fareb 2: Sad Shayari से अपने फरेबी प्यार को याद कीजिये..!

fareb shayari : अक्सर जब किसी के साथ कोई फरेब करता है या धोखा देता है, तो उसके दिल पर क्या गुजरती है यह तो बस उसका दिल ही जानता है. क्योंकि उसने उस इंसान पर अपने आप से भी ज्यादा विश्वास किया होता है.

फरेब से तेरे दिल मेरा
कुछ इस कदर है टूटा

हर एक चेहरे में दिख रहा
मुझे आजकल हरकोई झूठा

fareb se tere dil mera
kuch iss kadar hai tuta
har ek chehre me dikh rha
mujhe aajkal harkoi jhuta


फरेब शायरी को Poonam Vaidya इनकी प्यारी आवाज़ में सुनें

कुछ इस तरह भरोसा किया होता है कि उसे तो सपने में भी fareb के बारे में खयाल नहीं आया होगा. कभी-कभी आपकी जिंदगी में भी कुछ ऐसे हालात, कुछ ऐसी परिस्थिति आ जाती है कि जिस पर आपका काबू नहीं रहता. आप जो चाहते हैं वह आपको नहीं मिलता.

जिस की खातिर मैं रोया था
उसी ने गैरों सा सताया हैं

जिस पर था ऐतबार हद दर्जा
उसी से फरेब खाया हैं

– Moeen

jis ki khatir mai roya tha
usi ne gairo sa sataya hai
jis par tha yetbar had darja
usi se fareb khaya hai

लेकिन जिस पर आप भरोसा करो वही आपसे अगर fareb करें, तो हालात और बिगड़ जाते हैं. सभी चीजों से आपका भरोसा मानो उठ जाता है. आप किसी को विश्वास के लायक नहीं समझतें.

दिल भी जब फरेब करना सिख लें..

लेकिन फिर भी आपके दिल में कहीं ना कहीं एक छोटी सी प्यार की लौ बुझती नहीं. वो हमेशा जलती ही रहती है.
वो अपने धोखा दिए हुए, फरेब किए हुए महबूब से जैसे कहता है की मुझसे तो तुमने fareb किया था. लेकिन किसी और से इसे ना दोहराना. जिस किसी को भी तेरा सच्चा प्यार मिले. वह तो बड़े किस्मत वाला ही होगा. उसका दिल अपने यार के लिए बस दुआएं ही देता रहता है और उसका भला ही चाहता है.

ज़्यादा जागते और कम सोते हैं
अब कहानियों में कहाँ हम होते हैं

मुझ को फरेबी कहने वाले सुन
तुझे याद कर हम रोते हैं

– Moeen

jyada jagte aur kam sote hai
ab kahaniyon me kaha hum hote hai
mujh ko farebi kahne wale sun
tujhe yaad kar kam rote hai

सच्चा प्यार करने वाला आशिक अपने दिलो जिगर में उम्मीद की जलती हुई शमा को कभी बुझने नहीं देता.
वो हरदम उसे जगाए रखने की कोशिश करता है और हमेशा यही उम्मीद करता है कि उसके गम की रातें कब खत्म होगी. कब उसे सुकून की, चैन की नींद मिलेगी.

फरेब की तम्मन्ना पूरी करनी है..

उसके साथ अपने महबूब की यादें भी तो होती है. इन्हीं यादों में खोया हुआ वह अपने महबूब की राह तकता रहता है. अपने जेब में रखी हुई अपने फरेबी दिलबर की तस्वीर को एक जैसे निहारते हुए उसके दिन गुजरते हैं. तकिए पर पड़े पड़े उसकी यादों में आंसू बहा कर ही उसकी रातों के सवेरे होते हैं. उसकी खामोश नजरों से अपने फरेबी महबूब का चेहरा हटता ही नहीं.

ये नतीजा निकाला हैं मुद्दतों बाद
दुनिया फरेब के सिवा कुछ भी नहीं

ज़माना मानता हैं क्या कुछ इसे
मगर ज़िंदगी तेरे सिवा कुछ भी नहीं

– Moeen

ye natija nikala hai muddato baad
duniya fareb ke siwa kuch bhi nhi
jamana manta hai kya kuch ise
magar jindgi tere siwa kuch bhi nhi

उसके महबूब ने चाहे उसके साथ कितना भी बड़ा सुलूक किया हो. धोखा दिया हो फरेब किया हो लेकिन उसका दिल यह मानने के लिए बिल्कुल तैयार नहीं है कि उसका महबूब झूठा है. उसका दिलबर उसके साथ चाहे कितनी भी बदसलूकी करें. कितना भी फरेब करें. लेकिन उसके मन में अपने यार के लिए जरा भी प्यार कम नहीं होता.

