Latest Posts

Nazar Andaz Shayari In Hindi : 50+ Unique Ignore Status DP

Nazar Andaz Shayari In Hindi : दोस्तों अपना चहेता इंसान जब हमें किसी बात के लिए नजरअंदाज करता है. तो हमारा दिल बहुत ज्यादा दुखी होता है. और जब यह नजरअंदाज करना प्यार में होता है, तो फिर आशिक के गम का कोई ठिकाना ही नहीं रहता है. क्योंकि वह चहेता इंसान उस प्रेमी के दिल के सबसे करीब होता है. और जब वही उस पर Ignore Status की तरह सितम करने लग जाए.

तो उस प्रेमी का दिल पूरी तरह से टूट जाता है. क्या आपको भी कभी प्यार में ऐसा एहसास हुआ है दोस्तों? अगर हां तो आज की हमारी यह Nazar Andaz Karna Shayari In Hindi, Ignore Shayari In Hindi, Nazar Andaz Status In Hindi पोस्ट आपके लिए ही लिखी गई है.

When we ignored from someone whom we love and respect the most. That hurts us most due to the affection about that person. So we have to try to get the faith of that person again. We hope that today’s Ignore Shayari In Hindi, Nazar Andaz Shayari In Hindi, Ignore Status In Hindi will help you in such a situation.

✤ शायरी सुनने के लिए ✤
♫ Player लोड होने दें ♫


Vinita Khurana इनकी आवाज में इन नजरअंदाज करने वाली शायरियों को सुनकर अपने यार के इग्नोरेंस का मलाल मनाना चाहोगे!

दोस्तों हमें यकीन है कि हमारे यह नजर अंदाज करने वाली शायरी, नजरअंदाज स्टेटस इन हिंदी आपको बहुत ही ज्यादा पसंद आएंगे. और साथ ही आप इस Ignore Karne Wali Shayari, Nazar Andaz Shayari Image, Nazar Andaz Shayari Pic को जरूर डाउनलोड करें. और अपने दोस्तों के साथ भी इसे जरूर शेयर करें.

Table of Content

  1. Nazar Andaz Shayari Image Ki Madad Se Apne Yaar Ko Ignore Na Karne Ki Gujarish Kijiye
  2. You can Set as Whatsapp Status To This Nazar Andaz Shayari Pic
  3. Nazar Andaz Karna Shayari In Hindi – नजरअंदाज करना शायरी इन हिंदी
  4. Nazar Andaz Shayari – नजरअंदाज शायरी
  5. Nazar Andaz Shayari In Hindi – नजरअंदाज शायरी इन हिंदी
  6. Conclusion

Nazar Andaz Shayari Image Ki Madad Se Apne Yaar Ko Ignore Na Karne Ki Gujarish Kijiye

Nazar Andaz Shayari Image
Nazar Andaz Shayari Image
1)

सब कहते है की ये लड़का है मोर..

पर ना जाने क्यों करते इसे इग्नोर..

-Sagar

sab kahate hain ki ye ladka hai more..

per na jaane kyon karte ise ignore..

2)

बार-बार करूं कॉल
फिर भी ना उठाती हो..

इस तरह नजरअंदाज
कर क्यों सताती हो..!

bar-bar karun call
fir bhi na uthati ho..

is tarah najarandaaz
kar kyon satati ho..!

3)

उसका हमें यूं इग्नोर करना
हमें अपनी अहमियत बता गया..

अब जान चुके हैं अपनी कीमत
वो हमें ऐसा सबक सीखा गया..

-Vrushali

uska hamen yun ignore karna
hamen apni ahmiyat bata gaya..

ab jaan chuke hain apni kimat
vo hamen aisa sabak sikha gaya..

4)

देख कर भी ना जाने क्यों
तू मैसेज ना करती है..

ऑनलाइन रहकर भी मगर
मुझे इग्नोर करती है..

dekh kar bhi na jaane kyon
tu message na karti hai..

online reh kar bhi magar
mujhe ignore karti hai..

5)

मोहब्बत के मुजरीम दर्दनाक सज़ा पाते हैं
नज़र अंदाज़ होते हैं, ठुकराए जाते हैं..

कहाँ आसान होता हैं किसी को भूल जाना
अजीब लोग हैं, अजीब ख्वाब दिखाते हैं..

-Moeen

mohabbat ke mujrim dardnak saja padhte hain
najar andaaz hote hain, thukraye jaate hain..

kahan aasan hota hai kisi ko bhul jana
ajeeb log hai, ajeeb khwab dikhate hain..

