Love

Rose Day Shayari: Celebrate the first day of Valentine Week!

Rose Day is the first day of valentine week, and we can celebrate it by sharing Rose Day Shayari with your girlfriend. Here in this blog post, you can not only get the opportunity to read the Shayari on Rose Day, but also you can listen to it with cute voice-over artist Shayari Sukun.

We have written the Shayari for your girlfriend by comparing her beauty with rose flowers. If you share Shayari from this post with her then she will definitely like it. You can bring a smile to her face and enjoy or celebrate this Rose Day with happiness. So let’s start your valentine week with high intensity of love emotion written in रोज डे शायरी.


Listen to Rose Day Shayari | Voice-Over: Aditi Kshirsagar




इन स्पेशल Rose Day Shayari को Aditi Kshirsagar इनकी आवाज में सुनकर आप अपने यार को गुलाब जरूर देना चाहोगे!.


💕 Listen Uninterrupted Shayari 💕
🙏After Small Advertisement🙏




Rose Day Shayari for Girlfriend in hindi

Happy Rose Day Shayari Image
Happy Rose Day Shayari Image
महकाती है मेरे घर आंगन को
गुलाब का इत्र जैसे महकती है

गुलकंद का मजा आता है
जब वो बाहों में मेरे रहती है..

-Sagar

mahkati hai mere ghar aangan ko
gulab ka itra jaise mahkati hai
gulkand ka maja aata hai
jab wo bahon me mere rahti hai

गुलाब के फुल सी तेरी मुस्कान  
देख मेरा मन हो गया तेरा कायल..

तेरी एक झलक को पाने के लिए 
कांटों पर चल होता रहा मैं घायल..

-Vrushali

gulab ke phool si teri muskan 
dekh mera man ho gaya tera kayal..
teri ek jhalak ko paane ke liye
kaaton par chal hota raha mein ghayal..



गुलाब के फूल सी तेरी महकी
एक मुस्कान के लिए तरसता हूं..

सपनों में भी मैं आजकल तेरी
छवी को ही गले से लगा लेता हूं..

-Vrushali

gulab ke phool si teri mehaki 
ek muskan ke liye tarasta hun..
sapnon me bhi main aaj kal teri
chhavi ko hi gale se laga leta hun..

Share this Happy Rose Day Shayari with your girlfriend

तेरा आंचल बिखेर रहा है
पवन में खुशबू गुलाब की..

कांटो को छोड़ कर अब पूरी
कर लो तुम कमी रंगों की..

-Vrushali

tera anchal bikher raha hai 
pawan mein khushbu gulab ki..
kaanton ko chhodkar ab puri 
kar lo tum kami rangon ki..

गुलाब का पौधा रूठकर
पूछता है एक दिन मुझसे..

आंगन में रंगोली निकालती है
वो मुझसे भी खूबसूरत कैसे?

-Sagar

gulab ka paudha ruthkar
puchta hai ek din mujhse
aangan me rangoli nikalti hai
wo mujhse bhi khubsurat kaise?

Romantic Rose Day Shayari

गुलाब जैसा चेहरा दिखता है
मेरी जान तेरा हर इक रोज..

ओठों से गुलाब जल को
चखना चाहता हूं मैं हर एक रोज..

-Sagar

gulab jaisa chehra dikhta hai
meri jaan tera har ek roj
othon se gulab jal ko
chakhna chahta hun mai har ro



तेरे दीदार का इंतज़ार
कितना करना पड़ेगा मुझे?

तेरी गुलाबों जैसी खुशबु
सपनों में महकाती है मुझे

-Sagar

tere deedar ka intezaar
kitna karna padega mujhe?
teri gulabon jaise khushboo
sapnon me mahkati hai mujhe

गुलाब का फूल अब
मुझको नहीं भाता है..

वो शामतक मुरझा जाता है..
तेरा चेहरा सदा खिलखिलाता है..

-Sagar

gulab ka ful ab
mujhko nhi bhaata hai
wo shamtak murjha jata hai
tera chehra sada khilkhilata hai

गुलाब के पंखुड़ी जैसी
कोमल है तेरी काया..

