Sad

Ahmad Faraz Shayari In Hindi -2: Dard Bhari Poetry

Ahmad Faraz Shayari In Hindi : दोस्तों अगर आप भी अपने जिंदगी में आए हुए प्यार के गम को भुलाने की कोशिश कर रहे हो. और इसी कोशिश का एक हिस्सा अहमद फराज साहब की शायरी में ढूंढ रहे हो. तो हमारी यह पोस्ट आपके लिए बिल्कुल सटीक बनी है. क्योंकि हम खास आपके लिए ही प्यार के दर्द पर लिखी अहमद फराज शायरी इन हिंदी लेकर आए हैं. हमें यकीन है कि आज की हमारी Faraz Ahmad Shayari, Shayari Faraz आपको बहुत पसंद आएगी.

Friends when we feel so sad and lose our hope in our life. Then we should read and listen Ahmad Faraz Shayari In Hindi, Ahmad Faraz Shayari Collection In Hindi. If you will like today’s Ahmad Faraz Shayari on love. then please download Ahmad Faraz Shayari Image.

✤ शायरी सुनने के लिए ✤
♫ Player लोड होने दें ♫


Ahmad Faraz Shayari:
by Ravindra Menon

दोस्तों हमें यकीन है कि आप भी हमारी आज की Ahmad Faraz Poetry In Hindi, Ahmed Faraz Shayari 2 Lines का लुत्फ़ जरूर उठाएंगे. और साथ ही आप अपने दोस्तों एवं चहेते इंसानों को भी इन सभी शायरियों की इमेजेस शेयर चैट पर भी जरूर शेयर करें.

Table of Content

  1. Ahmad Faraz Poetry In Hindi – अहमद फराज पोएट्री इन हिंदी
  2. Ahmad Faraz Shayari – अहमद फराज शायरी
  3. Ahmad Faraz Shayari In English – अहमद फराज शायरी इन इंग्लिश
  4. Ahmad Faraz Shayari In Hindi – अहमद फराज शायरी इन हिंदी
  5. Ahmad Faraz Shayari 2 Lines – अहमद फराज शायरी 2 लाइंस
  6. Conclusion

Ahmad Faraz Poetry In Hindi – अहमद फराज पोएट्री इन हिंदी

Ahmad Faraz Poetry In Hindi
Ahmad Faraz Poetry In Hindi
1)

ये वफा तो उन दिनों की बात है 'फराज'

जब मकान कच्चे और लोग सच्चे हुआ करते थे..

ye wafa to un dinon ki baat hai ‘faraz’

jab makan kacche aur log sacche hua karte the..

2)

गुफ्तगू अच्छी लगी, जौक-ए-नज़र अच्छा लगा..

मुद्दतों के बाद कोई हमसफ़र अच्छा लगा..

guftagu achi lagi, jauk-a-najar achcha laga..

muddaton ke baad koi humsafar achcha laga..

अहमद फ़राज़ Poetry In Hindi की मदद से अहमद फराज साहब सच्चे प्यार के पुराने दिनों की याद दिलाना चाहते हैं. और किस तरह से आशिक को अपना दिलबर कई मुद्दतों और मिन्नतों के बाद मिलता है यही बताना चाहते हैं.

Ahmad Faraz Shayari – अहमद फराज शायरी

3)

तुम तकल्लुफ़ को भी इख्लास समझते हो 'फ़राज'

दोस्त होता नहीं हर हाथ मिलाने वाला..

tum takalluf ko bhi ikhlaas samajhte ho faraz

dost hota nahin har hath milane wala..

4)

ऐसा डूबा हूं तेरी याद के समंदर में 'फराज'

दिल का धड़कना भी अब तेरे कदमों की सदा लगती है..

aisa duba hu teri yad ke samander mein faraz

dil ka dhadakna bhi ab tere kadmon ki sada lagti hai..

Ahmad Faraz Shayari की मदद से अहमद फराज साहब हमें दोस्ती की सच्ची दास्तान बयां करना चाहते हैं. और साथ ही किसी आशिक के अपने महबूब के प्यार में डूबे हुए दिल की दास्तां बताना चाहते हैं.

