mohabbat -1:आपके जख़्मी दिल पर मरहम जैसी है ये Sad Shayari!

mohabbat : मोहब्बत! यह शब्द सुनते ही आपके दिल में, आपके पहले प्यार का पहला नशा जाग उठता है. आपका पहला प्यार फिरसे एकबार तरोताजा हो जाता है. आपने जब भी mohabbat की थी, तो दिल खोलकर की थी. आपके साथी ने आपको mohabbat का वास्ता जो दिया था. आपने जब अपने साथी से mohabbat का इजहार किया था, तो आपके दिल में उनके लिए mohobbat उमड़ पड़ी थी. अपने प्यार को आप बयां भी तो नहीं कर पाए थे. अपनी मोहब्बत का इजहार करते हुए आपको बहुत घबराहट महसूस हुई थी. सही कहा ना दोस्तों? 

लेकिन आज तो उसने आपके मोहब्बत के दामन को छोड़ दिया. आज वो आपको उनकी पहचान तक दिखाने के लिए राजी नहीं हो रहा. आप तो उनसे सोते-जागते, उठते-बैठते उनसे बस प्यार की बातें किया करते थे. उनके बारे में ही सोचा करते थे. जैसे वो आपकी पूरी दुनिया ही बन गए थे. आपको उनके सिवा और कुछ भी नहीं सूझता था. जब भी आप उनसे बात करते थे, तो पूरी तरह उनकी mohabbat में ही मशगूल हो जाते थे.

उनकी बातों में मानो जैसे आपको कुरान का कलमा ही याद आता था. उनकी जुल्फों में जैसे काले बादल छाए नजर आते थे. उनकी आंखों में पूरे मयखाने का नशा दिखता था. आप उसमें कुछ इस तरह गुम हो जाते थे, जैसे आपको दुनिया के किसी और मयखाने की जरूरत ही नहीं.

वो भी आपसे कुछ ऐसा ही महसूस करते थे. आप पर पूरी तरह विश्वास रखते थे. लेकिन आज ये ऐसा क्या मंजर आ चुका है, कि वो आपसे कुछ इस कदर रूठ गया? आपको कुछ इस तरह भूल गया जैसे वो आपको और आपकी मोहब्बत को बरसो से जानता तक नहीं. आप जब भी उससे आंखें मिलाने की कोशिश करते हो, तो वो आपको पहचानने से भी इंकार करता है. आपकी आंखों में आंखें मिलाने से डरता है. उसे आपकी मोहब्बत का इजहार करने से न जाने दुनिया की कौन सी मजबूरी सता रही है. ये तो बस उसका ही दिल जाने!

जब आपका दिलबर आप से रूठ कर चला गया था. तो आपने उसे मनाने की अपने दिलो जान से कोशिश की थी. उसे अपने प्यार का वास्ता भी दिया था. लेकिन जब उसने आपसे दिल ना लगाने की एक बार ठान ली, तो उसने आपसे मुंह मोड़ ही लिया. उसने आपके दिल की एक नहीं मानी. आपकी दर्दे दिल का कहना एक बार भी नहीं सुना.

तुम लाख मना कर लो, लेकिन सच्ची mohabbat भुला ना पाओगे…

वो जब आपसे दिल खोलकर mohabbat करता था. आपसे बेइंतहा प्यार करता था, तब तो आप भी उस पर अपने दिलो जान वार देते थे. अपने सारे पल उस पर कुर्बान कर देते थे. वो आपकी आपकी जिंदगी बन चुका था. और उसके बिना आपसे एक पल भी रहा नहीं जाता था. लेकिन उसने आपकी मोहब्बत में ऐसी क्या गलती कर दी, कि जिसकी सजा आपने उसे दी. वो भी इनकार के रूप में आपसे हर बार इकरार करता रहा. आपसे प्यार की भीख मांगता रहा. लेकिन आपने उसकी एक नहीं मानी. आपने हर बार उसके प्यार को नकारा.

उसकी mohabbat से इनकार किया. आपको उसे उसकी गलती की सजा देनी है. इसलिए आप उसकी हर बात को नकार रहे हैं. लेकिन आपके दिल में कहीं ना कहीं उसके लिए प्यार अभी भी बरकरार है. वो मोहब्बत अभी भी जिंदा है. और इसलिए आप हर बार उसे नकार कर रहे हैं. लेकिन दिल से उसे भुला नहीं पा रहे हैं. हर बार उसकी मोहब्बत, उसका प्यार आपको उसकी तरफ आकर्षित करता ही रहता है. चाहे आप कितनी भी बार उसे ना कह दो. क्योंकि उसमें ऐसी कुछ खास बात ही है, जो आपको प्यार के धागों से बांध चुकी है. जो आपको उसकी कोई भी बात भूलने नहीं देती.

है अगर सच्ची mohabbat, तो चैन और सुकून कहां?

