SLIDE NO 1

SHAYARISUKUN.COM

अपनी गलतियों को आसानी से भूल जाते हैं.. गैरों को नसीहत लोग बड़ी अच्छी देते हैं..

SLIDE NO 2

SHAYARISUKUN.COM

इंसानियत निभाते रहो नहीं है यहां कोई गैर.. समझो इस बात को कुदरत बरसाए कोई कहर..

SLIDE NO 3

SHAYARISUKUN.COM

कितना भी समझाऊं उसे मानती है वो मुझे गैर.. बात को समझाने अब क्या पड़ूं मैं उसके पैर..?

SLIDE NO 4

SHAYARISUKUN.COM

गैरों के साथ है उसने अपनी जिंदगी बसाई.. आंखों में मेरी फिर भी उसकी तस्वीर समाई..

और अधिक  शायरियों के फोटोज Download करने के लिए

Shayari Sukun

World's first website provides Shayari in Images, Text, Audio, Video & Podcast format.