Love

Saaya Shayari: उनके प्यार का साया ही आपके साथ चलेगा!

saaya shayari: जब आप किसी का साया धारण कर लेते हो, तब आप एक तरह से उनके शरण में या फिर उनके आश्रय में उन्हीं के हो जाते हो. इसका अर्थ यही होता है कि आप उस आदमी की इच्छा के विरुद्ध, उसका साया छोड़कर कोई कार्य नहीं करना चाहते या फिर नहीं कर सकते हो.

इस तरह से जो इंसान आप पर अपना साया यानी कि हक जमा सकता है या फिर अधिकार दिखा सकता है. साया meaning किसी की परछाई या फिर छाया भी हो सकती है. या फिर हम दूसरे शब्दों में साया को किसी के शरण में जाना या फिर आश्रय में जाना भी कह सकते हैं. लेकिन प्यार में इस तरह किसी का साया होने की कोई गुंजाइश नहीं होनी चाहिए.

साया भी उसका नज़र नहीं आता
इस क़दर वो मुझसे दूर हो गए

नाराज है मुझ से अरसों से के
लगता है दिल से ही बिछड़ गए

-Vrushali

saaya bhi uska nazar nhi aata
iss kadar wo mujhse dur ho gye
naraz hai mujh se arso se ke
lagta hai dil se bichad gye



saaya-shayari-love-quotes-on-parchai-hindi-1
Saaya Shayari Image

Listen to Saaya Shayari | Voice-Over: Mrudula Songire


💕 Listen Uninterrupted Shayari 💕
🙏After Small Advertisement🙏




इन लव शायरियों को Mrudula Songire इनकी आवाज में सुनकर उनके प्यार का साया भुला नहीं पाओगे!


क्योंकि प्यार तो खुद अपने बलबूते पर ही होता है. प्यार होने के लिए आपको किसी भी बात की या फिर किसी के सायें की कोई जरूरत नहीं होती. या फिर प्यार किसी दूसरी बात के बलबूते पर नहीं किया जा सकता. प्यार तो बस अपने ही खुद के बलबूते पर अपने आप होने वाली एक स्वच्छ और शुद्ध भावना होती है.



मेरा साया भी वो
अपने पास नहीं चाहते

मोहब्बत को मेरी
वो पाक मानना नहीं चाहते

-Vrushali

mera saya bhi wo
apne paas nhi chahte
mohabbat ko meri
wo paak manana nhi chahte

लेकिन अगर आप अपने दिलबर के मिलन के लिए बरसों से तरस गए हो, तो आपको इस बात का मनमुटाव करना पड़ता है. आप तो उनके साए में भी जीने के लिए तैयार हो जाते हो.

आप का साया जिंदगी भर साथ रहेगा इसका यकीन है हमें…

दोस्तों आपने भी अपने महबूब के साए में जिंदगी बिताने की कसमें खाई है. क्योंकि आपको उनका साया हमेशा ही पसंद आया है. उनकी शरण में और उनके ही आश्रय में रहना आपको हमेशा से बहुत लुभावना लगा है. आपको अब इस बात की पूरी तसल्ली और यकीन हो गया है कि आपके दिलबर के बिना आपकी जिंदगी का और कोई मकसद नहीं होगा.

मेरा साया बनकर
तू मेरे साथ चल

हाथों में हो हाथ तो
सुनहरा होगा हमारा कल

-Vrushali

mera saya bankar
tu mere sath chal
hato me ho haat to
sunhara hoga humara kal



अब जीना भी है तो उनके प्यार के लिए ही जीना है. और अगर आप अपनी उम्र भी बिताना चाहते हो, तो बस उन्हीं के प्यार में ही बिताना चाहते हो. उनकी सारी तमन्नायें पूरी करते-करते अगर आप थक भी जाओ तो भी आप उनका साया छोड़ना नहीं चाहते हो. शायद उनके साथ जिंदगी बिताते हुए आप प्यार में उनकी कुछ बातों को नजरअंदाज कर दो.

तेरे साये में मैं 
अपनी परछाई ढूंढती हूं

तेरी सूरत से मैं 
अपने लिए रोशनी पाती हूं

-Vrushali

tere saye me mai
apni parchai dhundti hu
teri surat se mai
apne liye roshni pati hu

हो सकता है कि आपकी जिंदगी में ऐसी भी लम्हे आएंगे. जिन लम्हों को आप हमेशा इतनी याद में बसाना पसंद करोगी. और अब कुछ इसी तरह से लम्हों को जीते हुए आप अपनी ज़िंदगी अपने महबूब के साथ ही बिताना चाहते हो.

Mera Saya Shayari
Mera Saya Shayari

आपके हसीन प्यार के साए से मैं कभी जुदा नहीं होना चाहता..

