Urdu Poetry SMS -1: Gam Bhari Yadon Ki Kahani

Urdu Poetry SMS : महबूब के लिए अपने दिल में कितना भी प्यार छुपा लो. लेकिन जब तक इस बात का इकरार कोई आशिक उससे कर नहीं लेता. वह खुद होकर भी इस बात को मान नहीं लेता है. और इसी वजह से आशिक अपने मन की बात जब भी अपने दिलबर से कहता है.

तब तो वह खुशी खुशी उससे प्यार करने राजी होता है. लेकिन Gam Bhari Yadon Ki Kahani के धोखे को वह पहचान नहीं पाता है. और तभी उसके दिल में जमाना शक भर देता है. और वह आशिक भी अपने यार को उसी शक की नजर से देखने लगता है.

✤ शायरी सुनने के लिए ✤
♫ Player लोड होने दें ♫


हमारी इन गम भरी उर्दू शायरीओं को Milind Khanderao इनकी आवाज में सुनकर अपने दर्द पर काबू करना चाहोगे!

Urdu Poetry SMS की मदद से खुद के दिल को संभालने की कोशिश करता है. लेकिन अपने यार की शक की नजर को खुद भी नहीं संभाल पाता है. और इसी वजह से एक दिन उसका महबूब उसके दिल को पांव तले कुचल कर चला जाता है. और वह आशिक कुछ भी नहीं कर पाता है.

Table of Content

  1. Urdu Poetry
  2. Urdu Poetry Love
  3. Urdu Poetry In Hindi
  4. Urdu Poetry SMS
  5. Urdu Poetry Facebook
  6. Conclusion

Urdu Poetry

Urdu Poetry Image
Urdu Poetry Image
1)

अकेलेपन से अपने हम
यू लड़ते रहे कब तक..

क्यों नहीं आते मिलने तुम
इंतजार होगा तुम्हारा मरते दम तक..

akelepan se apne Ham
yu ladte Rahe Kab Tak..
Kyon Nahin Aate milane Tum
Intezar Hoga Tumhara Marte Dam Tak..


💕 Listen Uninterrupted Shayari 💕
🙏After Small Advertisement🙏



अपने दिलबर से तह दिल से प्यार करने वाला आशिक उसकी राह सकता है. लेकिन उसकी आंखों को उसकी महबूब का अब तक दीदार ही नहीं हुआ है. और अपनी रातों में करवटें बदलते बदलते अब परेशान हो गया है.

लेकिन उसकी महबूबा उससे मिलने के लिए अब तक नहीं आई है. लेकिन फिर भी आशिक के दिल की उससे मिलने की आस कम नहीं होती है. और वह इसी तरह जिंदगी भर उसका इंतजार करने के लिए तैयार होता है.

2)

हावी हो रहा है हम पर
अब हमारा यह अकेलापन..

तेरे बिना अब चलती है
रुक रुक कर हमारी धड़कन..

Haavi ho raha hai Ham per
ab Hamara yah akelapan..
Tere Bina aap Chalti Hai
Ruk Ruk kar Hamari Dhadkan..

Urdu Poetry को सुनकर आशिक का दिल उसके यार की यादों में तड़प रहा है. और अपनी दिलरुबा से मिलने के लिए वह न जाने कब से बेचैन हो रहा है. लेकिन उसके दिल की तनहाई अब जिंदगी भर यूं ही साथ ही रहेगी.

क्योंकि उसे अब अपने महबूब का दीदार शायद होने वाला नहीं है. उसके दिलबर की यादों में ही अब जाने उसकी जिंदगी कैसे कटेगी. वह अपने खुदा से हर दुआ में अपने दिलबर की सलामती मांगता है. लेकिन खुद के दिल की बेचैनी को दूर नहीं कर पा रहा है.

Urdu Poetry Love

3)

जिंदगी की महफिल में अब हमारा
वजूद जैसे मिट ही गया है..

अकेलेपन ने ऐसे गले लगाया
की हमारा सब कुछ लूट गया हैं..

Jindagi Ki mahfil Mein Ab Hamara
Wajood Jaise meet hi gaya hai..
akelepan ne Aise Gale Lagaya
ki Hamara sab kuch lut gaya hai..

अपनी जिंदगी का अकेले पन वह आशिक दूर नहीं कर पा रहा है. और अपनी जिंदगी में वह अब अकेले ही रहने की तैयारी कर रहा है. क्योंकि अब उसके दिल को इस बात का पता लग चुका है. चाहे वह लाख मिन्नतें कर ले.

