Jagah Shayari -1: दिल में फिरसे जगह बनाने की कोशिश करोगे

jagah shayari : आप की jagah हमेशा से आपकी महबूब के दिल में ही रही है. उसने खुद ही आपका तहे दिल से प्यार करना देखकर यह jagah आपको दी थी. आप भी उनके दिल में प्यार बना कर बहुत खुश थे. आप हमेशा उन्हें भी यूं ही हंसता खेलता और खुश देखना चाहते थे.

आप बस उनकी खुशी में ही अपनी खुशी मानते थे. और इसी jagah से आपने उनके दिल में जो अच्छे इंसान और बेहतर प्यार वाली जो jagah पाई थी उसके लिए आप खुद को खुशनसीब ही मानते थे. लेकिन आपको अपने नसीब में क्या लिखा है यह तो बिल्कुल भी पता नहीं था. और वक्त नहीं कुछ ऐसा मोड़ लिया कि जिसकी आपने कभी सपने में भी तमन्ना नहीं की थी.

✤ शायरी सुनने के लिए ✤
♫ Player लोड होने दें ♫


इन सैड शायरियों को Kalyani Shah इनकी आवाज में सुनकर अपने प्यार की जगह को खुद बनाना चाहोगे!

1)

पाने कोई खास जगह
चली थी मैं होके बेपरवाह

तेरी मोहब्बत ने जो ठुकराया
हो गई हूं दुनिया से रुसवाह

paane koi khas jagah
chali thi mai hoke beparwah
teri mohbbat ne jo thukraya
ho gyi hun duniya se ruswah

आपने अपनी जान और अपने दिल को कुर्बान करते हुए जो जगह आपने यार के दिलो-दिमाग में बनाई थी. उसी को ठुकरा कर आज आपका दिलबर आपको फिर एक बार अकेला छोड़कर चला गया है. और इसी वजह से आपके दिल में मातम भरा माहौल मच गया है.



किसी के दिल में जगह बनाना इतना आसान नहीं होता..

आपने जब पूरी कोशिश करते हुए तहे दिल से प्यार किया था तो आपको इस प्यार की कीमत पता चल गई थी. आपको यह भी ज्ञात हो गया था कि किसी के दिल में जगह बनाना यूं ही आसान नहीं होता. और इसी वजह से आपके दिल पर नहीं है आपको जो अहमियत दी थी, उसकी आपको कदर ही नहीं बल्कि फिक्र भी बहुत थी.

2)

चांदनी रात कभी मुझे
इतनी बदसूरत नहीं लगी

जगह वही है आज भी बस
तेरी कमी उतनी खली ही नहीं

chandi raat kabhi mujhe
itni badsurat nhi lagi
jagah wahi hai aaj bhi bas
teri kami utni khali hi nhi

लेकिन अब आप यही सोच रहे हो कि काश आपकी यार की भी दिलो-दिमाग में अगर आपकी जितनी ही प्यार की फिक्र होती. उसे भी आपके जितनी ही मोहब्बत की कदर होती, तो शायद वो आपको भी कभी अपने दिल की कमी महसूस नहीं होने देता. जिस तरह से आपको उन्होंने अपने दिल से बेदखल कर दिया है, उससे आपको भी यह अंदाजा जरूर आ चुका है.

3)

तेरे दिल में जगह पा लू थोड़ी
तो खुदा की रहमत मिल जाए

तेरी आंखों किसी और को देखूं
तो दर पे मुझे मौत नजर आए

tere dil me jagah pa lu thodi
to khuda ki rahmat mil jaye
teri aankho kisi aur ko dekhu
to dar pe mujhe mout najar aaye

सच्चे मोहब्बत की जगह और पनाह शायद हर किसी के नसीब में नहीं होती है…

आपको सच्चे प्यार की कीमत तभी पता चली थी जब आपकी यार ने आपके दिल के सच्चे प्यार को ठुकराया था. आपने कई बार उन्हें हिदायत और अपने दिल की बातें समझाने की बहुत कोशिश की. लेकिन एक बार अगर किसी की इमेज या फिर प्रतिमा पक्की तरह से बैठ जाए तो उसे बदलना बहुत मुश्किल होता है.

4)

हर जगह दिखे तेरा ही चेहरा
ऐसी मोहब्बत मैंने हैं पा ली

ना हो तू मेरे पास तो लगे
घर का हर एक कोना ख़ाली

har jagah dikhe tera hi chehra
aisi mohbbat maine pa li
na ho tu mere paas to lage
ghar ka har ek kona khali

jagah-shayari-sad-quotes-in-urdu-hindi-1
jagah-shayari-sad-quotes-in-urdu-hindi-1

इसी प्रकार से आपके यार ने अपने दिमाग में आपके प्रति जो इमेज तैयार कर ली है शायद ही वह बदल सकती है. क्योंकि उसने तो आपके सच्चे प्यार को आज ठुकरा कर बहुत बड़ी गलती कर दी है. लेकिन फिर भी अपनी गलती का एहसास उसे नहीं हो रहा है.