आपने अपने दिलबर के साए को खुद से कभी जुदा ही नहीं पाया था. आप जहां जहां भी जाते थे, आपके दिलबर का साया आपका पीछा ही करता था. और इसी वजह से अब आपको लगने लगा है कि उनकी यही परछाई अब आपका प्यार बनकर आपके साथ चल रही है.



तेरा साया ही काफ़ी है
तेरी मौजूदगी जताने के लिए

जैसे महक ही काफ़ी होती है
फूल के वजूद को जताने के लिए

-Vrushali

tera saya hi kafi hai
teri maujudgi jatane ke liye
jaise mahak hi kafi hoti hai
ful ke wajud ko jatane ke liye

और आप इस तरह से आप भी अपने दिलबर के प्यार को चाहने लगी हो और उनकी परछाई को अपना मानने लगे हो. अब तो आपके जहन में यही सोच आती है कि आप अगर दिल से उन्हें जुदा करना भी चाहो, तो भी नहीं कर सकते हो.

अगर आप उनके साए को खुद से परे भी करना चाहो, तो भी वह आप को कभी अकेला महसूस नहीं होने देता है. उनका प्यार ही कुछ इस कदर आपके दिलो-दिमाग पर छा गया है कि वह आपसे और आपके जहन से कभी जुदा नहीं हो सकता.

आपके ही वजूद के साए में बितानी है अब हमें पूरी जिंदगी…

जब से आप अपने दिल पर के साए में जीने लगे हो तो आपको जैसे उनका वजूद ही साथ मिल रहा है. आपको हरदम ऐसा लग रहा है कि जैसे उनका ही अस्तित्व आपके साथ चल रहा है. उनके प्यार ने आप पर कुछ इस कदर अपना अधिकार जमा लिया है जैसे अब आप सिर्फ उनके ही बने रहते हो.



मैं साया बनकर तेरे साथ चलूंगी
आंधी आए या तूफान साथ ना छोडूंगी

बनकर हवा में तेरे साथ मंडराती रहूंगी
तू बन मेरा साया मैं तेरी सहेली बनूंगी

-Vrushali

mai saya bankar sath chalungi
aandhi aaye ya tufan sath na chorungi
banakr hawa mai tere sath mandrati rahungi
tu ban mera saya mai teri saheli banungi

उनकी हर एक बात को पूरा करना और उनकी तमन्नाओं में जीना ही अब आपका कर्तव्य बन गया है. आपको अब उनके साये के बिना कुछ भी नजर नहीं आता है. और इसी वजह से आप आप बस उनकी ही शरण में हमेशा रहना चाहते हो. उनके अस्तित्व को आप अपने दिल से चाहकर भी कभी जुदा नहीं कर सकते.

साये से रिश्ते नही जुड़ते
रिश्ते तो दिल से जुड़ते है

और दिल ऐसी चीज़ है
जो साये में नहीं पनपता

-Vrushali

saaye se rishte nahi judte
rsiteh to dil se judte hai
aur dil aise chij hai
jo saaye me nhi panpta

उन्हें चाहते चाहते तो आपको ऐसा लगने लगा है कि जैसे उनके होने की वजह से ही है रोशनी है. और इसी वजह से अब आप उन्हीं के वजूद के सायें में खुद की जिंदगी बिताना चाहते हो.



saaya romantic shayari in hindi urdu

तेरे साए के साए में मुझे
बितानी है सारी जिंदगी..

नजरअंदाज होगी कुछ बातें
पर ऐसे ही रहेगी हमारे प्यार में सादगी..

tere saaye ke saye me mujhe 
bitaani hai sari jindagi..
najarandaaz hogi kuchh baatein,
par aise hi rahegi hamare pyar me saadgi…

तेरा साया मुझ पर कभी कम ना था
जो मुझे हमेशा तेरे साथ रखता था..

चाह कर भी हम आपके साये से दूर ना हो सकें,
क्योंकि आपका प्यार ही उतना कातिलाना था..

tera saaya mujh par kabhi kam na tha,
jo mujhe hamesha tere sath rakhta tha..
chah kar bhi ham aapke saaye se dur na ho sake,
kyunki aapka pyar hi utna kaatilana tha…

Saaya Shayari in Hindi

वजूद ऐसा है आपका की
आप खुद एक रोशनी है..

उस साये की जरूरत नहीं हमें,
जिंदगी हमे आपके साये में जीनी है...

wajood aisa hai aapka ki 
aap khud ek roshani hai..
us saaye ki jarurat nahin hame,
jindagi hamen aapke saaye me jeeni hai…

saaya-shayari-love-status-whatsapp-1
Saaya Shayari
1)

नफरत करता है वह मुझसे,
चाहता नहीं वो मुझे एक पल..

न जाने क्यों उसके साए पर
फिर भी मरता हूं मैं आजकल..

