Waqt -3 Sad Shayari बीते वक्त ने दिए हुए जख्मों को याद करोगे

waqt shayari : आजकल आपको जैसे हंसने के लिए भी waqt नहीं है. या यूं कहिए कि waqt के साथ आप हंसना ही भूल गए हो. क्योंकि आपको अब याद आ रहा है कि एक waqt था, जब आप अपने महबूब के साथ बहुत खुश महसूस करते थे. जैसे आपकी झोली में खुदा ने दुनिया भर की सारी खुशियां डाल दी थी.

उन्हें वक्त नहीं मिलता हमारे लिए,
जो कहते थे ताउम्र साथ निभाएंगे..

दीदार ही नहीं होता है अब तो उनका,
जो कहते थे रोज़ मिलने आयेंगे..

-Sneha

unhe waqt nhi milta humare liye
jo kahte the taaumra sath nibhayenge
didar hi nhi hota hai ab to unka
jo kahte the roj milne aayenge


इन सैड शायरियों को Rishabh Punekar इनकी आवाज़ में सुनकर अपने बीते हुए वक्त की यादों में खो जाओगे!

उस wakt आपको किसी और के ना ही सहारे की जरूरत थी और ना ही किसी के समझने की. क्योंकि आपकी जो कुछ दुनिया थी वह सब आपके महबूब की साथ ही थी. आप उनके बगैर एक पल भी अलग होकर जीना नहीं चाहते थे. लेकिन अब आपको इस बात का पूरा यकीन हो गया है कि जब wakt बदल जाता है तो कोई आपका अपना नहीं रहता.

खुदा से ये हिमाकत की थी
दिल ने तेरी इबादत की थी

वक्त मिला कभी तो फिर सोचेंगे
क्यों दिल ने बगावत की थी

-Moeen

khuda se ye himakat ki thi
dil ne teri ibadat ki thi
waqt mila kabhi to fir sochenge
kyo dil ne bagawat ki thi

आपको यह बात अब समझ आ चुकी है कि अगर इस दुनिया में आपका कोई अपना है तो बस wakt ही अपना है. और इसी वजह से अब आपके हाथ में आपके हालातों का मातम मनाने के अलावा और कुछ भी नहीं रहा है.

जिस वक्त मुझे छोड़ कर चले गए तुम, हंसी भी खो गई है हमारी..

आपका यार आपके साथ था तो आपका वक्त कैसे कट रहा है इस बात का आपको कोई अंदाजा नहीं लगता था. और आप उस wakt की कोई फिक्र भी नहीं करते थे. आपके जीवन में मानो खुशियों की बौछार ही लग चुकी थी. बचपन से लेकर आज तक आपने मांगी हुई सारी दुआएं जैसे एक साथ ही कुबूल हो गई थी.

सुना है अब वो आखें
किसी और को देखती है..

गुजरे वक्त के साथ उनमें
मेरे लिए जगह कुछ कम बची है..

-Pradnya

suna hai ab wo aankhen
kisi aur ko dekhti hai
gujre waqt ke sath unme
mere liye jagah kuch kam bachi hai


Waqt -1 Motivational Shayari को पढ़कर आपका वक्त बदल जाएगा!
Click 👆 link to listen more


लेकिन जब आपको इस बात का पता चला कि आपके साथी ने आपके दिल के साथ बगावत कर ली है. आपके मोम जैसे तुरंत पिघलने वाले दिल के साथ जैसे प्यार का खेल ही खेला है तो आपका दिल मानो छलनी छलनी हो गया था. तब से लेकर आज तक आप जैसे हंसना भूल ही चुके हो. अब तो खुशियां भी आपके जीवन में आने से इंकार कर रहे हैं.

मौत से नहीं,
ज़िन्दगी से लड़ाई थी मेरी..

कमबख्त वक्त कम पड़ गया,
वर्ना अभी कहाँ रिहाई थी मेरी..

-Sneha

mout se nhi,
jindgi se ladai thi meri
kambkhat waqt kam pad gya
warna abhi kahan rihayi thi meri

वक्त के साथ-साथ गर दिल के जख्म भी मिट जाते, तो कितना अच्छा होता…

आज तक आपको दुनिया ने दिए हुए सारे सितमो की याद है. लेकिन धीरे-धीरे वक्त के साथ आपको यादें भी भुला रहे हो. और इसी वजह से अब आप इस बात को पक्का जान चुकी हो कि वक्त के साथ-साथ सारी यादें और सारी बातें जैसे अपना मन भुला देता है.

जिस ने बनाया मुझे अपना दिवाना
उसे लगी रहती हैं फिक्र-ए-ज़माना

डुबते वक्त इतना देखा हम ने
साहील से देख रहे थे वो तमाशा

-Moeen

jis ne banaya mujhe apna deewana
use lagi rahti hai fikra-e-jamana
dubte waqt itna itna dekha humne
sahil se dekh rhe the wo tamasha

waqt-3-sad-shayari-time-hindi-poetry-2
waqt-3-sad-shayari-time-hindi-poetry-2

बहुत मजबूर हो कर मैं
तेरी आंखोंसे निकला था

एक वक्त था जब उनको
देखे बिना मेरा लम्हा फ़िज़ूल था

-Pradnya

bahut majbur ho kar mai
teri aakhon se nikla tha
ek wakt tha jab unko
dekhe bina mera lamha fizul tha

वह सारी अपनापन देने वाली ताजा यादें भी धुंधली सी हो जाती है. और इसी वजह से आप यह भी सोच रहे हो कि काश आपके दिल को लगी हुई सारी ठोकरें भी आप यूं ही भुला देते. आपका दिल दुनिया की सारी झूठी यादों को और झूठे वादों को ऐसे ही भुला देता तो कितना अच्छा होता. आपके दिल के जख्मों को जरा सा मरहम मिल जाता तो अच्छा होता.