सिलसिला-ए-फरेब कुछ यही चलने दो..

उसे तो हमेशा यही लगता है कि उसके दिल में नफरत के जो काले बादल छाए हुए हैं, एक ना एक दिन वह भी छट जाएंगे. और प्यार की किरन उसके जीवन में एक नया और सुनहरा सवेरा लेकर जरूर आएगी. लेकिन आजकल वो आशिक अपने दिल से जो भी बातें करता है, उसे जो भी कहता है. उसका दिल उन बातों को दिल पर ही नहीं लेता, वो उसकी जरा भी नहीं सुनता!


fareb 1: sad shayari आपको अपने फरेबी यार की याद दिला देगी!
Click ? link to listen more


इसलिए अब तो उसे यही लगने लगा है कि दिल ने भी अपने यार जैसा फरेब सीख लिया है. उसका दिल भी अपने यार जैसा फरेब करने लगा है. उसे तो ऐसे लगने लगा है जैसे की उसके यार को इत्मीनान से अपने दिल की तमन्ना पूरी करनी है. इसीलिए वो उसके साथ मुसलसल (निरंतर, लगातार) तरीके से प्यार के बजाय बस फरेब ही कर रहा है.

लेकिन इस फरेब का सिलसिला आखिर कब तक चलेगा. इस फरेब की भी तो कहीं ना कहीं शाम होगी. कभी ना कभी तो इन दोनों की रूहों को मिलना ही है. एक होना ही है. तभी तो उनकी जिंदगी का सफर पूरा हो सकेगा. वो एक हो सकेंगे.

हम भी आपके लिए ऐसे ही फरेबी दिल को सुकून देने वाली बेहतरीन शायरियां लाए हैं. जिन्हें सुनकर आप भी अपने जख्मी दिल को मरहम दे सकेंगे.


dil ke fareb par behtarin shayari

मेरे सीने में है फिर भी
कुछ सुनता नहीं मेरा..

शायद इस दिलने भी
फरेब सिख लिया तेरा…!

mere seene mein
hai fir bhi
kuchh sunta nahin mera..
shayad is dil ne bhi
fareb sikh liya tera…!


fareb par beautiful hindi shayari collection

इत्मीनान से तमन्ना पूरी करनी है..

इसीलिए वो मुसलसल फरेब करती है..

itminan se tamanna
puri karni hai..
isiliye vo musalsal
fareb karti hai…!


fareb ka silsila hindi urdu shayari

सिलसिला ये फरेब का
कुछ ऐसेही चलने दो..

जब थक जाओ कभी तो
रूह को अपने मिलने दो..

silsila ye fareb ka
kuchh aise hi chalne do..
jao thak jao kabhi to
ruh ko apne milne do…

fareb-2-sad-shayari-cheating-in-love-2

इन शायरियों को पढ़कर और सुनकर अपने फरेबी यार की यादें अगर आपकी आंखों में आंसू बनकर बहने लगी हो, तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमें जरूर बताइएगा दोस्तों!

अब आप इन सारी शायरी अपडेट्स को सीधे अपने Whatsapp पर प्राप्त कर सकते हैं. इसके लिए ‘START’ ये वॉट्सएप मेसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नं. पर भेज दीजिए. 24 घंटो के अंदर आपकी सेवा चालू हो जाएगी.

शायरी सुकून की बेहतरीन शायरियों को अपने Twitter handle पर प्राप्त करने के लिए शायरी सुकूनअकाउन्ट को Follow जरूर करें.

कुछ और दर्द भरी Quotes पढ़ने का मन हो रहा है, तो आप इस Sad Shayari कैटेगरी को पढ़ सकते हैं.

4 thoughts on “fareb 2: Sad Shayari से अपने फरेबी प्यार को याद कीजिये..!”

  1. Vah poonam ji,
    Kya aavaj paayi hai aapne ??
    बहोत लाजवाब, आपकी आवाज को आंखे बंद करके सुनता ही रहा….?

  2. पुनम, आपला आवाज याविषयी वेगळं बोलायची आवश्यकता नाही परंतु केलेल्या कार्याचं कौतुक व्हायलाच पाहीजे आपण अप्रतिम काम करत आहात त्याबद्दल आपले अभिनंदन
    Ssoft group INDIA

Leave a Comment