दिखाऊ..

बात ये अपने दिल को मैं कैसे समझाऊं..

-Anamika

duniya ka matlabi dastoor hota hai dikhaau..
baat ye apne dil ko main kaise samjhaun..

27)

इतना फर्क है जीना और
जीने की रस्म निभाने में..

वरना मतलब से ताल्लुक
सबका है इस जमाने में..

-Sagar

itna fark hai jina aur
jeene ki rasm nibhane mein..
varna matlab se talluq
sabka hai is jamane mein..

28)

मतलबी इस दुनिया के
अंजाम में, कैसे बदलाव लाऊं..

चाहते हैं लोग सभी, तोड़ दूं
रिश्ते और पागल हो जाऊं..

-Anamika

matlabi is duniya ke
anjaam me, kaise badlav laau..
chahte hain log sabhi, tod du
rishte aur pagal ho jaaun..

29)

ये दुनियां तो मतलबी हैं
तुझे मतलब से ही मिलेगी..

मगर तुम ज़िंदा रखोगे
इंसानियत तो तुम्हें यहीं मिलेगी..

-Vrushali

ye duniya to matlabi hai
tujhe matlab se hi milegi..
magar tum jinda rakhoge
insaaniyat to tumhen yahi milegi..

30)

मतलब की कोई अफवाह, कभी ना फैलाना..

बातों में अपना बड़प्पन, कभी ना दिखाना..

-Santosh

matlab ki koi afwah, kabhi na failana..
baaton mein apna badappan, kabhi na dikhana..

कफ़स याने की कोई कारागार; कैदख़ाना या फिर किसी तरह की तंग जगह भी इसे हम कह सकते हैं. या फिर इसी को दूसरे शब्दों में हम शरीर या देह का पिंजरा भी कह सकते हैं. आपने तो जरूर देखा होगा कि अपने ख्वाब और khwahish को पूरा करते-करते ही कई लोगों की umra बीत जाती है. लेकिन आप इन sad लोगों की तरह अपनी umra यूं ही गवाना नहीं चाहते हो. और आपने यही ummid shayari को अपनी जिंदगी से लगाई हुई है.

Matlabi Duniya आपकी उम्र यूं ही बाकी लोगों की कहानियां सुनते सुनते बीत रही है…

आप हमेशा ही हर किसी इंसान पर जल्द ही भरोसा कर लेते आए हो. और शायद इसी बात का आपके इसी भोलेपन और इस sad बर्ताव का इस matlabi duniya ने फायदा उठा लिया है. जब आपकी ummid पर आपका दिलबर खरा नहीं उतरा था तो आप इसी matalabi duniyaa की तरफ अपनी khwahish और ummid लेकर आए थे.

31)

हंसती है आजकल मुझ पर
ये मतलबी दुनिया..

पागलपन और नादानी से जो
रिश्ता मैंने जोड़ लिया..

-Sapna

hansti hai aajkal mujh per
ye matlabi duniya..
pagalpan aur nadani se jo
rishta maine jod liya..

32)

मतलबी लोग लाते हैं
कहीं से भाड़े के टट्टू..

जो काम के लिए हर
किसी पर हो जाते लट्टू..

-Anamika

matlabi log late hain
kahin se bhade ke tattu..
jo kaam ke liye har
kisi par ho jaate lattu..

33)

मतलबी इतना भी मत बनो
के इंसानियत पर कलंक लग जाए..

मतलब की इस दुनिया में हम
इंसानियत का फर्ज़ ना भूल जाए..

-Vrushali

matlabi itna bhi mat bano
ke insaniyat per kalank lag jaaye..
matlab ki is duniya mein ham
insaniyat ka farj na bhul jaayen..

34)

मतलबी लोग चाहते हैं
दूसरों की अक्ल खर्च करना..

खुद के लिए भी नहीं आता
उन्हें जेब से खर्च करना..

-Santosh

matlabi log chahte hain
dusron ki akl kharch karna..
khud ke liye bhi nahin aata
unhe jeb se kharch karna..

35)

मतलब के लिए लोग
खुद पर लगा लेते हैं धब्बे..

काज पूरे होने के लिए
चाहे दुनिया क्यों ना डूबे..!

-Sapna

matlab ke liye log
khud par laga lete hain dhabbe..
kaaj pure hone ke liye
chahe duniya kyon na doobe..!

Status rakhne ke liye behad acchi shayari hai ye

Selfish Shayari in Hindi
Matlabi Duniya DP

You may like this: Gussa Shayari

36)

ये दुनिया अपने लिए जीती हैं
मतलब के लोगों से बातें करती हैं..

हो कभी कुछ गैर बात मुहल्ले में
तो अपने मतलब के लिए रोती है..

-Vrushali

ye duniya apne liye jiti hai
matlab ke logon se baten karti hai..
ho kabhi kuchh gair baat mohalle me
to apne matlab ke liye roti hai..

37)

मतलब परस्त होती है दुनिया
इस पर गौर करना..

अगर ना हो पूरा एक काम
तो कोई और करना..

-Sapna

matlab parast hoti hai duniya
is per gaur karna..
agar na ho pura ek kaam
to koi aur karna..

38)

अपनी खुदगर्जी के लिए
लोग न जाने क्या-क्या करते..

अपनी करतूत छुपाने के लिए
झूठ को सच साबित करते..

-Santosh

apni khudgarji ke liye
log na jaane kya-kya karte..
apni kartoot chhupane ke liye
jhooth ko sach sabit karte..

39)

मिल जाए कोई पुराना दोस्त
तो ये लोग उसका स्टेटस देखते हैं..

मतलबी हुई इस दुनिया में लोग
बस अपना मतलब ढूंढने लगते हैं..