जब वो था ज़िन्दगी में,
तो उसके लिए वक्त नहीं था मेरे पास,

आज खाली है ज़िन्दगी,
तो उसे याद करके लम्हे बीतते है.

-Sneha

jab wo tha jindgi me
to uske liye waqt nhi tha mere paas
aaj khali hai jindgi
to use yaad karke lamhe bitate hai

वक्त के साथ आये हुए जख्मों को दिल न जाने कब भुलायेगा..?

इंसान तो समय का बंधा हुआ होता है. कोई भी बात अगर समय पर मिले तो ही उस बात की कद्र होती है. लेकिन अगर वो चीज मिलने में आपको बहुत wakt लग जाए या फिर अरसे के बाद भी वह चीज ना मिले तो बाद में मिलकर भी कोई फायदा नहीं होता. कुछ ऐसा ही आपके प्यार के साथ हुआ है. जब आप चाहते थे अपने दिलबर से मिलना तो यह मुमकिन हो नहीं सका था.

ठुकराया गया हुँ सारे ज़माने में
ज़िक्र तेरा हैं सब फसाने में

वक्त बदला… बदला रंग रिश्तों ने
ज़िंदगी की बरबाद… रिश्ते निभाने में

-Moeen

thukraya gya hun saare jamane me
jikra tera hai sab fasane me
waqt badla..badla rang risto ne
jindgi ki barbad..riste nibhane me


Waqt -2 Sad Shayari आपको अपना बदला हुआ वक्त याद आ जायेगा!
Click 👆 link to listen more


और जब आपका महबूब आपसे प्यार करने की मांग कर रहा है तो आपको उन पर पूरा यकीन नहीं हो रहा है. और इसी वजह से आपके मन में आप यह ख्याल आ रहे हैं कि आखिर जिंदगी में बुरा समय जल्दी क्यों नहीं बीतता है. और आपके दिल पर बने हुए यह पुराने जख्मों के घाव क्यों जल्दी भर नहीं रहे है. वह बीते हुए जख्मों की परछाइयां आज भी आपका पीछा कर रही है.

शब भर तेरे दर्द ने रुलाया हैं
रूठी नींदों को मुश्किल से मनाया हैं

वक्त जब बिगड़ा… अपने हुए पराए
बारहा ये दिन ज़िंदगी ने दिखाया हैं

-Moeen

shab bhar tere dard ne rulaya hai
ruthi nindo ko mushkil se manaya hai
waqt jab bigda..apne huye paraye
baarah ye din jindgi ne dikhaya hai

waqt shayari in hindi urdu

एक अरसा सा हो गया
जैसे मुस्कुराए हुए..

वक्त के साथ अब मुस्कुराते
कैसे है, यही भूल गए..

ek arsa sa ho gaya 
jaise muskurae huye..
waqt ke sath ab muskurate 
kaise hai, yahi bhul gaye…

sad shayari collection 2020 in urdu english

वक्त के साथ ताजा
यादे धुंधली हो जाती है..

काश दिल पर बने घावों की
लकीरें भी यूं हीं फीकी पड़ जाती..

wakt ke sath taaja 
yaadein dhundli ho jaati hai..
kash dil par bane ghaon ki 
lakeerein bhi yun hi feeki pad jati…

waqt quotes in hindi urdu shayari, lyrics, thoughts, poetry

उम्र के फासले फ़िर भी 
वक्त के साथ मिट जाते..

पर जो घाव दिल पे दिए हो
वो अक्स पीछे छोड़ ही देते..

umra ke faasle fir bhi 
waqt ke sath mit jaate..
per jo ghav dil per diye ho 
vah aks piche chhod hi dete..

wakt-3-sad-shayari-time-hindi-whatsapp-status-3
wakt-3-sad-shayari-time-hindi-whatsapp-status-3

दोस्तों हमारी इन दर्द भरी शायरियों को सुनकर आपके भी बीते हुए वक्त की धुंधली यादें ताजा हो गई हो, तो हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करते हुए बताना ना भूलियेगा.

शायरी सुकून का Whatsapp चैनल ज्वॉइन करने के लिए ‘START’ यह मैसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नंबर पर सेंड कीजिए, आपकी सेवा 24 घंटो के भीतर चालू होगी.

फेसबुक पर शायरी के अपडेट्स पाने के लिए इस शायरी सुकून पेज को Like जरूर करें.

इसी तरह और गम भरी शायरियोंके स्टेटस देखने के लिए यहाँ Sad Shayari क्लिक करें.

2 thoughts on “Waqt -3 Sad Shayari बीते वक्त ने दिए हुए जख्मों को याद करोगे”

  1. वाह रिषभ जी
    आपने वक्त के दिए जख़्म ही बयां कर दिए हैं👌👌👍

    Reply

इस पोस्ट पर आपकी कमेंट लिखे