नजरअंदाज शायरी इमेज की मदद से अपने यार को इग्नोर ना करने की गुजारिश कीजिए

Nazar Andaz Shayari Image
Nazar Andaz Shayari Image
6)

तेरी झुकती नजरों से
मत कर मुझे इग्नोर..

तेरे नजर का जादू
ये दिल मांगे मोर..

-Sagar

teri jhukti najron se
mat kar mujhe ignore..

tere najar ka jadu
ye dil maange more..

7)

ना जाने किस बात पर
रूठी है वो मुझसे..

इग्नोर करने की शिकायत
करूं अब किससे..

na jaane kis baat per
ruthi hai vo mujhse..

ignore karne ki shikayat
karun ab kis se..

8)

वो हमें इस तरह इग्नोर करते रहे
जैसे हम उनके लिए अजनबी थे..

किसी और का साथ वो ऐसे निभा गए
जैसे हम से वो कभी बंधे ही नहीं थे..

-Vrushali

vo hamen is tarah ignore karte rahe
jaise ham unke liye ajnabi the..

kisi aur ka sath vo aise nibha gaye
jaise humse wo kabhi bandhe hi nahin the..

9)

अपनी जान से भी
ज्यादा चाहता हूं उसे..

शायद इसीलिए
इग्नोर करती वो मुझे..

apni jaan se bhi
jyada chahta hun use..

shayad isiliye
ignore karti vo mujhe..

10)

तेरी मोहब्बत हम से भुलाई ना गई
तेरी तसवीर हाथों से जलाई ना गई..

नज़र अंदाज़ करती रही वो सदा मुझे
हम से दुसरी दुनिया बसाई ना गई..

-Moeen

teri mohabbat humse bulai na gai
teri tasvir hathon se jalai na gai..

najarandaaz karti rahi vah sada mujhe
humse dusri duniya basai na gai..

Nazar Andaz Shayari Image की मदद से आशिक अपने दिलबर के बेवफाई को भुलाना तो चाहता है. लेकिन उसकी तरह नजरअंदाज करने का हुनर वह बिल्कुल भी नहीं जानता है. इसी वजह से वह अब दिल की कोई दूसरी दुनिया नहीं बसा सकता.

You can Set as Whatsapp Status To This Nazar Andaz Shayari Pic

11)

काफी मेसेज करती हूं
लेकिन तू करता है इग्नोर..

शायद तुझे पसंद नही मैसेज
इसलिए तू होता होगा बोर..

-Sagar

kafi message karti hoon
lekin tu karta hai ignore..

shayad tujhe pasand nahin message
isiliye to hota hoga bor..

12)

इस तरह हमें नजरअंदाज कर
दिल ना दुखाया करो जानम..

सताने का मुझे रोज नया
बहाना ना ढूंढा करो सनम..

is tarah hamen najar andaaz kar
dil na dukhaya karo janam..

shaitan ka mujhe roj naya
bahana na dhundha karo sanam..

13)

मत करो तुम इग्नोर मुझे
मेरे भी सीने में एक दिल हैं..

जो जलता हैं तेरे ठुकराने से
जो टूटता तेरी कड़वी बातों से हैं..

-Vrushali

mat karo tum ignore mujhe
mere bhi seene mein ek dil hai..

jo jalta hai tere thukrane se
jo tootata teri kadvi baton se hai..

14)

अपना समझ कर
दिल दिया था तुझे..

पराया समझ कर
नजरअंदाज किया मुझे..

apna samajh kar
dil diya tha tujhe..

paraya samajhkar
najar andaaz kiya mujhe..

15)

जाते जाते चाहत नज़र अंदाज़ कर गया
निगाहों से अपनी बयाँ सारे राज़ कर गया..

खुदा जाने क्या कशिश थी उन निगाहों में
निशाना खता अपना हर निशानेबाज़ कर गया..

-Moeen

jaate jaate chahat najarandaaz kar gaya
nigahon se apni baya sare raj kar gaya..

khuda jaane kya kashish thi un nigahon mein
nishana khata apna har nishanebaaz kar gaya..

इस नजरअंदाज शायरी पिक को आप व्हाट्सएप स्टेटस पर लगा सकते हैं

Nazar Andaz Shayari WhatsApp DP
Nazar Andaz Shayari WhatsApp DP
16)

तेरा ध्यान मेरी तरफ खिचके
लगता है की बनू मैं खास चोर..

