Latest Posts

John Elia -1: Love Poetry & Poem in Hindi Collection

John Elia : सैयद हुसैन जौन असगर नकवी, जिन्हें आमतौर पर John Elia के नाम से जाना जाता है, एक भारत-पाक उर्दू कवि, दार्शनिक, जीवनी लेखक और विद्वान थे. वह रईस अमरोहवी और सैयद मुहम्मद टकी के भाई थे, जो पत्रकार और मनोविश्लेषक थे. वह उर्दू, अरबी, अंग्रेजी, फारसी, संस्कृत और हिब्रू में निपुण थे.

✤ शायरी सुनने के लिए ✤
♫ Player लोड होने दें ♫


जॉन एलीआ जी की शायरियों को Ashok Prajapati इनकी आवाज़ में सुनकर आपको अच्छा महसूस होगा!

John Elia इनका खुशनुमा मिज़ाज़ से शायरी को बयां करने का अंदाज सबको भाता था. आज हम उसी अंदाज को John Elia Shayari में बयां करने की कोशिश कर रहे है, तो चलिए सुनते और पढ़ते है कुछ John Elia Poems.

काम की बात मैंने की ही नहीं
ये मेरा तौर-ए-ज़िंदगी ही नहीं

Kam ki baat Maine ki hi nahin
Yah Mera taur-e- jindagi hi nahin

John Elia Poetry in Hindi

जॉन एलिया की शायरियां बड़ी ही सीधी सी होती है लेकिन बहुत कुछ कह जाती है. काम की बात हर इंसान करता है. पर किसी की जिंदगी में जाने का कारण हमारा काम नहीं हो सकता है. उसके जीवन में जाकर उसका जीवन बदल देना भी एक तरीका है जिंदगी जीने का. जॉन एलिया यही कहते हैं की काम की बात मैंने की नहीं है क्योंकि जिंदगी जीने का मेरा यह तरीका नहीं है.

अपने सब यार काम कर रहे हैं
और हम हैं कि नाम कर रहे हैं

Apne sab yaar kam kar rahe hain
Aur ham Hain ki Naam kar rahe hain

दोस्तों कुछ लोग ऐसे होते हैं जो बस नाम के पीछे भागते रहते हैं. काम तो वे करते नहीं, लेकिन किसी और के काम का श्रेय जरूर लेना चाहते हैं. यह सही नहीं होता है. हमें अपने दोस्तों के साथ अपने लोगों के साथ काम करना चाहिए और अपना नाम कमाना चाहिए. किसी और के काम पर अपना हक जताना गलत बात है.

John Elia Shayari Image

उस गली ने ये सुन के सब्र किया
जाने वाले यहाँ के थे ही नहीं

Us gali ne ye sun ke sabr kiya
Jane vale yahan ke the hi nhi

दोस्तों, जब इंसान हमें छोड़ कर चला जाता है तो वह अपना नहीं होता. क्योंकि अपने लोग हमें कभी छोड़कर नहीं जाते. जो छोड़कर जाते हैं उन्हें अपना समझने की भूल ना करें. जॉन एलिया अपनी शायरी के जरिए यही सलाह हमें देना चाहते हैं.

जाने वालों के लिए आंसू बहाते रहना सबसे बड़ी भूल है. जो चले गए उन्हें हमारी फिक्र नहीं थी. तो हम उनके बारे में सोच कर अपनी जिंदगी खराब क्यों करें…! इसलिए उन्हें पराया समझकर भूल जाए.

John Elia Shayari
John Elia Shayari

John Elia Poems for Girlfriend

क्या तकल्लुफ़ करें ये कहने में
जो भी ख़ुश है हम उस से जलते हैं

Kya takalluf kare ye kahane main
Jo bhi khush hain ham us se jalate hain

कभी-कभी हमें किसी और की खुशी देखकर जलन होती है. कभी दर्द भी होता है. खासकर इस बात से ज्यादा दर्द होता है कि वह इंसान हमारे बगैर खुश है. जो कभी हमें अपनी खुशियां मानता था.

John Elia Poetry Love Status

जो गुज़ारी न जा सकी हम से
हम ने वो ज़िंदगी गुज़ारी है

Jo gujari n ja saki ham se
Ham ne vo jindagi gujari hain

दोस्तों कभी-कभी जिंदगी इतना दर्द दे जाती है कि हम उससे जी नहीं पाते. कोई अपना करीबी हमें ऐसा दर्द दे जाता है की जिंदगी से हमें मौत अच्छी लगती है. लेकिन इतना दर्द पाकर भी कुछ लोग अपनी जिंदगी जीते हैं. अपनों के लिए वह बुरी से बुरी जिंदगी भी हंसते हुए गुजार लेते हैं.

