farman 1: ये attitude shayari आपको कुदरत का फरमान बता देगी

farman shayari :  दोस्तों, जब भी कोई आधिकारिक व्यक्ति अपने बयान की पुष्टि करना चाहता है, तो उसे farman जारी करना पड़ता है. चाहे वो farman कोई लिखा हुआ आदेश या फिर कोई निर्णय हो सकता है. आधिकारिक तौर पर निकाला गया यह farman समाज के सभी व्यक्तियों को बंधन कारक होता है.

हाल-फिलहाल कुदरत ने
ये फरमान निकाला है,

सुधर जाओ अभी वरना,
वक्त अपना कहर बरसाने वाला है…!


इन एटीट्यूड से भरी शायरियों को Santosh Salve इनकी आवाज़ में सुनकर कुदरत के फरमान को स्वीकार कीजिए

प्यार में भी इस तरह के कई फरमान आपने देखे होंगे या सुने होंगे. वैसे देखा जाए तो सच्चे प्यार में फरमान की कोई जरूरत नहीं होती. क्योंकि farman तो तभी भेजा जाता है, जब कोई बात आपको किसी से मनवानी पड़ती है.

farman meaning कोई आधिकारिक बयान या आदेश होता है. इसी तरह आपके दिल ने भी अपने चहेते साथी पर कोई फरमान जारी करने की कोशिश की होगी. लेकिन कोई farman सुनाने पर ऐसा जरूरी नहीं है कि कोई भी चीज आपके मन के अनुसार ही हो.

बहुत सी बातों के साथ आपको समझौता भी करना पड़ता है. अगर आपको अपने दिल की बात किसी से मनवानी पड़ती हो, तो वो सच्चा प्यार नहीं कहलाता. वो तो बस एक तरह की मनमानी होती है. और जहां पर मनमानी होती है वहां दिल की कोई भी बात समझी नहीं जा सकती.

दिल की बात ना समझने वाले एक दूसरे पर भरोसा भी नहीं कर सकते. क्योंकि प्यार का क्या मतलब होता है, किसी पर खुद से ज्यादा यकीन करना, उस पर पूरी तरह विश्वास होना. लेकिन अगर आपने दिल की बात मनवाने के लिए कोई फरमान जारी किया तो बस, आपके दिलबर का आप के प्रति विश्वास पूरी तरह से टूट जाता है.

और वह आप पर फिर से एक बार किसी भी तरह यकीन करने के लिए राजी नहीं होता. इसलिए यह बात आपको हमेशा ध्यान में रखनी होगी दोस्तों, की प्यार में कोई भी फरमान कभी नहीं चलता.

प्रकृति के farman के आगे कोई भी नहीं जा सकता..

आपने कभी ना कभी कोई फरमान जरूर पढ़ा या देखा होगा. यह आदेश कोई भी राजकीय या न्यायिक संस्था द्वारा आधिकारिक तौर पर निकाला गया पत्र हो सकता है. आपको भी पता है कि ऐसे farman सुनकर कभी भी कोई पेड़, कोई फल नहीं उगा सकता.

उसे तो वो प्रकृति की उसे देन होती हैं. जब भी वसंत ऋतु आता है, तो पेड़ हरे भरे पत्तों से भर जाते है. उसमें जैसे एक नई जान आ जाती है. उसे नए फूल और फल भी लगने शुरू हो जाते हैं.

जब भी प्रकृति अपना असली रूप दिखाती है. तो उसके सामने ना कोई पेड-़पौधा टिक पाता है, और ना ही कोई इंसान! सभी प्रकृति के सामने बौने साबित होते हैं. इसी वजह से हम यह बात पूरे होशो हवास में कह सकते हैं कि कोई भी किसी फरमान से या फिर आधिकारिक तौर पर बयान देने से भी, किसी मौसम को बदल नहीं सकता.

किसी भी पेड़, पौधे को कोई फूल या फल उगाने के लिए नहीं कह सकता. कुदरत के सामने किसी की भी एक नहीं चलती.

प्रकृति के अस्तित्व को और उसके farman को नकारने की चेष्टा ना करें!