-Vrushali

mil jaaye koi purana dost
to ye log uska status dekhte hain..
matlabi hui is duniya mein log
bus apna matlab dhundhne lagte hain..

40)

अपनी मतलबी करतूत छुपाना चाहती है..

दुनिया झूठ को भी सच बताना चाहती है..

-Sapna

apni matlabi kartut chhupana chahti hai..
duniya jhoot ko bhi sach batana chahti hai..

Matalabi Duniyaa ये जालिम लोग आपको अपने दिलबर से मिलने की कोशिश भी नहीं करने देते..

41)

अपने मतलब के लिए दिल दुखाती बेहद..

व्यवहार ये दुनिया का होता है दुखद..

-Anamika

apne matlab ke liye dil dukhati behad..
vyavhar ye duniya ka hota hai dukhad..

42)

मतलबी इस दुनिया के
अजब होते कायदे..

हो नुकसान किसी का भी, 
देखे जाते खुद के फायदे..!

-Santosh

matlabi is duniya ke
ajab hote kaayde..
ho nuksan kisi ka bhi, dekhe
jate khud ke faayde..!

43)

आज यह मतलबी दुनिया किसी के
मै यत पे रोने के लिए भी मतलब ढूंढती है..

हो कोई दूर का रिश्तेदार तो ये दुनिया
अपने काम को ज्यादा अहमियत देती है..

-Vrushali

aaj ye matlabi duniya kisi ke
mai yat pe rone ke liye bhi matlab dhoondti hai..
ho koi dur ka rishtedar to ye duniya
apne kaam ko jyada ahmiyat deti hai..

44)

खुदगर्जी के चक्कर हमेशा पड़ जाते हैं महंगे..

मतलबी दुनिया से आप दूर ही रहना चाहेंगे..!

-Anamika

khudgarji ke chakkar hamesha pad jaate hain mehenge..
matlabi duniya se aap dur hi rehna chahenge..!

Matlabi duniya ka qaida, wah..!

Duniya Matlabi hoti hai Quotes Hindi
Matlabi Duniya Status

Matlabi Duniya Shayari Hindi

45)

काटों से भरी इन राहों पर निकल
पड़े थे प्यार की उम्मीद लेकर..

मतलबी इस दुनिया में हमें
ख्वाब मिले क़फ़स में कैद होकर..

-Anamika

kaaton se bhari in rahon par nikal 
pade the pyar ki ummid lekar..
matlabi is duniya mein hamen
khwab mile qafas mein kaid hokar…

46)

होकर तन्हा चल पड़े हम
मतलबी दुनिया के किस्से सुनने..

पता चला किस्से तो अभी
बाकी है, बस उम्र ख़त्म हो चली...

-Santosh

hokar tanha chal pade ham
matlabi duniya ke kisse sunane..
pata chala kisse tu abhi 
baki hai, bas umra khatm ho chali…

Matlabi Duniya Status

47)

मन में बाकी थी एक ख्वाहिश
तुझे एक बार नजरों में भर लेने की..

मतलबी दुनिया ने ख्वाहिश
की सजा ही उम्रकैद सुना दी...

-Anamika

man mein baki thi ek khwahish
tujhe ek bar nazron mein bhar lene ki..
matlabi duniya ne khwahish 
ki saja hi umra kaid suna di…

48)

जिसे था मैंने चाहा बहोत
उस ने मुझे सताया हैं बहोत

वो पूँछते हैं सबब आने का
अब के मतलबी दुनिया हैं बहोत

-Moeen

jise tha maine chaha bahot
uss ne mujhe sataya bahot
wo puchte hai sabab aane ka
ab ke matlabi duniya hai bahot

49)

चलते चलते किसी का दिल टूट जाये
इस मतलबी दुनिया का फ़साना निराला है..

कभी किसी को सारा जहाँ मील जाए
तो कभी कोई भीड़ में भी अकेला है..

-Santosh

chalte chalte kisi ka dil tut jaaye
is matlabi duniya ka fasana nirala hai..
kabhi kisi ko sara jahan mil jaaye
to kabhi koi bheed main bhi akela hai..

50)

मैं ना निकलता तो रुसवाई होती
उस ने जाने का इशारा कर दिया

उम्मीदें तकलीफ देने लगी थी इसलिए
मतलबी दुनिया से किनारा कर लिया

-Moeen

mai na nikalta to rusvai hoti
uss ne jane ka ishara kar diya
ummide taklif dene lagi thi isliye
matlabi duniya se kinara kar liya

51)

जो दूर चला गया छोड़ कर अब
आँख बंद करूँ तो पास आती हैं

अपनी पहचान पर इतराने वालों
मतलबी दुनिया किसे रास आती हैं

-Moeen

jo dur chala gya chor kar ab
aankh band karu to pas aati hai
apni pahchan par itrane walon
matlabi duniya kise ras aati hai

matlabi-duniya-1-selfish-sad-shayari-poetry-2
Matlabi Duniya Shayari Quotes

Conclusion


Sometimes we need to tell people that they are being very selfish. Keeping this intention in mind we have published this Shayari on Matlabi Duniya. हमारी इन Matlabi Duniya Shayari की मदद से और आपके दिल की बात और ख्वाहिशें उभर कर आ गई हो, तो हमें नीचे comment section में feedback देते हुए बताना ना भूलियेगा.

अगर आपको चाहिये कि अपने Twitter हैन्डल पर शायरी सुकून अपडेट्स मिले, तो हमें शायरी सुकून अकाउन्ट पर Follow जरूर करें.

2 Comments

  1. Santosh February 2, 2021
  2. Aditi Kshirsagar February 3, 2021

Add Comment