क्या बताऊं दुख होता है जानू
जब भी तू करता है मुझे इग्नोर..

-Sagar

tera dhyan meri taraf khinch ke
lagta hai ki banu main khaas chor..

kya bataun dukh hota hai janu
jab bhi tu karta hai mujhe ignore..

17)

न जाने क्यों फेर ली
निगाहें तुमने मुझसे..

न जाने क्या कसूर
हुआ मेरी चाहत से..

na jaane kyon fer li
nigahen tumne mujhse..

na jaane kya kasoor
hua meri chahat se..

18)

माना के बड़े वफादार हो तुम
अपने पसंदीदा काम के साथ..

पर मुझे इतना इग्नोर न करो
थोड़ी वफ़ा करो मेहबूब के साथ..

-Vrushali

mana ke bade wafadar ho tum
apne pasandida kam ke sath..

par mujhe itna ignore na karo
thodi wafa karo mehboob ke sath..

19)

देकर दर्द मुझ पर
एहसानों की बरसात कर दी..

फेर कर निगाहें, मेरे
चाहत की तौहीन कर दी..

dekar dard mujh per
ehsanon ki barsat kar di..

fer kar nigahen, mere
chahat ki toheen kar di..

20)

जिस की खातीर सारे ज़माने को ठुकराया था
जिस की खातीर हाथ हसीनों से छुड़ाया था..

नज़र अंदाज़ कर के वो मुझे तड़पाते रहे
जिसे पूजा था, जिसे अपना खुदा बनाया था..

-Moeen

jiski khatir sare zamane ko thukraya tha
jiski khatir hath hasinon se chudaya tha..

najarandaaz karke vah mujhe tadapaate rahe
jise pooja tha, jise apna khuda banaya tha…

Nazar Andaz Shayari Pic की मदद से प्रेमी अपने दिलबर के नजर अंदाज करने का गम मनाता है. उसे हमेशा यह बात चलती रहती है कि आखिर उसने जिसे जान से ज्यादा चाहा था. वही आज उसका दुश्मन बन गया है.

Nazar Andaz Karna Shayari In Hindi – नजरअंदाज करना शायरी इन हिंदी

Ignore Status in Hindi Image
Ignore Status in Hindi Image
21)

बुरे को पास करते
और अच्छे को इग्नोर..

हे भगवान क्या यही है
तेरा कलियुग का दौर..?

-Sagar

bure ko paas karte
aur acche ko ignore..

he bhagwan kya yahi hai
tera kalyug ka daur..?

22)

चाहे जो तहे दिल से
उसकी कदर किया करो..

पहचानो हाल-ए-दिल तुम
ना इग्नोर किया करो..

chahe jo tahe dil se
uski kadar kiya karo..

pehchano hal a dil tum
na ignore kiya karo..

23)

चाहत में तेरी हम
दुनिया को अलविदा कह गए..

और आप हैं की दुनिया के
लिए हमें ही इग्नोर कर गए..

-Vrushali

chahat mein teri ham
duniya ko alvida kah gaye..

aur aap hai ki duniya ke
liye hamen hi ignore kar gaye..

24)

पता नहीं था होता है
ऐसा भी चाहत का सिला..

इग्नोर कर मुझे
आखिर तुम्हें क्या मिला..

pata nahin tha hota hai
aisa bhi chahat ka sila..

ignore kar mujhe
aakhir tumhe kya mila..

25)

तेरे बाद मेरी हयात पर ज़िंदगी रोती रही
चेहरा अश्कों से अंधेरों में रौशनी धोती रही..

हर मोड़ पर किया गया हमें नज़र अंदाज़
हम जागते रहे मुद्दतों तकदीर मगर सोती रही..

-Moeen

tere bad mein hayat per jindagi roti rahi
chehra ashko se andhero mein roshni dhoti rahi..

har mod per kiya gaya hamen najarandaaz
ham jaagte rahe muddaton takdir magar soti rahi..

नजरअंदाज करना शायरी इन हिंदी के साथ यार के इग्नोरेंस का दर्द बताइए

26)

खत्म नहीं हो रहा तेरा इग्नोर करना..

भारी पड़ गया तुझ से इश्क लड़ाना..!

-Sagar

khatm nahin ho raha tera ignore karna..

bhari pad gaya tujhse ishq ladana..!

27)

तुम्हें क्या पता बेवफाई का
सिला क्या होता है..

दिल सच्चे आशिक का इग्नोर
करने से रोता है..

tumhe kya pata bewafai ka
sila kya hota hai..

dil sacche aashiq ka ignore
karne se rota hai..