बरहाल आप इसी प्रकृति का एक बहुत बड़ा कहर देख रहे हो, जान रहे हो. प्रकृति के इस रूप ने सभी मनुष्य प्राणियों के जीवन को तहस-नहस कर दिया है. कोई भी अभी तक इस समस्या पर कोई उपाय नहीं ढूंढ पाया है. इस कुदरत के छोटे से जीव के सामने यानी कि छोटे से विषाणु के सामने मनुष्य ने जैसे अपनी हार मान ली हो. अपनी आंखों के सामने कुदरत का रौद्र रूप सभी देख रहे हैं.

इतिहास भी इस बात का गवाह है कि मनुष्य किसी भी चीज पर एक हद तक ही अपना हक जमा सकता है, बता सकता है. अगर उसने वो हद पार कर ली तो प्रकृति भी उसे फिर से अपनी जगह लाने में कोई कसर नहीं छोड़ती. और तब जाकर इंसान को यह एहसास होता है कि चाहे कुछ भी हो, जाए वो कुदरत पर अपना फरमान नहीं जारी कर सकता.

इसीलिए पूरी मनुष्य जाति के जीवन में ये जो बुरा दौर चल रहा है, अगर इससे निपटना हो. इस पर विजय प्राप्त करनी हो, तो उसे कुदरत के अद्भुत अजूबे को मानना ही पड़ेगा. उसे प्रकृति के सामने अपना शीश झुकाना ही होगा. वरना वक्त जिस तरह खुद को बदल लेता है.

उसी तरह कुदरत भी खुद को किसी अलग रूप में ढाल सकती है. इसीलिए हम इंसानों को यह बात अब समझ लेनी चाहिए कि कुदरत हमें एक तरह से इशारा दे रही है कि अपना बर्ताव, अपना व्यवहार जल्दी से सुधार लो. हर एक प्राणी के अस्तित्व का स्वीकार करो. वरना कुदरत इससे भी बुरा समय दिखा सकती है. सबको अपना अस्तित्व बता सकती हैं.

कुदरत के सबसे आखरी, मौत के farman को हमेशा जहन में रखकर जिओ..

हम जब भी अपना जीवन आरामदायक, सुखद बनाना चाहते हैं, तो हमें किसी ना किसी तरह सबके साथ तालमेल जुटाना पड़ता है. हमेशा समझौता करते हुए जीना पड़ता है. अपनी खुद की जिंदगी को दूसरों के साथ समायोजित करना पड़ता है. खुद के अस्तित्व का विकास करते हुए हमें दूसरों के भी स्वाभिमान को ठेस ना पहुंचे, इस बात पर जरूर ध्यान देना पड़ता है. तभी हम सभी लोगों को उनके जीवन जीने में मदद भी कर सकते हैं.

और प्रकृति के सभी हिस्सों को समान न्याय दे सकते हैं. क्योंकि हमें यह बात हमेशा याद रखनी चाहिए कि प्रकृति में जी रहे सभी प्रकार के प्राणी मात्र को अपना जीवन जीने का पूरा अधिकार होता है. उनके जीवन जीने के अपने-अपने तत्व होते हैं. अपनी अपनी ख्वाहिशे होती हैं.

उन तत्वों को, ख्वाहिशों को पूरा करते हुए, वे एक दूसरे के जीवन की कदर करते है. खुद का विकास करते हैं. लेकिन इन सभी बातों को एक साथ मिलजुल कर चलने के लिए कुछ मर्यादायें, कुछ परिसीमाएं बनाई गई है, जिनको हमेशा हमें अपने ध्यान में रखना चाहिए.

उन्हीं बातों में से एक कड़वी सच्चाई है, मृत्यु! जी हां, प्रकृति ने सभी प्राणियों को जिस तरह जीवन दान दिया है. उसी तरह उनके मौत की भी परिसीमा बनाई गई है. उसी के अंदर रहते हुए हमें यह जीवन सफल और साकार करना होता है. वरना प्रकृति अपना कहर दिखाकर सभी को अपने वश में कर सकती है.

हम भी आपके तेवर यूं ही बरकरार रखने के लिए, खूबसूरत एटीट्यूड शायरियों का खजाना लेकर आए हैं. जिन्हें सुनकर आप कुदरत के farman के प्रति जागरूक हो जाएंगे.

farman शायरी को हम best attitude shayari image के साथ खास आपके लिए पेश कर रहे है, जिन्हें आप style के साथ whatsapp status या facebook status पर लगा सकते हैं. आशा है कि आप अपने दोस्त, परिवार और अपने दिल के करीब होने वाले लोगों को भी ये शायरियां जरूर साझा करेंगे.