5)

तेरी तस्वीर हर जगह में
दिल से लगाए घूमती हूं

जब याद आए बेइंतेहा तेरी
तेरी तस्वीर को ही चूम लेती हूं

teri tasvir har jagah me
dil se lagaye ghumti hu
jab yaad aaye beinteha teri
teri tasvir ko hi chum leti hu

और इसी वजह से आज उसने अपने दिल में जो सच्ची चाहत की जो आप की जगह थी उसने किसी और को बिठा लिया है. और इसी वजह से अब आप सोच रहे हो कि जो पनाह आप की होनी थी, आज वह किसी और के नसीब में है.

एक छोटी सी गलती ने अपनी यार के दिल में जो जगह थी, उसे मिटा दिया है..

जिस प्यार को पाने के लिए आपने दरबदर भटकते हुए दिन गुजारे थे. उस यार के साथ आपने दिल में किसी भी तरह का कपट नहीं रखा था. आप कभी भी उसके अच्छे या बुरे बर्ताव के लिए किसी से कोई शिकायत नहीं करते हैं. आज भी आप अब से अपने मन में कोई गिले-शिकवे नहीं रखते हैं.

6)

जाने कौन सी जगह हैं वो
जहा तेरा दिल ऐसे लग गया

ना आई तुझे मेरी याद कभी
तू तो मुड़कर देखना ही भूल गया

jaane kon si jagah hai wo
jaha tera dil aise lag gya
na aayi tujhe meri yaad kabhi
tu to mudkar dekhna hi bhul gya

उनकी किसी भी गलती की सजा आज तक आपने ही भूगती है. और इस बात का भी तो आपको कोई मलाल नहीं है. और इसी वजह से आप अपने दिल की यह बातें अपने दिल में ही दबाकर रखना चाहते हो. किसी के सामने भी आप उनके किसी भी बात को कभी उजागर नहीं करते हो.

7)

आना कभी तू इस गली
बैठी हूं आज भी उसी जगह

जहा छोड़ा था तूने मेरा हाथ
दास्तां ताजा हैं अब भी इस तरह

aana kabhi tu iss gali
baithi hu aaj bhi usi jagah
jaha chora tha tune mera haat
daasta taaja hai ab bhi iss tarah

लेकिन आपकी ये सच्ची सोच और विचारधाराएं आपके दिलबर के दिमाग में नहीं आती है. वह आपको और आपके अच्छी सोच को कभी दिल से सोचता ही नहीं है. और शायद इसी वजह से एक छोटी गलती ने आप के यार के दिल में जो आपके लिए जगह थी आज उसे भी हमेशा के लिए मिटा दिया है.

jagah shayari in hindi english

8)

दिल से उनके हम यूं
बेदखल हो गए हैं..

जगह पाने कि कोशिश में
अपना वजूद खो चुके हैं...

dil se unke ham yun 
bedakhal ho gaye hain..
jagah pane ki koshish mein 
apna wajood kho chuke hain…

beautiful sad shayari thoughts, quotes, lyrics

9)

यूं हमारी जगह
किसी और ने ले ली..

देखते रह गए हम और
पनाह किसी गैर को नसीब हुई..

yun hamari jagaah
kisi aur ne le li..
dekhte reh gaye ham aur 
panah kisi gair ko naseeb hui…

jagah quotes thoughts | whatsapp status, lyrics

10)

जगह पाई थी 
बड़ी शिद्दत से थोड़ी सी..

छीन ली गई वो भी 
गुस्ताखी से दिल की..

jagah payi thi badi
shiddat se thodi si..
chhin li gai vah bhi, 
gustakhi se dil ki..

jagah-shayari-whatsapp-facebook-status-1
jagah-shayari-whatsapp-facebook-status-1

1)

दुआएं देता हूं हाथ
उठाकर सजदे में तुझे..

दिल में जो थोड़ी सी
जगह दे देते तुम मुझे..

-Dipti

duaaen deta hun hath
uthakar sajde mein tujhe..
dil mein jo thodi si
jagah de dete tum mujhe..

2)

छत पर आकर यारा अपना
दीदार तू मुझे करा देता..

इसी बहाने मैं तुम्हारे दिल में
थोड़ी सी जगह पा लेता..

