manzil -1: Motivational Shayari शान से मंजिल तक ले जाएगी!

manzil par shayari : हम कोई भी काम करते हैं तो वो manzil अथवा सफलता पाने के लिए ही करते हैं. हमें ये बात हमेशा याद रखना चाहिए की किसी भी काम में बिना परिश्रम या मेहनत के कोई भी सफलता अथवा manzil नहीं मिल सकती.

नए ख्वाब नई आशाएं
रोज उमंगे और मंजिल नई

उड़ान भरने के लिए
मिली आपसे उम्मीदें कई

naye khwab nayi aashaye
roj umange aur manjil nayi
udan bharne ke liye
mili aapse ummid kai


इन प्रेरणादायक शायरियों को Dr. Rupeshkumar Chandore इनकी आवाज में सुनकर अपनी मंजिल (manzil) की ओर शान से कदम बढ़ाइए!

और अगर आपको बिना मेहनत के कोई manzil मिलती भी है तो अक्सर वो manzil नहीं कहलाती. वो आपको सफलता का पूरी तरह से जोश से भरा एहसास नहीं दिला सकती. जब भी कोई मुसाफिर अपनी manzil की तलाश में निकलता है, तो उसमें या तो manjil खूबसूरत होती है और रास्ता बड़ा ही परिश्रम भरा होता है.

तो कभी रास्ते इतने खूबसूरत लगने लगते हैं, कि उस रास्ते पर चलने वाले मुसाफिर को उसके मंजिल की परवाह नहीं होती. आपने भी अक्सर इस बात पर गौर किया होगा, तो आप जानते हैं कि कई बार कड़ी मेहनत करने पर भी हमें अपनी मंजिल प्राप्त होती नहीं दिखाई देती. सफलता जैसे दूर भागती है.

लेकिन उस वक्त आपको अपने मन पर काबू रखना होता है. धैर्य से काम लेना पड़ता है. ताकि आप अपना कार्य निरंतर तरीके से यूं ही करते रहें. क्योंकि इतिहास गवाह है कि जब भी किसी ने पूरी तमन्ना के साथ अपने मन दिल में हौसला रखते हुए कोई भी कार्य पूरी लगन के साथ किया हुआ हो, तो पूरी दुनिया पीछे से आपकी उस कार्य को पूरा करने की कोशिश करती है.

उस कार्य में आपको मदद करती है. और इस बात में कोई दो राय नहीं है कि आपको देर से ही सही, लेकिन अपनी मंजिल जरूर मिल जाती है. इसलिए आपका काम है कि आप हमेशा बस अपनी मेहनत पर ही ध्यान दें. सफलता जैसे आपके कदम चूमती हुई आपके पास जरूर आएगी.

जरूरतों को पूरा करने के लिए मंजिल (manzil) तक बढ़ना ही होगा..

हम अक्सर अपनी जिंदगी में अपनी रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा करने के लिए कोई काम करते हैं. मेहनत करते हैं. लेकिन हमारी जरूरतें है कि दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा सकती है. हमारी जरूरतें कभी बदलती है. तो कभी कम ज्यादा हो सकती है. लेकिन वो कभी खत्म नहीं हो सकती. आदमी का स्वभाव ही कुछ ऐसा होता है जिस वजह से उसके मन से लोभ कभी खत्म नहीं हो सकता. फिर चाहे वो किसी वस्तु का लोभ हो या फिर किसी व्यक्ति का लोभ हो.

जिंदगी का सफर ही कुछ ऐसा होता है कि जिसमें हमने जो भी राह हमने चुनी हो, उस पर हमें चलना ही होता है.  फिर चाहे उस राह में कितने भी कांटे क्यों ना हो. क्योंकि जब भी आप किसी कांटों भरी राह पर चलते हुए अपनी मंजिल को पाते हैं, तभी आप अपनी खुद की जिंदगी में और दूसरों के लिए भी एक आदर्श खड़ा कर सकते हैं. ताकि लोग आपसे प्रेरणा ले सकें आपसे motivate हो सके.

सिर्फ सपनों से नहीं बल्कि मेहनत से मिलती है मंजिल..

जब भी आप नींद में होते हो, तो आपको अच्छे या बुरे ख्वाब गिरना स्वाभाविक होता है. लेकिन जब आप अपने ख्वाबों में किसी काम को लेकर खुद की सफलता देखते हो, तो आपको लगता है जैसे वह सपना यूं ही पूरा हो जाएगा. लेकिन दोस्तों एक बात जरूर याद रखिए, आज तक बिना परिश्रम किए किसी को कोई भी मंजिल नहीं मिली है. कोई सफलता नहीं हासिल हुई है. और अगर वह हुई भी होगी, तो वो चंद पलों की सफलता ही रही थी. वो ज्यादा देर तक नहीं टिक सकती.

