Backspace 1: Sad Shayari कुछ लिखके मिटाने का दर्द बताएगी..

backspace : दोस्तों, कई बार हम कोई मैसेज लिखते हैं. अगर लिखने में कोई गलती हो जाए, तो backspace का उपयोग करते हैं. यही backspace हमारी भावनाओं को अच्छी तरह से जानता है. क्योंकि जब हम backspace का उपयोग करते हैं, तो हमारे मन में अचानक से उमड़कर आई हुई भावनाओं को बैकस्पेस ही तो remove करता है.

बहुत सारी बाते
जब बैकस्पेस खाने लगती है

रिश्ते की कड़ियां तब
अंदर से खोखली होने लगती है

Vrushali

bahut saari baate
jab backspace khane lagti hai
riste ki kadiya tab
andar se khokhli hone lagti hai

शायरी सुनने के लिए
✤ Player लोड होने दें ✤

बैकस्पेस से जुड़ी शायरियां Shraddha Jain इनकी आवाज़ में सुनकर अपने विचारों को नया रूप दें!

आज हम इसी बैकस्पेस पर कुछ बेहतरीन शायरियों का नजराना पेश करने जा रहे हैं. वैसे तो बैकस्पेस का उपयोग हम सिर्फ डिजिटल प्लेटफॉर्म पर यानी mobile, tablet, computer जैसे गैजेट्स पर ही कर सकते हैं. क्योंकि जब हम कागज पर कुछ लिखना शुरू करते हैं, तो हमारे मन में जो भी अकस्मात विचार आ जाते हैं.

उनको हम बस लिखते चले जाते हैं. वहां अगर कोई गलती हो, तो हमें उसे मिटाने की कोई सुविधा नहीं होती. क्योंकि कागज पर लिखी हुई लिखाई आखरी पैगाम होती है. लेकिन हाल फिलहाल उपयोग में लाए जाने वाले electronic gadgets हमें गलती सुधारने की गुंजाइश देते हैं. और इसी सुविधा को हम backspace key के जरिए हमारे उपयोग में ला सकते हैं.

जब दर्द भरे शब्द बैकस्पेस के जरिए मिटाए जाते हैं…

जब भी आप कुछ अच्छे विचार सोचने लगते हैं, तो आपको लिखने का मन होता है. चाहे आप उन्हें कोई किताब पढ़ कर लिखना चाहो. या फिर किसी अच्छी वेबसाइट से पढ़ा हुआ कोई लेख हो, उसे आप अपने ही शब्दों में बयां करना चाहते हो. इसलिए आप अपने mobile या tablet से लिखने की कोशिश करते हो. लेकिन यह जरूरी नहीं है कि आपके सभी सोच विचार, आपके लिखने से मेल खाते हो.

कुछ विचार आपके मन में अचानक से आ जाते हैं. लेकिन दूसरे ही पल आप उन विचारों को लिखना महफूज नहीं समझते. और इसलिए आप उन्हें backspace button का उपयोग करते हुए उन्हें मिटा देते हो. जब आप कोई email या फिर किसी को whatsapp message करना चाहते हो, तो भी यही हाल होता है.

जो भी आप लिखते हो, जरूरी नहीं कि वह पूरा का पूरा मैसेज आप सेंड कर पायें. क्योंकि आपको लगता है कि उस मैसेज में लिखे हुए शब्दों के जो दर्द है, वो शायद हीे पढ़ने वाले को रास आएंगे. लेकिन एक बात तो आप जरूर जानते हैं कि जो शब्द backspace key के जरिए मिटाए गए हैं, उन शब्दों में ही सबसे ज्यादा दर्द था. अगर वो शब्द पढ़ने वाले तक पहुंच जाते, तो शायद माहौल कुछ अलग ही बना होता.

बैकस्पेस अगर किताब लिखते तो महान लेखक बन जातें..

कई बार ऐसा होता है की जब हम अपने साथी से बात कर रहे होते है और हमे कुछ उनसे कहना होता है. लेकिन हम वो कह नहीं पाते है, इससे पहले की वो मैसेज सेंड हो जाये हम उस मैसेज को थोड़ा लिखने के बाद ही मिटा देते है. और इन्ही जज्बातो को अगर लिखना शुरू करें तो, हमे यकीं है उसकी किताब लिखने वाला इंसान एक महान लेखक बनकर उभरेगा या उभरेगी.

Backspace Shayari Image
Backspace Shayari Image

ऐसी उलझन तब होती है जब आप कुछ दिलमे रखके बात करने लगे हो, वही बात जो आपको लगता है की अगर आपके साथी ने वह मैसेज पढ़ लिया तो उसे ठेस पोहचेगी. इसीलिए आप बस अपने साथी का दिल रखने के लिए उन लिखी हुयी जज्बातों को मिटा देते हो. लेकिन दोस्तों ऐसी परिस्थिति काफी गंभीर रूप धारण कर सकती है.

