Shayari Sukun Presents

Mood Off Shayari

by shayarisukun.com

tap screen for next slide

अगले स्लाइड के लिए स्क्रीन टैप करें

मेरे पास कब से तेरी यादों का जो मेला लगा हैं.. उस मेले में शरीक होने के बहाने से ही आ जाओ.. -Vrushali Mood off Shayari

मेरी मासूमियत देखकर तुम्हें मोहब्बत हो गई थी.. अब उसी मासूमियत से इतनी बेरुखी कैसे हो गई.. -Vrushali shayarisukun.com

जिस वक्त पर कभी मेरा नाम था आज किसी और के नाम हो गया.. अब तो हर जगह उसी का लम्स होगा जो कभी मेरा हुआ करता था.. -Vrushali

बिन मांगे तुमने उसके हवाले मेरा हर एक हक़ कर दिया.. कैसे मेरी बेइंतहा मोहब्बत का तुमने सरेआम सौदा कर लिया.. -Vrushali shayarisukun.com

उससे बेवफाई मिलेगी तुम्हें तो मेरी तरफ़ ज़रूर देखना.. धोखा खाने के बाद कैसे जिया जाता है यह सीख लेना.. -Vrushali shayarisukun.com

अब इतनी ही रवायतें शेष है कि कोई पूछता हैं जब कैसा हूँ.. तमन्ना नहीं होती फिर भी जिंदा हूँ, कहकर बात खत्म कर देता हूँ! shayarisukun.com

बड़े अजीब लोग थे वो शायद, जिन्हे खुदा मिला.. हमें करोडों की कायनात में एक हमनवा ना मिला.. Shayari on Mood Off

Powered by

शायरियां पढ़ने के साथ साथ  अगर आप इन्हें सुनेंगे तो  आपको और भी  सुकून मिलने की गुंजाईश रहती है, लेकर आये है आपके लिए  खास शायरियों की पेशकश,  बटन क्लिक करके विजिट करिये  और शायरियां सुनिए

जब तक दुनिया में रखना ए खुदा, हमें ईमान से रखना.. जिस दिन उठाएगा दुनिया से, साथ ईमान के ही उठाना.. -Vrushali

Arrow

Next web story

-: boost your mood :-

shayarisukun.com

swipe up for next story

शायरियां पढ़ने के लिए शुक्रिया!