Ahmad Faraz Shayari In English – अहमद फराज शायरी इन इंग्लिश

Ahmad Faraz Shayari In English
Ahmad Faraz Shayari In English
5)

उम्मीद वो रखें न किसी और से 'फराज'

हर शख्स मोहब्बत नहीं करता उसे कहना..

ummid vo rakhe na kisi aur se faraz

har shaks mohabbat nahin karta use kahna..

6)

आज दिल खोल के रोए हैं तो यूँ खुश है 'फ़राज़'

चंद लम्हों की ये राहत भी बड़ी हो जैसे..

aaj dil khol ke roye hain to yu khush hai faraz

chand lamhon ki ye rahat bhi badi ho jaise..

Ahmad Faraz Shayari In English की मदद से फ़राज़ साहब आशिक के दिल की बात ही यह बताना चाहते हैं. और चंद लम्हों की राहत भी आशिक किस तरह महसूस करता है यही बताना चाहते हैं.

Ahmad Faraz Shayari In Hindi – अहमद फराज शायरी इन हिंदी

7)

दिल को तिरी चाहत पे भरोसा भी बहुत है

और तुझ से बिछड़ जाने का डर भी नहीं जाता..

dil ko tiri chahat pe bharosa bhi bahut hai

aur tujhse bichad jane ka dar bhi nahin jata..

8)

कांच की तरह होते हैं गरीबों के दिल फराज

कभी टूट जाते हैं तो कभी तोड़ दिए जाते हैं..

kanch ki tarah hote hain garibon ke dil faraz

kabhi tut jaate hain to kabhi tod diye jaate hain..

Ahmad Faraz Shayari In Hindi की मदद से आशिक के दिल को अपने यार पर होने वाला यकीन ही फ़राज़ साहब बताना चाहते हैं. और साथ ही उसे हर किसी पर भरोसा ना रखने की हिदायत भी देना चाहते हैं.

Ahmad Faraz Shayari 2 Lines – अहमद फराज शायरी 2 लाइंस

9)

जिक्र उसका ही सही
बज़्म में बैठे हो 'फराज',

दर्द कैसा भी उठे..
हाथ न दिल पर रखना...

zikr uska hi sahi
bajm me baithe ho ‘faraz’,

dard kaisa bhi uthe..
hath na dil par rakhna…

10)

अब दिल की तमन्ना है तो ऐ काश यही हो..

आंसू की जगह आंख से हसरत निकल आए..

ab dil ki tamanna hai to a kash yehi ho..

aansu ki jagah aankh se hasrat nikal aaye..

Ahmad Faraz Shayari 2 Lines को सुनकर आशिक अपने दिल की तमन्ना ही जैसे जमाने को बताना चाहता है. और साथ ही अपने दिल का दर्द खुद के दिल में ही छुपाने की नसीहत देना चाहता है.

Conclusion

Dard Bhari Poetry की मदद से आपको भी अपने बेवफाई आर के प्यार का मंजर जरूर याद आया होगा. क्योंकि अहमद फ़राज़ साहब की लिखावट में जादू ही कुछ ऐसा बसा हुआ है.

हमारी इन Ahmad Faraz Shayari In Hindi -2 को सुनकर आपको अपने महबूब से किया हुआ वादा याद आ जाए. तो हमें comment area में comment करते हुए जरूर बताईये.

अहमद फ़राज़ शायरी पर लिखी गयी हमारी ये पोस्ट भी आपको अच्छी लगेगी

  1. Ahmad Faraz Shayari 2 Lines -1: Gam Bhare Sher

शायरी सुकून का Whatsapp चैनल ज्वॉइन करने के लिए ‘START’ यह मैसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नंबर पर सेंड कीजिए, आपकी सेवा 24 घंटो के भीतर चालू होगी.

फेसबुक पर शायरी के अपडेट्स पाने के लिए इस शायरी सुकून पेज को Like जरूर करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.