Farman shayari in urdu : attitude shayari in hindi

किसी के फरमान से कोई
पेड़ फल नहीं उगाता,

कोई चाकू की नोंक से
मौसम नहीं बदल पाता…!

Kisi ke farmaan se koi
ped fal nahi ugata,
koi chaku ki nok se
mausam nahi badal pata…!


Attitude shayari in English

Haal filhal kudrat ne
ye farmaan nikala hai,
sudhar jao abhi warna,
waqt apna kahar
barsane wala hai…!

ख्वाहिशें shayari

ख्वाहिशें बहुत सी लिखी है
अरमान बहुत से सजाये है,
लेकिन उन्हें संजोते हुए
ये ध्यान में रखना,

कि उसी स्याही से मौत का
फरमान भी लिखा गया है…!

Khwahishen bahut si likhi hai,
armaan bahut se sajaye hain,
lekin unhen sanjote hue
ye dhyan me rakhna,
ki usi shayari se maut ka
farmaan bhi likha gaya hai…!

Farman -1 top attitude shayari in hindi-2

बदलते हुए मौसम में वक्त के साथ आप अपनी ख्वाहिशे भी बदलना चाहते हो..

आप इस खुली हवा में घूमते हुए उस पर mausam shayari तो यूं ही लिख देते हो. लेकिन अब आपको mausam shayari के अनुरूप ही उस waqt shayari को बनाने का जिम्मा आ गया है. क्योंकि आपने कई बार देखा है कि आपकी khwahish shayari को भी श्रोताओं ने और लोगों ने बहुत पसंद किया हुआ है.

और यही वजह है कि आप अपने waqt shayari को अपनी khwahish shayari में ही ढाल कर उसे पेश करना चाहते हो. लेकिन यह बात हमेशा ही सबको mausam shayari की इतनी पसंद आएगी इसे आप अभी बता नहीं सकते हो.

आप हमेशा अपने एटीट्यूड को attitude shayari की मदद से और mausam shayari को लेकर दुनिया को यही बताना चाहते हो. आप पूरी दुनिया को जैसे अपनी khwahish shayari से यह हिदायत ही देना चाहते हो. आपने जब से अपनी waqt shayari को लिखते हुए उससे पेश किया है.

तब से जैसे हर कोई आपसे इसी mausam shayari को भी सुनने के लिए बेताब हुआ है. लेकिन आप उन्हें अपनी khwahish shayari और अपनी waqt shayari की मदद से ही और अपने दिल के अरमान बयां करना चाहते हो.

जिस कदर कई सारे लोगों ने आपसे mausam shayari को सुनते हुए ही आपसे waqt shayari की मांग की है. कुछ उसी प्रकार अब आप अपने khwahish shayari को भी अपने श्रोताओं को सुनाते हुए उन्हें एक नया नजराना देना चाहते हो.

ताकि उन्हें भी आपकी mausam shayari के साथ साथ यह khwahish shayari भी बहुत ज्यादा पसंद आए. और साथ ही आपने अपनी शायरी में भी तो यह बात उन्हें जरूर बताई थी.

ताकि आपके सभी mausam shayari और waqt shayari सुनने वाले श्रोता भी आपकी khwahish shayari को भी उतना ही जरूर पसंद करेंगे. और इस बात का आपको अब पूरी तरह से पक्का यकीन हो चुका है.

आपका ओहदा बढ़ाने वाली हमारी ये एटीट्यूड से भरपुर शायरियां आपको पसंद आ गई हो, तो नीचे comment box में comment के जरिए हमें जरूर बतायें!


इसी तरह से आप हमारे Telegram channel को भी join कर सकते हैं, ताकि आपको रोज नायाब शायरियां मिल सकें. इसके लिए अपने Telegram में सर्च करें शायरी सुकून  या @shayarisukun और हमारे चैनल को तुरंत join करें. 24 घंटो के भीतर आपकी सेवा चालू होगी.



मोटिवेशनल शायरियो का स्टेटस देखने के लिए यहाँ Motivational Shayari क्लिक करे.


शायरी सुकून के बेहतरीन शायरियो को अपने फेसबुक पर प्राप्त करने के लिए इस शायरी सुकून पेज को Like और Share जरूर करे.

Leave a Comment