ek mulaqat -1: Love Shayari एक मुलाकात के लिए मना लेगी..!

ek mulaqat shayari : जब भी प्रेमी अपनी प्रेमिका को याद करता है, तो वो प्यार में उससे बस ek mulaqat की दुआ करता है. और जब वो यह दुआ कर रहा होता है, तो वह अपनी प्रेमिका को तहे दिल से याद कर रहा होता है. उसे अपनी महबूबा की एक मुलाक़ात  के सिवा और किसी चीज की कोई ख्वाहिश नहीं होती.

उसे तो बस हर वक्त यही लगता है कि जब उससेे ek mulaqat जाएगी, तो जैसे उसके दिल की सारी तमन्नायेंं जैसे पूरी हो जाएगी. उसे जैसे दुनिया की सारी खुशियां अपने आप मिल जाएगी. क्योंकि जिस तरह से वह अपने दिलबर से प्यार कर रहा है, वो ही तो उसकी पूरी दुनिया बन चुकी है.

अब तो वह दिन में भी सपने देखने लगा है. और उन सपनों में बस उसी का साथ ही नजर आ रहा है. उसी का प्रेमी नजर आ रहा है. रातों के ख्वाबों में भी वह अपने प्रेमी के साथ गुजारे हुए पलों की यादें लेकर ही तो सो रहा है. वो अपने पलंग पर सोने के लिए जाता तो जरूर है, लेकिन उसे नींद कहां आती है.

उसकी नींद भी तो उसके महबूब की चमकती हुई बिंदिया ने चुराई है. उसके दिल का चैन ओ करार भी तो उसके यार के पैरों में छनकती हुई पायल ने चुराया है. उसके दिल का सुकून भी उसकी, माशूका की नजाकत से भरी मुस्कान, अपने साथ ले उड़ी है. एक तरह अब वो खुद का रहा ही नहीं है.

वह पूरी तरह बस अपने यार का ही हो चुका है. और इसीलिए बस हर दम उसी को याद करता हुआ, उसके साथ बस एक मुलाकात की दुआ करता रहता है.

आप अपने पसंदीदा गाना  ek mulaqat song  के  ek mulaqat lyrics   को कैसे भूल सकते है. जिसमें प्रेमी अपने प्यार की दुहाई मांगते हुए प्रेमिका से जल्द से जल्द बस एक मुलाकात चाहता है. वो अपनी  ek mulaqat dream girl  से यही गुजारिश करना चाहता है की उन दोनों की बस  ek mulakat ho

और जब वह दोनों एक दूसरे से मिले तो उनकी  ek mulaqat song download करते हुए अपनी मिलन का जश्न मनाएं.

हमारी आंखों में जब देखोगे, तो बस तुमसे ही एक मुलाकात (ek mulaqat) की आस होगी..

उसकी आंखें जब अपने दिलबर से मिली थी, पहली बार मिली थी, तो उसे ऐसा लगा था, जैसे यही उसके जन्मो जनम का साथी है. वह उसे देखते ही अपने दिल में उसका ही एतबार कर बैठा था. एक ही पल में वह से प्यार कर बैठा था. और जब उसने अपनी माशूका को एक मुलाकात के लिए बुलाया था.

तो उसकी दिलबर उसे निहारने लगी थी. वह उसका रूप अपनी आंखों में बस आने लगी थी. तो आशिक भी अचंभित हो गया था. और वह उससे कहने लगा था, कि मुझे तुम इस तरह से ना निहारो. मैं पहले ही तुम्हारे प्यार के नशे में चूर चूर हो चुका हूं. अब तुम्हारी आंखों के तीरों से, अपने नजरों के वार से मुझे और घायल मत करो.

मेरी नजरों में तुम्हारी एक मुलाकात के सिवा और दूसरा और कोई भी इरादा नहीं है. मैं बस तुमसे एक बार ही यूं ही मिलना चाहता था. और इसीलिए मैंने तुम्हें अपने दिल के नगर में बुला लिया है  ताकि तुम्हें जी भर के देख सकूं. बस इसीलिए मैंने तुमसे एक मुलाकात करनी चाहि.

ताकि मैं अपने दिल के नशे की अरमान तुम्हें बता सकूं. अपने दिल की तूफान तुम्हें दिखा सकूं. ताकि तुम भी मुझ पर एतबार करो, मुझसे सच्चा प्यार करो.

पूछो मत हमारा हाल, आपकी एक मुलाकात के बाद कितने हैं हम बेहाल..

जब वह आशिक अपने दिलबर से प्यार कर बैठा था, तो उसे वह अपने दिल के सबसे करीब जान बैठा था. वह बस उसे ही अपना खुदा मान बैठा था. और इसी वजह से वह अपनी महबूबा की राह तकते हुए जैसे तैसे अपने दिन गुजार रहा था. उसे क्या करना है और क्या नहीं करना है यह भी नहीं सूझ रहा था.

वह बस उसी के साथ ek mulaqat की आस लिए हुए अपने दिल में बैठा था. लेकिन शायद उसका दिलबर यह बात नहीं जानता है. इसीलिए शायद उसे उसके साथ एक मुलाकात करने में भी इतनी देरी हो रही है. लेकिन वह है कि अपने दिलबर की याद अपने दिल में छुपाए बैठा है. और उसका दिल जरा भी मानने के लिए तैयार नहीं है.

उसका दिल उसके महबूब की राह देखना छोड़ने के लिए बिल्कुल भी राजी नहीं है. और इस वजह से एक अरसे से भी ज्यादा उससे अपने महबूबा की ऐसे ही राह देखते हुए बस अपने दिन रात गुजार रहा है. उसे तो यह भी सुध नहीं है कि कब दिन निकला और कब रात होगी. उसके लिए तो बस उसका महबूब ही उसका दिन है. और उसकी रात है. वह अपने मन से बस एक ही बात कह चुका है.