खुदा की रहमत है के
उसने तुझे मेरा बनाया..

gulab ke pankhudi jaisi
komal hai teri kaaya
khuda ki rehmat hai ke
usne tujhe mera banaya

यकीनन दुनिया की सभी
हसीनाओं से लाजवाब है तू.. 

दिलरुबा, मेरे दिल के चमन में
खिलता हुआ गुलाब है तू..

-Santosh

yaqeenan duniya ki sabhi
hasinon se lajawab hai tu..
dilruba, mere dil ke chaman mein
khilta hua gulab hai tu..



आज मैं कहता हूं जानेजा,
तुमसे कितना प्यार करता हूं.. 

गुलाब का फूल देकर तुम्हें,
इश्क़ का इजहार करता हूं..

-Santosh

aaj main kahta hun jaaneja,
tumse kitna pyar karta hun..
gulab ka phool dekar tumhen,
ishq ka izhaar karta hun..

दिल से प्यार करते हुए
हम भी तुझमें समाने लगे.. 

जानम तुम्हें देखकर चमन के
गुलाब भी मुस्कुराने लगे..

-Santosh

dil se pyar karte hue
ham bhi tujh mein samane lage..
janam tumhen dekhkar chaman ke
gulab bhi muskurane lage..

ओ महबूबा, सुन लो जरा
ये दिल तुम पर आया है.. 

तुम्हारे होठों में भी जैसे
गुलाब का फूल समाया है..

-Santosh

o mehbooba, sun lo zara
ye dil tum per aaya hai..
tumhare hothon mein bhi jaise
gulab ka phool samaya hai..

जान लो महबूबा तुम्हारे लिए
प्यार है मेरे दिल में सच्चा.. 

रोज डे पर तुम्हारे लिए लाया हूं
मैं महकते गुलाबों का गुच्छा..

-Santosh

jaan lo mehbooba tumhare liye
pyar hai mere dil mein saccha..
roj day per tumhare liye laya hun
main mehakte gulabon ka guchha..



जिंदगी से बढ़कर जानम,
सच्चा प्यार तुमसे किया है.. 

सीने का दिल निकाल कर
तुम्हें तोहफे में मैंने दिया है..

-Santosh

jindagi se badhkar jaanam,
saccha pyar tumse kiya hai..
seene ka dil nikal kar
tumhen tohfe mein maine diya hai..

गुलाब का फूल नहीं सनम,
धड़कता दिल मेरा देता हूं.. 

जितनी बार सांस ना लूं,
तुम्हें उतना याद करता हूं..

-Santosh

gulab ka phool nahin sanam,
dhadakta dil mera deta hun..
jitni baar saans na lun,
tumhen utna yad karta hun..

लाखों हसीनाओं से बढ़कर शबाब हो तुम.. 
प्यार के चमन में महकता गुलाब हो तुम..

-Santosh

lakho hasinaon se badhkar shabab ho tum..
pyar ke chaman mein mehakta gulab ho tum..

जानेमन, तेरी मोहब्बत के
समंदर में डूबना चाहता हूं.. 

तेरे होठों के गुलाबों को
आज मैं चूमना चाहता हूं..

-Santosh

janeman, teri mohabbat ke
samandar mein doobna chahta hun..
tere hothon ke gulabon ko
aaj main chumna chahta hun..



मिल जाओ सनम कभी मुझे
सवालों का जवाब बन कर.. 

चली आओ जानम एक बार
जिंदगी में गुलाब बन कर..

-Santosh

mil jao sanam kabhi mujhe
sawalon ka jawab ban kar..
chali aao janam ek bar
jindagi mein gulab ban kar..

YOU MAY LIKE THESE POSTS:

हमारी इन special rose day shayari की मदद से अगर आप भी अपने महबूब के प्यार को महसूस कर सको. तो हमें नीचे comment box में feedback देते हुए जरूर बताएं.

अगर आपको चाहिये कि अपने Twitter हैन्डल पर शायरी सुकून अपडेट्स मिले, तो हमें शायरी सुकून अकाउन्ट पर Follow जरूर करें.