-Dipti

nafrat karta hai vah mujhse,
chahta nahin vo mujhe ek pal..
na jaane kyon uske saaye per
fir bhi marta hun main aajkal..



2)

पता है तूने प्यार को ठुकराकर
बेवफ़ा भुला दिया होगा मुझे..

तेरी शक्ल ओ सूरत का साया
मगर आज भी याद है मुझे..!

-Santosh

pata hai tune pyar ko thukra kar
bewafa bhula diya hoga mujhe..
teri shakl o surat ka saaya
magar aaj bhi yad hai mujhe..!

3)

न जाने क्यों डरते हैं
दिल में समाने से भी..

दूर रहते है आजकल
वो मेरे साए से भी..

-Supriya

na jaane kyon darte hain
dil mein samane se bhi..
dur rahte hain aajkal
vo mere saaye se bhi..

4)

मोहब्बत में तड़पकर
जानम आहें भरता हूं..

आज भी तेरे साए को
जब याद करता हूं..!

-Dipti

mohabbat mein tadapkar
jaanam aahe bharta hun..
aaj bhi tere saaye ko
jab yad karta hun..!

5)

महबूबा बस तू ही तो मेरे
दिल में समाया हुआ है..

तेरे यादों का साया मेरे
दिल पर छाया हुआ है..

-Santosh

mehbooba bus tu hi to mere
dil mein samaya hua hai..
teri yadon ka saaya mere
dil per chhaya hua hai..

6)

तेरे साए से भी तहे दिल से
जानम हम मोहब्बत करते हैं..

अपने दिल को हमेशा खुश
रखने की कोशिश करते हैं..

-Supriya

tere saaye se bhi tahe dil se
janam ham mohabbat karte hain..
apne dil ko hamesha khush
rakhne ki koshish karte hain..

7)

तू ही है मेरी तमन्ना, तुझे ही
माना है मैंने अपना दिलबर..

कड़ी धूप में भी तू चला
मेरे साथ साया बनकर..

-Dipti

tu hi hai meri tamanna, tujhe hi
mana hai maine apna dilbar..
kadi dhoop mein bhi tu chala
mere sath saaya bankar..

8)

धूप में तड़पा रहा है
तन्हाई का साया..

मेरे दिल में यारा तू
इस कदर है समाया..

-Santosh

dhup mein tadpa raha hai
tanhai ka saaya..
mere dil mein yaara tu
is kadar hai samaya..

9)

मोहब्बत में सिर्फ तुम्हारी
यादों में खोना चाहता हूं..

तेरे साए से लिपटकर जानम
अब मैं रोना चाहता हूं..!

-Supriya

mohabbat mein sirf tumhari
yadon mein khona chahta hun..
tere saaye se lipatkar janam
ab main rona chahta hun..!

10)

तेरी याद में जानम मेरा
दिल तन्हा हो चला है..

तेरी जिंदगी का साया मुझे
अकेला छोड़ चला है..

-Dipti

teri yad mein janam mera
dil tanha ho chala hai..
teri jindagi ka saaya mujhe
akela chhod chala hai..

11)

सच्ची मोहब्बत को मेरी
वो झूठी नफरत मान लेगा..

मुझे क्या पता था तेरा साया
एक दिन मेरी जान लेगा..!

-Santosh

sacchi mohabbat ko meri
vo juthi nafrat maan lega..
mujhe kya pata tha tera saaya
ek din meri jaan lega..!

12)

तेरे जाने के बाद तन्हाई का
ये दर्द मुझे अपना बनाने लगा..

उसका साया भी दिल की
मोहब्बत का कर्ज चुकाने लगा..

-Supriya

tere jaane ki baad tanhai ka
ye dard mujhe apna banane laga..
uska saaya bhi dil ki
mohabbat ka karz chukane laga..

13)

बेवफाई का ये दर्द उम्र भर
तन्हाई में यूं ही सहते जाएंगे..

मोहब्बत के साए में अब
हम अकेले कैसे जी पाएंगे?

-Dipti

bewafai ka ye dard umra bhar
tanhai mein yun hi sahte jayenge..
mohabbat ke saaye mein ab
ham akele kaise ji payenge?

14)

तेरी मोहब्बत ने किया है
मुझ पर यह कैसा असर..

चाहत के साए को आज भी
ढूंढता फिरता हूं मैं दरबदर..

-Santosh

teri mohabbat ne kiya hai
mujh per yah kaisa asar..
chahat ke saaye ko aaj bhi
dhundhta firta hun main darbadar..

15)

जबसे उसने मेरा मोहब्बत
भरा ये दिल तोड़ दिया..

उसके साए से भी अब मैंने
उम्मीद करना छोड़ दिया..

-Supriya

jabse usne mera mohabbat
bhara ye dil tod diya..
uske saaye se bhi ab maine
ummid karna chhod diya..