28)

इश्क़ होता तुम्हें हमसे तो
यूं बार बार इग्नोर नहीं करते..

अपने दिल से लगा लेते हमें
यूं पल भर में पराया नहीं करते..

-Vrushali

ishq hota tumhe humse to
yu bar bar ignore nahin karte..

apne dil se laga lete hamen
yun pal bhar mein paraayaa nahin karte..

29)

शिकायत तो मुझे अपने आप से है..

ऐसे इग्नोर तो तुम, पहले भी करते थे..

-Sagar

shikayat to mujhe apne aap se hai..

aise ignore to tum, pahle bhi karte the..

30)

मेरी मैय्य त पर ज़िंदगी मातम करती हैं
मेरे अँधेरे कमरे में रौशनी मातम करती हैं..

तेरा नज़र अंदाज़ करना काती ल हैं मेरा
मेरे ग़मों पर अब ख़ुशी मातम करती हैं..

-Moeen

meri maiya t per jindagi matam karti hai
mere andhere kamre mein roshni matam karti hai..

tera najar andaaz karna kati l hai mera
mere gamon per ab khushi matam karti hai..

Nazar Andaz Karna Shayari In Hindi को सुनकर हर आशिक अपने गम से भरी जिंदगी का मातम करना चाहता है. क्योंकि अपने महबूब के जाने का गम उसके जिंदगी में भर गया है. और अब उसका जीना भी दुश्वार हो रहा है.

Nazar Andaz Shayari Ki Madad Se Yaar Ke Najar Andaaz Karne Ka Tarika Batana Chahoge

31)

तुम्हारे एक दीदार के लिए
दिल मेरा बेजार होता..

यूं इग्नोर करना मुझे
ना जाने तुम्हें कैसे आता..

tumhare ek didar ke liye
dil mera bezaar hota..

yu ignore karna mujhe
na jaane tumhe kaise aata..

32)

इग्नोर करते हो मुझे और
पूछते हो गम की वज़ह क्या हैं..

जानकर भी अनजान बनते हो
और कहते हो करना क्या हैं..

-Vrushali

ignore karte ho mujhe aur
puchte ho gam ki vajah kya hai..

jaan kar bhi anjaan bante ho
aur kahate ho karna kya hai..

33)

दिल को मेरे कितना दर्द हुआ
इसकी तुम्हें खबर नहीं..

इग्नोर करती रही हमेशा तुम
शायद मेरी कदर नहीं..

dil ko mere kitna dard hua
iski tumhen khabar nahin..

ignore karti rahi hamesha tum
shayad meri kadar nahin..

34)

इग्नोरेंस का धीमा
जहर दिया जा रहा है..

ना पिया जा रहा है,
न जिया जा रहा है..

-Sagar

ignorance ka dhima
jahar diya ja raha hai..

na piya ja raha hai,
na jiya ja raha hai..

35)

दीप चाहत के निगाहों में अपनी जलाते रहे
तेरे बाद मुद्दतों हम दिल को बहलाते रहे..

हम नज़र अंदाज़ करते रहे तेरी बेवफाई
बरसों खुद से रूठते रहे, खुद को मनाते रहे..

-Moeen

dip chahat ke nigahon mein apni jalate rahe
tere bad muddato ham dil ko balat rahe..

ham najarandaaz karte rahe teri bewafai
barso khud se roothte rahe, khud ko manate rahe..

नजरअंदाज शायरी की मदद से यार के नजरअंदाज करने का तरीका बताना चाहोगे

36)

यू नजरअंदाज कर तुम्हें
आखिर क्या हासिल हुआ..

मोहब्बत को ठुकरा कर
शायद सुकून मिल गया..

yu najarandaaz kar tumhen
aakhir kya hasil hua..

mohabbat ko thukra kar
shayad sukun mil gaya.

37)

मोहब्बत में हमने अपना
ज़मीर भी दांव पर लगा दिया..

आप इग्नोर करते रहे हमें
और हमने आपसे दिल लगा लिया..

-Vrushali

mohabbat mein humne apna
jamir bhi daav per laga diya..

aap ignore karte rahe hamen
aur humne aap se dil laga liya..

38)

आखिर क्यों मुझपर तुम
जुल्म करती रहती हो..

न जाने क्यों मुझे तुम
इग्नोर करती रहती हो..

aakhir kyon mujh per tum
julm karti rahti ho..

na jaane kyon mujhe tum
ignore karti rahti ho..

