lafz -1: लफ्ज़ों का रुतबा बयां करने वाली attitude shayari!

lafz shayari : हमें अपने लफ्जों को नाप तोल कर ही उपयोग में लाना चाहिए, तभी हम भी लफ़्ज़ों को अपने काबू में रख पाएंगे. बड़े-बड़े ज्ञानी यह बात बोल गए हैं कि, जो अपनी जबान पर लगाम रखते हुए, लफ्जों का सीमित तरीके से और जहां जरूरत हो, वहीं पर इस्तेमाल करेंगे, दुनिया उनके कदम चूमेगी. अपनी बातों में उपयोग में लाये जाने वाले lafz ही उन्हें जिंदगी में किसी काम में कोई परेशानी नहीं आने देते.

उनके हर शब्द को, हर lafz को बड़ा वजन प्राप्त होता है. सभी लोग उनकी वाह-वाह करते हैं. उनके हर शब्द को आखिरी मानकर, उनकी हर एक इच्छाओं को पूरी करने के लिए लोग जैसे तत्पर रहते हैं. लोगों का उन पर बहुत भरोसा हो जाता है. और यही उनकी जीत का कारण होता है. ये लोग उनके किसी भी शब्द को जाया नहीं करते और ना जाया जाने देते हैं. इसलिए इन लोगों के शत्रु भी बहुत कम होते हैं, या होते ही नहीं.

इससे यह बात ध्यान में आती है कि अगर हम अपने लफ़्ज़ों पर, अपनी जबान पर काबू कर पाए. उनका सीमित तरीके से उपयोग कर पाए, तो हम अच्छे और मजबूत रिश्ते बना भी सकते हैं और उन्हें कायम भी कर सकते हैं.

हमारी खामोशी में कहे गए लफ्जों को सुनिए

आपने महसूस किया होगा कि कुछ लोगों के लफ्जों की खासियत यह होती है, की लोग उन्हें बार-बार सोचने पर मजबूर हो जाते हैं. उनकी बातें लोगों के दिमाग में घर कर जाती है. लोग उनकी बातों के कायल हो जाते हैं. लोग अगर एक बार उनकी बातों को सुन लें. तो बार-बार उनकी बातें सुनने का मन करता है. वे उनकी हर बात मानने के लिए तैयार होते हैं. वे उन लोगों की बात टालना नहीं चाहते, और टाल भी नहीं सकते. 

क्योंकि उनके लफ्ज़ों का कुछ असर ही ऐसा होता है कि लोग उन्हें सोचते ही रहते हैं. मन ही मन उनको ही और उनकी बातों को ही आदर्श मान लेते हैं. उनकी तरह सोचने की और बोलने की आदत डालने का इरादा मन में पक्का कर लेते हैं और वैसे ही कोशिश भी करते हैं.

उनकी लफ्ज़ों का और बातों का लोगों के दिलो-दिमाग पर कुछ ऐसा असर होता है की, वे कुछ देर के लिए अगर खामोश रहे. तो भी लोग उनकी खामोशी का मतलब समझ लेते हैं. इसी बात में उन लोगों का रुतबा, उनका ओहदा नजर आता है.

हमारे lafz को समझना इतना आसान नहीं

लोग उनके रहन-सहन, ठाट बाठ से नहीं बल्कि उनके शब्दों के बयां करने की लकब से प्रभावित होते हैं. वे हरदम उन्हें किसी भी महफिल में, या फिर उनके निजी कार्यक्रमों में भी उनका न्योता देने के लिए सबसे पहले पहुंचते हैं. वे भी बिना कोई समय गवाएं और ज्यादा मान लिए बिना उनके कार्यक्रमों में पहुंच जाते हैं.

और अपने शब्दों के कुछ ऐसे नजराने पेश करते हैं. कुछ इस तरह अपने शब्दों को बयां करते हैं. मानो जैसे उस महफिल में बैठे हर एक शख्स को उनके शब्दों को समझने के लिए अपनी पूरी ताकत लगानी पड़ती है. उनके अल्फाजों को समझते-समझते लोगोंके पसीने छूट जाते हैं. वैसे हर किसी को उनके lafz, उनके अल्फाज ध्यान में नहीं आती.