यह बात आपके रिश्ते को कमजोर बना सकती है, प्यार भलेही कितना भी क्यों न करो लेकिन यह छोटे छोटे धोखे अक्सर बड़े महान बन जाते है. इसीलिए हमारी आपसे यही गुजारिश है, की आप जब भी अपने साथी से बात करो तो दिल खुलकर करो, ऐसा करके आप एक महान लेखक तो नहीं लेकिन अपने साथी की किताब जरूर बन जाओगे.

बैकस्पेस से उमड़कर आ रहें विचारों को लफ्जों में बयां करें..

जब भी आप कोई अच्छा सा लेख या फिर कोई विचार लिख रहे हो, तो आपके मन में अनगिनत सवाल और उनके जवाब भी अपने आप आते रहते हैं. आप उन्हें रोक नहीं सकते. लेकिन हां, उन्हें अगर आप कागज पर उतार सको, या लैपटॉप, टेबलेट के जरिए लिख सको, तो शायद उनका बहुत अच्छा फायदा आपको और साथ ही लोगों को भी हो सकता है.

इस वजह से सभी लोग भी यही कहते हैं कि लिखना बड़ी अच्छी बात होती है. और इससे आपका मन भी हमेशा हल्का रहता है. आपका मन कोई दबाव या तनाव महसूस नहीं करता. और आप हमेशा खुद को ताजगी भरा महसूस करते हैं. क्योंकि आपकी भावनाएं आपके मन में ही सिमट कर नहीं रहती. उन्हें बाहर आकर व्यक्त होने का मौका मिलता है.

लेकिन जब आप लिख रहे हो और आप से गलती हो जाए तो आपको बैकस्पेस का उपयोग करना ही पड़ता है. उस वक्त आपके मन में बस यही बात चल रही होती है, की आपने जो भी लिखना चाहा मगर बैकस्पेस के जरिए आपने उसे मिटा दिया, उन विचारों को लिख ना पाए.

आपके मन में उमड़कर आ रहें विचारों को लफ्जों में परिवर्तित होने से पहले ही आपने रोक दिया. उन विचारों को आपने बाहर आने से पहले ही मिटा दिया. उन सभी अचानक आई हुई भावनाओं को आपके keyboard पर लगी बैकस्पेस के बटन के सिवा भला और कौन जान सकता है? क्योंकि वह बैकस्पेस का बटन ही तो आप के सभी विचारों का गवाह होता है.

आइये हमारी इन Sad शायरियों की मदद से बैकस्पेस का उपयोग करते हुए हम अपने गलत विचारों को मिटाकर कुछ नया सोचें!


backspace key quotes in english | whatsapp shayari status

लिखते तो बहुत कुछ है हम
पर हमेशा Send कहां कर पाते है..

दर्द उन शब्दों में ही बेहद होता है
जो अक्सर Backspace खा जाते है…


likhate to bahut
kuchh hai ham
par hamesha send
kahan kar paate hain..
dard un shabdon mein
hi behad hota hai 
jo aksar backspace
kha jaate hain…


 बैकस्पेस शायरी status in hindi

जो अगर Backspace लेखक होते..

सच्ची भावनाओं और
उमंग से भरी
दुनिया की सबसे बेहतरीन
किताब लिखते..


jo backspace lekhak hote..
sacchi bhavnaon
aur umang se bhari
duniya ki sabse
behtarin kitab likhate…


बैकस्पेस keyword shayari in hindi

वह अनकही बातें जो
खुद में सिमट कर रह जाती है..

भला उसे मेरी Keyboard की
Backspace से अच्छा
कौन जानता हैं..

vo ankahi baatein jo
khud mein simat
kar rah jaati hai..
bhala use meri keyboard ki
backspace se achcha
kaun jaanta hai..

backspace-1-sad-shayari-untold-feeling-2

दोस्तों, अगर इन शायरियों की मदद से बैकस्पेस से मिटायें गए अल्फाज़ों के दर्द आप समझ सकें, तो नीचे comment box में comment करके हमें जरूर सूचित करें!

इसी तरह और गम भरी शायरियोंके स्टेटस देखने के लिए यहाँ Sad Shayari क्लिक करें.

इसी तरह से आप हमारे Telegram channel को भी join कर सकते हैं, ताकि आपको रोज नायाब शायरियां मिल सकें. इसके लिए अपने Telegram में सर्च करें शायरी सुकून  या @shayarisukun और हमारे चैनल को तुरंत join करें. 24 घंटो के भीतर आपकी सेवा चालू होगी.

आपके Twitter पर हमारी हसीन शायरी अपडेट्स पाने के लिए हमारे शायरी सुकून केे अकाउन्ट को जरूर Follow करें.

4 thoughts on “Backspace 1: Sad Shayari कुछ लिखके मिटाने का दर्द बताएगी..”

Leave a Comment