39)

भले ही इग्नोर
हमे किया करो लेकिन,

किसी और को
तवज्जो न दिया करो..

-Sagar

bhale hi ignore
hamen kiya karo lekin,

kisi aur ko
tavajjo na diya karo..

40)

उस का देखना मुझे सवालीया निगाहों से
कहर ढहाना मुझ पर अपनी शोख अदाओं से..

वो दिन याद कर अब रो पड़ता हुँ मैं अकसर
नज़र अंदाज़ किया, मुँह फेर लिया फ़िज़ाओं से..

-Moeen

uska dekhna mujhe sawaliya nigahon se
kahar dhahana mujh per apni shokh adaon se..

vah din yad kar ab ro padta hun main aksar
najarandaaz kiya munh fer liya fizaon se..

Nazar Andaz Shayari को सुनकर आशिक को अपने दिलबर की नजरअंदाज करने वाली अदाएं याद आती है. और इसी वजह से वह अब अपनी जिंदगी एक गम को लेकर अकेला ही रोता रहेगा. उस पर जैसे नजरअंदाज करने का कहर बरस रहा है.

Nazar Andaz Shayari In Hindi Ke Sath Mehboob Ke Najarandaaz Na Karne Ki Dua Mango

Nazar Andaz Shayari In Hindi
Nazar Andaz Shayari In Hindi
41)

ना करोगी प्यार तब भी
दिल की चाहत ना हटेगी..

इग्नोर करने से पहले सोचना
आशिक पर क्या बीतेगी..

na karogi pyar tab bhi
dil ki chahat na hategi..

ignore karne se pahle sochana
aashiq per kya bitegi..

42)

जो लोग दिल में रहते हैं
वही हमें इग्नोर करते हैं..

पता नहीं कैसे वो अपने
प्यार का दिखावा करते हैं...

-Vrushali

jo log dil mein rehte hain
wahi hamen ignore karte hain..

pata nahin kaise vo apne
pyar ka dikhawa karte hain..

43)

अगर ना चाहो किसी को
तो उस पर ना मरना..

यूं नजर अंदाज मगर
किसी को कभी ना करना..

agar na chaho kisi ko
to use per na marna..

yu najar andaj magar
kisi ko kabhi na karna..

44)

मर्द की बुरी निगाहों को इग्नोर करते है..

और इल्जाम औरत के हिज़ाब पे लगते है..!

(हिज़ाब : मुस्लिम महिलाओं द्वारा धारण किया जाने वाला वस्त्र)

-Sagar

mard ki buri nigahon ko ignore karte hain..

aur ilzaam aurat ke hijaab pe lagte hain..!

45)

तेरा वो मेरा प्यार ठुकराना याद हैं
मुझे शरारतों में रात भर जगाना याद हैं..

नज़र अंदाज़ कर के जज़्बातों को मेरे
रकीबों संग तेरा हँसना, मुस्कुराना याद हैं..

-Moeen

tera vo mera pyar thukrana yad hai
mujhe shararaton mein raat bhar jagana yad hai..

najarandaaz karke jazbaaton ko mere
rakibo sang tera hasna muskurana yad hai..

नजरअंदाज शायरी इन हिंदी के साथ महबूब के नजरअंदाज ना करने की दुआ मांगो

Ignore Shayari 2 lines Image
Ignore Shayari 2 lines Image
46)

इग्नोर कर मुझे दिल लगा
लिया है किसी से तुमने..

सोचते रहते हमेशा ऐसा
क्या गुनाह किया हमने..

ignore kar mujhe dil laga
liya hai kisi se tumne..

sochte rehte hamesha aisa
kya gunah kiya humne..

47)

जिंदगी में किसी से उम्मीद ना रखो
जो इग्नोर करें आपको वो यार ना रखो..

हो जाए मोहब्बत ऐसी बेरहम शक्सियत से
तो इजहार मत करो बस अपने दिल में रखो..

-Vrushali

jindagi mein kisi se umeed na rakho
jo ignore karen aapko vo yaar na rakho..

ho jaaye mohabbat aisi beraham shakhsiyat se
to izhaar mat karo bus apne dil mein rakho..

48)

न जाने मुझे
क्यों तुम सताती..

इग्नोर करने की
वजह तो बताती..

na jaane mujhe
kyon tum satati..

ignore karne ki
vajah to batati..

49)

उनके दिल में हमारे लिए इज्जत हैं
इग्नोर करके वो हमें ये जताते भी हैं..