आपके अल्फाजों से बने आपका व्यक्तित्व…

अगर आपके पास भी अपने अल्फाजों को घुमा फिरा कर, जो सच्ची और अच्छी लगे ऐसी बातें करने की कला आपको हासिल हो. तो आप भी होशियार और अच्छे संवाद कर्ता की श्रेणी में आ जाते हो. ये बातें आप का दर्जा, आपका ओहदा बढ़ाने में तो आपकी मदद करती ही है. साथ ही आपका व्यक्तित्व सवारने के लिए भी इन बातों की बहुत ज्यादा आवश्यकता होती है.

क्योंकि जैसी आप की बोली होती है, उसी तरह से आपके विचार बनते हैं. और जिस तरह से आपके विचार होते हैं, उसी तरह से आपके व्यक्तित्व को ये अच्छे विचार एक अच्छा आकार देते हैं. शब्दों का सटीक तरीके से उपयोग करते हुए आप खुद के हौसले तो बढ़ाते ही है. साथ ही ऐसे lafz बोलना यही आपकी स्टाइल स्टेटमेंट भी बन जाता है. आपका यह स्टाइल स्टेटमेंट लोगों को भी बहुत पसंद आता है. और इसीलिए कल शायद वो आपकी कॉपी करना भी शुरू कर दें.

बातों की यह ऐंठन या तो किसी के स्वभाव में होती है, या किसी के प्रभाव से आती है. लेकिन लफ्ज़ों में यह ठाठ-बाट रहना जरूरी भी होता है, क्योंकि तभी जाकर आपके लफ्जों को दर्जा प्राप्त होगा और आप का मान भी बढ़ेगा.

तो आइए दोस्तों, आपके रुतबे को समझते हुए हमने तैयार की हुई कुछ बेमिसाल और नायाब शायरियां सुने, जो आपके रवैये में चार चांद जरूर लगा देगी…!


इन ऐंठन भरी शायरियों को सुनकर 🎧 आप भी अपना रुतबा बढ़ाइये! ▶️ PLAY NOW

Use 🎧 for better SOUND EXPERIENCE -अच्छी साउंड क्वालिटी के लिए 🎧 का प्रयोग करें – Use 🎧 for better SOUND EXPERIENCE shayarisukun.com


khamosh lafz shayari in urdu

हमारे लफ्ज़ में
होता है एक कहर..

अगर ख़ामोश रहूं,
तब भी होता है असर…

hamare lafzon mein
hota hai ek kahar,
agar khamosh rahu,
tab bhi hota hai asar…

lafz-1-attitude-shayari-rutba-bayan-karne-wali-1

लफ्ज पर शायरी हिंदी उर्दू

लफ्ज़ को परोसता हूं कुछ ऐसे,

मानो बसमे नहीं होता
पचाना हर किसीको जैसे..

lafz ko parosata
hu kuchh aise,
mano bas me nahin hota,
pachana har kisi ko jaise..


best लफ्ज़ hindi quotes

सोचने पर मजबुर करे
है ऐसी खासियत और

इस्टाईल मेरे लफ़्ज़ों की…!

sochne per majboor karen
hai aisi khasiyat aur,
estyle mere lafzon ki…!

lafz-1-attitude-shayari-rutba-bayan-karne-wali-2

इन शायरियों को सुनकर अगर आपके लफ्ज़ों में भी वो ऐंठन, वो रुतबा आ गया हो, तो हमें निचे comment box में comment देना ना भूलें!

शायरी सुकून का Whatsapp चैनल ज्वॉइन करने के लिए ‘START’ यह मैसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नंबर पर सेंड कीजिए, आपकी सेवा 24 घंटो के भीतर चालू होगी.


फेसबुक पर शायरी के अपडेट्स पाने के लिए इस 👉🏼शायरी सुकून पेज को Like 👍🏼 जरूर करें.


नायाब ऐटिटूड शायरियां देखने और सुनने की तमन्ना हैं? तो यहाँ 👉🏼Attitude Shayari 🤠 पर क्लिक करें.

1 thought on “lafz -1: लफ्ज़ों का रुतबा बयां करने वाली attitude shayari!”

  1. खूप छान,,,भावा,,,तुझी शायरी ऐकून
    मन कस,,,,,,सुन्न झालं ,,अप्रतिम

    Reply

Leave a Comment