John Elia Shayari in Hindi

बहुत नज़दीक आती जा रही हो
बिछड़ने का इरादा कर लिया क्या

Bahut najdik aati ja rahi ho
Bichhdane ka irada kar liya kya

कभी-कभी हमारा अपना ही हमारे साथ ऐसा बर्ताव करने लगता है कि हमें उस से बिछड़ने का डर सताने लगता है. कोई जानबूझकर हमारे लिए बेहद अच्छा बनने की कोशिश करता है. जैसे कुछ समय बाद वह हमसे बिछड़ने वाला हो. जैसे उसे पता चल गया हो कि हमें अलग होना है. ठीक उसी बात का हमें अंदेशा हो जाता है तो हमारे मन में ऐसे सवाल आने लगते हैं. उस इंसान का हमारे इतने करीब आना उसके दूर जाने की आहत तो नहीं….?

जॉन एलिया Facebook Status

और तो क्या था बेचने के लिए
अपनी आंखों के ख़्वाब बेचे हैं

Aur to kya tha bechane ke liye
Apni ankhon ke khwab beche hain

इंसान अपने सपनों के लिए जीता है. बच्चा हो जवान हो यह बूढ़ा व्यक्ति हो हर एक के अपने सपने होते हैं. जिनके बारे में वह हमेशा सोचता रहता है. उन्हें पूरा करने के लिए जी जान एक कर देता है. पर कुछ लोग इस दर्द से गुजरते हैं जहां उन्हें अपने सपने ही छोड़ने पड़ते हैं.

मुझे अब तुमसे डर लगने लगा है
तुम्हें मुझसे मोहब्बत हो गई क्या

Mujhe ab tumse dar lagane laga hain
Tumhein mujhse mohabbat ho gai kya

जॉन एलिया Poems WhatsApp status

दोस्तों कभी-कभी हम किसी से दोस्ती कर लेते है. लेकिन दोस्ती कुछ ज्यादा ही गहरी हो जाती है. फिर हमें डर लगने लगता है कहीं हमें उस इंसान से प्यार तो नहीं हो गया. और क्या उसे भी हमसे प्यार तो नहीं हो गया. हम डरते हैं प्यार करने से. शायद यह भी असर होगा खाए हुए धोखे का. इसलिए डरते होंगे.

ये काफ़ी है कि हम दुश्मन नहीं हैं
वफ़ादारी का दावा क्यों करें हम

Ye kafi hain ki ham dushman nhi hain
Vafadari ka dava kyon kare ham

आज कल प्यार में कई लोग एक दूसरे से वफा के वादे करते हैं. फिर वादे तोड़ देते हैं और बेवफा बन जाते हैं. ऐसे प्यार का क्या काम…? दुश्मन नहीं है तो वह एक दूसरे से ऐसे वचन क्यों ले…? दुश्मन एक दूसरे को धोखा देते हैं. एक दूसरे के साथ छलावा करते हैं. दो प्रेमी एक दूसरे को धोखा नहीं देते इसलिए प्यार अगर सच्चा हो तो उन्हें ऐसे वादों की कोई जरूरत नहीं.

शायद मुझे किसी से मोहब्बत नहीं हुई
पर यकीन सबको दिलाता रहा हूं मैं

Shayad mujhe kisi se mohabbat nhi hui
Par yakin sabko dilata raha hun main

John Elia Poetry Shayari
John Elia Poetry Shayari

दोस्तों जब हमें मोहब्बत हो जाती है तो वह हमारी आंखों में साफ दिखाई देती है. कोई हमसे मोहब्बत करता है तो वह हमारी आंखों में दिखने वाली मोहब्बत को सहजता से पढ़ लेता है. उसके लिए हमें यकीन दिलाने की जरूरत नहीं होती.

अपने खुशनुमा मिज़ाज़ से अपनी भावनाओ को John Elia इनकी शायरिओं को सुनकर अगर आपको अच्छा लगा हो. तो comment field में comments करते हुए हमें जरूर बताएं.

फेसबुक पर शायरी के अपडेट्स पाने के लिए इस शायरी सुकून पेज को Like जरूर करें.


Bashir Badr -1: Shayari & Poetry for Love Relationship
Click above link to listen more


Rate this post

4 thoughts on “John Elia -1: Love Poetry & Poem in Hindi Collection”


  1. Subscribe to Channel
  2. बेहतरीन पेशकश!!
    जॉन एलिया जी के लिखित,
    इन नायब शायरियों को आप ने अपने अंदाज में पढ कर, उनकी रौनक और भी बढादी! अशोक जीl
    बहुत बढिया !👍👍
    अनेक शुभकामनाएन्!
    – कल्याणी

  3. बढिया पेशकष अशोक सर
    👌👌👌👌💐💐💐

Leave a Comment