लेकिन अगर आपको वही मंजिल आप की निरंतर प्रयासों से मिली हो, तो वो निरंतर टिके रहने की आशंकाएं बहुत ज्यादा होती है. क्योंकि आप ख़्वाब तो बिना मेहनत किए ही हर रात में देख सकते हो. लेकिन उन्हें पूरा करने के लिए जो मेहनत लगती है. जो परिश्रम लगता है, उन्हें आप सपनों में कभी नहीं कर सकते. और किसी भी काम में मंजिल आपको मेहनत से ही मिलेगी. किसी ने सच कहा है कि जो सपने आपको रात में सोने ना दे, उन्हीं सपनों के पीछे उन्हें आप पूरा करने के लिए दौड़ो. वहीं आपको मंजिल तक पहुंचाएंगे.

किसी भी समस्या से ना डरते हुए शान से अपनी मंजिल (manzil) जीत लीजिए..

जब हम किसी भी राह पर अपने दिलो-दिमाग और पूरी मेहनत के साथ चल पड़ते हैं, तो पक्का विश्वास रखिए आपको मंजिल जरूर मिलेगी. जिंदगी में आप जब भी किसी राह पर चल पड़ते हो, तो वो राह आपने खुद चुनी होती है. इसलिए उस राह में चाहे कितनी भी कठिनाइयां आए. आप उन्हें झेलने के लिए सक्षम होते हो. बल्कि आपने उन सारी कठिनाइयों का, उन सारी समस्याओं का पहले ही सोच विचार किया हुआ होता है.

लेकिन कभी कबार ऐसा भी होता है, कि जब आप कोई काम करते हुए उसके अनुरूप घटनाएं नहीं घटती. आपके मन के विपरीत ही परिस्थितियां निर्माण होती हैं. हालात आपके काबू में नहीं रहते हैं. लेकिन तब भी अगर आपका खुद पर विश्वास हो, तो आप उन सारी समस्याओं का समाधान निकाल पाते हो. इस वजह से हम यह बात तो जरूर कह सकते हैं कि चाहे कितनी भी कठिन परिस्थिति आ जाए.

चाहे कितनी भी बड़ी समस्या आ जाए. लेकिन आपकी जिंदगी उस विपरीत परिस्थिति की वजह से कभी ठहरती नहीं. आप उन मुश्किल हालातों में भी अपने मन पर काबू कर सकती हो. और इसीलिए आप ने यह महसूस किया होगा कि आखिरकार आपकी ही जीत होती है. हां आपको इसमें बस इतना याद रखना होता है कि आपको अपने सफर को कहीं बीच रास्ते में ही खत्म नहीं करना है.

आपको अपना आत्मविश्वास और अधिक ऊंचा करना पड़ता है. क्योंकि भले ही मंजिल काफी समय बाद मिल सकती है, वक्त लग सकता है, लेकिन मंजिल मिलेगी जरूर! इसलिए आप किसी भी परिस्थिति में ना डगमगाते हुए और अपने हौसले को बुलंद रखते हुए, उन समस्याओं को कह सकते हो कि आप उन समस्याओं से उभर कर जरूर आएंगे. और शान से अपनी मंजिल तक पहुंच जाएंगे..

manjil par shayari in hindi

जरूरते कहा ख़त्म होती है
जिंदगी के सफर में..

चलते ही रहना पड़ेगा
मंजिल को पाने में..

jarurat kahan
khatm hoti hai,
jindagi ke safar mein,
chalte hi rahana padega
manzil ko pane mein..


मंजिल पर शायरी in urdu

सपने, बिना परिश्रम किये
नींद में मिलते है..

मंजिल, बिना नींद
की परिश्रम से मिलती है…

sapne, bina
parishram kiye
nind mein milte hain,
manzil, bina nind
ki parishram
se milati hai…

best motivational shayari in hindi urdu

जिंदगी ठहरती नहीं
किसी मुश्किलात से..

जरा मंजिल को बताओ
आ रहा हु मैं शान से…

jindagi thaharati nahin
kisi mushkilat se,
zara manzil ko batao,
aa raha hoon
main shaan se…


manzil-1-motivational-hindi-shayari-2

इन नायाब शायरियों की मदद से अगर आपको भी अपनी मंजिल (manzil) नजर आ गई हो, तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट जरुर करें. इससे हमें और भी बेहतरीन motivational shayari लिखने के लिए बढ़ावा मिलेगा.

शायरी सुकून की बेहतरीन शायरियों को अपने फेसबुक पर प्राप्त करने के लिए इस शायरी सुकून पेज को Like और Share जरूर करें.

अब आप इन सारी शायरी अपडेट्स को सीधे अपने Whatsapp पर प्राप्त कर सकते हैं. इसके लिए ‘START’ ये वॉट्सएप मेसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नं. पर भेज दीजिए. 24 घंटो के अंदर आपकी सेवा चालू हो जाएगी.

कुछ प्रेरणादायी पढ़ने का मन हो रहा है, तो आप इस Motivational Shayari कैटेगरी को पढ़ सकते हैं.

2 thoughts on “manzil -1: Motivational Shayari शान से मंजिल तक ले जाएगी!”

Leave a Comment