ऐसी इज्जत से हम उब गए हैं
दिखावे के लिए अब वक्त नहीं हैं..

-Vrushali

unke dil mein hamare liye ijjat hai
ignore karke vo hamen ye jatate bhi hai..

aisi izzat se ham ub gaye hain
dikhave ke liye ab waqt nahin hai..

50)

ताल्लुक सारे मुझ से जाते जाते मिटा गया
तबाहीयों को वक़्ते रुखसत पता मेरा बता गया..

हमें नज़र अंदाज़ होना था शायद चाहत में
वो मेरी ख़ुशीयों के दामन में आग लगा गया..

-Moeen

talluk sare mujhse jaate jaate meeta gaya
tabahion ko waqte rukhsat pata mera bata gaya..

hamen najarandaaz hona tha shayad chahat mein
vah meri khushiyon ke daaman mein aag laga gaya..

51)

मिल गया है
शायद कोई और तुम्हें..

इसलिए इग्नोर
करती रहती हो हमें..

mil gaya hai
shayad koi aur tumhen..

isiliye ignore
karti rahti ho hamen..

52)

तू क्यों ना करता रहें
मुझे इग्नोर पे इग्नोर..

मगर इस दिल में मचा हैं
तेरे ही प्यार का शोर..

-Vrushali

tu kyon na karta rahe
mujhe ignore pe ignore..

magar is dil mein macha hai
tere hi pyar ka shor..

53)

देखकर आंखें चुराना
सीने में दर्द दे गया..

तेरा यु नजरअंदाज
करना दिल दुखा गया..

dekh kar aankhen churana
seene me dard de gaya..

tera yu najar andaz
karna dil dukha gaya..

Nazar Andaz Shayari In Hindi की मदद से आशिक को अपने दिलबर का नजरअंदाज करना बहुत दुख भरा लग रहा है. और शायद उसका जीवन अब इसी तरह से दुख में ही कटने वाला है. क्योंकि अब उसके जीने का कोई सहारा ही नहीं रहा है.

नज़र अंदाज शायरी पर लिखी गयी हमारी ये पोस्ट भी आपको अच्छी लगेगी

  1. Nazar Andaz Shayari -1: किसी को नजरअंदाज नहीं करना चाहोगी
  2. Nazar Andaz Shayari -2: Sad Quotes about Love and Pain

Conclusion

दोस्तों आशिक अपने महबूब के नजरअंदाज करने से बहुत दुखी है. और उसे अब अपने प्यार पर भी बहुत ज्यादा तरस आ रहा है. इसी वजह से अब वह हमेशा Ignore Status सुनना चाहता है. क्या आपको भी प्यार में कभी ऐसा एहसास हुआ है दोस्तों?

हमारी इन Nazar Andaz Shayari In Hindi -3 को सुनकर अगर आपको भी अपने नजर अंदाज करने वाले यार की याद आए. तो हमें comments area में comment करते हुए जरूर बताईये.

शायरी सुकून का Whatsapp चैनल ज्वॉइन करने के लिए ‘START’ यह मैसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नंबर पर सेंड कीजिए, आपकी सेवा 24 घंटो के भीतर चालू होगी.

फेसबुक पर शायरी के अपडेट्स पाने के लिए इस शायरी सुकून पेज को Like जरूर करें.

Rate this post

7 thoughts on “Nazar Andaz Shayari In Hindi : 50+ Unique Ignore Status DP”


  1. Subscribe to Channel
  2. वाह वा विनीता मॅम

    सच कहा आपने अगर हमारा कोई अपना ही हमें नजरअंदाज करने लगे तो हमारा जीना जी दुश्वार हो जाता है..👌👌

  3. मोहब्बत के मुजरीम दर्दनाक सज़ा पाते हैं
    नज़र अंदाज़ होते हैं, ठुकराए जाते हैं..
    कहाँ आसान होता हैं किसी को भूल जाना
    अजीब लोग हैं, अजीब ख्वाब दिखाते हैं..

    कितने सटीक शब्दोमें बयां की है.. सच्चे प्यार को ठुकराकर नजरंदाज करने वालोंकी हर अदा..
    विनिता जी आपके सिधे साधे अंदाज में इन कमाल की शायरी यों को सून कर बहुत अच्छा लगा..
    Script भी बहुत खूब!!
    शुभेच्छा!
    – कल्याणी

  4. Bohot Acha Vinita ji 👌🏻👌🏻 apne bohot achese present kiya and nice script as well 😊👍🏻

Leave a Comment