ittefaq -1: Love Shayari इत्तेफाक से अपने यार से मिला देगी

ittefaq shayari :  दोस्तों, आज हम आपके लिए एक अनूठी बात लेकर आए हैं. shayarisukun.com के मंच पर पहली बार एक बहुत बढ़िया Duat शायरी. अर्थात एक दूसरे के साथ, जोड़ी में संबद्ध की गई युगल शायरी. और इस शायरी को आपके सामने पेश करने में हमें अति आनंद हो रहा है.

जब कोई प्रेमी सोचता है कि अगर वो कोई बात कहना चाहता था, और एकदम से उसके दिलबर ने वही बात अपनी जुबान से कह दी. तो उसके लिए इस बात से बड़ा ittefaq शायद ही कोई और होगा. यहां हम आपको इत्तेफाक़ का मतलब बताना चाहते हैं. ittefaq अर्थात किसी चीज का संयोग.

या किसी बात के होने का योग.  प्रेमिका का दिल भी इसी बात के ittefaq का इंतजार करता है. जब उसका दिलबर उसका हाथ अपने हाथ में ले. उस वक्त उसे जिस खुशी का, जिस सुकून का अहसास होता है, उसे शब्दों में बयां करना तो उसके लिए जैसे नामुमकिन होता है. सच कहा ना दोस्तों?

जब कोई प्रेमी अपनी प्रेमिका के लिए कोई मधुर गीत बनाकर उसे सुनाता है, तो उसके दिल में जैसे मोहब्बत की बारिश बरसने लगती है. और इस बारिश में प्रेमी अपना दिल पूरी तरह भिगो देना चाहता है. उसके प्यार में वो खुद को पूरी तरह से डुबो देना चाहता है.

प्रेमिका भी तो बस उसी की प्यार में खुद को संभाल लेना चाहती है. उसे अपने यार की बाहों में ही बहुत सुकून महसूस होता है. उसे वो जन्नत मिल जाती है, जिसकी तलाश वो कई युगों से कर रही है. उसके प्यार में जैसे पागल होना चाहती है. उसे दुनिया की भी कोई परवाह नहीं. अगर इत्तेफाक से दुनिया भी उसे कहे कि यह तो अपने दिलबर के प्यार में दीवानी हो चुकी है, तो वो इस बात को भी मानने के लिए तैयार है.

और यही बात उसकी चाहत की हद को दर्शाती है, जताती है. आज की हमारी शायरियों में भी आपको इन्हीं बातों का जिक्र नजर आएगा दोस्तों. तो दिल थाम कर बैठिएगा. इत्तेफाक से कहीं ये शायरियां आपका दिल ना चुरा ले!

इत्तेफाक (ittefaq) से हुआ है प्यार तुमसे, लेकिन शादी तो इजाजत से ही करूंगी..

जब कोई प्रेमिका अपने प्रेमी के प्यार की राह देखती हो. युगों से उसके मिलने की प्रतीक्षा करती रहती हो तो, या तो उसकी वो प्रतीक्षा ittefaq से हो सकती है. या फिर उसकी दुआ और बड़ी होती है. तभी तो उसकी तमन्ना पूरी होने में बरसो लग रहे हैं. इसी वजह से उसे अपना यार मिलने में इतनी देर लग रही है.

जब कोई माशूका अपने आशिक की मिलने की तमन्ना करती है, तो वो उसके लंबी उम्र की दुआ और उसके खुशहाली की ही आशा रखती है. उसका दिल हरदम अपने यार को खुश देखना चाहता है. फिर चाहे उस प्यार के लिए उसे अपनी जान भी क्यों ना कुर्बान करनी पड़े!  उसने ठान ली है कि अब वह इस बात के लिए भी पीछे नहीं हटेगी.