-Santosh

chhat per aakar yara apna
didar to mujhe kara deta..
isi bahane main tumhare dil mein
thodi si jagah paa leta..

3)

कोसता हूं खुद को प्यार के
सफर में तू क्यों मेरे साथ ना थी..

कमबख्त तुम्हारे दिल में तो
मेरे लिए जरा सी जगह ना थी..

-Supriya

kosta hun khud ko pyar ke
safar mein tu kyon mere sath na thi..
kambakht tumhare dil mein to
mere liye jara si jagah na thi..

4)

कम हो गई तेरे जज्बातों की आरजू
तो जानम तू मुझे भूलती गई..

शायद इसीलिए समय के साथ तेरे
दिल में मेरी जगह बदलती गई..

-Dipti

kam ho gai tere jazbaaton ki aarzu
to janam tu mujhe bhulti gai..
shayad isiliye samay ke sath tere
dil mein meri jagah badalti gai..

5)

तमन्ना थी, शायद हम
दुनिया को जिंदा नजर आते..

काश आपके दिल में कभी
हम थोड़ी जगह ढूंढ पाते..

-Santosh

tamanna thi, shayad ham
duniya ko jinda najar aate..
kash aapke dil mein kabhi
ham thodi jagah dhundh paate..

6)

तुमने दिल की जगह से
जो मुझे निकाल दिया है..

दुनिया ने हमारे जीने का
वजूद ही छीन लिया है..

-Supriya

tumne dil ki jagah se
jo mujhe nikal diya hai..
duniya ne hamare jeene ka
wajood hi chhin liya hai..

7)

जानम प्यार में तुम्हारी
बेवफाई को कैसे सहता रहा..

अब दिल में दर्द की जगह
कुछ भी बाकी ना रहा..

-Dipti

jaanam pyar mein tumhari
bewafai ko kaise sahta raha..
ab dil mein dard ki jagah
kuchh bhi baki na raha..

8)

अपने महबूब के बिना वो
न जाने कैसे गुजारा करते हैं..

पता नहीं लोग यहां प्यार की
जगह नफरत क्यों करते हैं?

-Santosh

apne mehboob ke bina vo
na jaane kaise gujara karte hain..
pata nahin log yahan pyar ki
jagah nafrat kyon karte hain?

9)

यकीन मानो ओ बेवफा दिलबर
तुम्हें मैं भी जरूर भूल पाती..

काश मोहब्बत की जगह
मेरे दिल में भी नफरत होती..!

-Supriya

yakin mano o bewafa dilbar
tumhen main bhi jarur bhul pati..
kash mohabbat ki jagah
mere dil mein bhi nafrat hoti..!

10)

सच कहती हूं जिंदगी में इतने
गम हमें कभी ना मिलते..

मंजिल की जगह बस रास्ते
भर तक जो तुम साथ चलते..

-Dipti

sach kahati hun jindagi mein itne
gam hamen kabhi na milte..
manjil ki jagah bus raste
bhar tak jo tum sath chalte..

11)

प्यार से भरा आशियाना
कहीं छुपा नहीं सकता..

मेरे दिल में तुम्हारी जगह
और कोई ले नहीं सकता..

-Santosh

pyar se bhara aashiyana
kahin chhupa nahin sakta..
mere dil mein tumhari jagah
aur koi le nahin sakta..

12)

प्यार से जो देखो तुम तो
दिल में हम उतर जाएंगे..

दिलबर, आइने की जगह
तुम्हें हम नजर आएंगे..!

-Supriya

pyar se jo dekho tum to
dil mein ham utar jaenge..
dilbar, aaine ki jagah
tumhen ham najar aaenge..!

13)

यकीन है मुझे कभी तू
बाहों में जरूर बुलाएगा..

मोहब्बत में दुख की जगह
मुझे सुख जरूर दिलाएगा..

-Dipti

yakin hai mujhe kabhi tu
bahon mein jarur bulaaega..
mohabbat mein dukh ki jagah
mujhe sukh jarur dilaaega..

14)

दिलरुबा मेरा प्यार तुम्हें
उम्र भर यूं ही याद आएगा..

चाह कर भी कभी इश्क में
मेरी जगह कोई ले ना पाएगा..!

-Santosh

dilruba mera pyar tumhen
umra bhar yun hi yad aaega..
chah kar bhi kabhi ishq mein
meri jagah koi le na payega..!

15)

न जाने क्यों सनम तूने
इश्क में मुझे बेकरारी दे दी..

यकीनन दिल में मोहब्बत की
जगह नफरत ने आज ले ली..