16)

हम अपने साए से भी
मोहब्बत कर रहे हैं..

वो मगर अब मुझसे
नफरत कर रहे हैं..!

-Dipti

ham apne saaye se bhi
mohabbat kar rahe hain..
vo magar ab mujhse
nafrat kar rahe hain..!

17)

मोहब्बत में दिल के हालातों को
आजकल वो जरा भी नहीं जानती..

वो दिलरुबा मेरे चाहत के साए को
आखिर क्यों अपना नहीं मानती?

-Santosh

mohabbat mein dil ke halaton ko
aajkal vo jara bhi nahin janti..
vo dilruba mere chahat ke saaye ko
aakhir kyon apna nahin manti?

18)

वह नादान उम्र भर शक
करता रहा इस दिल पर..

मोहब्बत में, मैं मगर मर
मिटा था उसके साए पर..

-Supriya

vah nadan umra bhar shaq
karta raha is dil per..
mohabbat mein, main magar mar
mita tha uske saaye per..

19)

आज भी मेरे दिल में प्यार
उसका जगाया हुआ है..

उसके साए का नशा मेरी
यादों में समाया हुआ है..

-Dipti

aaj bhi mere dil mein pyar
uska jagaya hua hai..
uske saaye ka nasha meri
yadon mein samaya hua hai..

20)

दर्द ही छुपा मिला है हमेशा
मुझे जहां भी जाऊं मैं..

अब तो हसरत है बस उसके
साए से मिल पाऊं मैं..

-Santosh

dard hi chhupa mila hai hamesha
mujhe jahan bhi jaaun main..
ab to hasrat hai bus uske
saaye se mil paun main..

21)

पछताता हूं क्यों झूठे
प्यार में मैंने जान लुटा दी..

तेरे साए ने मोहब्बत की
मेरे हस्ती ही मिटा दी..

-Supriya

pachhtata hun kyon jhuthe
pyar mein maine jaan luta di..
tere saaye ne mohabbat ki
mere hasti hi mita di..

22)

दर्द में मिल गया जानम
मुझे तनहाई का मेला..

तेरा हमसाया बनकर मैं
अब जी रहा हूं अकेला..

-Dipti

dard mein mil gaya janam
mujhe tanhai ka mela..
tera hamsaaya bankar main
ab ji raha hun akela..

23)

अपने दिलो-जान में
जिसको जगह दे बैठा हूं..

मोहब्बत में अब उसीका
साया बन बैठा हूं..

-Santosh

apne dilo-jaan mein
jisko jagah de baitha hun..
mohabbat mein ab usika
saaya ban baitha hun..

24)

महबूबा के दिल को अपना
मान कर हमने चाहत कर ली..

उसकी मोहब्बत ने आज मगर
मेरे साए से भी नफरत कर ली..

-Supriya

mehbooba ke dil ko apna
maan kar humne chahat kar li..
uski mohabbat ne aaj magar
mere saaye se bhi nafrat kar li..

25)

तेरे प्यार की जुस्तजू जानम
मुझे तेरी याद दिला गई..

तेरी नशीली आंखें मेरे रूह के
साए को अपना बना गई..

-Dipti

tere pyar ki justaju janam
mujhe teri yad dila gai..
teri nashili aankhen mere ruh ke
saaye ko apna banaa gai..

26)

दोस्ती हो गई है समंदर के
किनारे से भी आज मेरी..

मुलाकात नहीं होती मगर
उनके साए से भी मेरी..

-Santosh

dosti ho gai hai samander ke
kinare se bhi aaj meri..
mulakat nahin hoti magar
unke saaye se bhi meri..

YOU MAY LIKE THESE POSTS:

दोस्तों हमारी इन हसीन लोग Saaya Shayari को सुनकर अगर आपको भी अपने दिलबर के प्यार का saaya साथ चलता दिखाई दें, तो हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करते हुए जरूर बताइए.

अगर आप चाहते है की आपको फेसबुक पर शायरी सुकून अपडेट्स मिले, तो इस शायरी सुकून पेज को लाइक और शेयर जरूर करें.

3 Comments

  1. वाह मृदुला मॅम,
    बहोत बढ़िया शायरियां
    ख़ासकर तीसरी शायरी बहोत बढ़िया है..

    वजूद ऐसा है आपका की
    आप खुद एक रोशनी है..

    उस साये की जरूरत नहीं हमें,
    जिंदगी हमे आपके साये में जीनी है…

    Keep it up ma’am..👍👍

  2. Fantastic start.. lovely song(selection)
    You are blessed with soothing voice Mrudula ji..
    Thank you for this Mind blowing presentation of awesome Shayaries and script..
    God bless you!
    -Kalyani

  3. Beautiful Shayari’s through your crystal clear voice Mrudula ji n you sang beautifully too 👌👌😍😍😊

Leave a Reply

Your email address will not be published.