जब उसका यार उससे ittefaq से मिल जाएगा, तो वो सोचती है कि उससे प्यार करना तो उसी की मर्जी होगी. उसका यार उसी की मर्जी से अपना दिल देगा. अपने जीवन के कुछ पल उसके साथ बिताएगा. क्योंकि प्यार होना किसी के हाथ में तो नहीं होता. यह तो बस इत्तेफ़ाक़ ही होता है.

लेकिन इस ittefaaq में भी विश्वास का साथ होना चाहिए. भरोसे का साथ होना चाहिए. तभी तो यह रिश्ता कयामत तक जिंदाबाद रह सकता है. इस प्यार के राह पर चलते हुए उस प्रेमिका को अपने प्रेमी के बस इजाजत की ही जरूरत होती है. वरना वह तो जानती है कि शादियां तो संजोग से भी हो सकती है. लेकिन उसे इस बात से हरकत है.

वह प्यार भी अपने मर्जी से करना चाहती है, और शादी भी!  शायद वो अपने यार से कहना चाहती है कि तुमसे प्यार तो इत्तेफाक से कर बैठी हूं. लेकिन शादी बिना इजाजत के हरगिज़ नहीं करूंगी.

अगर मोहब्बत होगी, तो बिना इजाजत के मुकम्मल होगी..

जब यह बात प्रेमी अपने महबूबा से करना चाहता है तो उसके दिल में अपनी दिलरुबा के लिए अभी से प्यार उमड़ कर आ रहा है. उसे तो अपने मन में इत्तेफाक से ही चाहत के होने पर भरोसा है. उसकी तो यही तमन्ना है कि मोहब्बत में किसी की इजाजत की कोई अहमियत नहीं होनी चाहिए.

वरना वह मोहब्बत नहीं कहलाएगी. वह तो मजबूरी कहलाएगी. और प्यार कभी किसी पर मजबूरी नहीं बन सकता. चाहत किसी पर बोझ नहीं बन सकती. जब आपके साथी पर आपका दिल आ जाता है, तो आप यह नहीं सोचते कि वह आपसे प्यार करेगा या नहीं. आपको उसके किसी भी इजाजत की जरूरत नहीं होती.

ना उससे दिल लगाने की इजाजत चाहिए होती है. और ना ही उसे याद करने की इजाजत चाहिए होती है. क्योंकि वो प्यार ही होता है, जब आप दूर रहकर भी अपने साथी की खुशहाली की दुआ करते हो. उसकी सारी तमन्नाए पूरी करने की कोशिश करते हो.

अगर चाहत में, आपकी मोहब्बत को इजहार करने वाले ने आपकी चाहत कुबूल कर ली हो, तो फिर आपकी जिंदगी जैसे जन्नत में तब्दील हो जाएगी. इत्तफाक से आपकी सारी तमन्नायें एक झटके में ही पूरी हो जाएगी. और आप हमेशा बस यही दुआ करते हो कि आपकी सारी दुआओं को मुकम्मल तरीके से अंजाम मिले.

इत्तेफाक (ittefaq) से हुए प्यार की इजाजत चाहिए, वरना मोहब्बत तो आंखों से छलकती है..

यूं तो कोई प्रेमिका अपने प्रेमी से प्यार में इजहार करने की इजाजत नहीं मांगती. लेकिन आपकी माशूका को पता है कि आप से हुई मोहब्बत, आप से हुई मुलाकात महज एक इत्तेफाक थी. इसलिए वह आपसे एक बार प्यार करने की इजाजत मांगती है.

उसका दिल इस बात से राजी नहीं है, कि वह प्यार में भी आपसे मिलने की इजाजत मांगे. लेकिन ताज्जुब की बात यह है कि उसे अपने दिल पर भी भरोसा नहीं. अपने दिल की भी सुनने के लिए तैयार नहीं है. क्योंकि उसे लगता है कि किसी भी कीमत पर आप उनसे नाराज ना हो.