सच्ची मोहब्बत करने वालों को ही प्यार में कितनी बेचैनी होती है, कितनी बेरुखी होती है, यह बात पता होती है. आपने भी जब प्यार किया था, तो सच्चा ही किया था. सच्चे दिल से किया था. उसमें किसी भी तरह की कोई झूठी भावना नहीं थी. लेकिन जो लोग सच्ची भावना से किसी से प्यार नहीं करते,वो तो पत्थर दिल ही होते हैं ना. उन्हें किसी भी बात की कोई चिंता नहीं होती. वो ना अपने महबूब की चिंता करते हैं और ना ही अपने प्यार की. उन्हें तो धोखा ही देना होता है. और इसी वजह से वो हर किसी के दिल से बस खिलवाड़ करना ही जानते हैं.

चिंताओं की कश्मकश तो सच्ची मोहब्बत करने वालों को ही होती हैं. क्योंकि उन्हें अपने प्यार की और अपने साथी के जज्बातों की फिक्र होती है. उसके उसूलों की कद्र होती है. क्योंकि प्यार में किसी ने इतनी कद्र की हो, वही प्यार जीत पाया है. उसी प्यार को जन्नत नसीब हुई है. आपको पता है कि आप भी उन्हीं लोगों में से एक हो. क्योंकि आपके दिल का चैन और सुकून तो जैसे कहीं गुम हो गया है.

मोहब्बत में खामोशी ही जरूरी हो गई है अब..

आपको पता है कि आपके पास शब्दों की कमी नहीं, बल्कि आप यह बात जानते है कि उनको देखकर उनसे बात करते हुए अगर आपके दिल में फिर से प्यार उमड़ पड़ा, तो उसका जुर्माना भी आपसे ही वसूला जाएगा. आपके दिल में mohabbat बाकी है इसीलिए ही आप चुप बैठे हो. चाहे आपका पहला प्यार कितने भी वर्ष पुराना क्यों ना हो लेकिन अभी आपका दिल ख़ामोश रहता है. आपको पता है कि अभी चुप्पी साधने में ही आपकी और उनकी भी भलाई है.

आप बस इतना जानते हैं कि कहीं आपके दिल के जज्बात आपके जबान पर आ गए, तो आपके दिल में वही पुराना प्यार उमड़ आएगा. आपकी मोहब्बत फिर से एक बार जवां हो उठेगी. और फिर आपके वही पुराने दिन आपको याद आ जाएंगे. लेकिन अभी आप उन्हें याद नहीं करना चाहते. आपके उसी पुराने दौर में आप वापस नहीं जाना चाहते. इसीलिए आपने चुप्पी साधने का इरादा कर लिया है.


अपने दिल की बेदर्दी और बेबसी बयां करने वाली शायरियां Mr. Sanket Mahindrakar की आवाज़ में सुनिए! ▶️ Play Now ▶️

Use 🎧 for better SOUND EXPERIENCE -अच्छी साउंड क्वालिटी के लिए 🎧 का प्रयोग करें – Use 🎧 for better SOUND EXPERIENCE shayarisukun.com


zakhmi dil ki shayari status in hindi

मुझे खींच ही लेती है
मोहब्बत उसकी,

वरना कई बार कह चुका हूं,
आयिंदा बात ना कर मुझसे..

mujhe khinch hi leti hai,
mohabbat uski,
varna kai bar kah chuka hu
aainda baat na kar mujhse…

mohabbat-1-aapke-jakhmi-dil-par-marham-jaisi-sad-shayari-1

dard bhari shayari in urdu

पत्थर है वो
जो आराम से है..

बेचैनी तो मोहब्बत
करने वालो को है…

patthar hai vo
jo aaram se hai,
bechaini to mohabbat
karne walon ko hai…

muhabbat shayari quotes in hindi urdu

चुप इसलिए नहीं
के लफ़्ज़ों की कमी है..

चुप इसलिए है,
के मोहब्बत बाकी है…!

chup isliye nahin
ke lafzon ki kami hai,
chup isliye hai,
ke mohabbat baki hai…!

mohabbat-1-aapke-jakhmi-dil-par-marham-jaisi-sad-shayari-2

दिल को फिर से एक बार घायल कर देने वाली इन सैड शायरियों को सुनकर अपनी पहली मोहब्बत की यादें ताजा हो गई है, तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करते हुए हमें जरूर बताइएगा!

अब आप इन सारी शायरी अपडेट्स को सीधे अपने Whatsapp पर प्राप्त कर सकते हैं. इसके लिए ‘START’ ये वॉट्सएप मेसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नं. पर भेज दीजिए. 24 घंटो के अंदर आपकी सेवा चालू हो जाएगी.


शायरी सुकून की बेहतरीन शायरियों को अपने फेसबुक पर प्राप्त करने के लिए इस 👉🏼शायरी सुकून पेज को Like 👍🏼 और Share जरूर करें.


कुछ और दर्द भरी Quotes पढ़ने का मन हो रहा है, तो आप इस 👉🏼Sad Shayari 💔 कैटेगरी को पढ़ सकते हैं.

2 thoughts on “mohabbat -1:आपके जख़्मी दिल पर मरहम जैसी है ये Sad Shayari!”

  1. वाह बिल्कुल सही कहा आपने मोहब्बत होती है तो घबराहट होती है। बहुत अच्छे से पेश किया।

    Reply

Leave a Comment