लेकिन उसका महबूब अब उसकी किसी भी दरख्वास्त को मानने वाला नहीं है. और खुदा से लाखों दुआओं के बावजूद भी वह अब अपने आशिक की जिंदगी में लौट कर आने वाला नहीं है. इसी वजह से उसे लगता है कि अपनी जिंदगी का मकसद और वजूद ही अब शायद खत्म हो चुका है.

4)

अकेले रहने से हम अब
दिल से मजबूत बन गए है..

ना चाहते हुए भी अब हम
अपने गम छुपाने लगे हैं..

Akele Rahane se Ham ab
Dil Se majbut Ban Gaye Hain..
Na Chahte Hue bhi ab Ham
Apne Gam Chupane Lage Hain..

Urdu Poetry Love अपने महबूब की यादें जगा देगी. अपनी महबूब के बिना अब आशिक तनहा तो हो चुका है. लेकिन वह जैसे अपने दिलबर के बिना तन्हा जीने की भी कोशिश कर रहा है. क्योंकि उसके दिल ने इस बात को ठान लिया है.

अब चाहे कुछ भी हो जाए वह उसे वापस नहीं बुलाएगा. क्योंकि उसे वापस बुलाकर वह अपनी जिंदगी को फिर से तबाह नहीं करना चाहता है. और कुछ इसी तरह से वह अपने मन को मजबूत करना चाहता है. और अपने सभी दर्द दिल में ही दबाए रखना चाहता है.

Urdu Poetry In Hindi

5)

जिंदगी में आकर हमारी
आपने उसे खुशहाल बना दिया..

छोड़कर जब चले गए आप तो
वो यादों का खंडहर बन गया..

Jindagi Mein Aakar Hamari
aapane use khushhal banaa Diya..
chhodkar Jab chale gaye aap to
vah Yadon ka Khandhar ban gaya..

आशिक अपने दिलबर के बिना तो जिंदगी की कल्पना भी नहीं कर सकता है. लेकिन उसके दिल पर अब जो बीती है. उस बात की हकीकत अब उसे सहनी ही पड़ेगी. क्योंकि यह बात अब ना ही वह किसी को बता सकता है. और ना ही कोई उसे इस सजा से छुटकारा दे सकता है.

क्योंकि जब उसका महबूब उसकी जिंदगी में आया था. तब जैसे उसकी जिंदगी फूलों की क्यारी जैसी महक उठी थी. वह अपने जिंदगी के सारे गम भूल चुका था. लेकिन अब वही दिलबर उसे जिंदगी की चोट देकर गया है.

6)

हद से गुजर चुके थे हम तुम्हें चाहते हुए
लेकिन उलझे रहे तुम ही हमें आजमाते हुए..

Had Se Gujar Chuke the ham Tumhen Chahte hue
lekin uljhe rahe Tum Hi Hamen aajmate hue..

Urdu Poetry In Hindi को सुनकर हर आशिक दिल के जख्मों को याद कर पाएगा. क्योंकि जिस तरह का प्यार वह अपने महबूब से तहे दिल से करता था. उसे लगता है कि शायद जमाने में कोई भी व्यक्ति अपनी महबूबा पर नहीं मरता होगा.

इस बात को वह Gam Bhari Yadon Ki Kahani की मदद से हमेशा कहता है. लेकिन उसके महबूब में ना कभी उसके चाहत को समझना चाहा. और ना ही उसके दिल की बात को कभी जानना चाहा. वह तो हर वक्त उसे शक की नजर से ही देखता रहता था.

Urdu Poetry SMS

7)

हमारी तरह अगर कोई चाहे तो बताना
सताए कोई हमारी तरह तो बताना..

कर लेगा कोई भी मोहब्बत तुमसे
लेकिन अगर निभाए हमारी तरह तो बताना..

Hamari Tarah agar koi Chahe to batana
sataye Koi Hamari Tarah to batana..
kar lega Koi Bhi Mohabbat Tumse
lekin Agar nibhaye Hamari Tarah to batana..

अपने महबूब के जाने का गम तो आशिक के दिल को जरूर है. लेकिन वह उसे छोड़कर जाने से मना नहीं करना चाहता है. और फिर भी वह उसे एक सवाल तो जरूर करना चाहता है. उसे लगता है कि महबूबा ने अपने दिल से एक बात जरूर पूछनी चाहिए.

वह तहे दिल से इस बात को जरूर याद करें की उसे आखिर कौन ज्यादा चाहता है? और सताने की भी बात हो. तब वह कौन होता है जो उसके दिल को सता कर भी उसे मनाने आता है? कुछ इसी तरह से शायद प्यार करने वाला दूसरा उसे मिल भी जाएगा. लेकिन इस आशिक की तरह उस चाहत को निभाने वाला शायद उसे कोई ना मिल पाएगा.