उसमें इतनी ताकत है कि वो दुनिया के सारे सितम सह सकती है. लेकिन आपके नाराजगी का जुल्म उससे जरा भी बर्दाश्त नहीं होता. वह यह भी जानती है कि अगर यह महज ittefaaq ना होकर, उसकी मर्जी होती तो वह आपसे खुद मिलने आ सकती थी. क्योंकि उसने आपकी आंखों में बस प्यार ही प्यार देखा है.

उनके चाहत का खुमार आपकी सर आंखों पर लेते हुए देखा है. और इस बात से आपको भी बहुत खुशी है कि आपका महबूब बस आपसे प्यार करता है.

दोस्तों हमें यकीन है कि, हमारी ये रोमांटिक शायरियां सुनकर आप भी इत्तफाक से हमारे शायरियों के प्यार में ही पड़ जाएंगे!


यह लव शायरियां Miss Vrushali & Dr. Rupeshkumar इनकी आवाज़ में सुनकर 🎧 आप कहीं इत्तेफाक़ से अपने महबूब से ही ना मिल जाए ! ▶ PLAY NOW ▶

Use 🎧 for better SOUND EXPERIENCE -अच्छी साउंड क्वालिटी के लिए 🎧 का प्रयोग करें – Use 🎧 for better SOUND EXPERIENCE shayarisukun.com


Ittefaq shayari in hindi english

आपसे मिलना, अगर इत्तफाक है,
तो आपसे प्यार हमारी मर्जी..

अब, बस आप की इजाजत कि देर है,
वरना संजोग से तो शादियां होती..

aapse milana agar ittefaq hai
to aapse pyar hamari marji..
ab bas aapki ki ijazat ki der hai 
varna sanjog se to shadiya hoti…

ittefaq-1-love-shayari-coincident-hindi-poetry-1

Ittefaaq shayari status  | whatsapp ittefaq shayari status 

ख़ास रिश्तों में इजाज़त
इत्तेफ़ाक नहीं रखतीं..

कुबूल हो अगर दिलसे मोहब्बत
तो ये वहीं मुक्कमल हो जाती..

khaas rishto mein ijazat 
ittefaq nahin rakhti..
qubool ho agar dil se mohabbat to
yah vahi mukammal ho jaati…


Ittefaq par shayari in urdu Hindi

रिश्ता इत्तेफ़ाक से बना है,
इसलिए दिलसे इजाजत मांगी है.

वरना हमने तो आपकी आंखो में
मेरे लिए बेइंतहा मोहब्बत देखी है

rishta ittefaq se banaa hai 
isliye dil se ijazat mangi hai..
varna humne to aapki aankhon
mein mere liye beinteha
mohabbat dekhi hai…

ittefaq-1-love-shayari-coincident-hindi-poetry-2

दोस्तों, हमारी प्यार से भरी लव शायरियां सुनकर इत्तेफाक से, अगर आपको अपना प्यार मिल गया हो, तो नीचे comment box में comment करते हुए हमें जरूर बताएं!


अपने Telegram channel पर सारे अपडेट्स प्राप्त करने के लिए जल्दी से Telegram में शायरी सुकून ऐसे या  @shayarisukun सर्च करे और चैनल को subscribe करें. आपकी सेवा 24 घंटो के भीतर शुरू हो जाएगी.


अगर आपको चाहिये कि अपने Twitter हैन्डल पर शायरी सुकून अपडेट्स मिले, तो हमें 👉🏼शायरी सुकून अकाउन्ट पर Follow जरूर करें.

अगर अपनी चाहत को फिर से एक बार उजागर करना चाहते है, तो आप यहाँ 👉🏼Love Shayari 💕 पर क्लिक कर सकते है.

2 thoughts on “ittefaq -1: Love Shayari इत्तेफाक से अपने यार से मिला देगी”

  1. वाह वृषाली जी और रूपेश जी
    क्या खूबसूरत अंदाज़ में पेश की है आपने शायरियां..
    बहोत बढ़िया 👌👌

    Reply

Leave a Comment