-Supriya

na jaane kyon sanam tune
ishq mein mujhe bekarari de di..
yakinan dil mein mohabbat ki
jagah nafrat ne aaj le li..

16)

महबूब को प्यार में दिल की
कसमें याद दिलाते हैं..

मोहब्बत में बातों की जगह
इशारों से बुलाते हैं..!

-Dipti

mehboob ko pyar mein dil ki
kasme yad dilate hain..
mohabbat mein baton ki jagah
isharon se bulate hain..!

17)

प्यार में इस कदर उसने तनहाइयां दे दी..

खुशियों की जगह आज मातम ने ले ली..

-Santosh

pyar mein is kadar usne tanhaiyan de di..
khushiyon ki jagah aaj matam ne le li..

18)

मोहब्बत में हर पल एक तुम्हें ही
हम अपना बुलाना चाहते थे..

दिल में अपने दर्द की जगह हम
खुशियों को रखना चाहते थे..

-Supriya

mohabbat mein har pal ek tumhen hi
ham apna bulana chahte the..
dil mein apne dard ki jagah ham
khushiyon ko rakhna chahte the..

19)

तुम्हारे दिल में जानम,
जो जगह ना पाऊंगा मैं..

दुनिया से अब और झूठ
नहीं बोल सकूंगा मैं..

-Dipti

tumhare dil mein janam,
jo jagah na paunga main..
duniya se ab aur jhooth
nahin bol sakunga main..

20)

न जाने क्यों जिंदगी में अब
बेवफाई दे दी उसके प्यार ने..

गलती हुई शायद खुशियों की
जगह ले ली दिल के दर्द ने..

-Santosh

na jaane kyon jindagi mein ab
bewafai de di uske pyar ne..
galti hui shayad khushiyon ki
jagah le li dil ke dard ne..

21)

नफरत को फिर एक बार
कैसे चाहत से मिलाऊं..

अपने दिल को दर्द की जगह
कैसे खुशियां दिलाऊं..

-Supriya

nafrat ko phir ek baar
kaise chahat se milaaun..
apne dil ko dard ki jagah
kaise khushiyan dilaaun..

22)

तुम्हारे सिवा यह दिल अब किसी
और का होने को राजी नहीं है..

अब तो दिल में दर्द की जगह
कोई और आने को राजी नहीं है..

-Dipti

tumhare siva yah dil ab kisi
aur ka hone ko razi nahin hai..
ab to dil mein dard ki jagah
koi aur aane ko razi nahin hai..

23)

प्यार में जबसे ओ दिलबर
तू हमें बेवफा कहने लगा..

अब जिंदगी में आंसुओं की
जगह दर्द छलकने लगा..

-Santosh

pyar mein jabse o dilbar
tu hamen bewafa kahane laga..
ab jindagi mein aansuo ki
jagah dard chhalakne laga..

24)

जबसे धोखा खाया है दिलरुबा से,
ये दुनिया हमें ही हरजाई बुलाती है..

महबूबा की आंखों में मोहब्बत की
जगह बस बेवफाई नजर आती है..

-Supriya

jab se dhokha khaya hai dilruba se,
ye duniya hamen hi harjaai bulati hai..
mehbooba ki aankhon mein mohabbat ki
jagah bus bewafai najar aati hai..

25)

मेरी जगह किसी और को ही
आजकल वह अपना बुलाते..

बेवफाई के नाम पर मगर वो
दिल का दर्द भी नहीं सुनाते..

-Dipti

meri jagah kisi aur ko hi
aajkal vah apna bulate..
bewafai ke naam per magar vo
dil ka dard bhi nahin sunate..

26)

जब दिलरुबा के दिल से
मोहब्बत के अल्फाज निकले..

मुस्कुराहट की जगह आज
आंखों से मेरे आंसू निकले..

-Santosh

jab dilruba ke dil se
mohabbat ke alfaz nikale..
muskurahat ki jagah aaj
aankhon se mere aansu nikale..

दोस्तों अगर हमारी दर्द भरी Jagah Shayari को सुनकर आपकी दिल में भी अपने यार के लिए थोड़ी सी जगह बन गई हो, तो हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करते हुए यह जरूर बताएं.

फेसबुक पर शायरी के अपडेट्स पाने के लिए इस शायरी सुकून पेज को Like जरूर करें.

इसी तरह और गम भरी शायरियोंके स्टेटस देखने के लिए यहाँ Sad Shayari क्लिक करें.

4 Comments

  1. Santosh July 21, 2021
  2. Mannali Raheja July 21, 2021
  3. Avalokita Pandey July 21, 2021
  4. Vinita July 23, 2021

Add Comment