8)

तेरे कदमों के निशान आज भी यहां रहते हैं..
क्योंकि इस रास्ते हम किसी को गुजरने नहीं देते हैं..

Tere kadmon Ke Nishan
Aaj bhi yahan Rehte Hain
Kyunki is Raste Ham Kisi Ko
gujarne Nahin Dete Hain..

Urdu Poetry SMS की मदद से अपने दिल की यादों को ताजा करना चाहोगे. जब आशिक का महबूब उसे अधूरे प्यार में छोड़ जाता है. तब वह अपने दिल के सारे दरवाजों को जैसे बंद कर लेता है. क्योंकि उसे लगता है कि अपने सच्चे प्यार पर बस उसी दिलबर का हक था.

और इस हक को वह किसी दूसरे के साथ कभी बांटना नहीं चाहता है. और इसी वजह से उस महबूब के साथ जिंदगी भर जिस प्यार के रास्ते पर वह चला था. उन प्यार के रास्तों से वह किसी और को कभी जाने ही नहीं देता है. कुछ यही बात आज की हमारी Gam Bhari Yadon Ki Kahani बताना चाहती है.

Urdu Poetry Facebook

9)

कोई और नहीं समा सकता तेरे सिवा इस दिल में..
रख दी है हमने रूह भी गिरवी तेरी चाहत में..

koi aur nahi Sama sakta
Tere Siva Is Dil Mein..
rakh Di Hai Humne ruh bhi
girvi Teri Chahat Mein..

आशिक को अपनी महबूबा से ही तहे दिल से इतना प्यार था. वह खुद भी किसी दूसरे के लिए अपने दिल को इस तरह से देना नहीं चाहता है. और अगर वह इस बात की कोशिश भी करें. तब भी उसका दिल इस बात के लिए कभी तैयार ही नहीं होगा.

क्योंकि उसका दिल हमेशा इस बात को ही मानता है कि जिंदगी में भी सच्चा प्यार सिर्फ एक बार ही होता है. और इसी वजह से अगर एक बार किसी दिलबर की तस्वीर अपने दिल पर छप जाती है. तो वह उस तस्वीर को वापस कभी निकल नहीं पाता है.

10)

ए मेरी जिंदगी, कर दे अब खत्म
इन सांसों के सिलसिलों को..
थक गया हूं मैं अब खुद को जिंदा समझते हुए..!

Ae Meri Jindagi kar de ab
khatm in Saanson ke Silsillon ko..
thak Gaya Hun Main Ab
Khud Ko Zinda samajhte hue..!

Urdu Poetry Facebook की मदद से चाहत का राज खोलना चाहोगे. क्योंकि अपनी प्यार की यादों से आशिक तंग आ चुका है. जब से उसका बेवफा यार उसके दिल को चकनाचूर कर चला गया है.

वह अपनी जिंदगी में बेसहारा और मजबूर समझने लगा है. और ऐसी लाचार जिंदगी जीते हुए भी अब वह तंग आ चुका है. और अपनी जिंदगी को अब वह खत्म करने की कगार पर आ चुका है. क्योंकि कहने के लिए ही अब उसकी सांसे बाकी रह गई है.

Conclusion

Gam Bhari Yadon Ki Kahani को सुनकर आपको अभी अपने दिलबर की याद जरूर सताने लगी होगी. क्योंकि इस तरह की दास्तान को आपने भी अपनी जिंदगी में अनुभव किया होगा. अगर ऐसा है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताइए. क्योंकि आपको भी पता है कि अपने दिल की बात छुपा कर रखने से बता देना अच्छा होता है!

हमारी ग़म याद देने वाली Urdu Poetry SMS ने अगर आपके दिल को भी अपने महबूब की यादों में डूबो दिया हो. तो हमें नीचे comment box में comments करते हुए जरुर बताएं!

अब आप इन सारी शायरी अपडेट्स को सीधे अपने Whatsapp पर प्राप्त कर सकते हैं. इसके लिए ‘START’ ये वॉट्सएप मेसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नं. पर भेज दीजिए. 24 घंटो के अंदर आपकी सेवा चालू हो जाएगी.

शायरी सुकून की बेहतरीन शायरियों को अपने फेसबुक पर प्राप्त करने के लिए इस शायरी सुकून पेज को Like और Share जरूर करें.

2 Comments

  1. Santosh July 15, 2021
  2. Vinita July 23, 2021

Add Comment