एक ही वादा कर चुका है कि चाहे कुछ भी हो जाए लेकिन वह अपने महबूब की राह तकना नहीं छोड़ेगा. और अपने महबूब की एक मुलाकात (ek mulaqat) के बाद उसने बिताए हर एक पल की बात बताएगा. और उससे चाहे तो इतने वर्षों तक राह देखने की गिले शिकवे भी सुनाएगा.

और उसे यह भी यकीन है कि उसका दिलबर बिना किसी हिचकिचाहट के उसके शिकवे मान लेगा. और उसे फिर कभी ऐसी गुस्ताखी नहीं करेगा.

ए मौसम, अपना समा खुशनुमा कर लें, ताकि मेरा यार मुझसे इकरार कर लें.. – ek mulaqat

अब तो उस दिलबर का भी अपने आशिक से मिले बिना, ek mulakaat के बिना जी नहीं लगता. वह भी बस उसी के खयालों में डूबी रहती है. और यह आशिक भी उसको हर पल पर याद करता रहता है. उससे ek mulakat की आस लगाए बैठा है.

उसके दिल में यही एक तमन्ना बाकी है कि चाहे जैसे हो, लेकिन उससे बस ek mulakat हो. क्योंकि उसकी एक मुलाकात के बाद ही वह अपने दिल के सारे अरमान उसके सामने खोल देना चाहता है. उसकी सारी मन की बातें वह अपने महबूबा से बोल देना चाहता है.

अपने दिल में कई वर्षों तक छुपाए हुए जज्बातों को अपनी आंखों की आंसुओं कि रास्ते निकाल कर अपने दिल को हल्का महसूस करवाना चाहता है. ताकि वह अपने महबूब को अपने दिल का इजहार जता सके. उसे कितनी मोहब्बत है, उससेे कितनी चाहत करता है, यह बता सकें. और यह बताते हुए उसकी इस मौसम से भी यही तमन्ना है.

वह इस प्रकृति से भी एक गुजारिश करना चाहता है, कि वह अपना समां खुशनुमा कर ले. वह अपना माहौल उसके दिलबर को खुश लगे ऐसा रखें. ताकि उसका दिलबर उसके प्यार का एतबार कर सके. वह भी उसके प्यार का एहसास करते हुए अपने दिल की बात जाहिर कर सके.

हमें पूरा यकीन है कि हमारी यह लव शायरियां आपके महबूब के दिल में भी आपके लिए प्यार उत्पन्न कर सकें. और आपसे ek mulakaat के लिए जरूर राजी हो जाए!


इन लव शायरियों को Mr. Sanket Mahindrakar इनकी आवाज़ में सुनकर 🎧 आपका दिलबर आपसे एक मुलाकात करने के लिए दौड़ा चला आएगा! ▶ PLAY NOW ▶

Use 🎧 for better SOUND EXPERIENCE -अच्छी साउंड क्वालिटी के लिए 🎧 का प्रयोग करें – Use 🎧 for better SOUND EXPERIENCE shayarisukun.com


ek mulaqat jaruri shayari in hindi english 

इस तरह से ना देखो तुम
की कोई वजह हमारे आंखों में थी..

हम तो पहले ही इतने नशे में है,
बस इसीलिए लगा के
एक मुलाकात जरूरी थी…

is tarah se na dekho tum ki
koi vajah hamare
aankhon mein thi..
ham to pahle se hi
itne nashe mein hai,
bas isiliye laga ke 
ek mulaqat zaroori thi…

ek-mulaqat-1-love-shayari-one-meeting-poetry-1

ek mulakat shayari status poetry | whatsapp shayari status

अरसे से ढूंढ रहे है आपके निशां
दिल में छिपा ली है आपकी याद..

क्या बतायें कैसे बित रहें है
हमारे दिन रात..
आपकी एक मुलाकात के बाद..

arse se dhundh rahe hai
aap ke nishan dil mein
chhipa li hai aapki yad..
kya batayen kaise beet
rahe hain hamare din raat, 
aapki ek mulaqat ke bad…


ek mulaqat par shayari in hindi urdu 

हमारे दिल की तमन्ना है
आपसे एक मुलाकात की..

गुजारिश है कायनात से
मौसम सुहाना बनाने की..

hamare dil ki tamanna hai 
aapse ek mulakat ki..
guzarish hai kaynat se 
mausam suhana banane ki…

ek-mulaqat-1-love-shayari-one-meeting-poetry-2

हमारी  romantic love shayari ओं को सुनकर अगर आपका दिलबर भी आपसे एक मुलाकात करने के लिए राजी हो जाए, तो नीचे  comment box  में  comment  करते हुए हमें जरूर बताइएगा दोस्तों..

अब आप इन सारी शायरी अपडेट्स को सीधे अपने Whatsapp पर प्राप्त कर सकते हैं. इसके लिए ‘START’ ये वॉट्सएप मेसेज +91 90495 96834 इस वॉट्सएप नं. पर भेज दीजिए. 24 घंटो के अंदर आपकी सेवा चालू हो जाएगी.

शायरी सुकून की बेहतरीन शायरियों को अपने Twitter handle पर प्राप्त करने के लिए 👉🏼शायरी सुकूनअकाउन्ट को Follow जरूर करें.

अपने दिल में छुपे हुए प्यार को याद करने के लिए इस 👉🏼Love Shayari 💘 कैटेगरी को एक बार जरूर क्लिक करें.

1 thought on “ek mulaqat -1: Love Shayari एक मुलाकात के लिए मना लेगी..!”

Leave a Comment